Connect with us

Lifestyle

नीम की पत्तियों से बनाएं फेस पैक, स्किन को जवां और खूबसूरत बनाने में सहयोगी

Published

on

नीम स्किन और सौंदर्य के लिए भी बेहद ही फायदेमंद है। साथ ही नीम में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। नीम का एक औषधीय गुण ये भी है कि यह स्किन को बेदाग रखने के साथ ही निखारता है। अपनी स्किन को जवां और खूबसूरत बनाने के लिए फेसपैक तैयार करने के लिए नीम की ताज़ी पत्तियां लें और इसे मिक्सी में पीस ले। इसके बाद एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी का पाउडर और गुलाब जल मिलाएं और इसे अपनी स्किन पर लगाएं और इसके बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

एंटी एजिंग : झुर्रियां दूर करने के लिए इस फेस पैक का इस्तेमाल करें। क्योंकि नीम की पत्तियां को एंटी-एजिंग की समस्या के लिए नीम बेहद फायदेमंद है। दरअसल, नीम की पत्तियां उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देती हैं और उससे स्किन जवां की जवां बनी रहती है।

ऑयली स्किन : ऑयली स्किन से लोग अक्सर परेशान रहते हैं, क्योंकि तापमान बढ़ने के कारण बॉडी से एक्सट्रा ऑयल निकलने लगता है और ये आपकी स्किन पर जमा हो जाते हैं, जिससे परेशानी होती है। ऐसे में यदि नीम फेस पैक का इस्तेमाल करते हैं तो ऐसे में ये स्किन पर जमे एक्सट्रा ऑयल को कंट्रोल करता है। इसे बनाने के लिए आप नीम को पत्तियों को पीसकर उसमें दही और नींबू का रस डालकर एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करें और 20 मिनट बाद पानी से धो लें।

 

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Lifestyle

आपकी आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार हैं ये ये 4 एक्सरसाइज, इन समस्याओं से भी दिलाती हैं छुटकारा

Published

on

By

एक समय था जब लोग कहा करते थे कि अभी बुढ़ापा नहीं आया है, जो चश्मा लगाने की जरूरत पड़े. आज के समय में ये बात पूरी तरह से गलत साबित हो चुकी है, क्योंकि आज छोटे बच्चे से लेकर यंग जेनरेशन तक ज्यादातर लोगों को आंखों की समस्या सताने लगी है. आंखों की रोशनी कम होने से छोटी उम्र पर ही चश्मा लग जाता है. वहीं आंखों में जलन, ड्राईनेस, लालिमा और आंसू आने जैसी समस्याएं भी होती हैं.इसका एक बहुत बड़ा कारण है घंटों लगातार लैपटॉप और मोबाइल पर लगे रहना. कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के कल्चर ने इस समस्या को कहीं ज्यादा बढ़ा दिया है.

इसके अलावा प्रदूषण, गलत खानपान और आनुवांशिकता को भी इसका कारण माना जाता है. यदि एक बेहतर डाइट के साथ हम नियमित रूप से आंखों की कुछ एक्सरसाइज करें तो आंखों को लगातार पहुंच रहे नुकसान को रोका जा सकता है. इसका कारण है कि आंखों की रोशनी तभी गिरती है, जब आईबॉल की बनावट में बदलाव आता है, आंख की लंबाई और कोर्निया में बदलाव होता है. आई एक्सरसाइज के जरिए इसको नियंत्रित किया जा सकता है, साथ ही इससे स्ट्रेस को कम करने में मदद मिलती है.

पलकें झपकाना

जब भी हम लैपटॉप या मोबाइल पर काम करते हैं तो काम में इतने मगन हो जाते हैं कि एक टक लैपटॉप पर काफी देर तक नजरें गड़ाकर रखते हैं. ऐसे में पलकों को झपकने का मौका काफी देर तक नहीं मिल पाता. इससे टियर फिल्म सूख जाती है और आंखों के सामने धुंधलेपन की समस्या आती है. इस समस्या से बचने के लिए कम से कम दो मिनट तक हर चार सेकंड में अपनी पलकों को लगातार झपकाएं और फिर आंखें तेजी से बंद कर लें. कुछ सेकंड बंद रखें और फिर आंखों को खोल लें. दिन में 4 से 5 बार इस प्रक्रिया को दोहराएं. इससे तनाव कम होगा, आंखों की थकान दूर होगी और आंखों में दुबारा से लुब्रिकेशन हो जाएगा.

पेंसिल पुशअप्स

आंखों की बेहतर सेहत के लिए पेंसिल पुशअप्स को भी काफी अच्छी एक्सरसाइज माना जाता है. ये आंखों की मांसपेशियों को मजबूत करती हैं. इसके जरिए प्रेसबायोपिया को रोका जा सकता है. इसके लिए एक पेन या पेंसिल को एक हाथ की दूरी पर रखकर अपनी आंखों के सामने पकड़ें और उसकी टिप पर फोकस करें. धीरे-धीरे उसे अपनी आंखों की ओर लेकर आएं. जब तक टिप आपको एक से दो न दिखाई देने लगे, तब तक उसे देखते रहें. जैसे ही टिप दो भागों में बंटे, इसे फिर से दूर ले जाएं और इस क्रम को फिर से दोहराएं. एक बार में ये क्रम 10 से 15 बार दोहराएं.

पामिंग

आरामदायक स्थिति में बैठें और कुछ पल के लिए आंखें बंद कर लें. हथेलियों को रगड़कर ऊर्जा पैदा करें और बंद आंखों पर रखें. उंगलियों से पलकों और भौहों की 10-20 सेकंड तक मसाज करें. ऐसा करने से आंखों की थकान दूर होती है. ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहता है और आंखों के की मांसपेशियों को भी आराम मिलता है. इससे ड्राईनेस की समस्या दूर होती है.

8 का फिगर बनाएं

खुद से छह फीट की दूरी पर एक बड़ा सा 8 लिखकर वॉल पर लगाएं. अब अपनी आंखों की पुतलियों को 8 की फिगर के अनुसार पहले क्लॉकवाइज फिर एंटी क्लॉकवाइज डायरेक्शन में घुमाएं. इससे कुछ दिनों में काफी आराम महसूस होगा.

 

 

 

Continue Reading

Lifestyle

घंटों बैठे रहने की आदत भी बन सकती है इन गंभीर बीमारियों की वजह !

Published

on

By

हम सभी जानते हैं घंटों बैठा रहना सेहत के लिए हानिकारक होता है. लेकिन क्या आप जानते हैं घंटों एक जगह बैठे रहने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है और हृदय से जुड़ी बीमारियां और कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है. जी, हां आपने एक दम सही पढ़ा हैं. भले ही आप डेस्क पर बैठे हों, या फिर कार की सीट पर. बैठने के मुकाबले चलने – फिरने में ज्यादा एनर्जी खर्च होती है. स्टडी में दावा किया गया कि लगातार घंटों बैठने की वजह से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं. इसमें मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर, कमर के आसपास चर्बी का जमा होना और कोलेस्ट्रोल को लेवल बढ़ाता है.

घंटों बैठने और इससे होने वाले स्वास्थ्य जोखिमों के बीच संबंध पता करने के लिए कई अधय्यन किए गए हैं. इसमें पाया गया कि बिना किसी फिजिकल एक्टीविटी के लगातार 8 घंट बैठने से ध्रूमपान और मोटापा के कारण मरने का खतरा उतना ही ज्यादा होता है. इसी तरह आप दिन में जितना कम बैठते या लेटते हैं आपका स्वास्थ्य उतना ही अच्छा रहता है. लेकिन महामारी की वजह से हम सभी लोग सीडेंटरी लाइफस्टाइल और स्क्रीन पर ज्यादा समय बिताते हैं.

क्यों घंटों नहीं बैठना चाहिए

जब हम खड़े होकर किसी काम को करते हैं तो हमारा कार्डियोवेस्कुलर सिस्टम प्रभावी तरीके से काम करता है. वहीं, जो लोग घंटों बैठे या लेटे रहते हैं उसकी वजह से कई तरह की बीमारियां होती है.

पैर और ग्लूट की मांसपेशियां

लंबे समय तक बैठने की वजह से पैर की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है. पैर की मसल्स चलने और शरीर को बैलेस करने में मदद करती है. अगर ये मांसपेशियों कमजोर हो जाए तो एक्सरसाइज करने में परेशानी होती है. इसके अलावा भी कई तरह की परेशानियां हो सकती है.

मेटाबॉलिक प्रॉब्लम

जब हम फिजिकल एक्सरसाइज करते हैं तो फैट और चीनी को पचाते हैं. जब हम ज्यादातर बैठते हैं तो पाचन तंत्र कमजोर हो जाएगी. जिससे मेटाबॉलिक डिसॉर्डर खराब हो जाता है.

हिप्स और ज्वाइंट्स में दिक्कत

जब आप लंबे समय तक बैठते हैं तो हिप फ्लेक्सर्स छोटे हो जाते हैं और हिप्स के जोड़ों में समस्या हो सकती है. इसकी वजह से पीठ में दर्द की समस्या होती है. खासकर अगर आप गलत पॉश्चर में बैठते हैं तो समस्याए अधिक बढ़ती है.

कैंसर

कई स्टडी में सुझाव दिया गया है कि लंबे समय तक बैठने से फेफड़ों के कैंसर, गर्भाशय और पेट के कैंसर सहित अन्य प्रकार के कैंसर का खतरे बढ़ जाता है.

एक्टिव होने से एनर्जी का लेवल बढ़ जाता है और आपकी हड्डियों की ताकत बढ़ती है. मौका मिलने पर बैठने के बजाय खड़े रहें.
हर 30 मिनट बैठने के बाद ब्रेक लें.
फोन पर बात करते समय या टेलिवजन देखते समय टहलें और बैठे डेस्क के बीच स्विच करें.
इन सभी छोटे- छोटे कदमों से आप अन्य बीमारियों से बचे रह सकते हैं.

 

Continue Reading

Lifestyle

नारियल के तेल से गरारे करना स्वास्थ्य के लिए है फायदेमंद

Published

on

By

गले में खराश होने पर हम में से ज्यादातर लोग गरारे करते हैं. गरारे करना एक पुराना तरीका है. रोजाना गरारे करने से श्वसन संक्रमण का जोखिम कम होता है. अधिकतर लोग गुनगुने नमक के पानी से गरारे करना पसंद करते हैं. इसके अलावा भी आप कई तरह से गरारे कर सकते हैं. ये आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है. नारियल के तेल का इस्तेमाल गरारे करने के लिए किया जा सकता है. इसके कई फायदे है. नारियल का तेल एक प्राकृतिक तत्व है जो हमारे स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ पहुंचा सकता है.

पाचन में सुधार से लेकर हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने तक, नारियल का तेल लाभदायक है. नारियल के तेल में कई आवश्यक विटामिन और फैट होते हैं. ये हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है. ये तेल सेचुरेटेड फैटी एसिड, पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड, पॉलीफेनोल, विटामिन ई, विटामिन के अन्य महत्वपूर्ण एसिड और मिनरल का एक अच्छा स्रोत है. ये कई सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने में मदद कर सकता है.

गरारे के लिए आप कच्चे नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं. नियमित रूप से नारियल तेल का इस्तेमाल करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है क्योंकि गरारे करने की प्रक्रिया में आप कुछ तेल निगल सकते हैं.

गरारे के लिए 2-3 चम्मच नारियल का तेल लें और इसे अपने मुंह में डालें. गरारे करना शुरू करें. इसे धीरे से करें. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि आप तेल को निगलें नहीं. एक बार जब आप कुछ मिनटों के लिए गरारे कर लें, तो तेल को थूक दें.

गरारे करने के फायदे 

  1. जब आप नारियल के तेल या किसी अन्य गरारे करने वाले घोल से गरारे करते हैं, तो आप गले के किसी भी बैक्टीरिया को साफ करने में सक्षम होते हैं. ये बैक्टीरिया को कम करने में मदद करता है और गला साफ करता है.
  2. गरारे करने से आपके गले को आराम मिलता है. अगर आपके गले में खुजली हो रही है तो गरारे करने से आपको आराम मिलेगा.
  3. गरारे करने से गले की समस्याओं का इलाज करने में मदद मिल सकती है. इससे सूजन या गले के दर्दसे राहत मिल सकती है.
  4. गरारे करने से श्वसन तंत्र और बलगम को साफ करने में मदद मिलती है.

नारियल के तेल से गरारे करने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं. लेकिन इस बात का ध्यान रखे की आप अधिक गरारे न करें या इसे बहुत जोर से न करें. गरारे करने के साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं. अगर आप किसी स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित है तो एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें.

 

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़11 hours ago

राजधानी में फिर से‘ नशा पार्टी’, पुलिस ने दबिश देकर किया खुलासा

लॉकडाउन खुलते ही राजधानी में फिर से नशे की पार्टी हो रही है। शहर के दो कैफे में दबिश देकर...

छत्तीसगढ़1 day ago

छत्तीसगढ़ : नग्न हालत में मिली युवती की मृत लाश

बलरामपुर। जिले के वाड्रफनगर में हत्या की एक ऐसी वारदात हुई है जिससे पूरा इलाका दहल उठा है । आरोपी ने...

छत्तीसगढ़2 days ago

2 एसआई, 1 एएसआई सहित 13 पुलिसकर्मियों का तबादला

एक बार फिर थोक में पुलिसकर्मियों का तबादला किया गया है। 2 उपनिरीक्षक, 1 सहायक उपनिरीक्षक और 13 पुलिसकर्मियों का...

छत्तीसगढ़2 days ago

पुलिस ने कबाड़ियों के ठिकानों पर मारा छापा, 30 लाख से अधिक का कबाड़ जब्त

जिला पुलिस ने 20 काबाड़ियों के ठिकाने पर छापा मारा है। पुलिस ने दबिश देकर 30 लाख से अधिक का...

छत्तीसगढ़2 days ago

ट्रक ने 4 युवकों को कुचला, चारों की मौके पर ही मौत

कांकेर भानुप्रतापपुर मार्ग के देवरी गांव में अज्ञात ट्रक ने चार युवकों को कुचल दिया. हादसे में गंभीर रूप से...

#Exclusive खबरे

Calendar

July 2021
S M T W T F S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031

निधन !!!

Advertisement

Trending