Connect with us

अन्य खबरे

मोबाइल है बीमारियों की जड़ ,बच्चों को मोबाइल से रखें दूर

Published

on

 

  • बच्चे मोबाइल के एडिक्शन के हो रहें हैं शिकार कृपया बच्चों को मोबाइल फोन न दें…….
  • अगर मजबूरी में कुछ समय के मोबाइल देना भी पड़े तो ऐसी गेम डिलीट कर दें वरना जिससे बच्चों के व्यवहार में आक्रामकता आती है।
  • स्क्रीन की ब्राइटनेस 100 से 15 कर दें।
  • बच्चों को ज्यादा इनडोर और  आउडटोर खेल खेलाएं। उन्हें उनके मनपसंद खिलौने लाकर दें।
  • बच्चों से बातें करें और उन्हें समय दें।
  • मोबाइल के कारण भारी संख्‍या में लोग बीमारी की चपेट में आ रहे हैं, कहीं आप भी तो इसके शिकार नहीं हो गए हैं।
  • देश में मोबाइल यूजर्स की संख्या 104 करोड़ तक जा पहुंची है।
  • इंटरनेट के विस्तार और सोशल साइट के तिलिस्म ने लोगों को मोबाइल एडिक्ट बना दिया है।
  • यह ऐसा नशा है जो इसमें जकड़े व्यक्ति को मदहोश नहीं करता लेकिन उसकी मनोदशा बिगाड़ देता है। हर वक्त सिर झुकाकर मोबाइल स्क्रीन से चिपके रहने वाले लोगों को मोबाइल एडिक्ट की श्रेणी में रखा जा रहा है।
  • इसके शिकार युवा और बुजुर्ग ही नहीं बल्कि 2 से 14 साल की आयु वर्ग के बच्चे भी हैं
  • मोबाइल एडिक्शन का शिकार अधिकतर बच्चे स्कूल गोइंग हैं
  • बच्चे  लगातार मोबाइल से जूझते दिखाई देते हैैं
  • इस कारण बच्चों और युवाओं में शारीरिक समस्याएं बढ़ रही हैैं।
  • डायबिटीज का खतरा, अनिद्रा, कब्ज, मोटापा, हाइपरटेंशन, आंखों में जलन, अस्थमा आदि आम है

आज कल बच्चों का होमवर्क अभिभावकों के मोबाइल पर भेजा जाता है। ऐसे में बच्चे अभिभावकों के मोबाइल पर होमवर्क देखते हैं और फिर कई एप्लीकेशन्स व सोशल साइट्स भी खोल लेते हैं। इसके बाद उन्हें भी इसकी लत लग जाती है। जो बच्चे इसके अडिक्ट होते हैं उनका व्यवहार अन्य बच्चों से अलग होता है । मोबाइल देख बच्चे की आंखों में चमक आ जाती हैं ।मोबाइल लेकर ये बच्चे खुश हो जाते हैं,और मोबाइल वापस लेने पर रोने लगते हैं बहुत गुस्से में आ जाते हैं और वे तब तक गुस्से में रहते हैं जब तक उन्हें वापस मोबाइल न कर दिया जाये,,,, आज इस तरह का अडिक्शन युवाओं, महिलाओं और बुजुर्गों में भी देखी जा रही है जिनकी दुनिया मोबाइल तक सीमित है…

SHARE THIS

अन्य खबरे

असमय मौत का कारण हो सकता है ये?

Published

on

सिडनी

समय मौत से बचना है तो वायु प्रदूषण के रिस्‍क को खत्‍म करना होगा क्‍योंकि यह सांस संबंधी बीमारियों को बढ़ाता है।. ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर युमिंग गुओ ने कहा कि पार्टिकुलेट मैटर और मृत्युदर के बीच संबंध के लिए कोई सीमा नहीं है, जिससे वायु प्रदूषण के निम्न स्तर से मौत का खतरा बढ़ सकता है। गुओ ने कहा कि हवा में जितने छोटे और महीन धूल के कण मौजूद होंगे उतनी ही, आसानी से वे फेफड़ों में गहराई तक प्रवेश कर सकते हैं ।

हवा में मौजूद छोटे और महीन धूल के कण सांस की बीमारियों को बढ़ाते हैं। जहरीले वायु प्रदूषकों के संपर्क में आने से हृदय और सांस संबंधी बीमारियां होने से असामयिक मृत्यु का जोखिम बढ़ जाता है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित हुए अध्ययन को पूरा होने में 30 साल का समय लगा है। इसमें शोधकर्ताओं ने 24 देशों के 652 शहरों में वायु प्रदूषण और मृत्युदर के आंकड़ों का विश्लेषण किया है।

अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि मौतों में वृद्धि सांस लेने योग्य (इनहेलेबल) कणों (पीएम 10) और महीन (फाइन) कणों (पीएम 2.5) के संपर्क से जुड़ी होती है इसके पहले कनाडा और अमेरिका में किए गए शोध का कहना था कि वायु प्रदूषण से मानसिक बीमारियां होती हैं। इसके अनुसार कम उम्र में प्रदूषित वायु में रहने वाले लोगों को इन बीमारियों का खतरा अधिक होता है।

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

नगरीय निकायों में फोटोयुक्त मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य जारी

Published

on

  • रायपुर(etoi news)24/08/2019
  • उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री धर्मेन्द्र मिश्रा ने जानकारी दी है कि गत् 21 अगस्त से 30 अगस्त 2019 तक नगरीय निकायो की फोटोयुक्त मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य हेतु नगरीय निकायो में दावा, आपत्ति प्राप्त करने हेतु प्राधिकृत केन्द्र बनाये गये है, जिनमे नगर पालिका शहडोल में 73, धनपुरी में 40, बुढ़ार, ब्यौहारी एवं खांड में 15-15 केन्द्र बनाये गये है। दावे अपत्ति प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षित प्राधिकृत कर्मचारी नियुक्त किए गए है, जो अंतिम तिथि 30 अगस्त तक 10.30 बजे से 05.00 बजे तक प्राधिकृत केन्द्रो में रहकर दावे अपत्ति प्राप्त करेंगे। अंतिम दिवस 30 अगस्त को दोपहर 03.00 बजे तक आवेदन लिए जायेगें।
  • नगरीय निकायो की प्रारूप मतदाता सूची में नाम जोड़ने या हटाने हेतु राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित प्रारूप फार्म क्रमांक ईआर-1 (नाम जोड़ने के लिए आवेदन पत्र) फार्म क्रमांक ईआर-2 (नाम विलोपित करने के लिए आवेदन पत्र) फार्म क्रमांक ईआर-03 (नाम संशोधन कराने के लिए आवेदन पत्र) मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलो को उपलब्ध कराते हुए मतदाता सूची परिशुद्ध बनाने में अपेक्षा की गई है। बूथ लेवल एजेन्टो की नियुक्ति कर प्राधिकृत कर्मचारियो को मृत, विस्थापित एवं दोहरे मतदाताओं के विशय में जानकारी प्रदाय करने के निर्देश दिए गए है। प्राधिकृत केन्द्रों में संबंधित वार्डो के ऐसे मतदाताओं को प्रेरित किया जाना है जिनके नाम मतदाता सूची में शामिल नही है। ताकि शत्-प्रतिशत नाम जोड़ने के लक्ष्य की पूर्ति हो सके तथा जो मतदाता क्षेत्र अथवा वार्ड से बाहर चले गए है उनके नाम विलोपित कराऍ जा सके।

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया

Published

on

By

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया,

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक विपक्ष के नेता

एयर विस्तारा की उड़ान से सुबह 11.50 बजे श्रीनगर के लिए रवाना हुए

 
कांग्रेस नेता राहुल गांधी और विपक्ष के कई अन्य नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को भारत प्रशासित कश्मीर के श्रीनगर पहुंचा लेकिन इन नेताओं को एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया गया.
न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस प्रतिनिधिमंडल को दिल्ली वापस भेज दिया गया है.
विपक्ष के नेताओं के दौरे को कवर करने के लिए एयरपोर्ट पर जुटे मीडियाकर्मियों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की. न्यूज़ चैनल के पत्रकारों ने बताया कि मीडियाकर्मियों से बदसलूकी यह कहते हुए की गई कि यह डिफेंस एयरपोर्ट है और आप यहां रिपोर्टिंग नहीं कर सकते.विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद, आनंद शर्मा, केसी वेणुगोपाल, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, डीएमके नेता तिरुची शिवा, शरद यादव, टीएमसी के नेता दिनेश त्रिवेदी, एनसीपी नेता माजिद मेमन और सीपीआई महासचिव डी राजा शामिल हैं.प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर में लोगों और पार्टी नेताओं से मुलाक़ात करनी थी. हालांकि बसपा और सपा इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा नहीं हैं.जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने और उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने की घोषणा के बाद से ही वहां टेलीफ़ोन, मोबाइल, इंटरनेट समेत सभी संचार सुविधाएं बंद हैं और धारा 144 लागू है
राहुल गांधी के साथ विपक्ष के इस प्रतिनिधिमंडल के श्रीनगर जाने से पहले जम्मू-कश्मीर प्रशासन का बयान आया था कि ये नेता कश्मीर न आएं और सहयोग करें.साथ ही पुलिस सूत्रों ने भी कहा था कि विपक्षी प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा.प्रशासन ने ट्वीट किया था, “नेताओं के दौरे से असुविधा होगी. हम लोगों को आतंकियों से बचाने में लगे हैं. प्रशासन ने कहा कि नेता उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे होंगे, जो अभी भी कई क्षेत्रों में हैं. वरिष्ठ नेताओं को समझना चाहिए कि शांति, व्यवस्था बनाए रखने और नुकसान को रोकने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी.”
 
हालांकि विपक्ष के नेताओं ने कहा कि उन्हें ऐसे किसी सलाह की कोई जानकारी नहीं है.
वहीं बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने इसे ‘राजनीतिक पर्यटन’ क़रार दिया.
कश्मीर रवाना होने से पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने पत्रकारों से कहा कि अगर हालात सामान्य हैं तो विपक्ष के नेताओं को वहां जाने से क्यों रोका जा रहा है, क्यों दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को घरों में नज़रबंद करके रखा गया है. उन्होंने कहा कि “मेरा वहां घर है और मैं अपने घर नहीं जा पा रहा हूं.”
जबसे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत भारत प्रशासित कश्मीर का विशेष दर्ज़ा छिना है, ग़ुलाम नबी आज़ाद जम्मू कश्मीर जाने की कोशिश कर चुके हैं लेकिन उन्हें लौटा दिया गया.
शरद यादव ने कहा, “हम कौन क़ानून भंग कर रहे हैं. वो हमारे देश के नागरिक हैं, वहां हमारी पार्टी के लोग हैं और उनसे मिलने जाते रहे हैं.”अभी कुछ दिन पहले सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई महासचिव डी राजा श्रीनगर पहुंचे थे लेकिन उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया गया और बैरंग लौटा दिया गया था.
जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने के बाद से ही राहुल गांधी मोदी सरकार पर हमलावर हैं और राज्य की स्थिति को लेकर चिंता जताने के साथ ही सरकार के इस फ़ैसले पर कई सवाल खड़े किए थे.इसके बाद जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दावा किया कि घाटी में हालात सामान्य हैं और राहुल को कश्मीर आने का निमंत्रण दिया.उन्होंने कहा, “मैं राहुल गांधी को कश्मीर आने का निमंत्रण देता हूं. मैं उनकी यात्रा का भी इंतज़ाम करूंगा ताकि वो आकर ज़मीनी हकीक़त देख सकें.”राहुल गांधी ने तुरंत ट्वीट कर उनका न्योता स्वीकार करते हुए एक ऑल पार्टी डेलीगेशन के साथ घाटी का दौरा करने की इच्छा व्यक्त की थी.

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

अन्य खबरे1 hour ago

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया

राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेजा गया, न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक विपक्ष के...

अन्य खबरे2 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें सुबह की सुर्खियाँ 25/08/2019

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार...

राजनीति4 hours ago

गृह मंत्री अमित शाह ने जेटली के निधन पर गहरा शोक, अमित शाह ने दौरा रद्द किया

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer आज ही अरुण जेटली से मिलने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन...

छत्तीसगढ़5 hours ago

मुख्यमंत्री के हाथों 58 शहरी गरीबों को पसरा का आवंटन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer  रायपुर(etoi news)23 /08/2019 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज राजधानी रायपुर में...

राजनीति5 hours ago

प्रधानमंत्री ने जन्माष्टमी के अवसर पर लोगों का शुभकामनाएं दीं

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer प्रधानमंत्री ने कहा “सभी देशवासियों को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ। भगवान...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive24 hours ago

निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी घोषणाएँ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कीं आर्थिक सुधारों से जुड़ी  घोषणाएँ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सुधारों का एलान...

Etoi Exclusive1 day ago

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के मजेदार सपने का सच क्या है ?

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनामी के सपने का सच ? Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer भारत...

Etoi Exclusive2 days ago

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैंक्रोन काशी पहुँचे

उत्तर प्रदेश Mar, 12 2018 फ्रांस के राष्ट्रपति पहुंचे काशी, पीएम मोदी ने किया भव्य स्वागत नौका विहार करके रचेंगे...

Etoi Exclusive2 days ago

भारत को ISIS से लड़ना ही पड़ेगा-डोनाल्ड ट्रम्प 

ट्रम्प का एक और बयान जिससे बवाल मचना तय है  Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer  अफगानिस्तान...

Etoi Exclusive3 days ago

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार

कमरछठ एक छत्तीसगढ़िया त्यौहार आज छत्तीसगढ़ का स्थानीय त्यौहार कमरछठ बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस त्यौहार...

Advertisement
August 2019
M T W T F S S
« Jul    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending