Connect with us

ज्योतिष - वास्तु

दिनांक 11/09/2019 का पंचांग एवं राशिफल

Published

on

  • रायपुर (etoi news) 10.09.2019
  • दिनांक 11.09.2019 का पंचाग
  • शुभ संवत 2076 शक 1941 …
  • सूर्य दक्षिणायन का …भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष…. त्रयोदशी तिथि…  रात्रि को 05 बजकर 07 मिनट तक… बुधवार… श्रवण नक्षत्र.. दोपहर को 01 बजकर 56 मिनट तक … आज चन्द्रमा …मकर राशि में… आज का राहुकाल दोपहर को 12 बजकर 00 मिनट से 01 बजकर 32 मिनट तक होगा …

अस्माकं व्यवहारेषु अपि अनुशासनम् दृश्यते –

     अनुशासन क्या है। अनुशास्यते नैन अर्थात स्वयं का स्वयं पर शासन। जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अनुशासन का महत्व है। अनुशासन से धैर्य और समझदारी का विकास होता है। समय पर सही निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है। इससे कार्य क्षमता का विकास होता है तथा व्यक्ति में नेतृत्व की शक्ति जागृत होने लगती है। अनुशासन और अभ्यास से ही आत्मविश्वास पैदा होता है। अनुशासन हमारे चरित्र और व्यक्तित्व के निर्माण में सबसे अहम भूमिका निभाता है। अनुशासन ही सफलता की चाबी है। मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। किसी समाज के निर्माण में अनुशासन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। अनुशासन ही मनुष्य को श्रेष्ठता प्रदान करता है तथा उसे समाज में उत्तम स्थान दिलाने में सहायता करता है। नियमानुसार जीवन के प्रत्येक कार्य करना जीवन को अनुशासन में रखना है। अनुशासन से दैनिक जीवन में व्यवस्था आती है। अनुशासन को किसी व्यक्ति में ज्योतिषीय गणना द्वारा देखा जा सकता है। इसके लिए अपनी कुंडली के लग्न, तीसरे एवं भाग्यस्थान के ग्रहों का विश्लेषण करालें किंतु सबसे जरूरी दैनिक जीवन में अनुशासित होना है, इसके लिए एकादश स्थान के स्वामी ग्रह की अनुकूलता और एकादश स्थान पर उपस्थित ग्रह की प्रबलता साथ ही समय अर्थात् अपनी कुंडली में चल रही ग्रह दशाओं का आकलन कराकर पता लगा लें कि आपके लिए इस समयकिस प्रकार की दशा का गोचर है। अनुशासन को बनाये रखने के लिए एकादश स्थान के ग्रह की शांति करना, मंत्रजाप करना तथा दान करना चाहिए। कालपुरूष की कुंडली में एकादश स्थान का स्वामी शनि होता है। अतः अनुशासन को शनि से देखा जाता है अतः किसी भी व्यक्ति को जीवन में अनुशासन का पालन करने के लिए शनि का व्रत करना, शनि के मंत्र का जाप करना अथवा बटुक भैरव के मंत्र का जाप करना, काले तिल अथवा तिल के लड्डू का दान करना एवं सूक्ष्म जीवों की सेवा करनी अथवा गरीब मरीजों का दवा का दान करना चाहिए।

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-

मेष राशि –

पारिवारिक सुख….

पैतृक रिश्तों में नजदीकी बढ़ेगी….

उत्साह एवं सुख में वृद्धि…

मंगल के शुभ प्रभाव में वृद्धि एवं कष्टों की निवृत्ति के लिए –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें..

 

वृषभ राशि –

पार्टनरशीप में रिश्तों में दूरी संभव…

काम में अचानक व्यवधान…

जीवनसाथी से विवाद…

शांति के लिए –

  1. ‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः’’ की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें.
  2. भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,
  3. उड़द या तिल दान करें,

 

मिथुन राशि –

कार्य बोझ बढ़ेंगा….

पिता का सहयोग प्राप्त होगा…

चोट की संभावना…

मंगल के दोषों को दूर करने के लिए –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें..

 

कर्क राशि –

साथियों का अच्छा सहयोग प्राप्त होगा…

बास से संबंध सुधरेंगे…

स्वास्थ्यगत कष्ट की निवृत्ति हेतु…

शनि के उपाय –

  1. ऊं शं शनैश्चराय नमः का जाप करें
  2. अपने छोटों को सहयोग करें……
  3. काली चीजों का दान करें…..

 

सिंह राशि –

उत्सव में सम्मिलित होगें….

लोगों को आपकी नई हुनर से परिचय होगा…

आतुरता का त्याग करें….संयमित रहें….

केतु जन्य दोषों को दूर करने के लिए –

     उॅ कें केतवे नमः का जाप करें….

     गाय को आहार खिलायें…

 

कन्या राशि –

आय से बिजनेस में उन्नति….

जीवन साथी के स्वास्थ्य की चिंता…

एलर्जी या कफ के कारण कष्ट संभव…

चंद्रमा के उपाय –

  1. ऊॅ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः का जाप करें…
  2. दूध, चावल का दान करें…
  3. श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…

    

तुला राशि –

ऋण या लोन संबंधी विवाद संभव….

जीवनसाथी या पार्टनर से अलगाव….

स्वास्थ्यगत कारणों से यात्रा संभव…

शुक्र के उपाय –

  1. ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
  2. माॅ महामाया के दर्शन करें…
  3. चावल, दूध, दही का दान करें…

 

वृश्चिक राशि –

बड़ी उपलब्धि से आत्मविश्वास में वृद्धि….

रूका धन आने से ऋण में कमी…

मातृपक्ष के सदस्यों से मेल-मुलाकात संभव….

उपाय –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें..

 

धनु राशि –

मंनोरजन के साधन उपलब्ध होंगे….

दिन प्रसन्नतापूर्वक बीतने से मन प्रसन्न….

सामुहिक विवाद की संभावना….

मंगल के उपाय –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें..

 

मकर राशि –

 

     प्रतिद्वंतिदयों से विवाद या हानि की संभावना….

     मामा या ममेरे भाईयों का साथ दिन को बेहतर बना सकता है….

     रूका धन वापस मिल सकता है….

उपाय करें –

  1. ऊॅ गं गणेशाय नमः का एक माला जाप करें
  2. पौधे का दान करें…..
  3. इलायची खायें एवं खिलायें…..

 

कुंभ राशि –

     अपनो से बेवजह विवाद हो सकता है….

     आर्थिक स्थिति के कारण भी सभी कार्य रूक सकते हैं….

     संतान पक्ष से दुखी होंगे….

शुक्र से उपाय –

1.ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…

2.मा महामाया के दर्शन करें…

3चावल, दूध, दही का दान करें…

 

मीन राशि –

आज आपको अपने अधिनस्थो के सहयोग से लाभ की संभावना….

जीवनसाथी से विवाद या पारिवारिक कलह से तनाव….

किसी पुराने शत्रु से हानि संभव…

शुक्र के बुरे प्रभाव से उत्पन्न कष्ट की शांति के लिए –

1.ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…

2.मा महामाया के दर्शन करें…

 

 

SHARE THIS

ज्योतिष - वास्तु

23/09/2019 का पंचांग एवं राशिफल(मातृनवमी श्राद्ध से पायें सौभाग्य)

Published

on

  • रायपुर (etoi news) 22.09.2019
  • दिनांक 23.09.2019 का पंचाग
  • शुभ संवत 2076 शक 1941 …
  • सूर्य दक्षिणायन का …आश्विन मास कृष्ण पक्ष…. नवमी … शाम को 06 बजकर 38 मिनट तक… सोमवार… आर्द्रा नक्षत्र.. प्रातः को 11 बजकर 30 मिनट तक … आज चन्द्रमा …मिथुन राशि में… आज का राहुकाल दिन को 07 बजकर 24 मिनट से 08 बजकर 55 मिनट तक होगा …

मातृनवमी श्राद्ध से पायें सौभाग्य –

     श्राद्धपक्ष का एक दिन महिलाओं को समर्पित होता है। इस दिन को मातृनवमी के नाम से जाना जाता है। शास्त्रों में बताया गया है कि परिवार में जिन महिलाओं की मृत्यु हुई है उनकी आत्मा की संतुष्टि के लिए यह तिथि उत्तम है। आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि पर पितृगणों की प्रसन्नता हेतु ‘नवमी का श्राद्ध’ किया जाता है। यह तिथि माता और परिवार की विवाहित महिलाओं के श्राद्ध के लिए श्रेष्ठ मानी जाती है। नवमी तिथि का श्राद्ध मूल रूप से माता के निमित्त किया जाता है। इस श्राद्ध के दिन का एक और नियम भी है। इस दिन पुत्रवधुएं भी व्रत रखती हैं, यदि उनकी सास अथवा माता जीवित नहीं हो तो। इस श्राद्ध को सौभाग्यवती श्राद्ध भी कहा जाता है। शास्त्रानुसार नवमी का श्राद्ध करने पर श्राद्धकर्ता को धन, संपत्ति व ऐश्वर्य प्राप्त होता है तथा सौभाग्य सदा बना रहता है।

मातृ नवमी के श्राद्ध की विधि इस प्रकार है-

     नवमी श्राद्ध में पांच ब्राह्मणों और एक ब्राह्मणी को भोजन करवाने का विधान है। सर्वप्रथम नित्यकर्म से निवृत होकर घर की दक्षिण दिशा में हरा वस्त्र बिछाएं। पितृगण के चित्र अथवा प्रतीक हरे वस्त्र पर स्थापित करें। पितृगण के निमित, तिल के तेल का दीपक जलाएं, सुगंधित धूप करें, जल में मिश्री और तिल मिलाकर तर्पण करें। अपने पितरों के समक्ष गोरोचन और तुलसी पत्र समर्पित करना चाहित्य। श्राद्धकर्ता को कुशा के आसन पर बैठकर भागवत गीता के नवें अध्याय का पाठ करना चाहित। इसके उपरांत ब्राह्मणों को लौकी की खीर, पालक, मूंगदाल, पूड़ी, हरे फल, लौंग-इलायची तथा मिश्री अर्पित करें। भोजन के बाद सभी को यथाशक्ति वस्त्र, धन-दक्षिणा देकर उनको विदा करने से पूर्व आशीर्वाद ग्रहण करना चाहिए।

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-

मेष –

     आज एजूकेशन के प्रयास से संबंधित यात्रा में रहेंगे….

     आहार की रूटिन ठीक रखने का प्रयास करें…

     डिहाइडेशन से बचें…

 अतः कष्टों से निवारण के लिए –

     ऊॅ सों सोमाय नमः का जाप करें….

     शंकरजी का जल से अभिषेक करें….

वृषभ –

     आज आप पार्टी का आनंद लेंगे तथा प्रसन्नतापूर्वक दिन गुजारेंगे….

     आहार एवं व्यवहार का संयम रखें…

शांति के करने के लिए –

     ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें

     चावल, धी, दूध, दही का दान करें….

 

मिथुन –

     उत्साह एवं कौषल से काम करने से….

     अच्छी स्थिति की प्राप्ति….

     आहार की अनियमितता से कष्ट संभव….

केतु के लिए निम्न उपाय करें –

     गणपति की उपासना करें, धूप, दीप तथा नैवेद्य चढ़ायें…

     ऊॅ कें केतवें नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें…

 

कर्क –

     आज पार्टनर के साथ व्यवसायिक सौदे बनाने में सफल रहेंगे…

     अच्छे पराक्रम के साथ काम करने से लाभ की संभावना….

     किंतु शनि के कारण श्वसन रोग…जिसमें कफ…साईनर से संबंधित कष्ट हो सकता है….अतः शनि से संबंधित कष्ट से शांति के लिए आप-

     ‘‘ऊॅ शं शनिश्चराय नमः’’ का जाप कर दिन की शुरूआत करें….

     भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें….

 

सिंह –

     नये प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं…

     व्यवसाय में अच्छी स्थिति बन सकती है….

     किंतु वैवाहिक में व्यवहार के कारण अलगाव की स्थिति….

व्यवहार में सहिष्णु बनने का प्रयास करें एवं हानि से बचाव के लिए –

     ऊ धृणिः सूर्याय नमः का जाप कर, अर्ध्य देकर दिन की शुरूआत करें,

     लाल पुष्प, गुड, गेहू का दान करें,

 

कन्या –

     आज दाम्पत्य जीवन में मानसिक सुख नहीं होगा…जिससे मन व्यस्थित हो सकता है…… बृहस्पति की शांति के लिए –

     ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें,

     मीठे पीले खाद्य पदार्थ का सेवन करें तथा दान करें,

 

तुला –

     शारीरिक स्थिति खराब हो सकती है….जिससे आज दैनिक कार्य प्रभावित हो सकते हैं…साथ ही मानसिक कष्ट…. अतः शुक्र से सबंधित अनिष्ट से राहत के लिए-

     महामाया के दर्शन कर दिन की शुरूआत करें,

     चावल, धी, दूध, दही का दान करें…..

वृश्चिक –

     व्यवहार में आलस्य और विवाद के कारण हानि….

     आर्थिक कष्ट के बावजूद भी खर्चो का बढ़ना मानसिक संताप कारण…

     किसी प्रकार के विरोध का सामना करना पड़ सकता है…

अतः राहु दोषों के निवारण के लिए –

     ऊॅ रां राहवे नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें….

     धतूरे की माला शिवजी में चढ़ायें….

 

धनु –

     उर्जा तथा मनोबल काफी अच्छा रहेगा…

     अध्ययन में मन एकाग्र होने से अच्छी सफलता के योग….

     निद्रा तथा धैर्य में कमी के कारण..

     धैर्य से काम करें तथा मंगल की शांति के लिए –

     ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें,

     हनुमानजी की उपासना करें,

     मसूर की दाल, गुड या तांबा दान करें,

 

मकर –

 

     अच्छी सामाजिक प्रतिष्ठा तथा सुखद पारिवारिक स्थिति….

     नौकरी में पदोन्नति …..

शनि के कारण उदर विकार से कष्ट…. अतः शनि से उत्पन्न कष्ट के लिए –

     ‘‘ऊॅ शं शनिश्चराय नमः’’ का जाप कर दिन की शुरूआत करें,

     भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,

 

कुंभ –

     आर्थिक लाभ प्राप्त करने में आज सफल रहेंगे……

     आलस्य तथा निर्णय में विलंब से बचें….

राहु कृत दोषों की शांति के लिए –

     ऊॅ रां राहवे नमः का जाप कर दिन की शुरूआत करें,

     धतूरे की माला शिवजी में चढ़ायें…

 

मीन –

     आर्थिक पक्ष कमजोर होने से तनाव..

     सीनियर से विवाद संभव…   

के लिए बृहस्पति की शांति के लिए –

     ऊॅ ब्रं ब्रहस्पतये नमः का जाप करें….

     मीठे पीले खाद्य पदार्थ का सेवन करें तथा दान करें….

 

 

SHARE THIS
Continue Reading

ज्योतिष - वास्तु

साप्ताहिक राशिफल -23-29 सितंबर, 2019 

Published

on

 

मेष राशि –

इस सप्ताह सूर्य बुध मंगल और शुक्र चार-चार ग्रह आपके छठे भाव में स्थित हैं अतः आप शारीरिक, मानसिक आर्थिक और पारिवारिक सभी प्रकार से परेशान रहेंगे। सुख सुविधाओं का उपभोग नहीं कर पायेंगे उल्टा परेशानी का सबब होगी। आपकी योजनाएं विरोधी पक्ष के लिए लाभकारी होगी क्योंकि कोई आपका अधिनस्थ ही उनकी मदद करेगा। लेकिन सप्ताह के मध्य भाग में प्रत्येक काम और विशेषकर घरेलू मामलों से जुड़े कामों को बडी ही सावधानी और समझदारी से ठीक करना होगा। सप्ताह के अंत में यात्राएं होगीं, काम के रास्ते जरूर बनेंगे पर आने वाले समय के लिए। इस समय आप धार्मिक कामों में संलग्न होंगे। धोखेबाजो से सजग रहना जरूरी होगा। विद्यार्थीवर्ग को एकाग्रता बढ़ाने और शारीरिक हानि से बचना चाहिए।

उपाय –

सुंदरकांड का पाठ करें।

गाय को गेहूं भिगाकर खिलायें।

वृषभ राशि –

सप्ताह का अधिकांश भाग आपके लिए अनुकूल रहेगा लेकिन दूसरे भाव में राहु और पंचम भाव में चार-चार ग्रहों की स्थिति को देखते हुए अल्पकालीन फैसलों एवं इन्वेस्टमेंट से बचना जरूरी होगा साथ ही जानपहचान के लोगो पर आर्थिक भरोसे को लेकर भी सावधान रहना होगा। हालांकि सप्ताह मध्य में चंद्रमा के चतुर्थ भाव में जाने से स्थिति में थोड़ा परिवर्तन होगा जिससे मानसिक तनाव और अनिर्णय की स्थिति में बदलाव होगा। विवाह या संतान संबंधी निर्णय के लिए भी समय अनुकूल है। लेकिन सप्ताहांत में कुछ अपमानजनक या विवादास्पद घटनाक्रम सामने आ सकते हैं।

उपाय –

राहु के मंत्र का जाप करें।

काले तिल का दान करें।

मिथुन राशि –

सप्ताह का प्रथम भाग आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं रहेगा। इस समय आप दूसरे की मदद करना चाहेंगे और इस चक्कर में आप अपनी चीजों को व्यवस्थित नहीं कर पाएंगे। हालांकि दूसरो के संदर्भ में किए गए कार्य या प्रयास अनुकूल परिणाम देंगे किंतु स्वयं के लिए किया गया कार्य बाधित हो सकता है। सप्ताह का मध्य आपके लिए यात्रा को होगा जो समय आपके लिए खुशनुमा रहेगा। वहीं सप्ताहांत भी अच्छा रहेगा। भागीदारी से लाभ मिलेगा। फिर भी भरोसा करने से बचना चाहिए।जरूरी होगा।

उपाय –

शिवजी का दूध से अभिषेक करें।

चीनी और चावल का दान करें।

कर्क राशि –

इस सप्ताह के आरम्भिक दिन आपके लिए अनुकूल हैं। इस समय आप किसी यात्रा पर जा सकते हैं। इस समय आपको प्रयासों में सफलता मिलेगी। वहीं सप्ताह के मध्य भाग में आप घर परिवार को लेकर चिंतित रह सकते हैं। इस समय शनि का राशि परिवर्तन आपके छठे भाव में होगा अतः मान सम्मान में कमी के साथ स्वास्थ की दृष्टि से भी कष्टकारी होगा। स्वास्थ्य में विशेषकर पेट का खयाल रखना जरूरी होगा। वहीं सप्ताह का अंत आपके लिए थोड़ी सी बेहतरी लेकर आएगा। प्रतियोगिता परीक्षा में जरूर सफलता प्राप्त होगी किंतु लोगो से विवाद तनाव दे सकता है।

उपाय –

शनि के मंत्र का जाप करें।

तिल के तेल से शिवजी का अभिषेक करें।

सिंह राशि –

यह सप्ताह आपके लिए अनुकूल परिणाम देने वाला रहेगा, लेकिन इस समय आपको एक बात का खास खयाल रखना होगा कि आप जो भी बोलें बहुत सोच समझ कर बोलें। यद्यपि आमदनी निरंतर बनी हुई है लेकिन खर्चों पर नियंत्रण कर सकें तो आपके लिए अच्छा रहेगा। यद्यपि सप्ताह का मध्य भाग आपके लिए अनुकूल रहेगा, लेकिन चोट मोच और विवाद की आशंका बनी रह सकती हैं। सप्ताह के अंत में आपको घर से बाहर रहना पड़ सकता है हालांकि इस समय आपको कुछ आर्थिक लाभ मिल सकता है। मानसिक और शारीरिक स्थिति बेहतर होगी वहीं परीक्षा में अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे।

उपाय –

सूर्य को अर्ध्य देकर पूजा करें।

नारियल के प्रसाद बांटे।

कन्या राशि –

यह सप्ताह आपके लिए सामान्य तौर पर अच्छा रहेगा। कामों में सफलता मिलेगी। आप सुख सुविधाओं का लाभ ले पाएंगे। सप्ताह की शुरुआत में पार्टी या पिकनिक करने का अवसर मिलेगा। लेकिन इस समय आपको आर्थिक मामलों में थोडा सा सचेत रहने की आवश्यकता है। सप्ताह मे मध्य भाग में  कामों में सफलता मिलेगी। सीनियर आपके काम से सुख होंगे। लेकिन सप्ताह कें अंतिम दिनों में कार्य अधिकता और अनियमित दिनचर्या के कारण शारीरिक कष्ट हो सकता है साथ ही परिवार में मतभेद भी तनाव का कारण होगा। विवाद के कारण दोस्तो से दूरी बन सकती है।

उपाय –

तुला राशि –

सामान्य तौर पर यह सप्ताह आपके लिए अच्छा रहेगा लेकिन बारहवें भाव में स्थित चार चार ग्रहों के कारण सप्ताह के नींद में व्यवधान चोट मोच के कारण शारीरिक कष्ट और विवाद के कारण बनेंगे। कुछ खर्चे स्वास्थ के कारण आ सकते हैं लेकिन सप्ताह के मध्य में आपको कुछ शुभ समाचार सुनने को मिलेंगे। वहीं सप्ताहांत में आप आत्मविश्वास से भरे रहेंगे और आपके काम बनते जाएंगे। किसी काम के सिलसिले में की गई यात्रा शुभ रहेगी। विद्यार्थीवर्ग के लिए यात्रा तथा सफलता का योग बन रहा है।

उपाय –

काली मंदिर में चीनी चढ़ायें।

दुर्गा कवच का पाठ करें।

वृश्चिक राशि –

इस सप्ताह चार-चार प्रमुख ग्रह एकादश भाव में स्थित है अतः लाभ की सम्भावनाएं मजबूत रहेंगी। फिर भी इस समय निवेश को लेकर कोई निर्णय लेने से आपको बचना चाहिए। सप्ताह के मध्य में आर्थिक हानि या किसी को उधार देने के कारण आप फंस सकते हैं। या फिर आप किसी यात्रा पर अचानक जाने के कारण वित्तीय संकट आ सकता है। हालांकि यह यात्रा फायदेमंद रहेगी, किंतु तात्कालिक आर्थिक परेशानियां हो सकती हैं। सप्ताहांत में परिस्थितियां आपके पक्ष में होगीं फिर भी इस समय संयम से काम लेने की आवश्यकता रहेगी। सामाजिक तौर पर और कैरियर की दृष्टि से ये समय लाभकारी होगा।

उपाय –

गुरू मंत्र का जाप करें।

मोतीचूर के लड्डे बच्चों में बांटे।

 

धनु राशि –

सप्ताह की शुरुआत आपके लिए अनुकूलता लिए हुए है। आपको अधिकांश कार्यों में आपको सफलता मिलेगी। कुछ घरेलू मामलों को लेकर विवाद जरूर हो सकता है किंतु चिंता की आवश्यकता नहीं है। सप्ताह का मध्य भाग आर्थिक मामलों के लिए अनुकूल रहेगा। कई प्रकार के लाभ मिलने के योग बन रहे हैं फिर भी इस समय आपको संयम से काम लेते हुए निवेश करना होगा और खर्चों से बचना होगा। सप्ताहांत में भी धैर्य पूर्वक काम करने की सलाह। शारीरिक तौर पर जरूर यह सप्ताह अच्छा नहीं कहा जा सकता। पार्टनशीप या जीवनसाथी की दृष्टि से भी तनावभरा होगा।

उपाय –

शनि के मंत्र का जाप करें।

तिल के तेल का दान करें।

मकर राशि –

सप्ताह की शुरूआत आपके लिए शुभ है। इस समय आपके द्वारा किए गए प्रयास सफल होंगे साथ ही मनचाहा कार्य पूरा होगा। लाभकारी मामले से जुड़ सकते हैं। आर्थिक और सामाजिक मामलों के लिए भी समय अनुकूल है। सप्ताह का मध्य भाग व्यवसाय के लिए बहुत ही अनुकूल रहेगा। केवल सप्ताहांत में आपको थोड़ी सी सावधानी स्वास्थ्य एवं व्यवहार को लेकर बरतने की आवश्यकता है। कुछ अनावश्यक खर्चे सामने आ सकते हैं। किंतु ये जरूरी खर्चे आपके लिए हितकर ही होंगे। इस समय हर क्षेत्र में आपके लिए शुभ समाचार प्राप्त होने का है केवल अधिनस्थों से सावधान रहना होगा।

उपाय –

हनुमान चालीसा का पाठ करें।

गुड़-रोटी गाय को खिलायें।

 

कुम्भ राशि –

 

सप्ताह की शुरुआत आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं रहेगी। अतः इस समय प्रत्येक कार्य को सावधानी से करना ठीक रहेगा। अचानक कुछ परेशानियां सामने आ सकती हैं। यह समय किसी भी प्रकार का जोखिम उठाने का नहीं है। विशेषकर आर्थिक मामलों से जुड़े फैसलों में जल्दबाजी न करें। सप्ताह का मध्य भाग आपके लिए काफी अनुकूल रहेगा। आप किसी दोस्त अथवा पड़ोसी के कारण तनाव में आ सकते हैं। सप्ताहांत में लाभ के अवसर मजबूत होंगे। किंतु विवाद और कागजात में लिखापढ़ी के समय सावधानी रखना चाहिए। किसी बात को कहने का समय और तरीका भी ध्यान में रखना चाहिए।

उपाय –

सूर्य के मंत्र का जाप करें।

तिल और गुड़ के मीठे का दान करें।

मीन राशि –

यह सप्ताह आपको मिले जुले फल देने वाला रहेगा। ज्यादातर ग्रह घरेलू जीवन में व्यवधान आने का संकेत कर रहे हैं। इस समय साझेदारी और दाम्पत्य जीवन को लेकर संयम और समझदारी बरतने की आवश्यकता है। सप्ताह के मध्य भाग में बेवजह कुछ परेशानियां सामने आ सकती हैं। मन चिंतित रह सकता है। लेकिन सप्ताहांत आपके लिए अनुकूल रहेगा। किसी यात्रा के माध्यम से फायदा मिलेगा। रुके हुए काम बनना शुरू होंगे। शुभ समाचार की प्राप्ति होगी साथ ही आर्थिक लाभ के समाचार जैसे पदोन्नति या नई नौकरी के योग हैं। कुछ लोगों का स्थानांतरण भी शुभकारी होगा।

उपाय –

गुरू मंत्र का जाप करें।

पीले वस्त्र विष्णुजी को चढ़ायें।

 

SHARE THIS
Continue Reading

ज्योतिष - वास्तु

22/09/2019 का पंचांग एवं राशिफल(अष्टमी का श्राद्ध करें पायें पितृदोष से मुक्ति)

Published

on

  • रायपुर (etoi news) 21.09.2019
  • दिनांक 22.09.2019 का पंचाग
  • शुभ संवत 2076 शक 1941 …
  • सूर्य दक्षिणायन का …आश्विन मास कृष्ण पक्ष…. अष्टमी … रात्रि को 09 बजकर 51 मिनट तक… रविवार… मृगशिरा नक्षत्र.. प्रातः को 11 बजकर 46 मिनट तक … आज चन्द्रमा …वृषभ राशि में… आज का राहुकाल दोपहर को 04 बजकर 28 मिनट से 05 बजकर 59 मिनट तक होगा …

अष्टमी का श्राद्ध करें पायें पितृदोष से मुक्ति –

     भारतीय धर्म में मान्यता है कि आत्मा जब तक परमात्मा से संयोग नहीं कर लेती, तब तक विभिन्न योनियों में भटकती रहती है और इस दौरान उसे श्राद्धकर्म में संतुष्टि मिलती है। शास्त्रों में वर्णित है की परिवार में किसी की अकाल मृत्यु होने से, अपने माता-पिता आदि सम्माननीय जनों का अपमान करने से, मृत्यु उपरांत माता-पिता का उचित ढंग से क्रियाकर्म और श्राद्ध न करने से, उनके निर्मित वार्षिक श्राद्ध न करने से पितरों का दोष लगता है। इसके फलस्वरूप परिवार में अशांति, वंश वृद्धि में रूकावट, आकस्मिक बीमारी, संकट, धन में बरकत न होना, सारी सुख सुविधाएं होते हुए भी मन असंतुष्ट रहना आदि पितृ दोष का कारण हो सकता है।

     अष्टमी तिथि का श्राद्ध मुख्यतः पितृश्राद्ध के लिए निर्धारित है। अष्टमी तिथि के श्राद्धकर्म का नियम शास्त्रों में विष्णुपद के सोलह वेदी नामक मंडप में 14 स्थानों पर और पास के मंडप में दो स्थानों पर पिंडदान होना बताया गया है तथा यह श्राद्ध उसके लिए भी वैध बताया गया है जिसके माता-पिता जीवित न हों। अष्टमी श्राद्ध में आठ ब्राह्मणों को भोजन करवाने का विधान है। सर्वप्रथम नित्यकर्म से निवृत होकर घर की दक्षिण दिशा में लाल वस्त्र बिछाएं। पितृगण के चित्र अथवा प्रतीक लाल वस्त्र पर स्थापित करें। पितृगण के निमित, तिल के तेल का दीपक जलाएं, गूगल धूप करें, जल में गुड़ और तिल मिलाकर तर्पण करें। लाल चंदन और लाल फूल समर्पित करें। कुआसन पर बैठाकर भागवत गीता के आठवें अद्ध्याय का पाठ करें। इसके उपरांत ब्राहमणों को गुड़ की खीर, दलिया, जलेबी, पूड़ी-सब्जी, लाल रंग के फल, लौंग-ईलायची तथा मिश्री अर्पित करें। भोजन के बाद सभी को यथाशक्ति वस्त्र, धनदक्षिणा देकर उनको विदा करने से पूर्व आशीर्वाद लें।

     इस श्राद्ध के दिन जीवित्पुत्रिका व महालक्ष्मी व्रत भी रखा जाता है। माता अपनी संतानों के सुख, लंबी आयु, स्वास्थ्य और सौभाग्य के लिए इस दिन प्रदोष काल यानी शाम के समय जीमूतवाहन की पूजा और व्रत करती हैं, जिससे हर स्त्री लंबे समय तक पुत्र-पौत्रों का सुख भोगती है।

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-

मेष राशि-  

     आज आपका गुस्सा बढा हो सकता है…

     दिनभर कार्य का बोझ भी तनाव देगा…

     तनाव से बचने हेतु

     शनि की शांति हेतु मंत्रजाप….

     दान तथा व्रत करें….

वृषभ राशि-

     आज आप कार्य में व्यस्त रहेंगे …

     व्यवसाय के क्षेत्र में खतरा न उठाकर सुरक्षित रूप से कार्य करें…

     चंद्रमा के मंत्रों का जाप…

     सफेद चीजों का दान…

     ध्यान आदि लगायें…

मिथुन राशि-

     आज आप लोगो के बीच संतुलन बनाए रखने में असफल रहेंगे…

     आज स्वास्थ्य के नजरीये से भी दिन ठीक नहीं बितेगा…

     व्यवसायिक क्षेत्र में कार्य नहीं होने से भी तनाव….

     उपाय –

     राहु के मंत्रों का जाप कर दिन की शुरूआत करें…

     सूक्ष्म जीवों की सेवा करें…

 

कर्क राशि-

ऋण मुक्ति के प्रयासों में सफलता…

प्रतियोगिता परीक्षा या साक्षात्कार में मनचाही सफलता…

बौद्धिक कुषलता से सम्मान की प्राप्ति…

विवाद से धन हानि….

शनि के उपाय –

  1. ‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः’’ की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..
  2. भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,
  3. उड़द या तिल दान करें..

 

सिंह राशि-

संपत्ति तथा व्यापार में आर्थिक लाभ…

परिवार में प्रसन्नता का माहौल…

एब्डोमिनल में इंफेक्षन…

मंगल के दोषों की निवृत्ति के लिए –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का एक माला जाप करें..
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें…

 

कन्या राशि-

आज आप अपने हर एक कार्य व्यवस्थित रूप से करना पसंद करेंगे…

परिवार या ऑफिस के सदस्य आपसे अधिक अपेक्षा रखेंगे…

नये प्रोजेक्ट में लीडरषीप की प्राप्ति….

संतान के अध्ययन की चिंता…

गुरू के उपाय-

     ऊॅ गुं गुरूवे नमः का जाप करें…

     मीठे पीले खाद्य पदार्थ का सेवन करें तथा दान करें…

     साईजी के दर्षन करें…

 

तुला राशि-

स्थान परिवर्तन के योग…

आलस्य तथा भ्रम से हानि…

नवीन वाहन या वस्त्र की प्राप्ति…

घरेलू सुखों में वृद्धि….

लीवर में कष्ट…

चंद्रमा कृत दोषों की निवृत्ति के लिए –

     ऊॅ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः का जाप करें…

     दूध, चावल का दान करें…

     श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…

    

वृश्चिक राशि-

कार्यक्षेत्र में अधिकार में वृद्धि….

वाहन सुख की प्राप्ति….

सामाजिक दायरा में बढ़ोतरी…

ब्लडप्रेशर बढ़ सकता है…

सूर्य के उपाय –

  1. प्रातः स्नान के उपरांत सूर्य को जल में लाल पुष्प… शक्कर मिलाकर अध्र्य देते हुए ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें… सूर्य नमस्कार करें..
  2. गुड़.. गेहू… दान करें…

 

धनु राशि-

शिक्षा से संबंधित यात्रा में लाभ….

जिंदगी में बदलाव की शुरूआत होगी…

यात्रा के दौरान हाथ या कंधे में चोट…

मंगल के उपाय –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें…

 

मकर राशि-

लगन की कमी से लाभ प्राप्ति में चूक…

छोटे भाईयों से कष्ट….

धन हानि से तनाव….

बृहस्पति के निम्न उपाय आजमायें –

  1. ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें…
  2. पीली वस्तुओं का दान करें…
  3. गुरूजनों का आर्शीवाद लें…

 

कुंभ राशि-

मित्रों के साथ मुलाकात…

पारिवारिक उत्सव से प्रसन्नता….

नये व्यापार की योजना…

धन खर्च से तनाव…

अफवाह के कारण मानसिक चिंता….

शुक्र जनित तनाव से निवारण के लिए –

  1. ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
  2. माॅ महामाया के दर्शन करें…
  3. चावल, दूध, दही का दान करें…

 

मीन राशि-

संतान के स्वास्थ्य से कष्ट…

अध्ययन में बाधा से तनाव…

पड़ोसियों से विवाद….

चंद्रमा के उपाय करें-

     ऊॅ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः का जाप करें…

     दूध, चावल, का दान करें…

     श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…

     रूद्राभिषेक करें…

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

देश-दुनिया2 hours ago

विधानसभा की टिकट दिलाने का प्रलोभन देकर लाखों रुपए की ठगी करने वाला युवक गिरफ्तार

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer हरियाणा में विधानसभा का बिगुल बजते ही टिकटों की मारामारी चल...

देश-दुनिया2 hours ago

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा जल्द ही भारत कांग्रेस मुक्त हो जाएगा.

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सतीश पूनिया प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष बनने के बाद रविवार को...

देश-दुनिया3 hours ago

अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह,चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल पहुंचे.

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी. चिदंबरम आईएनएक्स...

देश-दुनिया3 hours ago

ट्रंप के सामने पीएम मोदी ने किया पाकिस्तान की धुलाई

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अमेरिका के ह्यूस्टन में संपन्न...

अन्य खबरे3 hours ago

हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में पीएम मोदी ने किया अनुच्छेद 370 हटाने का जिक्र तो भड़कीं महबूबा मुफ्ती कहा

  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीप अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive4 days ago

देश इन दिनों : …..सबब मुंसिफ की बेरहमी का ,गुजारिश जान बक्शी की !

सबब मुंसिफ की बेरहमी का ,गुजारिश जान बक्शी की देश के ताज़ा हालात और ट्रेफिक जुर्मानें के कानून के अमल...

Etoi Exclusive4 weeks ago

मोदी का गांधीवाद ?

मोदी का गांधीवाद ?  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer आइये जाने मोदी का गाँधीवाद  ? भारतीय...

Etoi Exclusive4 weeks ago

हरतालिका तीज कब है ? एक या दो सितंबर को ?

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer हरतालिका तीज का व्रत कब करें, इसे लेकर उलझन है। दरअसल...

Etoi Exclusive1 month ago

निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी घोषणाएँ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी  घोषणाएँ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सुधारों का एलान...

Etoi Exclusive1 month ago

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के मजेदार सपने का सच क्या है ?

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के सपने का सच ? Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer भारत...

Advertisement
September 2019
M T W T F S S
« Aug    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending