Connect with us

किसानों को अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए निश्चित तौर पर विविधीकरण को अपनाना चाहिए: हरसिमरत कौर

Published

on

भारतीय खाद्य प्रसंस्‍करण प्रौद्योगिकी संस्‍थान (आईआईएफपीटी), संपर्क कार्यालय, बठिंडा ने केंद्रीय खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल और खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव श्री अशोक कुमार की उपस्थिति में पंजाब एवं हरियाणा राज्‍यों में अवस्थित क्षेत्र के 8 विभिन्‍न प्रतिष्ठित संस्‍थानों के साथ सहमति-पत्र (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किए। आईआईएफपीटी के निदेशक डॉ. सी.आनंदारामकृष्‍णन ने एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए और इन विश्‍वविद्यालयों, कॉलेजों एवं संस्‍थानों के कुलपति तथा निदेशकों के साथ एमओयू का आदान-प्रदान किया।

उपर्युक्‍त विश्‍वविद्यालय, कॉलेज एवं संस्‍थान ये हैं: पंजाब कृषि विश्‍वविद्यालय (पीएयू), लुधियाना; महाराजा रणजीत सिंह पंजाब तकनीकी विश्‍वविद्यालय (एमआरएसपीटीयू), बठिंडा; सेंट्रल इंस्‍टीट्यूट ऑफ पोस्‍ट-हार्वेस्‍ट इंजीनियरिंग एंड टेक्‍नोलॉजी (सीआईपीएचईटी), लुधियाना; राष्‍ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्‍थान (एनडीआरआई), करनाल; भारतीय गेहूं एवं जौ अनुसंधान संस्‍थान (आईआईडब्‍ल्‍यूबीआर), करनाल; संत लोंगोवाल इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी संस्‍थान (एसएलआईईटी), संगरूर; राष्‍ट्रीय कृषि-खाद्य जैव प्रौद्योगिकी संस्‍थान (एनएबीआई), मोहाली और गुरुनानक कॉलेज, बुद्धलादा।

इस अवसर पर केंद्रीय खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि अब समय आ गया है कि विश्‍व स्‍तर पर प्रतिस्‍पर्धा करने के लिए वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी को अपनाया जाए। उन्‍होंने  किसानों एवं उद्यमियों से ‘ग्राम समृद्धि योजना’ से लाभ उठाने का अनुरोध किया जिसके तहत खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्रालय को प्रौद्योगिकी के उन्‍नयन के लिए 3000 करोड़ रुपये मिले हैं।

उन्‍होंने कहा कि छोटे किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सभी को एक- दूसरे के साथ मिल-जुलकर काम करना चाहिए। उन्‍होंने यह भी कहा कि इस तरह के सहमति-पत्र (एमओयू) से किसानों के लाभ के लिए नए अवसर खुल जाएंगे क्‍योंकि खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योगों में अपार क्षमता है। उन्‍होंने किसानों से अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए अपनी-अपनी फसलों का विवि‍धीकरण करने का अनुरोध किया।

इन सहमति-पत्रों (एमओयू) का उद्देश्‍य अनुसंधान, कौशल विकास, परामर्श कार्य, संस्‍थागत विकास, सूचनाओं के प्रसार और संयंत्र में ही विद्यार्थियों को प्रशिक्षण देने से जुड़े सहयोगात्‍मक कार्यक्रम को सुविधाजनक बनाना है। इसके तहत जो कड़ी बनेगी उससे साझेदारों के बीच आपसी मेलभाव एवं रिश्‍तों में और भी अधिक मजबूती आएगी।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

देश - दुनिया

Google Pay जल्द शुरू करने जा रहा एक नया फीचर, UPI के अलावा पेमेंट के मिलेंगे ये ऑप्शन्स

Published

on

By

देश में ऑनलाइन पेमेंट को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए Google Pay ने कार्ड नेटवर्क कंपनी वीज़ा और एसबीआई कार्ड के साथ यह पार्टनरशिप की है। इसके साथ ही गूगल पे यूजर्स को टोकेनाइजेशन सुविधा का लाभ मिल सकेगा। वहीं गूगल पे और NBA के बिजनेस हेड सजित शिवनंदन ने कहा कि हमें उम्मीद है कि टोकन सुविधा वर्तमान समय में उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित रूप से लेन-देन के लिए प्रोत्साहित करेगी और ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के व्यापारिक लेनदेन का विस्तार करेगी।

गूगल पे के अलावा यूपीआई के दूसरे भी पेमेंट विकल्प

दरअसल, पिछले साल सितंबर में गूगल फॉर इंडिया कार्यक्रम में टोकनाइजेशन की घोषणा की गई थी। गूगल पे अब सिर्फ UPI प्लेटफॉर्म से पूर्ण ट्रांजेक्शन का प्लेटफॉर्म बन गया है। इससे पहले सम्बंधित बैंक के UPI से ही पेमेंट होता था, लेकिन अब ग्राहक अपना कार्ड इसमें सेव करने के बाद UPI और कार्ड दोनों से पेमेंट कर पाएंगे।

Google Pay में वन टाइम पासवर्ड (OTP) की मदद से कार्ड को टोकन फ़ॉर्मेट (Token Formet) में स्टोर किया जा सकता है. पेमेंट करने के लिए गूगल पे ओपन करें और कार्ड फॉर ट्रांजेक्शन सेलेक्ट करें। वन टाइम पासवर्ड (One Time Password) से प्रमाणित करें और पेमेंट हो जाएगा। हर बार सोलह अंकों का कार्ड, सीवीवी नम्बर और एक्सपायरी डेट शेयर करने की जरूरत नहीं है। इससे ऑफलाइन मर्चेंट पेमेंट, बिल और (E-Commerce Payment) ई-कॉमर्स पेमेंट हो जाता है और यह (Safe) सुरक्षित भी रहता है।

इसमें ग्राहकों को अपने (Mobile Phone) मोबाइल फोन से पेमेंट करना है जो NFC (Near Field Communication) एनेबल होने चाहिए. भारत में ग्राहकों के पास ऐसे मोबाइल बहुत कम हैं इसलिए भारत में टोकन भुगतान अभी तक ज्यादा नहीं होता। Google Pay में एक फायदा यह है कि कोई भी भारत QR कोड स्कैन करने के बाद कार्ड से पेमेंट कर सकते हैं।

 

Continue Reading

Lifestyle

करेला बिल्कुल भी नहीं लगेगा कड़वा, जानें इसे बनाने का तरीका

Published

on

By

करेला सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है, लेकिन इसके कड़वे स्वाद के चलते बहुत कम लोग ही इसे पसंद करते हैं। आपको बता दें कि इसमें काफी ज्यादा पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर को कई बीमारियों से बचाते हैं। इसलिए लोगों को करेला खाने की आदत डालनी चाहिए। वहीं अगर आप इसके कड़वे स्वाद की वजह से करेले नहीं खाते हैं, तो आपको इसे बनाने की एक खास रेसिपी बताने जा रहे हैं। जिससे आपको करेला बिल्कुल भी कड़वा नहीं लगेगा और खाने में काफी टेस्टी लगेगा। तो आइए जानते हैं इसे बनाने का तरीका।

सामग्री

करेला- 6

जीरा- 2 छोटे चम्मच

प्याज- 1 (पतला कटा हुआ)

हल्दी पाउडर- 2 छोटे चम्मच

लाल मिर्च पाउडर- 1 बड़ा चम्मच

अमचूर पाउडर- 1 बड़ा चम्मच

धनिया पाउडर- 1 बड़ा चम्मच

नमक- स्वादानुसार

बेसन- 3 बड़ा चम्मच

तेल- आवश्यकतानुसार

विधी

– इसे बनाने के लिए आप सबसे पहले करेले को छीलकर इसके बीज अलग करके गोल आकार में काटें।

– अब इसमें नमक मिलाकर 2 घंटे तक मेरिनेट करें।

– तय समय के बाद इसे धोकर एक प्लेट में फैलाएं।

– इसे बनाने के लिए मसाला तैयार करने के लिए एक पैन में तेल गर्म करके उसमें जीरा भून लें।

– इसके बाद प्याज डालकर इसे हल्का भूरा होने तक पकाएं।

– फिर इसमें लाल मिर्च, हल्दी, नमक, और धनिया पाउडर डालकर 1 मिनट तक पका लें।

– इसके बाद 1 मिनट के बाद इसमें बेसन डालकर इसे चलाते हुए 10- 12 मिनट के लिए इसे पकाएं।

– तैयार मिक्सचर में करेला डालकर 10 मिनट तक पकाएं।

– अब इसमें अमचूर पाउडर मिलाकर गैस बंद कर दें।

– आपका करेले बन कर तैयार है। इसे आप दाल और गर्म गर्म रोटी के साथ सर्व करें।

 

Continue Reading

Lifestyle

पेट से आती है गुड़गुड़ आवाज तो तुरंत हो जाएं सावधान, गंभीर बीमारी का हो सकता हैं संकेत

Published

on

By

लोगों के गलत खान पान और लाइफस्टाइल की वजह से लोगों को पेट से जुड़ी समस्याएं होने लगी हैं। आज के समय में पेट खराब रहना और पेट से गुड़गुड़ की आवाज आना आम हो गया है। सही समय पर खाना न खाने से पेट में गुड़गुड़ आवाज आने लगती है। वहीं देर से खाना से पेट में भारीपन महसूस होने लगता है। अगर आप भी ऐसी ही किसी समस्या से परेशान हैं तो आपको इसके हल्के में नहीं लेना चाहिए। क्योंकि इस तरह की बीमारी अगर लंबे समय से है तो यह किसी बड़ी बीमारी का संकेत भी हो सकता है।

लें हल्के में

अगर आपके पेट से भी अक्सर गुड़गुड़ की आवाज आती है, तो आपको इसपर ध्यान देने की जरूरत है। कई बार दवा खाने से भी पेट में गुड़गुड़ की आवाज आने लगती है। ऐसे में डॉक्टर पीड़ित को अल्ट्रासाउंड और एक्सरा करवाने की सलाह देते हैं, क्योंकि कि इसके पीछे आंत का कैंसर होने का खतरा रहता है। इस तरह की किसी भी परेशानी होने पर इग्नोर न करें, ताकि सही समय पर इसका इलाज किया जा सके।

क्या हैं पेट से गुड़गुड़ आवाज आने के कारण

– जब लोग भोजन को सही तरीके से चबाकर नहीं खाते हैं, तो इससे पेट में गैस बनने लगती है। इस कारण से जब खाना आहार नली से नीचे उतरता है तो इसके साथ हवा भी जाती है, जिससे पेट से आवाज आने लगती है।

– डाइजेशन प्रोसेस के दौरान जब एंजाइम्स से खाना टूटता है,तो पेट में गैस बनने लगती है। जिससे पेट से आवज आने लगती है।

– ज्यादा समय तक कुछ न खाने से गैस बनने लगती है। इससे पाचन तंत्र भी कमजोर होने लगता है, जिससे पेट से आवाज आने लगती है।

इन बातों का रखें ध्यान

– डाइट में फाइबर और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर चीजों का शामिल करें।

-अदरक को अपनी डेली रूटीन में शामिल करें।

– ज्यादा देर भूखेन न रहें।

– खाना चबा- चबा कर खाएं।

– चाय, कॉफी का सेवन कम करें।

– डेली 8-10 गिलास पानी पिएं।

– पूरी नींद लें।

– हर रोज योगा करें।

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़3 hours ago

हम किसानों, गरीबों और ग्रामीणों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से गोधन न्याय योजना के तहत प्रदेश के 83 हजार...

छत्तीसगढ़3 hours ago

चिकित्सा अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी : कलेक्टर ने तीन दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के दिए निर्देश

कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने आज आठ विकासखंड चिकित्सा अधिकारी को कारण बताओं नोटिष जारी किया गया है। उन्होंने फरसाबहार,...

छत्तीसगढ़3 hours ago

ऑनलाईन रोजगार मेला एवं प्लेमेंट कैंप का आयोजन 28 से 30 सितम्बर तक

जिला रोजगार कार्यालय कांकेर के माध्यम से नेशनल कैरियर सर्विस पोर्टल पर तीन दिवसीय ऑनलाईन रोजगार मेला का आयोजन 28...

छत्तीसगढ़3 hours ago

जरूरी चीजों को उचित दाम पर ही बेंचें दुकानदार, होगी कड़ी कानूनी कार्रवाई

कोरोना वायरस के फैलाव से बदलते माहौल के बीच जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में चावल-दाल जैसी राशन सामग्रियों...

छत्तीसगढ़3 hours ago

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिये ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड पर्याप्त संख्या में उपलब्ध-कलेक्टर

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर कोविड अस्पतालों और निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित...

#Exclusive खबरे

Calendar

September 2020
S M T W T F S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending