Connect with us

अन्य खबरे

कांग्रेस ने जारी किया भाजपा की केन्द्र सरकार के किसान विरोधी रवैये का सबूत

Published

on

भाजपा को किसानों से कोई हमदर्दी नहीं : कांग्रेस
कांग्रेस ने जारी किया भाजपा की केन्द्र सरकार के किसान विरोधी रवैये का सबूत
भाजपा को किसानों से हमदर्दी होती तो 2500 रू. में धान खरीदी न रोकने के लिये अपनी केन्द्र सरकार को कहती
 
रायपुर/04 दिसंबर 2019। भाजपा के किसान विरोधी रवैये पर कड़ा प्रहार करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा को किसानों से कोई हमदर्दी नहीं। भाजपा को हमदर्दी होती तो अपनी केन्द्र सरकार को कहती कि 2500 रू. में धान खरीदी पर रोक न लगायें। हल्ला बोलना है तो रमन सिंह और धरमलाल कौशिक दिल्ली जाकर हल्ला बोलें, जहां भाजपा की केन्द्र सरकार किसानों को 2500 रू. धान का दाम देने से छत्तीसगढ़ की सरकार को रोकने के लिये चिट्ठियां लिख रही है एमओयू कर रही है दबाव डाल रही है। रमन सिंह और भाजपा के नेताओं ने किसानों को धान बेचने से रोकने की भरपूर कोशिश की। भाजपा नेताओं ने किसानों के लिये 2500 रू. की मांग की है। भाजपा की केन्द्र सरकार कांग्रेस की राज्य सरकार को चिट्ठी लिखती है कि किसानों को 2500 रू. दाम न दिया जाये। यदि छत्तीसगढ़ सरकार 2500 रू. देगी तो छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बना चांवल सेन्ट्रल पूल में नहीं लिया जायेगा। ये तो सीधे-सीधे भारतीय जनता पार्टी का दोहरा आचरण है। भाजपा की मोदी की केन्द्र सरकार 2500 रू. देने पर रोक लगा रही है और यहां के भाजपा नेता 2500 रू. देने की मांग कर रहे हैं। अगर रमन सिंह जी वाकई किसानों को 2500 रू. दिलाना चाहते है तो रमन सिंह जी को दिल्ली जाकर मांग करना चाहिये। रमन सिंह जी को जंतर-मंतर में मोदी सरकार से अमित शाह, रामविलास पासवान जी से मांग करना चाहिये कि छत्तीसगढ़ की सरकार को 2500 रू. में धान खरीदी करने से न रोका जाये। 2500 रू. में धान खरीदी में कोई रोकटोक भाजपा की केन्द्र सरकार के द्वारा न लगायी जाये। रमन सिंह जी नगपुरा जैसी जगहों में जाकर अपनी मेहनत और ऊर्जा व्यर्थ बर्बाद कर रहे हैं। पूरे छत्तीसगढ़ सहित नगपुरा के किसानों ने भारतीय जनता पार्टी को रमन सिंह जी को रिजेक्ट कर दिया। नगपुरा में 1816 किसानों ने अपना धान उसी दिन बेचा है, जिस दिन रमन सिंह वहां गए थे। प्रदेश के किसानों को भूपेश बघेल जी की सरकार पर पूरा भरोसा है, विश्वास है। ऐसा ही विश्वास पिछले साल भी था, जब 1750 रू. में रमन सिंह सरकार धान खरीदी कर रही थी। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद 1750 रू. और 2500 रू. की बीच की अंतर की राशि है वो कांग्रेस की सरकार ने मुख्यमंत्री किसानों को दी है। कर्ज जिन किसानों से पटा लिया गया, ले लिया गया, उनका धान जमा कर लिया गया तो उन किसानों को कर्जमाफी की राशि अलग से भूपेश बघेल की सरकार ने दी। इस बार भी भाजपा सरकार ने 1815 रू. और 1835 रू. और भूपेश बघेल सरकार की 2500 रू. के अंतर की राशि किसानों को उसी तरह निश्चित रूप से दी जायेगी जैसे भूपेश बघेल सरकार ने धान के अंतर की राशि 2018 में और कर्जमाफी की राशि दी थी। कांग्रेस की सरकार किसानों की सरकार और छत्तीसगढ़ की सरकार है।
कांग्रेस के आरोपों और भाजपा के किसान विरोधी रवैये का सबूत जारी करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 24 अक्टूबर का पत्र रविकांत सचिव भारत सरकार सेंट्रल पूल में राज्य की जरूरतों के मुताबिक ही प्रोक्योरमेंट करती, यानी कोई चावल खरीदी करती ही नहीं, जो रमन सरकार में होती थी। भाजपा के मोदी सरकार द्वारा कारण बता रहे है कि चावल के सेंट्रल पूल का स्टाक बंफर से अधिक है। इसी पत्र से खुलासा हो रहा है कि भाजपा की केन्द्र सरकार के मुताबिक किसानों को केन्द्र सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य से अधिक राशि देने से अनाज के बाजार मूल्य में वृद्धि होती है और फसल चक्र में दीगर फसलों की उपेक्षा होती है। भाजपा की केन्द्र सरकार जानबूझकर और छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता राज्य सरकार की आर्थिक स्थिति खराब करने की साजिश में संलिप्त है। यही कारण है कि राज्य की आर्थिक स्थिति खराब नहीं होने के बावजूद भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह जी बार-बार कह रहे है कि राज्य की आर्थिक स्थिति खराब है।

अन्य खबरे

निर्भया के आरोपियों को फांसी पर लटकाने के लिए जल्लाद बनने को तैयार हुआ ये हेड कांस्टेबल

Published

on

निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को भी जल्द से जल्द फांसी देने की मांग हो रही है. इस बीच खबर आई थी कि तिहाड़ जेल के पास जल्लाद न होने के कारण दोषियों को फांसी देने की तारीख तय नहीं हो पा रही है.

रामनाथपुरम. तेलंगाना पुलिस (Telangana Police) की ओर से हैदराबाद (Hyderabad) की महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Gangrape) के बाद हत्या करने के सभी आरोपियों के एनकाउंटर के बाद अब निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को भी जल्द से जल्द फांसी देने की मांग की गई है. इसी बीच खबर आई थी कि तिहाड़ जेल के पास जल्लाद न होने के कारण दोषियों को फांसी देने की तारीख तय नहीं हो पा रही है. इस खबर के बाद तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले के एक हेड कांस्टेबल ने तिहाड़ जेल में मृत्युदंड पाए दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला जल्लाद बनने की पेशकश की है.

दिल्ली में कारावास डीजीपी को लिखे पत्र में हेड कांस्टेबल सुभाष श्रीनिवास ने कहा, ‘मैं तिहाड़ जेल में जल्लाद के तौर पर काम करना पसंद करूंगा’. उन्होंने कहा कि उन्हें इस काम के लिए किसी तरह का भुगतान नहीं चाहिए. श्रीनिवास ने कहा कि निर्भया मामले में मृत्युदंड पाए चार दोषियों को फांसी पर लटकाया जाना है. श्रीनिवास को जब पता चला कि तिहाड़ जेल में जल्लाद नहीं है तो उन्होंने यह काम करने की पेशकश की.

गौरतलब है कि अफजल गुरु को 43 साल की उम्र में 09 फरवरी 2013 को तिहाड़ जेल के कारागार नंबर 3 में फांसी पर लटकाया गया था, लेकिन अफजल को फांसी पर लटकाने वाले जल्लाद का नाम आज तक गुप्त रखा गया है. यह 2 दशक बाद होने वाली फांसी थी, क्योंकि इससे पहले तिहाड़ जेल में ही साल 1989 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के हत्यारों को फांसी पर लटकाया गया था. उनके हत्यारों को फांसी पर चढ़ाने वाले जल्लादों का नाम कालू और फकीरा था. अफजल गुरु को फांसी पर लटकाने के बाद से किसी को भी फांसी नहीं दी गई है.

7 साल से हो रहा सज़ा का इंतज़ार

निर्भया मामला 16 दिसंबर 2012 का है. चलती बस में एक लड़की का बर्बरता से रेप किया गया. गैंगरेप के बाद निर्भया 13 दिनों तक अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझती रही और आखिरकार 29 दिसंबर को उसने दम तोड़ दिया था. इस गैंगरेप की दुनियाभर में निंदा हुई थी. देश में कहीं शांतिपूर्ण, तो कहीं उग्र प्रदर्शन भी हुए थे. दिल्ली में प्रदर्शन के उग्र होने पर मेट्रो सेवा बंद करनी पड़ी थी. रायसीना हिल्स रोड पर तो दिल्ली पुलिस ने आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया था.

Continue Reading

अन्य खबरे

17 साल की लड़की का दोस्तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप, फिर जलाकर कर मार डाला

Published

on

हैदराबाद और उन्नाव में महिलाओं के साथ रेप और आग लगाकर जलाने की घटनाओं ने पहले ही देश में गुस्से का माहौल पैदा कर रखा है, वहीं अब त्रिपुरा से भी ऐसी ही एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां पर 17 वर्षीय एक लड़की को उसके प्रेमी और लड़के की मां ने साउथ त्रिपुरा के शांतिरबाजार में आग के हवाले कर दिया. बताया जाता है कि इस वारदात को अंजाम देने से पहले 2 महीने तक लड़की को बंधक बनाकर रखा गया था. इस दौरान लड़की के प्रेमी और लड़के के दोस्तों ने उसके साथ कई बार गैंगरेप किया. आग लगने के कारण लड़की 90 प्रतिशत तक जल गई. लड़की को आनन-फानन में पड़ोसियों ने अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई.

शुरुआती जांच में पता चला है कि लड़की को पिछले दो महीने से बंधक बनाकर पैसों की मांग की जा रही थी. लड़की की मौत की खबर मिलते ही लोग अस्पताल के बाहर इकट्ठा हुए और आरोपी युवक और उसकी मां पर हमला कर दिया. लड़की के परिजनों का अरोप है कि आरोपी अजय रुद्रपाल ने उनकी बेटी को छोड़ने के एवज में 50 हजार रुपये की मांग की थी लेकिन वह शुक्रवार तक 17 हजार रुपये ही इकट्ठा कर सके थे. इसी बात से नाराज होकर अजय ने लड़की को आग लगा दी.

मामले की जांच में जुटे एसपी (साउथ त्रिपुरा) जल सिंह मीणा के मुताबिक इस मामले का मुख्य अभियुक्त अजय को गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस के मुताबिक लड़की युवक से सोशल मीडिया के जरिए मिली थी. दिवाली के समय आरोपी युवक लड़की के घर पहुंचा और उससे शादी करने का प्रस्ताव रख दिया. इसके बाद से लड़की उक्त युवक के साथ रहने लगी थी. परिजनों का आरोप है कि इसके बाद अभियुक्त ने उसे जबरन बंधक बना लिया और पैसे की मांग करने लगा. बताया जाता है कि आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर लड़की का कई बार गैंगरेप किया. पीड़िता की मां का कहना है कि जैसे ही लड़की गायब हुई थी उन्होंने इसकी शिकायत दर्ज कराई थी.

दो महीने से हो रहा था गैंगरेप

लड़की के परिजनों ने आरोप लगाया है कि इस मामले की पुलिस को तुरंत जानकारी दी गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. परिजन जब अस्पताल में लड़की से मिलने पहुंचे तो उसकी हालत काफी खराब थी. बेटी ने मरने से पहले उन्हें बताया कि उसके साथ दो महीने से गैंगरेप किया जा रहा था.

Continue Reading

अन्य खबरे

उन्नाव गैंगरेप : दादा-दादी की समाधि के पास आज दफनाया जाएगा पीड़िता का शव

Published

on

 

रेप पीड़िता  का शुक्रवार को इलाज के दौरान पर निधन हो गया था. पीड़िता की मौत गंभीर रूप से जलने की वजह से हुई.

उन्नाव. उन्नाव गैंगरेप पीड़िता (Unnao Gangrape Victim) के शव को शनिवार देर शाम दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से उसके गांव लाया गया. जानकारी के मुताबिक, रविवार शाम को पीड़िता का अंतिम संस्कार किया जाएगा. परिजनों को मृतका के बड़ी बहन के गांव पहुंचने का इंतजार है. वह पूणे (महाराष्ट्र)) से उन्नाव आ रही हैं. बताया जा रहा है कि पीड़िता के शव को घर से एक किमी दूर खेत में स्थित उनके दादा-दादी की समाधि के पास ही दफनाया जाएगा. शव गांव में पहुंचते ही परिजनों में रोना-धोना मच गया. किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात कर दिया गया है. दमकल की गाड़ियां भी मौके पर मौजूद हैं. वहीं, गांव में पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी सुबह से ही डेरा डाले हुए हैं.

बता दें कि पीड़िता का शुक्रवार को इलाज के दौरान देर रात 11:40 बजे निधन हो गया था. पीड़िता की मौत गंभीर रूप से जलने की वजह से हुई. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर देने का ऐलान किया है.

पीड़िता के भाई का दुख

आपको बता दें कि 23 वर्षीय पीड़िता को गुरुवार तड़के बलात्कार के दो आरोपियों सहित पांच लोगों ने पीड़िता को जला दिया था. एम्बुलेंस के जरिए पीड़िता का शव उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले स्थित उनके गांव लाया गया. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के भाई ने शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘मेरी बहन को तभी न्याय मिलेगा जब सभी आरोपियों को वहीं भेजा जाएगा ‘जहां वह चली गई’.’ उन्होंने कहा, ‘उसने (रेप पीड़ि‍ता) मुझसे कहा भाई मुझे बचा लो. मैं दुखी हूं कि उसे बचा नहीं सका.’

‘आरोपियों को छोड़ेंगे नहीं’

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है. सीएम योगी ने कहा कि घटना अत्यंत बहुत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि सभी आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं. बच्ची की मौत पर परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हम इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर आरोपियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने का प्रयास करेंगे.

Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

देश-दुनिया44 mins ago

हैदराबाद गैंगरेप केस: आरोपियों के एनकाउंटर को तेलंगाना के मंत्री ने जायज बताया

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या करने के सभी आरोपियों को तेलंगाना पुलिसने शुक्रवार को एनकाउंटर...

क्राइम15 hours ago

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के परिजनों को 25 लाख रुपये और घर देगी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने शनिवार को उन्नाव की रेप पीड़िता (Rape Victim) के परिवार को...

छत्तीसगढ़16 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 08/12/2019

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

छत्तीसगढ़17 hours ago

’’ गुरू घासीदास जयंती’’ पर 18 दिसम्बर को शराब दुकानें बंद रहेंगी

जगदलपुर,(etoi news) 07 दिसम्बर 2019 गुरू घासीदास जंयती के अवसर 18 दिसम्बर को बस्तर जिले की सभी प्रकार की मदिरा...

छत्तीसगढ़17 hours ago

निर्वाचन ड्यूटी में तैनात पुलिस अधिकारी और कर्मचारी ईडीबी से कर सकेंगे मतदान

  जगदलपुर,(etoi news) 07 दिसम्बर 2019 नगरपालिका आम निर्वाचन-2019 में ड्यूटी में लगे पुलिस अधिकारी-कर्मचारी, होमगार्ड और वाहन चालक, जो...

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive2 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 07/12/2019

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive3 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 06/12/2019

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 05/12/2019

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

Has Raipur city become successful in facing pollution?

Has Raipur city become successful in facing pollution? Just a few years back, Raipur city had reached a milestone, which...

Etoi Exclusive5 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04/12/2019

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Calendar

December 2019
M T W T F S S
« Nov    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  

निधन !!!

Advertisement

Trending