Connect with us

अन्य खबरे

उत्तर बिहार के बच्चों पर दिमागी बुखार का कहर

Published

on

पीड़ितों व मौत की बढ़ रही संख्या के मद्देनजर पटना मुख्यालय में उच्चस्तरीय बैठक हुई
लाइव हिन्दुस्तान में छपी खबर की मानें उत्तर बिहार के बच्चों पर दिमागी बुखार का कहर जारी है। बीते 24 घंटे में मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच व केजरीवाल अस्पताल में इलाजरत पांच बच्चों की मौत हो गई। वहीं, इस बीमारी से ग्रसित 23 नए बच्चों को मंगलवार को दोनों अस्पतालों में भर्ती कराए गए। इनमें से 15 बच्चों का एसकेएमसीएच व आठ का केजरीवाल अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। इन बच्चों की मौत के साथ बीते 11 दिनों में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 60 हो गई है। वहीं, नए भर्ती बच्चों को मिलकर 154 पीड़ित सामने आ चुके हैं।
 
पीड़ितों व मौत की बढ़ रही संख्या के मद्देनजर पटना मुख्यालय में उच्चस्तरीय बैठक हुई।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख डॉ. आरडी रंजन, राज्य वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा व राज्य जेई-एईएस के नोडल समन्वयक संजय कुमार ने एसकेएमसीएच पहुंच पूरी स्थिति का जायजा लिया।
इस दौरान अधिकारियों ने दो राउंड चारों पीआईसीयू का निरीक्षण किया। इसके बाद विभाग की टीम केजरीवाल अस्पताल भी पहुंची। इधर,
सिविल सर्जन डॉ ने बताया कि मंगलवार को चार ही बच्चों की मौत चमकी बुखार से हुई है।
भर्ती मरीजों की संख्या में भी अंतर देखा जा रहा है।
ऐसे में अधिकारियों ने सुव्यवस्थित तरीके से डाटा अपडेट करने पर भी जोर दिया है।
एस के एम सी एच में चार और केजरीवाल में एक मौत
एस के एम सी एच में मंगलवार को मोतीपुर के मछुआ की पांच वर्षीय चांदनी कुमारी, बोचहां कनहारा के चार वर्षीय शिवा कुमार, मोतीपुर की नौ वर्षीया शगुफ्ता की मौत हो गई। वहीं, सीतामढ़ी के रून्नीसैदपुर के जिलावतपुर के सात वर्षीय नीलेश कुमार ने इमरजेंसी में दम तोड़ दिया। परिजनों के अनुसार उसे भी चमकी-तेज बुखार की समस्या थी। उधर, केजरीवाल अस्पताल में मुशहरी कन्हौली की ढाई वर्षीय संध्या की मौत हो गयी।

SHARE THIS
Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Etoi Exclusive

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार

Published

on

By

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार


आज छत्तीसगढ़ का स्थानीय त्यौहार कमरछठ बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस त्यौहार में माताएं अपनी संतानों की दीर्घायु और सुखद जीवन की कामनाएं कर उपवास रहती हैं और विशेष प्रकार की पूजा कर एक तरह की खिचड़ी तथा सात प्रकार की भाजी का प्रसाद ग्रहण करती हैं।
छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ी और छत्तीसगढ़िया के साथ जो व्यवहार किया गया था। वह छत्तीसगढ़ के कुछ त्यौहारों में आज भी दिखता है। कमरछठ को कुछ लोग खमरछठ और हलषष्ठी भी बोलकर जबरन अपनी किवदंतियों को इस त्यौहार में घुसाने की कोशिश करते हैं। जबकि उन किवदंतियों से इस त्यौहार का कोई लेना देना नहीं है। हां इतना जरूर है कि इसी तिथी को कुछ अन्य संयोग जरूर हुए जो इस त्यौहार के साथ जुड़ते गए।
छत्तीसगढ़ मूलतः शिव प्रदेश है। शिव परिवार की प्राचीन मूर्तियां यहां हर जगह पायी जातीं हैं। इन्हें बूढ़ादेव, शीतला माता जैसे नामों से पुकारा जाता है। सावन महीने में स्वयं शिव जी आते हैं। सावन खत्म होने के ठीक छठे दिन कमरछठ मनाया जाता है। कहते हैं कि भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय का एक नाम कुमार भी है। माता पार्वती ने पुत्र प्राप्ति के कठोर तपस्या की थी। कार्तिकेय का जन्म इसी दिन हुआ था। कार्तिकेय की पत्नी का नाम षष्ठी भी बताया जाता है। कुमार और षष्ठी नाम जुड़कर कमरछठ होना बताया जाता है। पति की दीर्घायु की कामना के साथ महिलाएं दस दिनों बाद तीजा पर्व मनाएंगी। यह भी शिव आराधना का पर्व है। उसी दिन गणेश चतुर्थी के साथ गणेश पूजा का भी पर्व शुरू होगा।
जो लोग भगवान श्रीकृष्ण और उनके बड़े भाई बलराम से इस पर्व को जोड़ते हैं, उनके लिए बताते चलूं कि तीन दिन बाद जन्माष्टमी है। अंचल में इसे आठे के रूप में मनाया जाता है। रही बात बलराम के प्रतीक हल के पूजा की तो उसका त्यौहार कुछ दिन पूर्व हरेली के रूप में मना लिया जाता है। कृषि कार्य में सेवा के लिए घरेलू पशुओं को धन्यवाद देने का एक पर्व आठे के बाद पोरा और दिवाली के तीसरे दिन मातर के रूप में मनाया जाता है।
कमरछठ बरसात के समाप्ति का भी पर्व है। कास जिसे छत्तीसगढ़ी में कासी कहा जाता है के पौधों में फूल इन्ही दिनों या थोड़े दिन बाद ही आते हैं। कास में फूल तभी आते हैं जब बरसात समाप्ति की ओर हो। कमरछठ की पूजा में सगरी बनाकर उसमें पानी भर दिया जाता है। सगरी के पार में कास के पौधों के टुकड़े गड़ाए जाते हैं।
यह पर्व वैष्णव परम्परा से अलग क्यों है ? इसका जवाब इस पर्व में प्रयोग होने वाली भैंस की दूध, दही और घी है। वैष्णव परम्परा में गाय का दूध, दही और घी का प्रयोग होता है। एक और महत्वपूर्ण बात इस त्यौहार में महुए के फल का प्रयोग है। महुआ को अंचल में पवित्र माना जाता है। साथ ही खिचड़ी जो कि ‘ पसहर ‘ चावल से बनता है। यह चावल उगाया नहीं जाता। मतलब बिना हल और बैल के प्रयोग के इसकी फसल ली जाती है। इसे काटा नहीं जाता। मतलब इसे हाथों से तोड़ा जाता है। इसकी खिचड़ी बनाते समय महुआ के डंगाल का उपयोग किया जाता है। खाते भी इसे महुआ के पत्तों के ऊपर हैं।

साभार अजय वर्मा की फेस बुक वाल से

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

19 सितंबर से बांग्लादेश और भारत की अंडर-23 क्रिकेट टीमों के बीच वनडे मैच खेला जाएगा

Published

on

By

राजधानी रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में 19 सितंबर से बांग्लादेश और भारत की अंडर-23 क्रिकेट टीमों के बीच वनडे मैच खेला जाएगा। सीरीज में कुल पांच वनडे मैच खेले जाएंगे। सभी मैच रायपुर में ही 19, 21, 23, 25 और 27 सितंबर को खेले जाएंगे। भारतीय टीम की कप्तानी प्रियम गर्ग करेंगे। अखिल भारतीय जूनियर चयन समिति के चेयरमैन आशीष कपूर ने मंगलवार को सीरीज के लिए भारतीय टीम की घोषणा की। टीम में छत्तीसगढ़ के किसी भी खिलाड़ी को जगह नहीं मिल सकी है।
प्रियम गर्ग (कप्तान), यशस्वी जायसवाल, माधव कौशिक, बीआर शरत (विकेटकीपर), समर्थ व्यास, आर्यन जुयाल (विकेटकीपर), ऋतिक रॉय चौधरी, कुमार सूरज, अतीत सेठ, शुभांग हेगड़े, रितिक शौकीन, धरुशंत सोनी, अर्शदीप सिंह, कार्तिक त्यागी, हरप्रीत बरार,

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

मोहम्मद हामिद की मौत 33 हजार वाट के तार में सटने से

Published

on

मधेपुरा

सुबह बिजली ठेकेदार के द्वारा उससे घर से लाया गया था। सिंहेश्वर से मानिकपुर तक का 33 हजार वोल्ट का काम करवाया जा रहा है। इस दौरान हामिद ने जब बरगद के वृक्ष की डाल काटी तो उसी दौरान डाल नीचे गिरने के क्रम में डाल का एक सिरा तार में फंस गया। इसके बाद वह तार के चपेट में आ गया। इससे उसकी मौत हो गई।

थाना क्षेत्र के बेहरी पंचायत के बुढ़ावे गांव के समीप बरगद का पेड़ की डाली काटने के दौरान गम्हरिया प्रखंड अंतर्गत औरही एकपाड़ा वार्ड संख्या 10 निवासी मोहम्मद हामिद की मौत 33 हजार वाट के तार में सटने से हो गई। मौत के बाद लोगों ने एनएच 106 को तीन घंटे तक जाम कर दिया। घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जामकर दिया। सड़क जाम के दौरान लोगों के द्वारा उधर से गुजरने वाले बाइक सवारों के साथ भी बदसलूकी की। सड़क जाम की सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष महेश रजक एवं वीडियो राजेश कुमार चौधरी ने पहुंचकर पेड़ से शव को उतरवाया गया। इस दौरान उग्र भीड़ को समझाने गए प्रखंड प्रमुख पति जयप्रकाश यादव से भी बदसलूकी की गई।

बाद में थानाध्यक्ष और वीडियो के समझाने के बाद आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम हटाया। स्थानीय लोगों ने बताया कि यह काम बिजली विभाग के द्वारा गोपी कृष्ण कंपनी को ठेका देकर करवाया जा रहा है। बीच में बरगद का वृक्ष आने से परेशानी हो रही थी। पहले भी दो आदमियों ने इस वृक्ष की टहनी काटी थी। उसकी भी मौत हो गई थी। थानाध्यक्ष महेश कुमार ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

क्रेडिट और डिस्क्लेमर :”यह समाचार http://https://www.jagran.comसे साभार लिया , इस खबर की पुष्टि का दावा etoinews.com नही करता “

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

Etoi Exclusive4 mins ago

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार आज छत्तीसगढ़ का स्थानीय त्यौहार कमरछठ बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस त्यौहार...

छत्तीसगढ़17 mins ago

आंगनबाडी कार्यकर्ताओ की सेवा समाप्त

                  आंगनबाडी कार्यकर्ताओ की सेवा समाप्त Click Here To Read Astrological Articles...

छत्तीसगढ़39 mins ago

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका के 18 पदों के लिए 30 तक आवेदन

         आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका के 18 पदों के लिए 30 तक आवेदन Click Here To Read...

छत्तीसगढ़53 mins ago

मंत्रालय के जीएडी सहित कई विभागों के अफसरों का तबादला, देखिये सूची…

                  मंत्रालय के जीएडी सहित कई विभागों के अफसरों का तबादला, देखिये...

छत्तीसगढ़1 hour ago

मुख्यमंत्री ने दी हलषष्ठी की बधाई और शुभकामनाएं

                                  मुख्यमंत्री ने दी...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive22 hours ago

मोहन भागवत के आरक्षण मुद्दे पर किये ट्वीट से मचा बवाल ! जाने आरक्षण आखिर चीज क्या है ?

मोहन भगवत ने ट्विटर पर जारी बयान में कहा कि समाज में सदभावना पूर्वक परस्पर बातचीत के आधार पर सब...

Etoi Exclusive2 days ago

राजीव की काँग्रेस आखिर हांफ क्यों रही है ?

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer गाँधी,नेहरू,शास्त्री, इंदिरा ,राजीव,नरसिंहा राव जैसे दिग्गजों की बिरसा पार्टी  हांफ क्यों...

Etoi Exclusive2 days ago

क्या प्रदेश के मुखिया के सोच के अनुरूप नरवा,गरवा,घुरुआ,बारी पर अमल हो रहा है ?

नरवा,गरवा,घुरुआ,बारी, पर सरकारी अमला ठीक चल रहा है ? या फिर  छत्तीसगढ़ की  इस ब्रांड और ग्रैंड योजना के अमल...

Etoi Exclusive1 week ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें सुबह की सुर्खियाँ 12/08/2019

  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer     दिनांक 12/08/2019 का पंचांग एवं राशिफल श्रावण सोम...

Etoi Exclusive2 weeks ago

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने अनुच्छेद 370 को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के केंद्र सरकार के फैसले...

Advertisement
August 2019
M T W T F S S
« Jul    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending