Connect with us

अन्य खबरे

मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- बसपा अब आगे के सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने बूते पर लडेगी

Published

on

  • बहुजन समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी के साथ अपना गठबंधन पूरी तरह से तोड़ लिया है. मायावती ने सोमवार को इसका ऐलान करते हुए कहा कि बसपा अब आगे के सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने बूते पर लडेगी. बसपा प्रमुख मायावती ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा, ‘लोकसभा आम चुनाव के बाद सपा का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है. इसलिए पार्टी और मूवमेंट के हित में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी. इसके साथ ही मायावती ने दो अन्य ट्वीट और किए है. पहले ट्वीट में मायावती ने कहा, ‘बीएसपी की आल इंडिया बैठक कल लखनऊ में ढाई घण्टे तक चली. इसके बाद राज्यवार बैठकों का दौर देर रात तक चलता रहा जिसमें भी मीडिया नहीं था. फिर भी बीएसपी प्रमुख के बारे में जो बातें मीडिया में फ्लैश हुई हैं वे पूरी तरह से सही नहीं हैं जबकि इस बारे में प्रेसनोट भी जारी किया गया था.’
  • लोकसभा चुनाव से पहले जब सपा और बीएसपी के गठबंधन का ऐलान हो रहा था तो उस दिन मायावती और अखिलेश यादव के हावभाव को देखकर ऐसा लग रहा था कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी. अंकगणित भी उनके पक्ष में था और गोरखपुर-फूलपुर-कैराना के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साह चरम पर था. लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों ही नेता जमीनी हकीकत को भांप नहीं पाए और करारी हार का सामना करना पड़ गया. इस हार के साथ ही गठबंधन भी बिखर गया है. सपा को जहां 5 सीटें मिली हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें. एक तरह से देखा जाए तो बीएसपी को ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी को एक भी सीट नहीं मिली थी. दूसरी ओर सारे समीकरणों को ध्वस्त करते हुए बीजेपी 62 सीटें कामयाब हो गई. इस हार के साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर ले लिया और कहा कि सपा अपने कोर वोट यादवों का भी समर्थन नहीं पा सकी और यही वजह है कि उनकी पत्नी चुनाव हार गईं. इतना ही नहीं मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने का ऐलान कर डाला.
  • बसपा की राष्ट्रीय स्तर की मीटिंग में मायावती ने रविवार को कहा था कि गठबंधन के चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने मुझे फोन नहीं किया. सतीश मिश्रा ने उनसे कहा कि वे मुझे फोन कर लें, लेकिन फिर भी उन्होंने फोन नहीं किया. मैंने बड़े होने का फर्ज निभाया और काउंटिग के दिन 23 तारीख को उन्हें फोन कर उनके परिवार के हारने पर अफसोस जताया. मायावती ने कहा कि तीन जून को जब मैंने दिल्ली की मीटिंग में गठबंधन तोड़ने की बात कही तब अखिलेश ने सतीष चंद्र मिश्रा को फोन किया, लेकिन तब भी मुझसे बात नहीं की. मायावती ने कहा कि अखिलेश ने मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं, क्योंकि उससे और ध्रुवीकरण होगा, लेकिन मैंने उनकी बात नहीं मानी. मायावती (Mayawati) ने आरोप लगाया कि मुझे ताज कॉरिडोर केस में फंसाने में बीजेपी के साथ मुलायम सिंह यादव का भी अहम रोल था. उन्होंने कहा कि अखिलेश की सरकार में गैर यादव और पिछड़ों के साथ नाइंसाफी हुई, इसलिए उन्होंने वोट नहीं किया. इसके अलावा सपा ने प्रमोशन में आरक्षण का विरोध किया था इसलिए दलितों, पिछड़ों ने उसे वोट नहीं दिया.
Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

अन्य खबरे

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष का विवादित बयान “चाहे फांसी हो जाए लेकिन साथ में जरूर रखूंगा फरसा”

Published

on

By

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विवादित बयान चाहे फांसी हो जाए लेकिन साथ में जरूर रखूंगा फरसा
चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने फरसा रखकर चुनाव आयोग के नोटिस पर उल्टा सवाल खड़ा कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि ये फरसा मैंने आत्मरक्षा के लिए अपने साथ रखा हुआ है। आयोग चाहे फांसी लगा दे, फरसा साथ ही रखूंगा। क्या कानून व संविधान की पालना चुनाव के दौरान अलग-अलग होती है? भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को जब लाठी भेंट की गई, मुख्यमंत्री को जब गदा भेंट की गई व अन्य भाजपा नेताओं को गदा, फरसे, तलवार भेंट करने पर आयोग ने संज्ञान क्यों नहीं लिया? आयोग को मेरा फरसा ही क्यों दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि मेरा मकसद लोगों को ये दिखाना है कि प्रदेश के मुखिया सत्ता के नशे में हैं। मेरा फरसा रखने का मतलब सिर्फ  दिखाने के लिए है लोगों की गर्दन काटने के लिए नहीं। ये लोगों को बचाने के लिए है। ये फरसा एक जगह नहीं, बल्कि हर जगह मैं साथ रखता हूं। फरसा एक धार्मिक चिन्ह है।
चुनाव आयोग के लिए अगर फरसा शस्त्र है तो गदा भी तो शस्त्र है, भीम ने दुर्योधन को गदा से ही मारा था। जिस तरह भीम अपने साथ गदा रखते थे वैसे ही भगवान परशुराम भी अपने साथ फरसा रखते थे, जो किसी की गर्दन काटने के लिए नहीं, बल्कि पापियों से बचने के लिए होता था। उन्होंने कहा कि फरसा किसी भी रिकॉर्ड में हथियार के रूप में दर्ज नहीं है। आयोग भाजपा नेताओं पर भी कार्रवाई की हिम्मत करके दिखाए।  

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

बीजेपी अनर्गल बाते कहकर महाधिवक्ता को बदनाम कर रही है: संदीप दुबे काँग्रेस विधि विभाग अध्यक्ष

Published

on

By

महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा के बारे मे अनर्गल बाते बीजेपी के विधि प्रकोष्ठ के सयोजक ने कहा है, उसका पूरी तरह से विरोध  प्रदेश कांग्रेस कमेटी विधि विभाग के अध्यक्ष संदीप दुबे ने किया है, औऱ एक बयान जारी कर कहा है की बीजेपी अनर्गल बाते कहकर महाधिवक्ता को बदनाम कर रही है, महाधिवक्ता को प्रेस क्लब ने मेहमान की तरह बुलाया था , वहा पर आरक्षण  सम्बंधित प्रश्नों का विधि सम्मत जवाब दिया है,जो सही औऱ न्यायालीन दायरे मे है, उनके कार्यकाल के पूर्व महाधिवक्ता भी प्रेस क्लब जाकर बयान देते रहे है, वर्तमान महाधिवक्ता   हमेशा उच्च न्यायलाय मे उपस्थित रहते है, बीजेपी जब से सरकार ने ओबीसी को आरक्षण का प्रतिशत बढ़ाया है, तब से उनको अपना वोट खिसकते नजर आ रहा है, इसलिए अनर्गल प्रचार कर रही है, भाजपा स्पष्ट करें कि वो ओबीसी आरक्षण को बढ़ाये जाने का समर्थन करती है कि विरोध,,,,, अगर समर्थन करती है तो उच्च न्यायालय मे हस्तक्षेप याचिका फ़ाइल कर सरकार का समर्थन करें.

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

रमन सिंह की साख भाजपा नेतृत्व के सामने गिर गयी है: कांग्रेस 

Published

on

By

रमन सिंह की साख भाजपा नेतृत्व के सामने गिर गयी है: कांग्रेस 
रायपुर/14 अक्टूबर 2019। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को भारतीय जनता पार्टी की सूची में शामिल नहीं किये जाने पर कांग्रेस ने कहा कि रमन सिंह की साख भाजपा नेतृत्व के सामने गिर गयी है। प्रदेश के कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अंतागढ़ खरीदी कांड, नान घोटाला और डीकेएस घोटाला तथा चिटफंड कंपनियों में मिलीभगत की साजिशों के रोज हो रहे खुलासों और इन घोटालों में रमन सिंह की सहभागिता के आरोपों के कारण रमन सिंह की कलई जनता के साथ-साथ भाजपा नेतृत्व के सामने भी खुल गयी है। छत्तीसगढ़ में 2018 के विधानसभा चुनाव के बाद दंतेवाड़ा उपचुनाव में भी भाजपा ने रमन सिंह को आगे कर लड़ा था। दंतेवाड़ा उपचुनाव में भाजपा की करारी हार हुई है। भाजपा नेतृत्व डर रहा है कि रमन सिंह की दागदार छवि का नुकसान भाजपा को महाराष्ट्र, हरियाणा विधानसभा चुनावों में उठाना पड़ेगा। इसी लिये भाजपा नेतृत्व ने हरियाणा, महाराष्ट्र सहित देश के अन्य स्थानों पर होने वाले उपचुनावों के लिये जारी स्टार प्रचारकों की सूची में रमन सिंह को शामिल नहीं किया। 
 
प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा के स्टार प्रचारकों की सूची में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को, सरोज पाण्डेय को स्थान मिला है। शिवराज सिंह भी तो रमन सिंह के साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाये गये थे। भाजपा नेतृत्व ने सूची में रमन सिंह को शामिल नहीं करके उनके ऊपर भ्रष्टाचार के आरोपों की गंभीरता को प्रमाणित किया है।
प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा की सूची से रमन सिंह का नाम नहीं, शामिल होना सामान्य और नजर अंदाज करने वाली घटना नहीं है। पार्टी नेतृत्व का अपने उस नेता के प्रति अविश्वास की अभिव्यक्ति है, जिसने रमन सिंह को तीन बार राज्य का मुख्यमंत्री बनाया था। रमन सिंह मे जरा भी नैतिकता बची हो तो वे राजनीति से सन्यास लें लें।

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

अन्य खबरे8 hours ago

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष का विवादित बयान “चाहे फांसी हो जाए लेकिन साथ में जरूर रखूंगा फरसा”

आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विवादित बयान चाहे फांसी हो जाए लेकिन साथ में जरूर रखूंगा फरसा चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी...

अन्य खबरे8 hours ago

बीजेपी अनर्गल बाते कहकर महाधिवक्ता को बदनाम कर रही है: संदीप दुबे काँग्रेस विधि विभाग अध्यक्ष

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा के बारे मे अनर्गल बाते बीजेपी के...

अन्य खबरे9 hours ago

रमन सिंह की साख भाजपा नेतृत्व के सामने गिर गयी है: कांग्रेस 

रमन सिंह की साख भाजपा नेतृत्व के सामने गिर गयी है: कांग्रेस  रायपुर/14 अक्टूबर 2019। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को भारतीय...

अन्य खबरे9 hours ago

विक्रम उसेंडी आज चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव के प्रचार-प्रसार के दौरान जनसम्पर्क किया

रायपुर/जगदलपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी आज चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव के प्रचार-प्रसार के दौरान जनसम्पर्क किया। प्रदेश...

अन्य खबरे9 hours ago

भाजपा नेताओं ने दी डॉ. रमन को शुभकानाएं व बधाई

भाजपा नेताओं ने दी डॉ. रमन को शुभकानाएं व बधाई Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर।...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive1 week ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 06/10/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer कलई खुलने के डर से भाजपा ने टीवी चैनलों की परिचर्चा...

Etoi Exclusive1 week ago

आखिर क्यों दरक रही है काँग्रेस की दीवारें ?

आखिर क्यों दरक रही है काँग्रेस की दीवारें ? Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer क्या कांग्रेस...

Etoi Exclusive1 week ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 05 /10/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 05 /10/2019...

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04 /10/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04 /10/2019...

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 03/10/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer जानिए महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर पहली बार बैंक नोट पर कब...

Advertisement
October 2019
M T W T F S S
« Sep    
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending