Connect with us

देश-दुनिया

बैंक से नाराज डोनाल्ड ट्रंप ने दी नसीहत कहा- चीन को नहीं, गरीब देशों को दो लोन

Published

on

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप वर्ल्ड बैंक से नाराज हैं. क्योंकि वो चीन को लगातार पैसे दे रहा है. ट्रंप का कहना है कि चीन संपन्न देश है इसलिए उन्हें वर्ल्ड बैंक से लोन की आवश्यकता नहीं है. चीन को अपना भार खुद ही उठाना चाहिए. वर्ल्ड बैंक चीन के बदले विश्व के अन्य गरीब देशों की सहायता करे तो बेहतर होगा.

अपने ट्विटर हैंडल पर नाराजगी जाहिर करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने लिखा, ‘चीन के पास पहले से काफी धन मौजूद है. अगर नहीं है तो उन्हें बनाने के तरीके पर विचार करना चाहिए. फिर वर्ल्ड बैंक चीन को लोन क्यों दे रहा है? इसे रोकिए.’

वित्त मंत्री स्टीवन म्नुचिन ने भी ट्रंप के आरोपों का समर्थन किया है. म्नुचिन ने गुरुवार को वर्ल्ड बैंक के प्रतिनिधियों के सामने राष्ट्रपति ट्रंप की बात रखी. उन्होंने कहा कि व्हाइट हाउस वर्ल्ड बैंक के इस रवैये से नाराज है. नए पंचवर्षीय प्रोग्राम के तहत चीन को दी जाने वाली राशि में कमी आनी चाहिए.

वर्ल्ड बैंक में चीन मामलों के निदेशक मार्टिन रेजर ने कहा, ‘नई योजना हमारे बीच के संबंधों को दर्शाएगा. उनसे हमारा जुड़ाव अब चुनिंदा मुद्दों पर ही होंगे. धीर-धीरे चीन को दी जाने वाली कर्ज में भी कटौती की जाएगी.

हालांकि वर्ल्ड बैंक के आश्वासन के बाद भी अमेरिका संतुष्ट नहीं है. उनके मुताबिक लोन में कमी समस्या का समाधान नहीं है. ट्रंप प्रशासन का कहना है कि चीन विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश है. वो अपने पैसों की जरूरत स्वयं भी पूरा कर सकता है, बिना लोन लिए. क्योंकि वर्ल्ड बैंक का उद्देश्य गरीब देशों को आर्थिक मदद देना है. संपन्न देशों को नहीं.

मार्च 2018 से US-चीन में चल रहा ट्रेड वॉर

चीन और अमेरिका के बीच साल 2018 से ही ट्रेड वॉर चल रहा है. ट्रंप प्रशासन ने मार्च महीने में चीन से आयात होने वाले स्टील और एल्युमिनियम पर भारी टैरिफ लगा दिया था. इसके जवाब में तब चीन ने भी अरबों डॉलर के अमेरिकी आयात पर टैरिफ बढ़ा दिया. जिसके बाद से यह विवाद बढ़ता जा रहा है.

अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर सुलझ न पाने से वैश्विक अर्थव्यवस्था को भारी कीमत चुकानी पड़ रही है. दुनिया की प्रमुख नौ अर्थव्यवस्थाएं मंदी की कगार पर हैं. जानकारों का अनुमान है कि यदि इसका समाधान नहीं निकाला गया और ट्रेड वॉर जारी रहा तो इससे साल 2021 तक अमेरिकी अर्थव्यवस्था फिर से मंदी के दायरे में चली जाएगी. इससे पूरे दुनिया की इकोनॉमी को करीब 585 अरब डॉलर का चूना लग सकता है.

अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध से भारतीय अर्थव्यवस्था को फायदा

हालांकि संयुक्त राष्ट्र के एक अध्ययन में बताया गया है कि अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर से भारतीय अर्थव्यवस्था को फायदा होगा. क्योंकि इससे देश के निर्यात में 3.5 फीसदी की तेजी आएगी.

वहीं, सबसे अधिक फायदा यूरोपीय संघ को होगा, जिसके पास अतिरिक्त 70 अरब डॉलर का कारोबार आएगा. यूएन कांफ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डेवलपमेंट (यूएनसीटीएडी ) की रिपोर्ट में कहा गया कि वाशिंगटन और बीजिंग के बीच चल रहे टैरिफ युद्ध (एक दूसरे के सामानों पर शुल्क लगाना) का फायदा कई देशों को होगा, जिसमें ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, भारत, फिलीपींस, पाकिस्तान और वियतनाम प्रमुख हैं.

‘द ट्रेड वार्स: द पेन एंड द गेन’ शीर्षक की रिपोर्ट में कहा गया है, “द्विपक्षीय टैरिफ उन देशों में काम कर रही फर्मों के लाभ के लिए वैश्विक प्रतिस्पर्धात्मकता को बदल देते हैं जो उनसे सीधे प्रभावित नहीं होते हैं.”

इस अध्ययन में कहा गया कि यूरोपीय निर्यात को 70 अरब डॉलर का फायदा होगा, जबकि जापान, कनाडा और मैक्सिको के निर्यात में प्रत्येक को 20-20 अरब डॉलर का फायदा होगा.

यूएनसीटीएडी की रिपोर्ट में कहा गया, “अमेरिका-चीन तनाव से उन देशों को ज्यादा फायदा मिलने की उम्मीद है, जो अधिक प्रतिस्पर्धी हैं और अमेरिकी और चीनी कंपनियों की जगह लेने की आर्थिक क्षमता रखते हैं.”

यूएनसीटीएडी अंतरराष्ट्रीय व्यापार प्रमुख पामेला कोक-हैमिल्टन ने एक प्रेस वार्ता में कहा, “इसका बड़े पैमाने पर असर होगा और समूची अंतरराष्ट्रीय व्यापार प्रणाली पर इसका नकारात्मक असर होगा.”

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

अन्य खबरे

सिगरेट छोड़ना चाहते हैं तो अपनाये ये आसान से घरेलू उपाय

Published

on

सभी जानते हैं कि सिगरेट पीना बुरा है, लेकिन लत छोड़ नहीं पाते हैं। ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (2016-17) के अनुसार, भारत में सिगरेट पीने वालों की संख्या 10 करोड़ से ज्यादा है। कुल आबादी के 4 फीसदी वयस्क सिगरेट पीते हैं। इनमें 0.6 फीसदी महिलाएं हैं। देश में हर साल 10 लाख लोग सिगरेट से होने वाले विभिन्न रोगों को कारण अपनी जान गंवाते हैं।

धूम्रपान की लत छोड़ने के कई तरीके हैं, लेकिन घरेलू तरीकों को अपनाया जाना बेहतर है। सबसे बड़ा फायदा है कि इनका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। www.myupchar.com से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला बताते हैं कि स्मोकिंग छोड़ना असंभव नहीं। जरूरत होती है सही दिशा में कदम बढ़ाने की। कोई भी लत छोड़ने की शुरुआत में मन को पक्का करें। धूम्रपान छोड़ने की तारीख तय कर दें और फिर पीछे मुड़कर न देखें।

स्मोकिंग छोड़ने के घरेलू उपाय

सिगरेट या कोई भी लत छोड़ना है तो उस माहौल से बचें जहां मन फिर से उसी दिशा में जाने को ललचाए। स्मोकिंग के मामले में दोस्तों की संगत सबसे अहम है। दोस्त लत छुड़वा सकते हैं तो सारे किए कराए प्रयासों पर पानी भी फेर सकते हैं। सिगरेट छोड़ने का सबसे कारगर घरेलू उपाय है सौंफ। जब भी सिगरेट पीने का मन करे, थोड़ी सौंफ फांक लें। इसी तरह अदरक और आंवले का इस्तेमाल किया जा सकता है। अदरक और आंवले को पीस कर सुखा लें और एक डिब्बे में भर लें। स्वाद बढ़ाने के लिए नींबू और नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। जब भी सिगरेट पीने का मन हो, यह मिश्रण फांक लें। इसके अलावा संतरा और अंगूर जैसे फलों का सेवन करें। सिगरेट की तलब को कंट्रोल करने में मदद करेंगे।

मुलेठी एक जड़ी-बूटी है जो सिगरेट की लत छुड़ा सकती है। इसका हल्का मीठा स्वाद धूम्रपान की इच्छा खत्म करने में मदद करता है। इससे खांसी में राहत मिलती है। यह टॉनिक का काम करता है। इससे थकान नहीं होती जो कि आमतौर पर सिगरेट पीने वालों का एक बहाना होता है।

बहुत कम लोगों को पता है कि लाल मिर्च भी धूम्रपान छोड़ने में मदद करती है। एक गिलास पानी में छोटी सी चुटकी लाल मिर्च मिलाएं और रोज सेवन करें। ठंड में आजमाया जाने वाला एक और उपाय है मूली। मूली के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और इसका रस निकाल लें। इस रस में शहद मिलाएं और दिन में दो बार सेवन करें। अश्वगंधा भी धूम्रपान की इच्छा को दबाता है। यह एक टॉनिक के रूप में काम करता है।

धूम्रपान छोड़ने में विशेष प्रकार की योगासनों को फायदेमंद बताया गया है। इनमें प्रमुख हैं – भुजंगासन, सेतुबंधासन, सर्वांगासन, बालासन। साथ ही कपालभाति नाड़ी शोधन और अनुलोम विलोम प्राणायाम और शरीर के विषैले तत्व निकलते हैं।

धूम्रपान छोड़ने के ये आसान घरेलू उपाय अपनाएं। यदि इसके बाद भी लत बनी रहती है तो डॉक्टर से मिलें। मनोवैज्ञानिक की मदद भी ले सकते हैं। जब भी सिगरेट पीने का मन करे तो इसके खतरों के बारे में याद करें और अपने परिवार के बारे में सोचें।

Continue Reading

देश-दुनिया

निर्भया की मां आशा देवी ने कहा -उन्हें सुप्रीम कोर्ट पर पूरा भरोसा है, दोषियों को 1 फरवरी को फांसी होगी.

Published

on

निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट पर पूरा भरोसा है कि सभी दोषियों को 1 फरवरी को फांसी होगी. बता दें, दोषी अक्षय ने क्‍यूरेटिव पीटिशन दायर की है. वहीं मुकेश ने राष्ट्रपति द्वारा मर्सी पीटिशन को रिजेक्ट करने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. उस पर बुधवार को फैसला आ गया है. मुकेश की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. आशा देवी ने कहा कि अन्य दोषियों की याचिका खारिज होने का उन्हें भरोसा है. उन्होंने न्याय मिलने की उम्मीद भी जताई है. उन्होंने कहा कि दोषियों को कानून ने अधिकार दे रखा है, इसका गलत उपयोग हो रहा है, कोर्ट को इसपर बैन लगाना चाहिये.

दोषी फांसी से बचने का कर रहे प्रयास

निर्भया गैंगरेप केस के दोषी फांसी से बचने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं. मुकेश के तिहाड़ जेल में यौन शोषण का आरोप लगाया गया था. जानकारी मिली थी की अक्षय के बाद विनय भी राष्ट्रपति के पास दया याचिका भेजने की तैयारी कर रहा है. दिल्ली में साल 2012 में निर्भया गैंगरेप कांड हुआ था. इस मामले में 4 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई है.

निर्भया की मां ने जताई थी नाराजगी

निर्भया की मां आशा देवी फांसी में देरी के सवाल पर काफी नाराज भी थी. दोषियों के वकीलों द्वारा फांसी रोकने के प्रयास पर सरकार को भी खरी-खोटी सुना चुकी है.

मुकेश सिंह की याचिका पर आज आएगा फैसला

निर्भया मामले में एक और दोषी मुकेश सिंह ने तिहाड़ जेल में यौन शोषण के आरोप लगाया था. साथ ही उसने राष्ट्रपति के दया याचिका खारिज करने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती भी दी है. इसपर आज गुरूवार को सुप्रीम कोर्ट फैसला दे सकता है. वैसे सरकार ने मुकेश की याचिका का काफी विरोध किया था. सरकार के पक्ष का कहना था कि यह याचिका स्वीकारने लायक नहीं है. उनका पक्ष था कि राष्ट्रपति के दोषी को माफी देने के अधिकार की समीक्षा का कोर्ट के पास सीमित अधिकार है.सिर्फ कोर्ट जाने का बचा है विकल्प
आपको बता दें कि दोषी मुकेश सिंह की पुनर्विचार याचिका, क्यूरेटिव पिटीशन और दया याचिका खारिज हो चुकी है. राष्ट्रपति के द्वारा दया याचिका खारिज करने के बाद मुकेश के पास हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का विकल्प था, जिसपर आज फैसला आ सकता है.

Continue Reading

देश-दुनिया

 बस ने ऑटो को मारी टक्कर,  हादसे में 25 की दर्दनाक मौत, PM मोदी ने जताया शोक

Published

on

नासिक। महाराष्ट्र के नासिक जिले में कल शाम राज्य परिवहन की एक बस ने ऑटो को टक्कर मार दी। इस भयंकर हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है। इस दुर्भाग्यपूर्ण और दर्दनाक हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक गहरा जताया है।
खबरों के मुताबिक, मंगलवार को नासिक में मालेगांव-देओला सड़क पर मेशी फाटा पर शाम करीब 4 यह दर्दनाक हादसा बजे हुआ। जिसमें राज्य परिवहन की एक बस ने ऑटो को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज़ थी कि बस ऑटो को घसीटती हुई सड़क किनारे स्थित कुएं में ले गई और दोनों गाड़ियां कुएं में गिर गईं। हादसे में करीब 30 लोग घायल हुए हैं, जिसमें बस की ही सवारियां हैं।

हादसे में बस चालक की भी मौत हो गई। मृतकों में कई महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। कुएं में से कम से कम 25 शवों को निकाला गया है और घायलों को सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इस दुर्भाग्यपूर्ण और दर्दनाक हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक गहरा जताया है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रशासन को हादसे में घायल लोगों को हरसंभव मदद पहुंचाने का निर्देश दिया है। बस धुले जिले से नासिक के कल्याण जा रही थी, जबकि ऑटो विपरीत दिशा से आ रहा था। बस को कुएं से बाहर निकाल लिया गया है। मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए का मुआवज़ा देने का ऐलान किया गया। जबकि घायलों के इलाज का पूरा खर्च एमएसआरटीसी उठाएगा।

 

 

 

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

देश-दुनिया1 hour ago

बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर के गोली मारो’ बयान पर ओवैसी ने दिया चुनौती

नागरिकता कानून को लेकर बयानबाजी का दौर जारी है. बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर के ‘CAA का विरोध करने वालों को...

छत्तीसगढ़15 hours ago

भाजपाजनों ने गृह मंत्री अमित शाह का किया जोशीला स्वागत

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस समेत विपक्ष पर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भ्रम फैलाने और मुसलमानों को...

छत्तीसगढ़15 hours ago

विवादित सी.ए.ए.-एन.आर.सी. कानून वापस लिया जाये : पी.आर. खुंटे

रायपुर(etoi news)28 जनवरी 2020। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद पी.आर. खुंटे ने कहा कि सी.ए.ए.-एन.आर.सी. आर.एस.एस की...

छत्तीसगढ़15 hours ago

भाजपा को कांग्रेस की खुली चुनौती : 15 साल की भाजपा की उपलब्धियों और कांग्रेस की 13 माह की उपलब्धियों पर जनता के बीच हो खुली चर्चा

रायपुर(etoi news)28 जनवरी 2020। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा नेताओं को 15 साल की रमन सरकार की उपलब्धियों और...

छत्तीसगढ़16 hours ago

भाजपा का तीन करोड़ लोगों से छत्तीसगढ़ में संपर्क का दावा, जबकि छत्तीसगढ़ में आबादी ही 2.5 करोड़ है : कांग्रेस

रायपुर(etoi news)28 जनवरी 2020। कांग्रेस ने कहा है कि नोटबंदी में प्रचलन से ज़्यादा नोट बैंक में एकत्रित कर चुकी भाजपा...

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive16 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 29/01/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive2 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 27 /01/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 26 /01/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive5 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 25 /01/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive6 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 24 /01/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Calendar

January 2020
M T W T F S S
« Dec    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  

निधन !!!

Advertisement

Trending