Connect with us

व्यापार -नौकरी

जियो को टक्कर दे रहा Airtel का नया प्लान

Published

on

“जियो को टक्कर देने के लिए एयरटेल के 129 रुपये वाले प्लान में ग्राहकों को पूरी वैलिडिटी के दौरान 2GB डेटा, अनलिमिटेड कॉलिंग और रोज 100 एसएमएस मिलेंगे। इस प्लान की वैलि़डिटी 28 दिनों की है। इस प्लान में साथ ही ग्राहकों को एयरटेल टीवी और विंक म्यूजिक का फ्री सब्सक्रिप्शन भी मिलेगा। इससे पहले ये सर्विस पोस्टपेड यूजर्स को ही ऑफर की जाती थी”

  • नए 249 रुपये वाले प्रीपेड प्लान में ग्राहकों को एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस या भारती एक्सा की तरफ 4 लाख रुपये तक लाइफ कवर मिलेगा। इसके अलावा इसमें ग्राहकों को 2GB डेली डेटा, अनलिमिटेड कॉलिंग और रोज 100 एसएसएस मिलेंगे। साथ ही इस प्लान में ग्राहकों को एयरटेल टीवी प्रीमियम सब्सक्रिप्शन, नया 4G फोन लेने पर 2,000 रुपये का कैशबैक, एक साल के लिए नॉर्टन मोबाइल सिक्योरिटी और विंक म्यूजिक का फ्री सब्सक्रिप्शन भी ऑफर किया जा रहा है। इसके लिए आपको ये रिचार्ज हर महीने कराना होगा
  • एयरटेल पोस्टपेड प्लान के साथ प्रीपेड प्लान पर बड़े फायदे और ऑफर्स दे रही है। इससे पहले यह ऑफर पोस्टपेड यूजर्स को ही मिलते थे लेकिन अब ये प्रीपेड यानी रिचार्ज कराने वाले यूजर्स को भी दे रही है। एयरटेल अपने नए 249 रुपये वाले प्रीपेड प्लान में 4 लाख रुपये तक टर्म इंश्योरेंस दे रही है।

SHARE THIS

व्यापार -नौकरी

यहाँ है सरकारी नौकरी की भरमार

Published

on

देश में केंद्र और राज्य सरकारों ने अलग अलग विभागों में नौकरियां निकाल रखी हैं। अगर आप भी सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए यह अच्छा मौका हो सकता है। इसमें एक और फायदा है कि आप अपनी रूचि के मुताबिक नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। क्योंकि दोनों ही सरकारों ने शिक्षा, स्वास्थ्य, न्याय, पुलिस, सेना आदि क्षेत्रों में नौकरियां निकाल रखी हैं तो आप यहां इन नौकरियों से संबंधित जानकारी लेकर उनके लिए आवेदन कर सकते हैं। नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए किन किन चीजों की जरूरत पड़ेगी। आवेदन कहां से किया जा सकता है, इससे संबंधित पूरी जानकारी हम आपको यहां देंगे।

सरकारों ने शिक्षा, स्वास्थ्य, न्याय, पुलिस, सेना आदि क्षेत्रों में नौकरियां निकाल रखी हैं। आवेदन के लिए मांगी गईं पूरी पात्रताओं को ध्यान से पढ़ लें। कहीं ऐसा न हो कि कोई चीज उसमें मांगी गई हो और आपके पास न तो ऐसी स्थिति में आवेदन कर रद्द किया जा सकता है। आवेदन के लिए मांगी गईं पूरी पात्रताओं को ध्यान से पढ़ लें। कहीं ऐसा न हो कि कोई चीज उसमें मांगी गई हो और आपके पास न तो ऐसी स्थिति में आवेदन कर रद्द किया जा सकता है।

आपको बस इतना ध्यान रखना है कि आवेदन करते वक्त कोई गलती न हो। आवेदन के लिए मांगी गईं पूरी पात्रताओं को ध्यान से पढ़ लें। कहीं ऐसा न हो कि कोई चीज उसमें मांगी गई हो और आपके पास न तो ऐसी स्थिति में आवेदन कर रद्द किया जा सकता है। आवेदन रद्द करने का अधिकार विभागों के पास सुरक्षित होता है। यहां क्लिक करके अपने मोबाइल पर जानिए कि आपके लिए कहां कहां सरकारी नौकरी निकली हुई हैं।

क्रेडिट और डिस्क्लेमर :”यह समाचार http://www.jansatta.com से साभार लिया , इस खबर की पुष्टि का दावा etoinews.com नही करता “

SHARE THIS
Continue Reading

देश-दुनिया

सरकार ने सूचीबद्ध कंपनियों, एनबीएफसी और एचएफसी के लिए डिबेंचर विमोचन रिजर्व आवश्यकता हटाई

Published

on

  • कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय ने सूचीबद्ध कंपनि‍यों, एनबीएफसी और एचएफसी के लिए डिबेंचर विमोचन रिजर्व आवश्‍यकता को हटाते हुए कंपनी (शेयर पूंजी एवं डिबेंचर) नियमों में संशोधन कर दिए हैं।यह निर्णय केन्‍द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण द्वारा वित्त वर्ष 2019-20 के लिए की गई बजट घोषणाओं के साथ-साथ सरकार के 100 दिवसीय कार्य योजना के हिस्‍से के रूप में देश की कंपनियों को ‘कारोबार में और सुगमता’ प्रदान करने संबंधी सरकार के उद्देश्‍यों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।
  • इन संशोधनों के जरिए डिबेंचर विमोचन रिजर्व (डीआरआर) के सृजन से संबंधित प्रावधानों को निम्‍नलिखित उद्देश्‍य के साथ संशोधित किया गया है:ए. इसका उद्देश्‍य सार्वजनिक निर्गम और प्राइवेट प्‍लेसमेंट दोनों ही के लिए सूचीबद्ध कंपनियों, आरबीआई में पंजीकृत गैर बैंकिंग वित्तीय कपंनियों (एनबीएफसी) और राष्‍ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी) में पंजीकृत आवास वित्त कंपनियों के संबंध में बकाया डिबेंचरों के कुल मूल्‍य के 25 प्रतिशत के डीआरआर के सृजन की आवश्‍यकता को हटाना है।बी. इसका उद्देश्‍य गैर-सूचीबद्ध कंपनियों के लिए डीआरआर को 25 प्रतिशत के मौजूदा स्‍तर से घटाकर बकाया डिबेंचरों के 10 प्रतिशत पर लाना है।
  • अब तक सूचीबद्ध कपंनियों को सार्वजनिक निर्गम के साथ-साथ डिबेंचरों के प्राइवेट प्‍लेसमेंट के लिए भी डीआरआर सृजित करना पड़ता था, जबकि एनबीएफसी और एचएफसी को केवल तभी डीआरआर सृजित करना पड़ता था जब वे डिबेंचरों के सार्वजनिक निर्गम (पब्लिक इश्‍यू) का विकल्‍प अपनाती थीं। इसका उद्देश्‍य जहां एक ओर एनबीएफसी, एचएफसी और सूचीबद्ध कपंनियों के लिए समान अवसर सुनिश्चित करना है, वहीं दूसरी ओर इनके और बैंकिंग कंपनियों तथा अखिल भारतीय वित्तीय संस्‍थानों के बीच भी समान अवसर सुनिश्चित करना है, जिन्‍हें पहले ही डीआरआर की अनिवार्यता से मुक्‍त कर दिया गया है।सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है, ताकि डिबेंचरों के निर्गम के जरिए कंपनियों द्वारा जुटाई जाने वाली पूंजी की लागत कम हो सके। यही नहीं, इस कदम से बांड बाजार का और ज्‍यादा विस्‍तार होने की आशा है।इन नियमों के तहत गैर-सूचीबद्ध कंपनियों के लिए तो डीआरआर संबंधी आवश्‍यकता को बरकरार रखा गया है,जबकि इस तरह की कंपनियों के लिए 25 प्रतिशत डीआरआर को घटाकर 10 प्रतिशत डीआरआर कर दिया गया है, ताकि निवेशकों के हितों की रक्षा की जा सके।

SHARE THIS
Continue Reading

देश-दुनिया

उत्‍तरदायी कारोबार में सुगमता को बढ़ावा देने पर जोर

Published

on

  • केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज नई दिल्‍ली में ‘2022 तक सबके लिए आवास’ विषय पर 15वें राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन के उद्घाटन सत्र में हिस्‍सा लिया। श्री जावड़ेकर ने भवन निर्माण परियोजनाओं के लिए पर्यावरण संबंधी स्‍वीकृतियों से जुड़े विभिन्‍न मुद्दों पर विस्‍तारपूर्वक चर्चा की।
  • श्री जावड़ेकर ने कहा कि 2014 से पहले पर्यावरण संबंधी स्‍वीकृतियों में काफी रूकावटें थीं, जिन्‍हें अब सरल बनाया गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2014 से पहले पर्यावरण संबंधी स्‍वीकृति पाने में 640 दिनों का समय लगता था, किंतु जब हमने नियमों को सरल बना दिया तब उसी काम में अब 108 दिनों का ही समय लगता है। उन्‍होंने कहा कि जल्‍द ही इसमें लगने वाले समय को घटा कर 60 दिन किया जाएगा। इस दौरान इस बात का भी ख्‍याल रखा जाएगा कि पर्यावरण संरक्षण के बारे में कोई समझौता न हो।
  • पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सरकार पर्यावरण संरक्षण और विकास दोनों कार्यों के लिए प्रतिबद्ध है। श्री जावड़ेकर ने कहा कि पहले 50,000 रुपये से अधिक लागत वाली परियोजनाएं केंद्र सरकार के अधिकारक्षेत्र में होती थीं, किंतु अब 1.5 लाख रुपये और उससे अधिक लागत वाली परियोजनाएं भी राज्‍यों के अधिकारक्षेत्र में हैं। श्री जावड़ेकर ने कहा कि मंत्रालय इस बात के लिए प्रयत्‍नशील है कि नियम सरल हों,बेशक नियम तो कम हों, किंतु उन्‍हें सख्‍ती से लागू करें। उन्‍होंने कहा‍ कि सरकार उत्‍तरदायी कारोबार में सुगमता को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है।

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

राजनीति4 hours ago

हाई कोर्ट ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी, जल्द ही हो सकती है गिरफ्तारी

नई दिल्ली, 20 August, 2019 दिल्ली हाई कोर्ट से कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम को बड़ा झटका लगा है. आईएनएक्स मीडिया केस...

देश-दुनिया4 hours ago

वित्त मंत्री समेत इन 5 सदस्यों ने पद से दिया इस्तीफा

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer योगी सरकार के प्रथम कैबिनेट विस्तार से पहले मंगलवार को वित्त...

देश-दुनिया5 hours ago

Article 370 पर इमरान की दूसरी पत्नी ने लगाया गंभीर आरोप

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म करने से पाकिस्तान बिलबिलाया...

देश-दुनिया6 hours ago

पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिंदबरम पर क्या हैं आरोप ? आखिर क्यों लटक रही है सर पर गिरफ्तारी की तलवार

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer दिल्‍ली हाई कोर्ट ने पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम की अग्रिम...

अन्य खबरे7 hours ago

मुख्यमंत्री निवास पर जन चौपाल भेंट-मुलाकात का आयोजन 21 अगस्त को

मुख्यमंत्री निवास पर जन चौपाल भेंट-मुलाकात का आयोजन 21 अगस्त को Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive7 hours ago

मोहन भागवत के आरक्षण मुद्दे पर किये ट्वीट से मचा बवाल ! जाने आरक्षण आखिर चीज क्या है ?

मोहन भगवत ने ट्विटर पर जारी बयान में कहा कि समाज में सदभावना पूर्वक परस्पर बातचीत के आधार पर सब...

Etoi Exclusive1 day ago

राजीव की काँग्रेस आखिर हांफ क्यों रही है ?

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer गाँधी,नेहरू,शास्त्री, इंदिरा ,राजीव,नरसिंहा राव जैसे दिग्गजों की बिरसा पार्टी  हांफ क्यों...

Etoi Exclusive1 day ago

क्या प्रदेश के मुखिया के सोच के अनुरूप नरवा,गरवा,घुरुआ,बारी पर अमल हो रहा है ?

नरवा,गरवा,घुरुआ,बारी, पर सरकारी अमला ठीक चल रहा है ? या फिर  छत्तीसगढ़ की  इस ब्रांड और ग्रैंड योजना के अमल...

Etoi Exclusive1 week ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें सुबह की सुर्खियाँ 12/08/2019

  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer     दिनांक 12/08/2019 का पंचांग एवं राशिफल श्रावण सोम...

Etoi Exclusive1 week ago

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने अनुच्छेद 370 को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के केंद्र सरकार के फैसले...

Advertisement
August 2019
M T W T F S S
« Jul    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending