Connect with us

देश - दुनिया

नकली पत्नी को लेकर थाने पहुंचे IPS, बोले-कहा- कुछ गुंडों ने हमारी बेगम से छेड़खानी की है.

Published

on

कोरोना महामारी में पुलिस डिपार्टमेंट से जुड़े लोग सही ढंग से काम कर रहे हैं या नहीं इसे देखने के लिए पिंपरी चिंचवाड़ के कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने एक अनूठा तरीका खोज निकाला। वे अपना रूप बदल एक मुस्लिम फरियादी बन शहर के अलग-अलग तीन पुलिस स्टेशनों में गए और वहां जाकर समझा कि इस संक्रमण काल में पुलिस बल का आम नागरिकों के साथ बर्ताव कैसा रहता है?

कमिश्‍नर कृष्ण प्रकाश ने रमजान महिने को ध्यान रखते हुए एक मुस्लिम शख्स का रूप धारण किया। उनकी पत्नी के किरदार में एसीपी प्रेरणा कट्टे थीं। वे दोनों एक प्राइवेट कार से पिंपरी चिंचवाड़ के हिंजवडी, वाकड़ और पिंपरी पुलिस स्टेशन पर गए। रूप बदलने के लिए कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने चेहरे पर नकली दाढी, सिर पर नकली मेहंदी कलर विग, पैर में फैशनेबल जूता, कुर्ता और जींस पैंट पहनी थी। सिर पर उन्होंने मुस्लिम सफेट टोपी लगाई थी।

पुलिस स्टेशन पहुंच सुनाई यह कहानी

कृष्ण प्रकाश ने पुलिस स्टेशनों में जाकर बताया,’हम अपनी बेगम के साथ खाना खाने निकले थे। कुछ गुंडों ने बेगम के साथ छेड़खानी की और कीमती सामान छीनकर भाग गए। हमारी शिकायत दर्ज करने की मेहरबानी करें और गुंडों को गिरफ्तार करें।’ किसी को संदेह न हो इसलिए कृष्ण प्रकाश ने उर्दू और हिन्दी जुबान का इस्तेमाल किया। कमिश्नर ने बताया कि हिंजवडी और वाकड़ पुलिस स्टेशन में उन्हें अच्छा रिसपांस मिला। ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी उनके साथ घटना स्थल पर गए। इस दौरान उन्होंने अपने प्रयास से पहले से प्लांट एक शख्स के बारे में भी पता लगाया। वे FIR दर्ज करने वाले ही थे कि कमिश्नर ने अपनी वेशभूषा हटाई और ड्यूटी पर मुस्तैद पुलिसकर्मियों को शाबाशी दी।

तीसरे पुलिस स्टेशन में सुनाई अलग कहानी

पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश और एसीपी प्रेरणा कट्टे इसी वेशभूषा में पिंपरी पुलिस स्टेशन पहुंचे। वहां उनका स्क्रिप्ट अलग थी। उन्होंने बताया कि घर का एक व्यक्ति कोरोना संक्रमण से पीड़ित है। उसे ऐम्बुलेंस से हॉस्पिटल पहुंचाना है। ऐम्बुलेंस वाले ज्यादा रुपये मांग रहे है। उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करें और कार्रवाई करें। इसपर पिंपरी पुलिस स्टेशन में तैनात पुलिस वालों ने कहा कि यह हमारा काम नहीं। कृष्ण प्रकाश ने बताया कि उनका लोगों से बात करने का तरीका भी गलत था। असली रूप में आने के बाद कृष्ण प्रकाश ने वहां मौजूद पुलिसकर्मियों को फटकार भी लगाई।

ऐसे करने के पीछे कृष्ण प्रकाश का मकसद

कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने बताया,’वेशभूषा बदलकर पुलिस स्टेशनों के कामकाज का जायजा लेने के पीछे हमारा मकसद पुलिसकर्मियों के बरताव को जानना था। महामारी के इस काल में हम जानना चाहते थे कि आम लोगों की शिकायतें सुनी जाती है या नहीं? रात के समय पुलिस किस तरह से काम करती है। आम जनता के प्रति उनका व्यवहार कैसा होता है?

पुलिसकर्मियों में डर बना रहेगा और वे गलत काम नहीं करेंगे

कृष्ण प्रकाश ने कहा कि ऐसा करने से पुलिस थानों के कर्मचारियों में अपने काम के प्रति जागरुकता आएगी, डर बना रहेगा और कामकाज में पारदर्शता दिखाई देगी। कृष्ण प्रकाश ने आगे कहा है कि ऐसा ही औचित्य निरिक्षण आगे भी होता रहेगा।

कमिश्नर ने कहा- आगे भी डालेंगे ऐसे ही छापे

उन्होंने आगे कहा कि वे आगे अवैध धंधे, देर रात तक चलने वाले होटल, बार पर ग्राहक का रुप लेकर जाएंगे। जिस पुलिस थानों की सीमा में और थानों के अंदर गलत काम पाया जाएगा वह थानेदार नपेगा। शहर में जीरो टॉलरेंस, 100% अवैध धंधे बंद, क्राइम ग्राफ नीचे, भाई गिरी, माफियागिरी बंद, शहर में चैन, अमन, शांति बरकरार रखना एकमात्र लक्ष्य है।

मेरे सुदर्शन से बचना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है

पुलिस कमीशन कृष्ण प्रकाश ने आगे कहा,’मेरी डिक्शनरी में गलत काम के लिए माफी नहीं। अब तक कई पुलिस निरिक्षक, कर्मचारी सस्पेंड हो चुके है। कई गिरोहबाज गुंडों पर मकोका और तड़ीपार के तहत कार्रवाई हो चुकी है। कई गिरोह, गुंडे रडार पर है। अब पुलिस वालों को पुरानी परंपरा को छोड़ना होगा। आयुक्त कृष्ण प्रकाश के सांचे में फिट बैठना होगा..वरना कृष्ण के सुदर्शन चक्र से बचना मुश्किल नहीं..नामुमकिन है।’

देश - दुनिया

सीएम योगी ने छात्रों को प्रमोट करने के फॉर्मूले को मंजूरी दी

Published

on

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को एक अहम फैसला लेते हुए यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के बाद छात्रों को प्रमोट करने और परिणाम घोषित करने के फॉर्मूले की मंजूरी दे दी. दरअसल कोरोना की वजह से परीक्षाएं रद्द हुई थी. प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि कुल 29 श्रेणियों के अलग-अलग फॉर्मूला तय किया गया है. उन्होंने बताया कि हम लोग हाईस्कूल के 50% और कक्षा के अर्धवार्षिक के 40% और प्री बोर्ड के 10 प्रतिशत मार्क्स को आधार बनाकर रिजल्ट घोषित किया जाएगा. हाईस्कूल के लिए कक्षा 9 के 50% और अर्धवार्षिक परीक्षा के 50 प्रतिशत अंक को आधार बनाकर रिजलट घोषित होगा. डिप्टी सीएम ने बताया कि जो भी छात्र इससे संतुष्ट नहीं होंगे वो बाद में परीक्षा देकर सुधार कर सकेंगे. चूंकि परीक्षा नहीं हुई है इसलिए इस बार कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जाएगी. इसी आधार पर जुलाई में अंक तालिकाएं जारी की जाएगी.

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के मुताबिक, उच्च शिक्षण संस्थाओं में एडमिश मिल पाए इसके लिए 24 जून को सभी कुलपतियों के साथ वर्चुअल माध्यम बैठक होगी. जिसमें सरकार की तरफ से उन्हें निर्देश दिए जाएंगे.

ये है फार्मूला

हाईस्कूल के परीक्षार्थियों को कक्षा 9 के 50% अंक और 10वीं प्री बोर्ड में प्राप्तांक अंक के 50% अंक देकर परिणाम घोषित किया जा सकता है. वहीं इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों को हाई स्कूल के 50%, 11 वीं के 40% और 12वीं प्री बोर्ड के 10% अंक देकर रिजल्ट घोषित किया जा सकता है. अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा विभाग आराधना शुक्ला की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने परिणाम का ड्राफ्ट तैयार किया है. परीक्षा परिणाम घोषित करने के लिए गठित कमेटी को प्रदेश भर से 3910 सुझाव मिले थे. हालांकि आने वाले समय में जब परिस्थितियां सामान्य होंगी तो इच्छुक परीक्षार्थी परीक्षा देकर अपना परिणाम सुधार सकेंगे. परीक्षार्थियों से लिया गया परीक्षा शुल्क वापस नहीं किया जाएगा

Continue Reading

देश - दुनिया

जिस नर्स का अंतिम संस्कार,फतेहपुर में हुआ, वह मथुरा में मिली जीवित – जानें क्या है पूरा मामला

Published

on

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. 15 जून को ललौली थाना इलाके के नाले से एक लाश मिली थी. गंगानगर के रहने वाले शिव प्रसाद रैदास और उनके परिजनों ने इस लाश की पहचान मोनिका के रूप में की थी. परिजनों ने इस लाश का दाह संस्कार भी कर दिया था. हत्या के इस मामले में परिजनों का आरोप था कि हत्या से पहले मोनिका के साथ बलात्कार भी किया गया है. अब इस केस की छानबीन के दौरान पुलिस को मथुरा जिले में मोनिका सकुशल मिली है. अब पुलिस के सामने यह सवाल खड़ा होता है कि जिस युवती की लाश 15 जून को ललौली थाना इलाके में मिली थी, वह किसकी थी. एसपी सतपाल अंतिल ने बताया कि पुलिस ने मृतक युवती के बाल, नाखून और ब्लड डीएनए जांच के लिए ले रखे थे और अब उन्हें लखनऊ प्रयोगशाला भेजा जा रहा है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इस लाश की गलत पहचान की है उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

15 जून को मिली थी अज्ञात युवती की लाश

आपको बता दें कि 15 जून की दोपहर ललौली थाना क्षेत्र के कोर्रा कनक गांव के पास सूखे नाले से 20 वर्षीय अज्ञात युवती की लाश मिली थी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की पुष्टि हुई थी. जिसके बाद पुलिस जांच-पड़ताल में जुट गई थी.

नाले में जिसकी लाश मिली वह किसकी थी

उधर, 17 जून को जहानाबाद कस्बे के गंगानगर के रहने वाले शिव प्रसाद रैदास ने अज्ञात युवती की लाश की पहचान अपनी बेटी मोनिका के रूप में की थी और भाई बीरेंद्र ने गैंगरेप के बाद बहन की हत्या का आरोप लगाया था. पिता, भाई और बहनोई समेत 4 पड़ोसियों ने शिनाख्त से जुड़ा हलफनामा भी पुलिस को दिया था. इसके बाद पुलिस ने मोनिका की गुमशुदगी की रिपोर्ट को हत्या और अन्य धाराओं में तब्दील कर दिया था. परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया था. पूरे मामले में आए इस नाटकीय मोड़ के बाद अब सवाल है कि आखिर जिस युवती की लाश नाले में मिली है, वह किसकी थी.

पहले दर्ज हुई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

दरअसल, जहानाबाद कस्बे के गंगानगर के रहनेवाले शिव प्रसाद रैदास की 19 वर्षीय बेटी मोनिका 2 जून को लापता हो गई थी. गुमशुदगी की रिपोर्ट जहानाबाद पुलिस ने दर्ज की थी. अज्ञात युवती की लाश की पहचान जब परिवार वालों ने मोनिका के रूप में की तो पुलिस ने गुमशुदगी को हत्या के मामले में बदलते हुए जांच पड़ताल शुरू की.

मोनिका तक ऐसे पहुंची पुलिस टीम

उधर एसओजी व सर्विलांस पुलिस की संयुक्त टीम ने मृतका के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल खंगालकर शनिवार को मथुरा जिले के लिए रवाना हुई. सर्विलांस की मदद से पुलिस लोकेशन ट्रेस कर मौके पर पहुंची तो मोनिका को जिंदा देखकर पुलिस के होश उड़ गए. पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि दो दिन पहले ही मोनिका ने प्रेमी के साथ शादी रचा ली थी. पुलिस मथुरा से युवती को लेकर फतेहपुर के लिए निकल चुकी है.

Continue Reading

देश - दुनिया

जम्‍मू-कश्‍मीर पर पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक से दहशत में पाकिस्‍तान

Published

on

 

राजधानी दिल्ली में 24 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इसमें जम्मू-कश्मीर के 14 नेताओं को बुलाया गया. माना जा रहा है कि इस बैठक में केन्द्रशासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव कराने का खाका तैयार किया जाएगा. उधर इस उच्च स्तरीय बैठक की खबर मिलते ही पाकिस्तान की बौखलाहाट खुलकर सामने आ गई. पाकिस्तान ने शनिवार को कहा कि वो कश्मीर के विभाजन और उसकी जनसांख्यिकी बदलने के भारत के किसी भी कदम का विरोध करेगा.

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि भारत को 5 अगस्त 2019 की कार्रवाई के बाद कश्मीर में कोई और अवैध कदम उठाने से बचना चाहिए. कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान ने भारत के कदम का पूरी तरह से विरोध किया है और इस मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सहित सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाया है.

पाकिस्तान की गीदड़ भभकी

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान भारत के ऐसे किसी भी कदम का विरोध करने का फैसला लेता है जो क्षेत्र की जनसांख्यिकी को बदलने के लिए जम्मू-कश्मीर को विभाजित करने वाले हो. कुरैशी ने कहा कि उन्होंने सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष और संयुक्त राष्ट्र महासचिव को भारत के संभावित कदम से अवगत करा दिया है.

बौखलाहाट की वजह

बता दें कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने अगस्त 2019 में आर्टिकल 370 को समाप्त करने का फैसला लिया था. भारत ने संसद में जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम, 2019 भी पारित किया, जिससे तत्कालीन राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों – जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किया गया. इसके बाद जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त हो गया. भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट खुल कर सामने आ गई. पाकिस्तान कई बार इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में उठा चुका है, लेकिन हर बार उन्हें यहां झटका लगा है.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़9 hours ago

मोबाइल लूटने की कोशिश, राजधानी में युवक को बदमाशों ने किया लहूलुहान

रायपुर। राजधानी के पंडरी बज़ार में आज सुबह अज्ञात युवक से मोबाइल लूटने के लिए 3 लोगों ने कोशिश की...

छत्तीसगढ़9 hours ago

छत्तीसगढ़ : तेज रफ्तार ट्रक और कार के बीच जबरदस्त टक्कर, घंटो कार में फंसे रहे दंपति

राजधानी रायपुर से सटे 30 किमी दूर अभनपुर रोड पर देर रात सड़क हादसा हो गया। जहां तेज रफ्तार ट्रक...

छत्तीसगढ़1 day ago

छत्तीसगढ़ में 56 तहसीलदारों का प्रमोशन, डिप्टी कलेक्टर और सीईओ के पदों पर की गई पदस्थापना

    राज्य शासन ने प्रदेश में 56 तहसीलदारों को पदोन्नति एवं पदस्थापना दी है, राज्य शासन के सामान्य प्रशासन...

छत्तीसगढ़1 day ago

दुल्हन के भाई ने शादी में आये दो नाबालिगों का रिश्तेदारों संग मिलकर किया गैंग रेप

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के सीतापुर थाना क्षेत्र में 2 नाबालिग लड़कियों से गैंग रेप की वारदात को अंजाम देने...

छत्तीसगढ़3 days ago

छत्तीसगढ़ में बाबा रामदेव के खिलाफ एफआईआर, जाने क्या है मामला

कोरोना महामारी के बीच योगगुरु बाबा रामदेव की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है. बाबा रामदेव के खिलाफ इस...

#Exclusive खबरे

Calendar

June 2021
S M T W T F S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending