Connect with us

लाइफस्टाइल

प्रतिदिन वजन कम करने का आसान तरीका 

Published

on

  • जाने माने जैव-चिकित्सक डॉक्टर सिद्धार्थ कुमैल को इस उपाय को खोजने का और वजन घटाने के उद्योग-धंधों के सालों से छुपाये बड़े झूठ से पर्दा उठाने का श्रेय दिया जाता है। डॉ. सिद्धार्थ कुमैल ने इस क्रांतिकारी उपाय की खोज तब की जब वह एम्स नई दिल्ली के प्रतिष्ठित अनुसंधान विभाग में काम कर रहे थे, और अब दवा बनाने वाली कंपनियां कोशिश कर रही हैं कि यह आसान सा उपाय प्रतिबंधित कर दिया जाए। इससे पहले कि यह तरीका अदालत की प्रणाली के चक्कर में पड़े, आप पढ़ लें कि बिना किसी कसरत, परहेज, महंगे और दर्दभरे ऑपरेशन के कैसे प्राकृतिक तरीके से अपना वजन कम कर सकते हैं!इस जादुई फल को प्राकृतिक आक्सीकरणरोधी, गारसिनिया कम्बोजिया के साथ मिश्रण करके बनाया जाता है, यह बेहतरीन घोल आपकी पाचन शक्ति को बढ़ा देता है, शरीर को स्वस्थ कर देता है, ऊर्जा को दस गुना बढ़ा देता है और सचमुच में चर्बी को रात भर में कम कर देता है।
  • साथ ही साथ ये नैचुरल एजेंट्स आपको हानिकारक टॉक्सिन्स से छुटकारा दिलाता है और आपके शरीर को लंबे समय के लिए कैलोरी घटाने में मदद करता है। टॉक्सिन्स से शरीर को साफ करने और पाचन क्रिया को सही रखने से शरीर में सही तालमेल बना रहता है जिससे चर्बी आसानी से कम हो जाती है।कई अध्ययनों में यह खुलासा हुआ है कि अधिक भार की महिलाओं और पुरुषों को सही कमाई वाली नौकारी मिलने में और विपरीत लिंग वाले लोगों को आकर्षित करने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वो अवसाद, सामाजिक व्याकुलता और आत्मविश्वास में कमी महसूस करते हैं। सीधे शब्दों में कहें तो: अधिक वजन होना जिन्दगी के हर पहलु में नकारत्मकता ला देता है।लेकिन चिंता ना करे: कई साल के मोटापे को कम करने का पहला कदम है कि पाचन क्रिया की धीमी प्रक्रिया को शुरू करना।
  • मेरे वजन घटाने की जादुई कोशिश की तकनीक बिल्कुल ऐसे ही काम करती है! पोषक तत्वों का सही माप करके, कोशिका स्तर पर पाचन शक्ति को गति प्रदान करता है, और सालों को जमी चर्बी को कम कर देता है-जिससे कि आप पतले हो जाएं और वैसे ही बने रहें।इसका मतलब है वर्षों की चर्बी को घटाना- हमेशा के लिये!मैं इस उपाय को उन सब के सामने लाने के लिये संकल्पित था जिन्हें भी मोटापे से होने वाली मानसिक प्रताड़ना का सामना करना पड़ रहा है, मैंने उस जादुई फल को निचोड़ कर एक गोली में डाल दिया और उसे Laventrix Garcinia नाम दिया। मुझे पता था मैंने सही किया है, उन लाखों महिलाओं और पुरुषों के लिए जो ज्यादा वजन वाले हैं, उन्हें इसका इलाज ढ़ूढ़ने में मदद की, लेकिन मैं इस बात से अनजान था कि कई लालची डॉक्टर, अस्पताल, दवा कंपनियां इस बात से कितने क्रोधित हो जाएंगे। इस बात पर कोई भी संदेह नहीं है कि ये मेरी प्राकृतिक दवा उनके महंगे और हानिकारक इलाज से कहीं बेहतर है, लेकिन वह हमारे काम को बंद कराने की कोशिश के लिये पर्याप्त नहीं था। Laventrix Garcinia हर उस चीज के खिलाफ था जिसके लिए चिकित्सा उद्योग खड़ा होता है। यह लिपोसक्शन और हानिकारक वजन घटाने की सप्लीमेंट्स का सस्ता और पूरी तरह से-प्राकृतिक विकल्प था।
  • जो रहस्य था वो प्राकृतिक तालमेल था। अफ्रीकी फल के अलावा, Laventrix Garcinia के साथ गारनिसिया कम्बोजिया भी मिला होता था जो कि वजन कम करने को बढ़ावा देता था और आपकी ऊर्जा को दस गुना बढ़ा देता था। दोनों प्राकृतिक सफाई कारक तत्व मिलकर शरीर से हानिकारक तत्वों को मिटा देते थे और लंबे समय के लिए काम करने और शरीर में कैलोरी कम करने में मदद करते थे। इसे सबसे अच्छे वैज्ञानिक तरीकों और प्राकृतिक चीजों का उपयोग करके बनाया जाता था। Laventrix Garcinia वैज्ञानिक रूप से वसा कोशिकाओं को निशाना बना के उन्हें कम करने में सिद्ध हो चुका है। इसका मतलब आप वजन जल्दी से, आसानी से और हमेशा के लिए कम कर सकते है। गारंटी के साथ। यह एक तथ्य है- Laventrix Garcinia रासायनिक रूप से महिला और पुरुष को वजन कम करने तथा एक खुशहाल जिंदगी जीने में मदद करता है।

Disclaimer

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

देश-दुनिया

World Thyroid Day 2019: 25 May, 2019 – लाईलाज नहीं थायरॉइड

Published

on

दुनिया भर में हर साल 25 मई को थायरॉइड जागरूकता दिन के रूप में विश्व थायरॉइड दिवस (World Thyroid Day 2019) मनाया जाता है। यह डिसऑर्डर आमतौर पर थायरॉइड ग्रंथि की अधिक सक्रियता या फिर कम सक्रियता से होते हैं। सर्वाधिक पाए जाने वाले थायरॉइड डिसऑर्डर हैं – हायपरथायरॉइडिज्‍म (थायरॉइड गतिविधि में असाधारण वृद्धि), हाइपोथायरॉइडिज्‍म.

थायरॉइड डिसऑर्डर इलाज बेहद आसान –

यह डिसऑर्डर आमतौर पर थायरॉइड ग्रंथि की अधिक सक्रियता या फिर कम सक्रियता से होते हैं। सर्वाधिक पाए जाने वाले थायरॉइड डिसऑर्डर हैं – हायपरथायरॉइडिज्‍म (थायरॉइड गतिविधि में असाधारण वृद्धि), हाइपोथायरॉइडिज्‍म (थायरॉइड गतिविधि में असाधारण गिरावट), थायरॉइडाइटिस (थायरॉइड ग्रंथि में सूजन), गोइटर और थायरॉइड कैंसर। थायरॉइड की बीमारियों की जांच और इलाज बेहद आसान है।

अगर थायरॉइड ग्रंथि में थोड़ी सी भी सूजन नज़र आती है तो बिना किसी लापरवाही के इसकी तुरंत जांच करानी चाहिए। जब भी इसके संकेत देखने को मिलें तो एक मरीज़ को तत्काल डॉक्टर की सलाह लेनी ज़रूरी है। थायरॉइड पर नियंत्रण के लिए इसकी जल्द पहचान और इलाज दोनों ही महत्वपूर्ण है।

महिलाओं को थायरॉइड –

भारत में थायरॉइड की समस्याएं लगातार बढ़ रही हैं और खासकर महिलाओं में इसके मामले अधिक देखे जा रहे हैं। इसका कारण यह है कि पुरुषों की तुलना में एक महिला के शरीर में हार्मोन असंतुलन की संभावना अधिक होती। महिलाएं हार्मोन संबंधी बदलावों के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं और आयोडीन की कमी के किसी भी संकेत से उनकी थायरॉइड प्रणाली में जटिलता अधिक बढ़ सकती है।

एक गर्भवती महिला को थायरॉइड डिसऑर्डर का खतरा अधिक होता है, खासकर तब जब उसके शरीर में थायरॉइड गतिविधि असाधारण रूप से अधिक या कम हो जाती है। महिला के शरीर में हार्मोन स्तर असंतुलित होने से विभिन्न प्रभाव देखने मिलते हैं, जैसे असामान्य माहवारी, असंतुलित या गैर-मौजूद ओव्युलेशन चक्र, पुटी का बनना, प्रसव के बाद थायरॉइडाइटिस, मिसकैरेज, समय पूर्व प्रसव, गर्भ में मृत शिशु की डिलीवरी, प्रसव के बाद रक्तस्राव, और जल्द रजोनिवृत्ति की शुरुआत भी हो सकती है।

शरीर में आयोडीन की कमी को आसानी से अपने आहार में नियंत्रण और नियमित व्यायाम से दूर किया जा सकता है। थायरॉइड की समस्याएं रोकने के लिए व्यस्कों को 150 एमसीजी आयोडीन का प्रतिदिन सेवन करने की सलाह दी जाती है। वहीं, गर्भवती महिलाओं के लिए यह मात्रा अधिक होती है।

हाइपोथायरॉइडिज्‍म के लक्षण

हाइपोथायरॉइडिज्‍म तब होता है जब थायरॉइड ग्रंथियां एक अपर्याप्त मात्रा में थायरॉइड हार्मोन का उत्पादन करने लगती हैं। यह स्थिति थायरॉइड ग्रंथि, पीयूष ग्रंथि या हाइपोथेलेमस में समस्याओं के कारण विकसित होती है। इससे गोइटर का निर्माण भी हो सकता है, जो थायरॉइड ग्रंथि के बड़ा हो जाने के कारण होता है। हाइपोथायरॉइडिज्‍म के निम्न लक्षण हो सकते हैं

  • थकान
  • एकाग्रता में कमी
  • रूखी त्वचा
  • कब्ज़
  • ठंड लगना
  • शरीर में तरल पदार्थों का रुकना / वजन बढ़ना
  • मांसपेशियों एवं जोड़ों में दर्द
  • डिप्रेशन
  • बाल झड़ना
  • महिलाओं में लंबे वक्त तक या अत्यधिक/थोड़े समय के लिए या बेहद कम रक्तस्राव
  • अमेनोरिया (हार्मोन असंतुलन के कारण होने वाली एक दुर्लभ स्थिति) से आपकी माहवारी कई महीनों तक या इससे अधिक भी रुक सकती है

हायपरथायरॉइडिज्‍म के संकेत

थायरॉइड हार्मोन परिणामों के अत्यधिक उत्पादन से हायपरथायरॉइडिज्‍म होता है, जो हायपरथायरॉइडिज्‍म से कम देखने मिलती है। आमतौर पर हायपरथायरॉइडिज्‍म के लक्षण मेटाबॉलिज्म (चयापचय) में वृद्धि से जुड़े होते हैं। कुछ साधारण मामलों में कोई स्पष्ट संकेत देखने नहीं भी मिल सकते हैं। हायपरथायरॉइडिज्‍म के कारण गोइटर का निर्माण भी हो सकता है। इसके कुछ आम लक्षणों में निम्न शामिल हैं

  • शरीर में कंपन
  • नर्वस महसूस करना
  • हृदय गति तेज़ होना
  • थकान
  • गर्मी बर्दाश्त ना होना
  • बार-बार शौच के लिए जाना
  • अकारण वजन घटना

थायरॉइड डिसऑर्डर की जांच

थायरॉइड डिसऑर्डर की जांच एवं पुष्टि के लिए शारीरिक जांच के अलावा कुछ विशेष परीक्षण भी किये जाते हैं। वहीं, आमतौर पर खून की जांच के द्वारा थायरॉइड हार्मोन और टीएसएच (थायरॉइड स्टिम्यूलेटिंग हार्मोन्स) स्तर की जांच भी की जाती है। उपरोक्त कोई भी लक्षण महसूस होने पर थायरॉइड हार्मोन्स स्तर और टीएसएच जांच की सलाह दी जाती है। अधिकतर मामलों में थायरॉइड डिसऑर्डर को इलाज के जरिये नियंत्रित किया जा सकता है और इनसे जान को खतरा नहीं होता। हालांकि कुछ स्थितियों के लिए सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है। थायरॉइड कैंसर से पीड़ित अधिकतर मरीज़ों के लिए भी अच्छी उम्मीदें होती हैं, लेकिन जिन मरीज़ों में थायरॉइड कैंसर पूरे शरीर में फैल चुका है उनके ठीक होने की संभावना कम होती है। 25 मई को थाईराइड दिवस के मौके पर थाईराइड पीड़ित अपना विशेष ध्यान और नियमित उपचार का संकल्प करें और स्वस्थ्य रहने का प्रण करें।

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

गर्मियों में कैसे चुस्त-दुरुस्त और फिट रहना हैं, ब्लडप्रेशर डायबिटीज़ से बचे

Published

on

अनेक बीमारियां जीवाणुओं और वायरस आदि से नहीं फैलतीं। फिर भी लोग बीमार पड़ते हैं। इसका कारण है अनहेल्दी लाइफस्टाइल, जो आजकल के जमाने में मोटापा, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और अन्य समस्याओं को उत्पन्न करती है। स्वस्थ जीवनशैली के अंतर्गत समुचित खानपान, व्यायाम, पर्याप्त रूप से नींद लेना और सकारात्मक सोच आदि बातों को शामिल किया जाता है। गौरतलब है कि मौसम के अनुसार भी जीवनशैली में बदलाव करना पड़ता है।बदलते मौसम के मिजाज़ के अनुसार अगर लोग अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करें, तो वे स्वस्थ व सुखी जीवन जी सकते हैं।

डायबिटीज वाले ध्यान दें

डायबिटीज के साथ जिंदगी जी रहे लोगों को गर्मियों में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। गर्मियों में शरीर में पानी की कमी (डिहाइड्रेशन) होने से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है, जो डायबिटीज वालों के लिए समस्या पैदा कर देती है। इसलिए डायबिटीज वालों को पानी अधिक पीना चाहिए कम-से-कम तीन लीटर पानी।आमतौर पर ऐसा देखा गया है कि डायबिटीज से ग्रस्त व्यक्ति ब्लड शुगर को कंट्रोल नहीं कर पाते। इस कारण उनके रक्त में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है इसका मुख्य कारण है इस मौसम में ठंडे पेय, शर्बत, लस्सी व शीतल पेय का सेवन अधिक होता है। आइसक्रीम, कुल्फी से ब्लड शुगर नियंत्रण में नहीं रहती। डायबिटीज वालों को फलों में जामुन, सेब, संतुलित मात्रा में तरबूज व खरबूज का सेवन करना चाहिए.

हाई ब्लड प्रेशर रहेगा काबू में

गर्मियों के मौसम में आमतौर पर ब्लड प्रेशर सर्दियों की तुलना में 10 मि.मी. कम हो जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सर्दियों में रक्तवाहिनी ठंड के कारण सिकुड जाती हैं और गर्मियों में यानी अप्रैल-मई में जब तापमान में वृद्धि होती है, तो रक्तवाहिनियां फैल जाती हैं और धमनियों पर ब्लड का प्रेशर कम होता है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीज डॉक्टर से परामर्श कर अपनी दवा की डोज को कम कर सकते हैं। इसी प्रकार जो व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर के इलाज के लिए डाईयूरिक दवाएं (जिनसे पेशाब ज्यादा होती है) लेते हैं, उन्हें इन दवाओं की मात्रा कम कर देनी चाहिए। ऐसा देखा गया है कि जो लोग इन दवाओं का सेवन करते हैं, उनमें गर्मी में पसीना आने के कारण शरीर में पानी की कमी तथा आवश्यक लवण सोडियम की कमी हो जाती है। इसके परिणास्वरूप सुस्ती, उदासी, कमजोरी महसूस होती है। ऐसी दवाओं को डॉक्टर के परामर्श से बंद कर देना चाहिए।

खानपान पर दें ध्यान

आहार में तले हुए खाद्य पदार्थ जैसे पूड़ी, कचौड़ी,समोसा और अन्य वसायुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कम-से-कम करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि इस मौसम में मेटाबॉलिज्म सर्दियों की तुलना में ज्यादा एक्टिव नहीं होता। इसलिए हरी सब्जियां, दही, लौकी, तोरई, भिंडी, टिंडा, छाछ, आम का पना का सेवन अधिक करना चाहिए।खीरा, ककड़ी, तरबूज, टमाटर में पानी की मात्रा 90 प्रतिशत तक होती है इसलिए ऐसे फलों का सेवन ज्यादा करना चाहिए। चाय, कॉफी का सेवन भी कम करें। नीबू पानी, शिकंजी, अमरस, ठंडाई आदि पेय पदार्थों फायदेमंद होते हैं। अधिक मात्रा में प्रोटीन यानी आहार में अंडे, मांस, मछली आदि भी नहीं खाना चाहिए। आम, लीची, अंगूर शीतलता प्रदान करने वाले फल हैं, जो हाई ब्लड प्रेशर और दिल के मरीजों के लिए अच्छे हैं लेकिन डायबिटीज के रोगियों के लिए ये फल सही नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि इनकी ग्लाइसीमिक इंडेक्स बहुत अधिक होती है। इसलिए रक्त में ग्लूकोज की मात्रा अधिक हो जाती है। डायबिटीज वालों को जामुन और सेब का सेवन लाभप्रद होता है.

शारीरिक श्रम

गर्मियों में आमतौर पर सुबह 30 मिनट तक टहलना ही बेहतर है। कमरे का तापमान भी 25 से 30 डिग्री तक रहे तो अच्छा है। धूप में जरूरत पड़ने पर ही निकलें। जरूरत पडे तो पानी की बोतल साथ लेकर निकलें। सिर ढकने के लिए छाते का इस्तेमाल करें। अधिक शारीरिक श्रम या व्यायाम करने से पसीना ज्यादा निकलता है, जिससे शरीर में पानी की कमी यानी डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है।

वृद्ध रखें खास ख्याल 

वृद्ध लोगों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। लगभग 70 फीसदी से ज्यादा बूढ़े लोग हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त हैं। इसलिए आपको प्रात:काल ही टहलना चाहिए। ग्लूकोमीटर से ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर की नियमित जांच करनी या करानी चाहिए। अपने डॉक्टर से परामर्श कर दवाओं की मात्रा को सुनिश्चित करना चाहिए। हरी सब्जी व दो फलों का सेवन करना चाहिए। 10 बजे से सायं 5 बजे तक धूप में बाहर नहीं निकलना चाहिए.

SHARE THIS
Continue Reading

लाइफस्टाइल

सोने के भाव में लगातार गिरावट

Published

on

सोना दूसरे दिन भी सस्ता

सोने के भाव में लगातार दूसरे दिन भी गिरावट रही। सर्राफा बाजार में चांदी का भी भाव गिर गया। गुरूवार को दिल्ली के सर्राफा बाजार में चांदी का भाव 90 रुपए गिरकर 38,330 रुपए प्रति किलो हो गया। चांदी में इंडस्ट्रियल यूनिट और सिक्का निर्माताओं की कम मांग रही।

सोना दूसरे दिन भी सस्ता हुआ है। बुधवार को सोने का भाव 100 रुपए गर गया है। आज दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का रेट 80 रुपए गिरकर 32670 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गया। ज्वेलर्स की कम मांग के कारण सोने के रेट में गिरावट आई।

ट्रेडर्स के मुताबिक सोने के भाव पर अंतराष्ट्रीय बाजार का भी असर पड़ा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर न्यूयॉर्क में सोना भाव 1,293.26 डॉलर प्रति औंस और चांदी भाव 15.15 डॉलर प्रति औंस रहा।

दिल्ली में 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव 80-80 रुपए टूटकर क्रमश: 32,670 रुपए और 32,500 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा।
सोने की आठ ग्राम वजनी गिन्नी का भाव 26,400 रुपए प्रति इकाई पर ही बना रहा।

सर्राफा बाजार में हाजिर चांदी भाव 90 रुपए घटकर 38,330 रुपए और साप्ताहिक डिलीवरी चांदी का भाव 45 रुपए बढ़कर 37,465 रुपए प्रति किलोग्राम रहा। चांदी सिक्कों का प्रति सैकड़ा लिवाली भाव 80,000 रुपए और बिकवाली भाव 81,000 रुपए पर बना रहा।

SHARE THIS
Continue Reading

ब्रेकिंग खबरे !!!!

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive5 days ago

लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा फेक न्यूज – सोशल मीडिया पर हो सर्तक निगाहें

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नहीं, 2000 रुपये के नए नोटों में कोई जीपीएस चिप नहीं...

Etoi Exclusive1 week ago

गोडसे को देशभक्त बताने पर भड़के पीएम मोदी , कहा- मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

आखिरी चरण के चुनाव से पहले नाथूराम गोडसे और महात्मा गांधी पर राजनीति तेज हो गई है।महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को...

Etoi Exclusive1 week ago

BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह

गोडसे पर BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह, कहा- पार्टी का लेना-देना नहीं अमित शाह ने एक अन्य...

Etoi Exclusive1 week ago

बाल-बाल बचे RSS प्रमुख मोहन भागवत,गाय को बचाने के चक्कर में पलट गई कार

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में गुरुवार 16 मई को आरएसएस चीफ...

Etoi Exclusive2 weeks ago

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर जे.एस.पी.एल. को रेलवे को दिए गए पहले रेलवे के...

Calendar

May 2019
M T W T F S S
« Apr    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
Advertisement

निधन !!!

Uncategoried2 months ago

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर आज होगा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। पैंक्रियाटिक कैंसर से पिछले एक...

निधन4 months ago

पैसों की तंगी झेल रहे बॉलीवुड के खलनायक की मौत, घर में मिली लाश

शक्ति कपूर बोले- काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, सेट पर भी पीते थे शराब Click Here...

निधन4 months ago

निधन – फत्तेचंद अग्रवाल सक्ती

सक्ति (कन्हैया गोयल) 31/01/2019 शक्ति शहर की प्रतिष्ठित फर्म काशीराम फत्तेचंद के संचालक सजन अग्रवाल, पवन अग्रवाल एवं नवलकिशोर अग्रवाल...

दिल्ली4 months ago

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का 89 साल की उम्र में निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नई दिल्ली 29 जनवरी 2019 भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज...

निधन4 months ago

श्रीमती कमला सिंह का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 28/01/2029 भैंसदा के प्रतिष्ठित ठाकुर परिवार के स्व. पलटन सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती कमला सिंह का 28 जनवरी...

निधन4 months ago

जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता विजय श्रीवास्तव पंचतत्व में विलीन

27 जनवरी को आयोजित जेष्ठ पुत्रमयंक का वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित बिलासपुर (अमित मिश्रा) 27/01/2019 हसदेव कछार जल संसाधन विभाग बिलासपुर...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती माणक बाई ललवाणी (जैन) का निधन

रायपुर,14/01/2019 रायपुर निवासी श्रीमती माणक बाई ललवाणी  (जैन) 95 वर्ष, घर्मपत्नी स्व.पन्नालाल ललवाणी का स्वर्गवास आज हो गया हैं जिनकी...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती बिदामी बाई बुरड़ का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर,14/01/2019 आनन्द नगर विनायक इनक्लेव, रायपुर निवासी श्रीमती बिदामी बाई पत्नी...

निधन5 months ago

छोटेलाल कौशिक का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 09/01/2019 ग्राम डोंगाकोहरौद के मालगुजार छोटेलाल कौशिक का गत् 4 जनवरी को हो गया। अचानक वे 3...

छत्तीसगढ़5 months ago

लक्ष्मण प्रसाद साहू नगरदा का निधन : दशकर्म एवं चंदनपान 8 जनवरी को

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सक्ती (कन्हैया गोयल) 05/01/2019 शक्ति विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक,भाजपा नेता...

Trending

Breaking News