Connect with us

देश-दुनिया

ओमान की खाड़ी में तेल से भरे टैंकरों पर फिर हमला

Published

on

ओमान की खाड़ी में दो तेल टैंकरों पर आज गुरुवार को एक संदिग्ध हमले की खबर

 

 

ओमान की खाड़ी में दो तेल टैंकरों पर आज गुरुवार को एक संदिग्ध हमले की खबर है हालांकि, इसमें से सभी चालक दल के सदस्यों को सुरक्षित निकाल लिया गया। बता दें कि इन टैंकरों पर उसी क्षेत्र में हमला किया गया, जहां पिछले हफ्ते और चार अन्य तेल जहाजों पर हमला किया गया था। वहीं, इसे लेकर जब अमेरिका ने ईरान पर आरोप लगाए थे।

बताया गया कि ये दोनों टैंकर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की राजधानी अबू धाबी के बंदरगाह से रवाना हुए थे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान और ओमान के बंदरगाहों को तेल टैंकरों द्वारा संकटभरे कॉल प्राप्त हुए थे।

जहाजों में से एक नॉर्वे के स्वामित्व वाला फ्रंट अल्टेयर था। नॉर्वे की शिपिंग कंपनी फ्रंटलाइन ने पुष्टि की कि ओमान की खाड़ी में एक घटना के बाद उसके तेल टैंकर में आग लग गई थी। यह नॉर्वे के अखबार वीजी ने बताया। 2016 में बने इस जहाज को मंगलवार देर रात रुवैस के इमरती बंदरगाह से रवाना किया था और 30 जून को काऊशुंग के ताइवान के बंदरगाह पर आने के लिए निर्धारित किया गया था। बताया गया कि यात्रा शुरू करने से पहले जहाज पूरी तरह से भरा हुआ था।

वहीं, दूसरे पोत की पहचान कोकुका करेजियस जिसपर पानामा के झंड़े लगे हुए थे, के रूप में की गई। हालांकि, जहाजों पर कैसे हमला किया गया या कौन जिम्मेदार था, इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

आधिकारिक आईआरएनए समाचार एजेंसी ने बताया कि ईरानी नौसेना ने गुरुवार को ओमान के सागर में दुर्घटना के बाद दो टैंकरों से 44 चालक दल के सदस्यों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है।

बता दें कि पिछले महीने भी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के जलक्षेत्र में चार तेल टैंकरों पर हमला किया गया था। हालांकि इसे साजिश के तहत बताया गया। हमले से प्रभावित देश यूएई, नॉर्वे और सऊदी अरब ने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) को सौंपते हुए अपनी जांच रिपोर्ट में यह बात कही थी।

पिछले महीने 12 मई को यूएई के फुजैरा बंदरगाह से कुछ दूर समुद्र में खड़े चार तेल टैंकरों पर हमले किए गए थे। इसमें दो टैंकर सऊदी अरब के थे। अमेरिका ने इन हमलों के पीछे ईरान का हाथ होने की आशंका जताई थी.

Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

देश-दुनिया

श्रद्धांजलि : राजनीतिक हल्कों से लेकर पूरे देश में शोक का माहौल है

Published

on

 

नई दिल्ली, एजेंसी

कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए उनके साथ अपनी एक पुरानी तस्वीर ट्वीट की। इस दौरान उन्होंने जेटली को दिल्ली यूनिवर्सिटी में अपना सीनियर बताया और शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जेटली से उनकी पहली मुलाकात तब हुई थी जब वे दिल्ली छात्र संघ के अध्यक्ष थे और वे सेंट स्टीफन कॉलेज स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष थे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक मतभेद के बावजूद उनके बीच स्वस्थ चर्चा होती थी और एकदूसरे के प्रति आदर था। उनके निधन को भारत के लिए बड़ी क्षति बताया।

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन हो गया है। वह 9 अगस्त से दिल्ली के एम्स अस्पताल (AIIMS) में भर्ती थे। जेटली लंबे समय से बीमार चल रहे थे। बीमारी की वजह से वे 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं हुए। 66 की उम्र में उनका देहांत हो गया। जेटली की मौत के बाद राजनीतिक हल्कों से लेकर पूरे देश में शोक का माहौल है। देश- विदेश से उन्हें श्रद्धांजलि मिल रही है। कांग्रेस नेता शशि थरूर समेत कई लोगों ने उनके साथ तस्वीर शेयर कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेटली की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘मैंने एक मूल्यवान मित्र खो दिया है, जिन्हें मैं दशकों से जानता था। मुद्दों पर उनकी गहरी पहुंच और समझ के सामानांतर बहुत कम लोग थे। वह अच्छी तरह जिए और हमें काफी खुशनुमा यादों के साथ छोड़ गए। हम लोग उनकी कमी महसूस करेंगे।

अरुण जेटली जी एक राजनीतिक दिग्गज थे, वह एक मुखर नेता थे जिन्होंने भारत में स्थायी योगदान दिया। उनका निधन बहुत दुखद है। उनकी पत्नी संगीता, बेटे रोहन से बात कर सांत्वना दी है। ओम शांति। गौरतलब है कि पीएम इस वक्त यूएई में हैं। जेटली के परिवार ने उन्हें दौरा रद न करने को कहा है।

शरद यादव ने साझा की कई तस्वीरें –शरद यादव ने भी कई तस्वीरें साझा करते हुए अरुण जेटली को अपना दोस्त बताया और उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।

सुरेश प्रभु ने  तस्वीर शेयर कर श्रद्धांजलि दी –पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ जेटली और अपनी एक पुरानी तस्वीर शेयर करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी।

हमने राजनीति का पुरोधा खो दिया- गजेन्द्र शेखावत –जोधपुर से सांसद एवं केंद्रीय जल शक्ति मंत्री भारत सरकार  गजेन्द्र सिंह  शेखावत  ने पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया ओर कहा कि जेटली का निधन भारतीय राजनीति के लिए अपूर्णीय क्षति है।

राष्ट्रपति कोविंद ने जताया दुख –राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने दुख जताते हुए कहा, ‘अरुण जेटली के मौत से बेहद दुखी हूं। जेटली एक शानदार वकील होने के साथ-साथ एक अनुभवी सांसद और एक प्रतिष्ठित मंत्री थे। उन्होंने राष्ट्र-निर्माण में बहुत योगदान दिया।’

नायडू ने कहा- दुख व्यक्त करने के लिए कोई शब्द नहीं
उप-राष्ट्रपति और भाजपा नेता, एम वेंकैया नायडू ने कहा उनकी मृत्यु देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है और व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए भी। मेरे पास अपना दुख व्यक्त करने के लिए कोई शब्द नहीं है। वह एक शक्तिशाली बुद्धिजीवी, एक योग्य प्रशासक थे।

अमित शाह ने व्यक्तिगत नुकसान बताया
अरुण जेटली के निधन पर गहरा दुख जताते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा ‘यह मेरे लिए व्यक्तिगत नुकसान की तरह है। मैंने पार्टी के एक वरिष्ठ नेता को ही नहीं, बल्कि परिवार के एक महत्वपूर्ण सदस्य को भी खो दिया है, जो हमेशा मेरे मार्गदर्शक रहे।’

भारत में फ्रांस के राजदूत ने ट्वीट कर जताया शोक 
भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्जेंडर जिगलर ने ट्वीट कर कहा- ‘फ्रांस की ओर से, मैं अरुण जेटली जी के परिवार और प्रियजनों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। फ्रांस इस दुख की घड़ी में भारत और उसके लोगों के साथ खड़ा है।

राजनाथ सिंह ने किया ट्वीट
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा ‘ अभी- अभी अरुण जेटली जी के निधन के बारे में पता चला। वह देश के लिए, सरकार के लिए और पार्टी के लिए एक संपत्ति की तरह थे।’

अशोक गहलोत ने जताया दुख
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली के निधन की जानकर गहरा दुख हुआ। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। भगवान उन्हें शक्ति दे। उनकी आत्मा को शांति मिले।

रघुवर दास ने किया ट्वीट
झारखंड के सीएम रघुवर दास ने ट्वीट किया, – ‘अरुण जेटली जी के विचार सदैव हमारा मार्गदर्शन करते रहेंगे। उनकी शानदार भाषण शैली पक्ष और विपक्ष दोनों को मुग्ध करने की क्षमता रखती थी। देश के विकास में उनका योगदान सदैव याद किया जाएगा।’

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया

Published

on

By

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया,

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक विपक्ष के नेता

एयर विस्तारा की उड़ान से सुबह 11.50 बजे श्रीनगर के लिए रवाना हुए

 
कांग्रेस नेता राहुल गांधी और विपक्ष के कई अन्य नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को भारत प्रशासित कश्मीर के श्रीनगर पहुंचा लेकिन इन नेताओं को एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया गया.
न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस प्रतिनिधिमंडल को दिल्ली वापस भेज दिया गया है.
विपक्ष के नेताओं के दौरे को कवर करने के लिए एयरपोर्ट पर जुटे मीडियाकर्मियों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की. न्यूज़ चैनल के पत्रकारों ने बताया कि मीडियाकर्मियों से बदसलूकी यह कहते हुए की गई कि यह डिफेंस एयरपोर्ट है और आप यहां रिपोर्टिंग नहीं कर सकते.विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद, आनंद शर्मा, केसी वेणुगोपाल, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, डीएमके नेता तिरुची शिवा, शरद यादव, टीएमसी के नेता दिनेश त्रिवेदी, एनसीपी नेता माजिद मेमन और सीपीआई महासचिव डी राजा शामिल हैं.प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर में लोगों और पार्टी नेताओं से मुलाक़ात करनी थी. हालांकि बसपा और सपा इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा नहीं हैं.जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने और उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा के बाद से ही वहां टेलीफ़ोन, मोबाइल, इंटरनेट समेत सभी संचार सुविधाएं बंद हैं और धारा 144 लागू है
राहुल गांधी के साथ विपक्ष के इस प्रतिनिधिमंडल के श्रीनगर जाने से पहले जम्मू-कश्मीर प्रशासन का बयान आया था कि ये नेता कश्मीर न आएं और सहयोग करें.साथ ही पुलिस सूत्रों ने भी कहा था कि विपक्षी प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा.प्रशासन ने ट्वीट किया था, “नेताओं के दौरे से असुविधा होगी. हम लोगों को आतंकियों से बचाने में लगे हैं. प्रशासन ने कहा कि नेता उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे होंगे, जो अभी भी कई क्षेत्रों में हैं. वरिष्ठ नेताओं को समझना चाहिए कि शांति, व्यवस्था बनाए रखने और नुकसान को रोकने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी.”
 
हालांकि विपक्ष के नेताओं ने कहा कि उन्हें ऐसे किसी सलाह की कोई जानकारी नहीं है.
वहीं बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने इसे ‘राजनीतिक पर्यटन’ क़रार दिया.
कश्मीर रवाना होने से पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने पत्रकारों से कहा कि अगर हालात सामान्य हैं तो विपक्ष के नेताओं को वहां जाने से क्यों रोका जा रहा है, क्यों दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को घरों में नज़रबंद करके रखा गया है. उन्होंने कहा कि “मेरा वहां घर है और मैं अपने घर नहीं जा पा रहा हूं.”
जबसे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत भारत प्रशासित कश्मीर का विशेष दर्ज़ा छिना है, ग़ुलाम नबी आज़ाद जम्मू कश्मीर जाने की कोशिश कर चुके हैं लेकिन उन्हें लौटा दिया गया.
शरद यादव ने कहा, “हम कौन क़ानून भंग कर रहे हैं. वो हमारे देश के नागरिक हैं, वहां हमारी पार्टी के लोग हैं और उनसे मिलने जाते रहे हैं.”अभी कुछ दिन पहले सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई महासचिव डी राजा श्रीनगर पहुंचे थे लेकिन उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया गया और बैरंग लौटा दिया गया था.
जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने के बाद से ही राहुल गांधी मोदी सरकार पर हमलावर हैं और राज्य की स्थिति को लेकर चिंता जताने के साथ ही सरकार के इस फ़ैसले पर कई सवाल खड़े किए थे.इसके बाद जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दावा किया कि घाटी में हालात सामान्य हैं और राहुल को कश्मीर आने का निमंत्रण दिया.उन्होंने कहा, “मैं राहुल गांधी को कश्मीर आने का निमंत्रण देता हूं. मैं उनकी यात्रा का भी इंतज़ाम करूंगा ताकि वो आकर ज़मीनी हकीक़त देख सकें.”राहुल गांधी ने तुरंत ट्वीट कर उनका न्योता स्वीकार करते हुए एक ऑल पार्टी डेलीगेशन के साथ घाटी का दौरा करने की इच्छा व्यक्त की थी.

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें सुबह की सुर्खियाँ 25/08/2019

Published

on

By

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे बढ़ जाएँ,

देश विदेश और अपने प्रदेश की,सभी ख़ास खबरों का ख़ास संकलन,रोज सुबह सुबह पढ़ेसिर्फ हमारे पोर्टल में ,,,,,,,,,

  1. भिवंडी इमारत हादसे में 2 लोगों की मौत 5 घायल

 

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

अन्य खबरे16 mins ago

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया, न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक विपक्ष के...

अन्य खबरे24 mins ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें सुबह की सुर्खियाँ 25/08/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार...

राजनीति3 hours ago

गृह मंत्री अमित शाह ने जेटली के निधन पर गहरा शोक, अमित शाह ने दौरा रद्द किया

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer आज ही अरुण जेटली से मिलने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन...

छत्तीसगढ़4 hours ago

मुख्यमंत्री के हाथों 58 शहरी गरीबों को पसरा का आवंटन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer  रायपुर(etoi news)23 /08/2019 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज राजधानी रायपुर में...

राजनीति4 hours ago

प्रधानमंत्री ने जन्माष्टमी के अवसर पर लोगों का शुभकामनाएं दीं

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer प्रधानमंत्री ने कहा “सभी देशवासियों को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ। भगवान...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive23 hours ago

निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी घोषणाएँ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी  घोषणाएँ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सुधारों का एलान...

Etoi Exclusive1 day ago

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के मजेदार सपने का सच क्या है ?

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के सपने का सच ? Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer भारत...

Etoi Exclusive2 days ago

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैंक्रोन काशी पहुँचे

उत्तर प्रदेश Mar, 12 2018 फ्रांस के राष्ट्रपति पहुंचे काशी, पीएम मोदी ने किया भव्य स्वागत नौका विहार करके रचेंगे...

Etoi Exclusive2 days ago

भारत को ISIS से लड़ना ही पड़ेगा-डोनाल्ड ट्रम्प 

ट्रम्प का एक और बयान जिससे बवाल मचना तय है  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer  अफगानिस्तान...

Etoi Exclusive3 days ago

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार आज छत्तीसगढ़ का स्थानीय त्यौहार कमरछठ बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस त्यौहार...

Advertisement
August 2019
M T W T F S S
« Jul    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending