Connect with us

ज्योतिष - वास्तु

मीन संक्रांति – मांगलिक कार्य वर्जित 

Published

on

मीन संक्रांति – मांगलिक कार्य वर्जित
सूर्य कुंभ राशि से निकलकर आज गुरू की राशि मीन में गोचर कर रहा है। ज्योतिष शास्त्र में गुरु की राशि में सूर्य का परिभ्रमण मलमास (खरमास) कहलाता है। सूर्य की राशि में गुरू और गुरू की राशि में सूर्य होने से शुभ कार्य वर्जित माना जाता है। सूर्य का जब-जब गुरु की राशि धनु व मीन में परिभ्रमण होता है अथवा धनु व मीन संक्रांति होती है, वह मलमास कहलाती है। मलमास में मांगलिक कार्य वर्जित रहते हैं। भक्ति, साधना व उत्सव का क्रम जारी रहता है। फाल्गुन शुक्ल पक्ष दिन शुक्रवार को सुबह 8 बजकर 9 मिनट से सूर्य के मीन राशि में प्रवेश करेगा। इसके साथ ही मलमास (खरमास) की शुरूआत हो जाएगी। मलमास (खरमास) चैत्र शुक्ल पक्ष नवमी दिन रविवार दिनांक 14 अप्रैल 2019 को संध्याकाल में 4 बजकर 15 मिनट तक सूर्य का मीन राशि में गोचर रहेगा। मीन राशि में इस 30 दिवसीय गोचरीय अवधि के दौरान सूर्य आपके व्यक्तिगत व व्यावसायिक जीवन में सफलता का समर्थन करता है. यह आत्मकारक ग्रह आपके आंतरिक परिवर्तन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करेगा तथा इस अवधि के दौरान जागरूकता व मूल्यवान आत्म विश्लेषण प्रदान करेगा.
शास्त्रीय मान्यता अनुसार मलमास में नामकरण, विद्या आरंभ, कर्ण छेदन, अन्न प्राशन, चैलकर्म, उपनयन संस्कार, विवाह संस्कार, ग्रह प्रवेश तथा वास्तु पूजन आदि मांगलिक कार्य वर्जित माने गए हैं।
मीन राशि में सूर्य आपकी सामाजिक और परोपकारी गतिविधियों का समर्थन करने के लिए सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है। आप उपचार या मार्गदर्शन के नए तरीकों पर अंतर्दृष्टि प्राप्त कर सकते हैं जिससे आपको निरंतर स्वास्थ्य समस्याओं से उभरने में सहायता मिल सकती है.

मेष राशि –
मेष राशि के लिये सूर्य का परिवर्तन 12वें घर में हो रहा है। विद्यार्थियों के लिये समय काफी अच्छा रहने के आसार हैं हालांकि ऐच्छिक परिणाम हासिल करने के लिये कड़ी मेहनत भी करनी होगी। वर्तमान नौकरी से असंतुष्ट जातकों को नये और बेहतर अवसर उपलब्ध हो सकते हैं। लेकिन प्यार के मामले में तकारार बढ़ने के भी आसार हैं। आपके लिये सलाह है कि अपने साथी की भावनाओं को आहत न करें न ही उनके साथ किसी भी प्रकार की बहसबाजी में पड़ें।
उपाय –
ऊॅ बृं बृहस्पतयै नमः का एक माला जाप करें….
पुरोहित को केला, नारियल का दान करें….

वृष राशि –
राशि से ग्यारहवें स्थान में सूर्य का परिवर्तन आपके लिये अच्छा रहने के आसार हैं। संपत्ती खरीदने का योग भी बन रहा है। यदि किसी परियोजना में निवेश करना चाहते हैं तो उसके लिये भी समय काफी शुभ है। यदि लंबे समय से दोस्तों के साथ मस्ती नहीं की है तो यह समय दोस्तों के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिहाज से भी आपके लिये काफी बेहतर कहा जा सकता है।
उपाय –
ऊॅ भौं भौमाय नमः का एक माला जाप करें….
मंदिर में लड्ड़ का भोग लगायें….

मिथुन राशि –
मिथुन जातकों के लिये सूर्य का परिवर्तन 10वें भाव में हो रहा है। यह परिवर्तन व्यावसायिक दृष्टि से आपके लिये काफी अच्छा है। विशेषकर फाइन आर्ट के क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिये तो बहुत ही भाग्यशाली कहा जा सकता है। आपकों इस समय अपनी कला में महारत के साथ प्रसिद्दि भी प्राप्त हो सकती है। अभिनय व संचार क्षेत्र में काम करने वाले मिथुन जातकों के लिये भी समय शुभ रहने के आसार हैं।
उपाय –
ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
चावल, दूध, दही का दान करें…

कर्क राशि –
सूर्य आपकी राशि से 9वें घर में प्रवेश कर रहा है जो कि पिता के लिये अच्छा रहेगा। यदि पिछले कुछ समय से आपके पिता अस्वस्थ हैं तो उनका स्वास्थ्य सूर्य के प्रभाव से बेहतर होगा। इस समय आपका रूझान धार्मिक कार्यों की ओर अग्रसर होने की संभावना है। चूंकि सूर्य क्रूर ग्रह माने जाते हैं अतरू यह समय यह आपके छोटे भाई-बहनों के लिये शुभ नहीं कहा जा सकता। हो सकता है उनके साथ आपका मनमुटाव हो या उन्हें किसी अन्य परेशानी का सामना करना पड़े।
उपाय –
‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः’’ की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें.
भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें..

सिंह राशि –
आपके राशि स्वामी आपकी राशि से परिवर्तित होकर अष्टम भाव में आ जायेंगें अतरू इस समय आपको या आपके किसी करीबी को स्वास्थ्यगत परेशानियों से दो चार होना पड़ सकता है। आंख व हड्डियों संबंधी रोगों से विशेष रूप से सावधान रहने की जरूरत है। जरा सा भी लक्षण दिखाई दे चिकित्सक से परामर्श लेने में किसी तरह की लापरवाही न बरतें। इस समय आर्थिक रूप से भी आपके खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है इसलिये अपनी जेब का भी ध्यान रखें और सोच-समझकर आवश्यक वस्तुओं पर ही खर्च करें।
उपाय –
ऊॅ बुं बुधाय नमः का एक माला जाप करें….
गणपति की आराधना करें
दूबी गणपति में चढ़ाकर मनन करें,

कन्या राशि –
सातंवा स्थान दांपत्य जीवन को प्रभावित करता है, यह विवाह का स्थान माना जाता है। सूर्य परिवर्तित होकर आपकी राशि से सप्तम भाव में ही आ रहे हैं इस लिये इस समय अपने संबंधों को लेकर थोड़ी सतर्कता बरतें। जीवन साथी के साथ किसी तरह वाद-विवाद न करें और न ही किसी भी तरह उनकी भावनाओं को आहत होने दें। हालांकि सुदूर क्षेत्र में व्यवसाय करने वालों को इस समय लाभ प्राप्त हो सकते हैं कुल मिलाकर सूर्य का यह परिवर्तन आपके व्यक्तिगत जीवन में नकारात्मक तो व्यावसायिक जीवन में सकारात्मक परिणाम देने वाला रह सकता है।
उपाय –
ऊॅ रां राहवे नमः का एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..
मूली का दान करें..

तुला राशि –
आपकी राशि से सूर्य का परिवर्तन छठे घर में हो रहा है जिसका आपकी राशि पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने के आसार हैं। अपने खर्चों पर नियंत्रण करने का प्रयास करें। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। बुखार, सिरदर्द, आंख सबंधी संक्रामक रोग का शिकार बन सकते हैं। अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने के लिये अपने खान-पान संबंधी आदतों में सुधार कर सकते हैं। यदि न्यायालय में आपका कोई मामला विचाराधीन है तो आपका पलड़ा भारी हो सकता है।
उपाय –
ऊॅ कें केतवें नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें…
सूक्ष्म जीवों की सेवा करें…

वृश्चिक राशि –
राशि से पंचम स्थान पर सूर्य का आना आपके लिये बहुत ही भाग्यशाली कहा जा सकता है। कामकाजी जीवन भी काफी अच्छा रहने के आसार हैं। समय रहते लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं। सार्वजनिक क्षेत्र में कार्यरत जातकों के लिये बहुत ही शुभ समय है। संतान पक्ष की ओर से भी आपको शुभ समाचार मिल सकता है। वृश्चिक राशि के बालक इस समय में काफी ऊर्जावान और उत्साही रहेंगें। आपका आत्मविश्वास भी सूर्य के प्रभाव से चरम पर रहने के आसार हैं।
उपाय –
ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें…..
गुड़.. गेहू…का दान करें..

धनु राशि –
लंबे समय से यदि आप अपने परिवार को समय नहीं दे पायें हैं तो परिजनों के साथ एक बेहतर समय व्यतीत करने को मिल सकता है। चतुर्थ भाव में सूर्य का दाखिल होना इसी का संकेत हैं। सरकारी नौकरी करने वाले जातकों के लिये भी यह समय काफी अच्छा नजर आ रहा है। अपना घर बनाने का सपना यदि संजो रखा है तो प्रयास सफल हो सकते हैं। वाहन आदि की खरीददारी करना चाहते हैं तो उसके लिये भी समय शुभ है। कुल मिलाकर हर क्षेत्र में आप अपने आत्मबल से सफलता प्राप्त कर सकते हैं।
उपाय –
उॅ नमः शिवाय का जाप करें…
दूध, चावल का दान करें…
रूद्राभिषेक करें…

मकर राशि –
मकर जातकों के लिये राशि से तीसरे स्थान पर सूर्य आयेगें जो कि आपके लिये शुभ संकेत नहीं है। भाई-बहनों के स्वास्थ्य के प्रति आप चिंतित हो सकते हैं। या फिर उनका गलत संगत में पड़ना और आपकी बातों को नजरंदाज करना भी आपको अखर सकता है। पिता के स्वास्थ्य को लेकर भी आप परेशान हो सकते हैं। दूसरों की देखभाल करते-करते आप स्वयं कब बिमार होंगे हो सकता आपको इसका पता भी न चले इसलिये अपनी सेहत के प्रति भी सचेत रहें। छोटी-मोटी यात्रा के योग भी आपके लिये बनेंगें कुल मिलाकर सूर्य का यह परिवर्तन आपके जीवन में परेशानियां लाने वाला रह सकता है लेकिन परेशान न हों यह दौर लंबे समय तक नहीं रहेगा।
उपाय –
ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
हनुमानजी की उपासना करें..
मसूर की दाल, गुड दान करें..

कुंभ राशि –
अपनी राशि दूसरे घर में सूर्य का परिवर्तन हो रहा है। सूर्य चूंकि क्रूर ग्रह माने जाते हैं दूसरे भाव में यह आपकी वाणी को प्रभावित कर सकते हैं। इस समय आप अनावश्यक वाद-विवाद में पड़ सकते हैं जिसका असर आपके संबंधों पर भी नकारात्मक रूप से पड़ सकता है। आपकी बातें आपके साथी की भावनाओं को ठेस पंहुचा सकती हैं। कुल मिलाकर इस समय आपको अपनी वाणी को नियंत्रण करने की आवश्यकता है।
उपाय –
ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें…
पीली वस्तुओं का दान करें…
गुरूजनों का आर्शीवाद लें..

मीन राशि –
कुंभ से परिवर्तित होकर आपकी ही राशि में सूर्य का प्रवेश हो रहा है जहां बुध पहले से ही विराजमान हैं। लेकिन शुक्र वक्री अवस्था में गोचर कर रहे हैं। ऐसे में सूर्य का आना आपके स्वास्थ्य व संबंधों में तो परेशानी खड़ी करेगा ही साथ ही आपके व्यवसाय में भी इसके नकारात्मक प्रभाव पड़ने की संभावनाएं हैं।
उपाय –
ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
महामाया के दर्शन करें…
चावल, दूध, दही का दान करें..

SHARE THIS
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

ज्योतिष - वास्तु

श्रीमद्भगवद्गीता में कर्मयोग सर्वश्रेष्ठ

Published

on

  • श्रीमद्भगवद्गीता में कर्मयोग को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। जीवन की रक्षा के लिए, समाज की रक्षा के लिए, देश की रक्षा के लिए, विश्व की रक्षा के लिए कर्म करना आवश्यक है। पुरुषकारमनुवर्तते दैवम्। तात्पर्य यही है कि कर्मठ व्यक्ति कभी भाग्य के भरोसे नहीं रहते, वे कर्म करते रहते हैं और उनके पीछे उसका भाग्य साथ-साथ चलता है। जो जीवन को ऊँचा उठा हुआ और आनंदित देखना चाहता है वह अपना कर्म पुरे मनोयोग से करता है और भाग्य भी हमेशा कर्मरत और पुरुषार्थी मनुष्यों का ही साथ देता है। गुण विभाग और कर्म विभाग, पाँच महाभूत और मन, बुद्धि, अहंकार तथा पाँच ज्ञानेन्द्रियाँ, पाँच कर्मेन्द्रियाँ और शब्दादि पाँच विषय- इन सबके समुदाय का नाम गुण विभाग है और इनकी परस्पर चेष्टाओं का नाम कर्म विभाग है।
  • अपने कर्म को इमानदारी से करने वालो को जीवन में शांति और मोक्ष प्राप्त होता है. कर्म भाव का कारक ग्रह शनि होता है और यदि शनि कुंडली में अनुकूल हो तो कर्म का भाव बेहतर होता है तो भाग्य भी साथ देता है। इसलिए कर्मठ बनने के लिए शनि को अनुकूल करना बहुत ही आवश्यक है। जहाँ शनि कर्म का कारक है वहीं न्याय देता है इसलिए कर्म न्यायसंगत और हितकारी होगा तो शनि से जीवन में न्याय, सुचिता, स्वास्थ्य, समृधि और सुख प्राप्त होता है. इसलिए कर्म भाव को अनुकूल कर कर्मठ बनने का उपक्रम करना चाहिए और इसके लिए शनि की शांति के लिए मन्त्र जाप करना, तिल या उरद का दान करना और लोगो की सेवा करना चाहिए.

SHARE THIS
Continue Reading

ज्योतिष - वास्तु

दिनांक 27/05/2019 का पंचांग एवं राशिफल

Published

on

  • रायपुर (etoi news) 26.05.2019
  • दिनांक 27.05.2019 का पंचाग
  • शुभ संवत 2076 शक 1941
  • सूर्य उत्तरायणयन का …ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष…. अष्टमी तिथि… प्रातः 09 बजकर 40 मिनट तक .. सोमवार … शतभिषा नक्षत्र..  दोपहर 03 बजकर 08 मिनट तक … आज चन्द्रमा … कुंभ राशि में… आज का राहुकाल दिन को 07 बजकर 03 मिनट से 08 बजकर 42 मिनट तक होगा …

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-

मेष राशि –

नए कार्यों में सफलता मिलने की पूर्ण संभावना बनती है…

फिजूलखर्ची से बचना चाहिए…

बॉडी पेन हो सकता है….

उपाय करने चाहिए –

1.ऊॅ भौं भौमाय नमः का एक माला जाप करें….

2.मंदिर में लड्ड़ का भोग लगायें….

 

वृषभ –

व्यावसायिक दृष्टि से लाभदायक और अनुकूल संयोग प्राप्त होंगे…

पुराने रुके कार्य पूरे हो सकेंगे…

गृहस्थ जीवन शांतिमय रहेगा…

उपाय करने चाहिए –

1.चावल, दूध, दही का दान करें…

  1. दुर्गासप्तशती का पाठ करें…..

 

मिथुन –

भागीदारी में नए अनुबंध लाभकारी होंगे…

मधुर संबंध बनेंगे, जो लाभदायी रहेंगे…

स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें…

निवृत्ति के लिए –

– मुठ्ठी मूंग का दान करें।

– पौधे का दान करें…..

 

कर्क –

आवेश में आकर कोई कार्य न करें…

सामाजिक आयोजनों में विवाद से बचें…

संतान से सुख मिलेगा…

शांति के लिए शनि के निम्न उपाय करें –

1.‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें.

2.भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,

 

सिंह –

व्यापार में नई योजनाओं का क्रियान्वयन होगा…

सुनियोजित कार्य करें..

पारिवारिक समस्या हल होगी….

उपाय आजमायें –

1.सूर्य को अध्र्य देते हुए….. ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें…..

2.गुड़.. गेहू…का दान करें..

 

कन्या –

नये प्रोजेक्ट के लिए मीटिंग कर सकते हैं….

किसी दोस्त के साथ व्यवसायिक भागीदारी…..

बैकपेन से कष्ट संभव….

उपाय करें –

  1. ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..
  2. सफेद चीजों का दान करें……

 

तुला –

लाभ के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे…

कामकाज, व्यवसाय ठीक चलेगा…  

सहयोगी कर्मचारियों से मदद मिलेगी।

बचाव के लिए –

1.उॅ नमः शिवाय का जाप करें…

2.- दूध, चावल का दान करें…

 

वृश्चिक –

आज स्वास्थ्य कुछ खराब हो सकता है….

कार्य में सकारात्मक बदलाव के संकेत…

परिवार का सहयोग प्राप्त होगा…

उपाय करें तो लाभ होगा-

1.ऊॅ रां राहवे नमः का एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..

2.दवाई का दान करें..

 

धनु –

आपकी डिमांड की पूर्ति…

मनचाही वस्तु के प्राप्त होने से हर्ष…..

जिम्मेदारी में वृद्धि किंतु लाभ में कमी से तनाव….

उपाय –

  1. ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
  2. माँ महामाया के दर्शन करें…
  3. चावल, दूध, दही का दान करें…

 

मकर –

वाहन सावधानी से चलाएं…

भाइयों से खटपट हो सकती है…

आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकेगी।

उपाय –

1.गुड़.. गेहू…का दान करें..

2.भगवती गायत्री की आराधना करें….

 

कुंभ –

विद्यार्थियों को परिश्रम से अच्छे फल मिलने की उम्मीद है..

रुके हुए कार्य पूर्ण किए जा सकेंगे..

विरोधियों से सावधान रहें…

शांति के लिए –

सूक्ष्म जीवों की सेवा करें…

हल्दी, नारियल का दान करें…

 

मीन –

संतान की अनुषासनहीनता से दुखी होंगे….

काम में मन नहीं लगेगा….

व्यवहार में चिड़चिड़ापन…

उपाय –

  1. ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
  2. माँ महामाया के दर्शन करें…
  3. चावल, दूध, दही का दान करें…

 

SHARE THIS
Continue Reading

ज्योतिष - वास्तु

अखंड सौभाग्य देने वाली वट सावित्री व्रत 3 जून को

Published

on

By

  • शनि जयंती व सोमवती अमावस्या 3 को, सर्वार्थ सिद्धि योग में महिलाएं रखेंगी व्रत ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष अमावस को 3 जून को महिलाएं अखंड सौभाग्य के लिए वट सावित्री व्रत रखेंगी। इस दिन वट सावित्री… ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष अमावस को 3 जून को महिलाएं अखंड सौभाग्य के लिए वट सावित्री व्रत रखेंगी। इस दिन वट सावित्री व्रत सर्वार्थ सिद्धि योग में रहेगा। वट सावित्री व्रत पर सोमवती अमावस्या भी रहेगी।
  • वट अमावस्या 2 जून शाम 4.39 बजे से प्रारंभ होकर 3 जून को शाम 3.31 बजे तक रहेगी। वट सावित्री अमावस्या के दिन माता सावित्री ने यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राणों की रक्षा की थी।हिंदू धर्म में वट सावित्री अमावस्या सौभाग्यवती स्त्रियों का महत्वपूर्ण पर्व है। इस दिन वट वृक्ष के नीचे सावित्री-सत्यवान की कथा का श्रवण करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। 3 जून को ही शनि जयंती के पर्व भी मनाया जाएगा।

SHARE THIS
Continue Reading

ब्रेकिंग खबरे !!!!

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive4 days ago

लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा फेक न्यूज – सोशल मीडिया पर हो सर्तक निगाहें

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नहीं, 2000 रुपये के नए नोटों में कोई जीपीएस चिप नहीं...

Etoi Exclusive1 week ago

गोडसे को देशभक्त बताने पर भड़के पीएम मोदी , कहा- मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

आखिरी चरण के चुनाव से पहले नाथूराम गोडसे और महात्मा गांधी पर राजनीति तेज हो गई है।महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को...

Etoi Exclusive1 week ago

BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह

गोडसे पर BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह, कहा- पार्टी का लेना-देना नहीं अमित शाह ने एक अन्य...

Etoi Exclusive1 week ago

बाल-बाल बचे RSS प्रमुख मोहन भागवत,गाय को बचाने के चक्कर में पलट गई कार

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में गुरुवार 16 मई को आरएसएस चीफ...

Etoi Exclusive2 weeks ago

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर जे.एस.पी.एल. को रेलवे को दिए गए पहले रेलवे के...

Calendar

May 2019
M T W T F S S
« Apr    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
Advertisement

निधन !!!

Uncategoried2 months ago

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर आज होगा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। पैंक्रियाटिक कैंसर से पिछले एक...

निधन4 months ago

पैसों की तंगी झेल रहे बॉलीवुड के खलनायक की मौत, घर में मिली लाश

शक्ति कपूर बोले- काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, सेट पर भी पीते थे शराब Click Here...

निधन4 months ago

निधन – फत्तेचंद अग्रवाल सक्ती

सक्ति (कन्हैया गोयल) 31/01/2019 शक्ति शहर की प्रतिष्ठित फर्म काशीराम फत्तेचंद के संचालक सजन अग्रवाल, पवन अग्रवाल एवं नवलकिशोर अग्रवाल...

दिल्ली4 months ago

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का 89 साल की उम्र में निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नई दिल्ली 29 जनवरी 2019 भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज...

निधन4 months ago

श्रीमती कमला सिंह का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 28/01/2029 भैंसदा के प्रतिष्ठित ठाकुर परिवार के स्व. पलटन सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती कमला सिंह का 28 जनवरी...

निधन4 months ago

जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता विजय श्रीवास्तव पंचतत्व में विलीन

27 जनवरी को आयोजित जेष्ठ पुत्रमयंक का वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित बिलासपुर (अमित मिश्रा) 27/01/2019 हसदेव कछार जल संसाधन विभाग बिलासपुर...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती माणक बाई ललवाणी (जैन) का निधन

रायपुर,14/01/2019 रायपुर निवासी श्रीमती माणक बाई ललवाणी  (जैन) 95 वर्ष, घर्मपत्नी स्व.पन्नालाल ललवाणी का स्वर्गवास आज हो गया हैं जिनकी...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती बिदामी बाई बुरड़ का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर,14/01/2019 आनन्द नगर विनायक इनक्लेव, रायपुर निवासी श्रीमती बिदामी बाई पत्नी...

निधन5 months ago

छोटेलाल कौशिक का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 09/01/2019 ग्राम डोंगाकोहरौद के मालगुजार छोटेलाल कौशिक का गत् 4 जनवरी को हो गया। अचानक वे 3...

छत्तीसगढ़5 months ago

लक्ष्मण प्रसाद साहू नगरदा का निधन : दशकर्म एवं चंदनपान 8 जनवरी को

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सक्ती (कन्हैया गोयल) 05/01/2019 शक्ति विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक,भाजपा नेता...

Trending

Breaking News