Connect with us

अन्य खबरे

भाजपा के कुशासन भ्रष्टाचार के 15 वर्षों बाद हुये सत्ता परिवर्तन से घबरायी हुई है :शैलेश नितिन

Published

on

भाजपा के कुशासन भ्रष्टाचार के 15 वर्षों बाद हुये सत्ता परिवर्तन से घबरायी हुई है :शैलेश नितिन

रायपुर/11 सितंबर 2019। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि नगरीय निकाय चुनाव को भाजपा के उच्चस्तरीय प्रतिनिधी मंडल द्वारा की गयी मांगो से स्पष्ट है कि भाजपा चाहती ही नहीं कि नगरीय निकाय चुनाव हो सके। भाजपा नगरीय निकाय चुनावों में हार से भयभीत है। राज्य में भाजपा के कुशासन भ्रष्टाचार के 15 वर्षों बाद हुये सत्ता परिवर्तन से घबरायी हुई है। भाजपा राज्य में कांग्रेस भूपेश बघेल की सरकार के द्वारा लगातार जनहितकारी फैसलों के कारण कांग्रेस को मिल रहे जनसमर्थन से भयभीत है। भाजपा नगरीय निकाय चुनाव नहीं होने देने के कुचक्र में लगी हुयी है। भाजपा जब सत्ता में थी, भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में भी नगरीय निकाय चुनाव न होने देने की पूरी ताकत लगायी थी। नगरीय निकाय चुनाव नहीं होने देने के लिये भाजपा ने 2014 में भी जी जान का जोर लगाया था। नगरीय निकाय चुनाव नहीं कराने से भाजपा सरकार के फैसले के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के नेता महापौर प्रमोद दुबे, राम गिडलानी, मलकीत सिंह गेंदु, सर्वोच्च न्यायालय गये थे। 2014 का पिछला नगरीय निकाय चुनाव भी प्रदेश में बदलाव के राजनैतिक वातावरण को भांप कर भाजपा टालने में लगी थी। जिसे कांग्रेस के चार नेताओं के द्वारा माननीय सर्वोच्च न्यायालय में लगाई गयी याचिका के फैसले के बाद यथावत तय समय मे हुए। बड़ी संख्या में कांग्रेस प्रत्याशियो ने नगरीय निकायो पर कब्जा जमाया था। कांग्रेस को जर्बदस्त सफलता मिली थी। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश के कारण ही छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय निर्वाचन संभव हुआ और उसमें कांग्रेस को जर्बदस्त जन समर्थन मिला। छत्तीसगढ़ में स्थानीय निकाय के चुनावों में नगर निगमों, नगर पालिकाओं और नगर पंचायतो में कांग्रेस की जर्बदस्त जीत हुयी थी। भाजपा 2014 की ही तरह छत्तीसगढ़ में स्थानीय निकाय के चुनाव को रोकने फिर से साजिश कर रही है। आज निर्वाचन गये भाजपा के प्रतिनिधी मंडल की मांगों से स्पष्ट है कि भाजपा नगरीय निकाय चुनावों में हार की संभावना से बुरी तरह से भयभीत है। भाजपा नहीं चाहती कि छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव उल्लेखनीय है कि चुनाव टालने के लिये ही इस तरह की मांगे भाजपा के उच्च स्तरीय प्रतिनिधी मंडल द्वारा सामने रखी गयी है। 


प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में भाजपा नगरीय निकाय में पिछली हार से उबर नही पायी है। राज्य में निकाय चुनाव नवम्बर दिसम्बर में होना है ठीक उसके पहले निर्वाचन प्रक्रिया के अनुसार तैयारी राज्य निर्वाचन के द्वारा की जा रही है मगर भाजपा आधारहीन आरोप लगाकर होने वाले नगरीय निकाय चुनाव को टालना चाहती है। भारतीय जनता पार्टी के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधी मंडल आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी स्थानीय निकाय चुनाव के लिये है उनसे मिला और भारतीय जनता पार्टी ने चार मांगे की है। भारतीय जनता पार्टी ने एक और मतदाता सूची में दावा आपत्ति की तिथी बढ़ाने की मांग की है दूसरी और फिर से मतदाता सूची बनाने की मांग की है। भारतीय जनता पार्टी ईवीएम के चुनाव कराने की मांग कर रही है और परिसीमन को फिर से कराने की मांग की है।
Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

अन्य खबरे

डर जीवन में कई प्रकार के है, जाने कैसे और क्यू

Published

on

पहले रिश्‍तों के बनने का डर, फि‍र टूटने की आहट. पहले डर के अंधेरे में शिक्षा, उसके बाद किसी स्‍थाई ठिकाने की खोज और अंत में उसके छिटक जाने के डर की लंबी यात्रा. जिंदगी को हमने डर का यात्री निवास बना दिया है.

जिंदगी को हमने डर का यात्री निवास बना दिया है. मन में भय की घंटियां निरंतर बजती रहती हैं. हमने इसे अपन स्वभाव बना लिया है. पहले रिश्‍तों के बनने का डर, फि‍र टूटने की आहट. पहले डर के अंधेरे में शिक्षा, उसके बाद किसी स्‍थाई ठिकाने की खोज और अंत में उसके छिटक जाने के डर की लंबी यात्रा. जिंदगी को हमने डर का यात्री निवास बना दिया है.

हमारे मन का यह हाल तब है, जब हम स्‍वयं को हर समय आधुनिक कहते रहते हैं. हर तीसरे चौथे दिन हमें अंतरिक्ष में घर बनाने की खबरें मिलती रहती हैं. विज्ञान नए अभियान की तैयारी में है. हम स्‍वयं को तकनीक प्रेमी और  जागरूक समाज  के रूप में देखे जाने के हर दिन दावे करते रहते हैं. उसके बाद भी यह माहौल है कि डर जरूरी है!

हम भूल जाते हैं कि डर हुआ आदमी ही दूसरे को डराता है. जिसके मन में अभय है, वह कभी दूसरे को डराने की कोशिश नहीं करता. जिसके पास सब कुछ है, वह दूसरे को अपने होने से आतंकित नहीं करता. लेकिन, जिसके पास कुछ नहीं, वह दूसरे के मन पर सबसे अधिक अधिकार की कोशि‍श में रहता है. धीरे चलना. ठहकर जीवन जीना, यह सब बातें हम भूलते जा रहे हैं.

इसलिए हम अक्‍सर हड़बड़ी में रहते हैं. घबराए हुए. कुछ परेशान से. अपने आसपास आप अधिकांश लोगों को अक्‍सर ऐसे ही पाते हैं. आपके समीप जो भी मन हैं (क्‍योंकि हर कोई केवल एक मन ही है) थोड़ा ध्‍यान से उन्‍हें देखिए तो आप सरलता से समझ जाएंगे कि सारे मन कितने उथले होते जा रहे हैं. गहराई की सारी जिम्‍मेदारी मानिए हमने केवल समंदर को दे दी है. बाकी सारे उथली सतह पर आ गए हैं.

जिंदगी सिवाय कड़ियों के कुछ नहीं. सब एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं. इस बात को हम जितनी जल्‍दी समझ लेते हैं. उतनी ही शीघ्रता से हमारे डर, भय दूर होते जाएंगे. जब तक आप भीतर से निर्भय नहीं होते हैं. बाहर से बुलेट पूफ्र जैकेट पहनने से कुछ नहीं होने वाला.हम कहीं सबसे अधिक कमजोर हैं तो वह है, मन! जब तक हमारा मन भयभीत है, हम किसी भी किले में जाकर क्‍यों न रहने लगें, हम जीवन सुख के दरवाजे तक नहीं पहुंच सकते. असली जीवन वहां से आरंभ होता है, जहां से हमारे डर खत्‍म होते हैं. आइए, डर के बारे में सबसे खतरनाक मिथक से मिलते हैं.हम अक्‍सर ऐसे लोगों को साहसी समझते हैं, जो जंगल/खतरनाक जगह में जाने से न डरें. अगर ऐसे लोग अभय को प्राप्‍त हुए होते तो निर्भय डाकू होते जबकि वह तो स्‍वयं भयभीत हैं. इसलिए डर को शरीर की शक्ति से बाहर देखते की जरूरत है. जंगल के जहरीले सांप, खतरनाक जानवर से जो नहीं डरता जरूरी नहीं, उसके भीतर अभय हो.

डर से बाहर होने का अर्थ है- मानसिक डर से मुक्ति. मन में किसी का डर न होना. जिनसे जीवन को भय है, उससे डरना तो सहज है. यह जीवन बोध है. यह असली संकट नहीं.

असली संकट है, मानसिक डर. वह खोने का डर जो हमने किसी तरह पा लिया है. संघर्ष का डर. छाया में रहते हुए हम धूप से डरने वाले समाज बन गए हैं. अनर्थ की आशंका में डूबे समाज बनते जा रहे हैं. इनसे मुक्‍त हुए बिना अपने मन को निर्भय नहीं बनाया जा सकता. यह डर हमारे सहज विवेक पर सबसे बड़ा संकट हैं.
इसलिए, अपनी जीवन आस्‍था को गहरा, प्रकाशवान और साहसी बनाइए. सारे डर विश्‍वास की कमी से उपजते हैं, स्‍नेह और आस्‍था की रोशनी में गायब हो जाते हैं.

 

 

Continue Reading

अन्य खबरे

ऑनलाइन पेमेंट करते समय काफी सतर्क रहने की जरूरत है जाने कैसे 

Published

on

ऑनलाइन पेमेंट करते समय काफी सतर्क रहने की जरूरत है जाने कैसे

ऑनलाइन पेमेंट करते समय काफी सतर्क रहने की जरूरत है. आइये जानते हैं कुछ ऐसे तरीके जिससे डिजिटल फ्रॉड से बचने में मदद मिलती है.

आजकल के इस डिजिटल टाइम (digital fraud) में सब चीजें ऑनलाइन होती जा रही हैं. ऐसे में काम जितना आसान हुआ है, उतना ही थोड़ी सी चूक से खतरा भी बढ़ गया है. बैंकिंग सेक्टर तो तेजी डिजिटल को अपना रहा है. साथ ही लोगों के हाथ में बढ़ते स्मार्टफोन (smartphone) से डिजिटल युग को पंख लग रहे हैं. अब तो स्मार्टफोन के जरिए कहीं भी कितने भी रुपये ट्रांसफर करते रहने की सुविधा मिलती है, या कभी भी ऑनलाइन शॉपिंग (online shopping) किया जा सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि पेमेंट करने के लिए डिजिटल का ऑप्शन खुला है.

डिजिटल के बढ़ते चलन को देखते हुए इसमें फ्रॉड (धोखाधड़ी) भी बढ़ गया है. लिहाजा ऑनलाइन पेमेंट करते समय काफी सतर्क रहने की जरूरत है. आइये जानते हैं कुछ ऐसे तरीके जिससे डिजिटल फ्रॉड से बचने में मदद मिलती है

–सबसे पहली बात, किसी से भी अपने बैंक का पिन कोड, पासवर्ड शेयर ना करें. फर्जी मैसेज से हमेशा सावधान रहें.


–जब भी कोई ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करें तो चेक करें कि इंटरनेट कनेक्शन पासवर्ड से प्रोटेक्टेड हो. कभी साइबर कैफे या फ्री वाई-फाई के ज़रिए ऑनलाइन पेमेंट ना करें.–आपको फंसाने के लिए लिए कई बार ई-मेल भेजा जाता है. यह ई-मेल ऐसा लगता है जैसे किसी बैंक ने या किसी शॉपिंग वेबसाइट ने भेजा हो. इनके जरिए हमेशा पर्सनल इन्फॉर्मेशन मांगी जाती है. इसके लिंक पर क्लिक करते ही एक नकली वेबसाइट ओपन हो जाती है. जैसे ही आपना यूजर आईडी और पासवर्ड डालते हैं. आपके मोबाइल नंबर, लॉग इन आईडी, पासवर्ड, डेबिट, क्रेडिट कार्ड संबंधित जानकारी तुरंत हैक की जा सकती है

फ्रॉड करने वाले कई बार Whatsapp पर QR कोड शेयर करते हैं. साथ ही मैसेज भी भेजते हैं कि इसके स्कैन करने से आपके अकाउंट में पैसे आ जाएंगे. QR का यह फीचर कुछ UP Apps में होता है. ऐसे किसी भी QR कोड पर कार्ड का नंबर, पिन और ओटीपी कभी शेयर न करें.

-इसके अलावा कुछ हैकर्स फ्रॉड करने के लिए आपके सिम का इस्तेमाल करते हैं, जिससे उन्हें OTP मिल जाता है. वो मोबाइल कंपनी का कस्टमर केयर बन कर आपसे सिम को एक्टीवेट करने के लिए आपसे सिम कार्ड नंबर मांगते हैं. मगर हमेशा याद रखें कि ऐसी किसी भी मैसेज ना तो जवाब दें और ना ही किसी लिंक पर क्लिक करें.

-फ्रॉड करने वाले आपको किसी स्क्रीन शेयरिंग App का उपयोग करने के लिए कहते हैं. ये App एक तरह का मालवेयर होता है, जो आपके मोबाइल डेटा को थर्ड पार्टी तक पहुंचा देता है. याद रहे कि Screenshare, Anydesk, Teamviewer जैसी किसी स्क्रीन शेयर ऐप को इंस्टॉल ना करें.

–साथ ही फ्रॉड करने वाले सोशल मीडिया पर फर्जी बैंक अधिकारी बन कर आपसे आपकी शिकायत सुनने के बहाने अकाउंट डिटेल मांग सकते हैं. ऐसे में ध्यान रखें कि बैंक की आधिकारिक साइट से ही फोन नंबर निकालें और संपर्क करें.

 

 

Continue Reading

अन्य खबरे

Oil India भर्ती 2020 : ऑयल इंडिया में टीचर पदों के लिए निकली वेकेंसी, जल्द करे आवेदन

Published

on

 

ऑयल इंडिया ने कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी किया है.

Oil India Teacher Recruitment 2020: ऑयल इंडिया ने कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी किया है. इच्छुक उम्मीदवार 21 फरवरी से 20 मार्च 2020 तक आयोजित किये जाने वाले वॉक-इन-इंटरव्यू के लिए उपस्थित हो सकते हैं.

महत्वपूर्ण तिथियाँ:
• वॉक-इन-इंटरव्यू की तिथि: 21 फरवरी से 20 मार्च 2020

ऑयल इंडिया टीचर भर्ती 2020 रिक्ति विवरण:
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर – 7 पद

ऑयल इंडिया टीचर भर्ती 2020 भर्ती 2020 पात्रता मानदंड:
शैक्षिक योग्यता:
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर -कैंडिडेट्स के पास सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में एमएससी या मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (MCA) डिग्री होनी चाहिए.
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से इकोनॉमिक्स में एम.ए..
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर – मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से मैथ्स में M.A./M.Sc.
• लाइब्रेरियन – लाइब्रेरी और इनफार्मेशन साइंस में स्नातक या समकक्ष.
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर – सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से नृत्य में स्नातक या समकक्ष.
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर – मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ललित कला में स्नातक डिग्री.
• कॉन्ट्रैक्चुअल टीचर – संगीत में स्नातक डिग्री या मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से समकक्ष डिग्री.

Job Summary

Country India
ऑफिशियल नोटिफिकेशन क्लिक करें
ऑफिशियल वेबसाइट क्लिक करें

इच्छुक उम्मीदवार दस्तावेजों के साथ ऑयल इंडिया एच. एस. स्कूल, दुलियाजान में 21 फरवरी से 20 मार्च 2020 तक आयोजित किये जाने वाले वॉक-इन-इंटरव्यू के लिए उपस्थित हो सकते हैं.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

Etoi Exclusive14 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 18 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

छत्तीसगढ़16 hours ago

धान खरीदी में विलंब किसानों के साथ वादा खिलाफी – जोगी

रायपुर(etoi news) 17 फरवरी 2020। छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमों श्री अजीत जोगी...

छत्तीसगढ़16 hours ago

धान खरीदी पर भाजपा लगातार ले रही है झूठ का सहारा : कांग्रेस

रायपुर(etoi news)17 फरवरी 2020। धान खरीदी पर भाजपा की झूठ को बेनकाब करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग...

छत्तीसगढ़16 hours ago

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया

रायपुर(etoi news )17 फरवरी 2020। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया व्यक्त की।...

छत्तीसगढ़16 hours ago

छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम द्वारा 584 किलोमीटर की सड़केें पूर्ण

रायपुर,(etoi news) 17 फरवरी 2020 छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम द्वारा प्रदेश में 767 किलोमीटर लम्बाई की 26 सड़कों का निर्माण...

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive2 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 17 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive3 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 16/02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 15/02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive5 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 14/02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive6 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 13/02/2020

  सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़...

Calendar

February 2020
M T W T F S S
« Jan    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
242526272829  

निधन !!!

Advertisement

Trending