Connect with us

Breaking

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 18/03/2021

Published

on

  1. 12 वीं पास के लिए : 2380 कांस्टेबल (फायरमैन) के पदों के लिए आवेदन आमंत्रित
  2. तीन करोड़ राशन कार्ड रद्द किए जाने को लेकरS C ने की सख्त टिप्पणी
  3. टीवी स्टार ने खूबसूरती बढ़ाने करवाई Surgery, अब सड़ने लगी नाक
  4. SBI के साथ खोलें कमाई कराने वाला खाता, मिलेगा 1350 रुपये का सीधा फायदा
  5. Redmi ने लॉन्च किए 3 दमदार Smart TV
  6. आंदोलन में मारे गए किसानों पर बोले राज्यपाल सत्यपाल मलिक-कुतिया के मरने पर तो नेता…
  7. देशभर में WiFi हॉटस्पॉट लगाने की योजना को मिल रहा अच्छा रिस्पांस
  8. ‘लाल सिंह चड्ढा’ से बॉलीवुड में डेब्यू कर रहे Naga Chaitanya
  9. मैच के दौरान छिपकर खाते हुए कैमरे में कैद हुए Rohit Sharma
  10. बुजुर्ग ने शराब के लिए पत्नी से की लड़ाई… इधर बेटे ने लात घूसों से की पिता की हत्या
  11. ICU में महिला से रेप, मुंह पर लगा था ऑक्सीजन दोनों हाथ थे बंधे
  12. महिला को नहीं था पसंद अपने माथे का आकार…सर्जरी करवा साइज करवायी छोटी
  13. 40 साल के शख्स ने 6 महिलाओं को बनाया सेक्स गुलाम
  14. छत्तीसगढ़ : राजधानी में सौतेले बेटे ने माँ का किया बलात्कार
  15. कलयुगी बेटे ने बुजुर्ग मां को मारा थप्पड़, गिरते ही हुई मौत, सीसीटीव में कैद पूरी घटना
  16. 300 किलो का सबसे बड़ा ताला…बुजुर्ग दंपति ने बनाया
  17. छत्तीसगढ़ : पत्नी पर कुल्हाड़ी से हमला कर पति ने किया सुसाइड
  18. कोरोना अपडेट : 28,903 नये मामले… 188 मौते
  19. 10वीं पास के लिए SSC मल्टी टास्किंग स्टाफ (MTS) पदों पर भर्ती, अंतिम तिथि 21 मार्च 2021
  20. सैन्‍य भर्ती घोटाला : 5 लेफ्टिनेंट कर्नल, 2 मेजर समेत 23 के खिलाफ केस दर्ज
  21. Redmi Note 10 की पहली सेल आज से
  22. पिछले दो सालों में नहीं छपा एक भी नया नोट “क्या 2,000 रुपये का नोट बंद करना चाहती है सरकार”
  23. जस्टिन बीबर की हैं बड़ी फैन है सच‍िन तेंदुलकर की बेटी सारा
  24. देश के इन 5 बैंकों में अगर आप का खाता है तो हो जाइए सावधान, चेतावनी जारी
  25. 68 साल के बुजुर्ग ने 30 कुत्तों को बनाया हवस का शिकार
  26. अय्याश पति को दूसरी औरत के साथ देखकर पत्नी ने बीच सड़क पर पिटा
  27. केंद्र सरकार ने 2000 रुपये नोटों को लेकर दी बड़ी जानकारी…पढिये पूरी खबर
  28. वेस्टइंडीज की कप्तानी करना मेरे लिए गर्व की बात : ब्रेथवेट
  29. रायपुर : मज़दूरी के पैसे लेने गए युवक पर धारदार हथियार से वार
  30. वैक्सीन लेने के बाद भी एक और कलेक्टर कोरोना पॉजिटिव
  31. रबर फैक्ट्री में लगी भीषण आग, काले धुएं के गुबार से ढंका आसपास का इलाका
  32. जब भिखारी को दिया गया नकली नोट, 2 युवकों ने मांगे खुले पैसे, फिर
  33. zomato boy की शिकायत पर अब महिला के खिलाफ FIR
  34. कोरोना अपडेट : 24,492 नए मामले… 131 मौते
  35. नोटा को ज्यादा वोट मिले तो रद किए जाएं चुनाव वाली याचिका पर निर्वाचन आयोग को नोटिस
  36. फोन से करते हैं पैसों की लेनदेन, तो तुरंत करें,,,,,,,ये
  37. 1 अप्रैल से इन बैंकों के चेकबुक और पासबुक नहीं कर पाएंगे इस्तेमाल
  38. यहाँ अगले महीने से सस्ती मिलेगी बीयर
  39. कोरोना नियमों का उल्लंघन : गौहर खान के खिलाफ FIR दर्ज
  40. वायरल विडियो : विश्वविद्यालय में छात्रा ने खुलेआम ब्वॉयफ्रेंड से गले लगकर किया इजहार…फिर
  41. तलवारबाज भवानी देवी ने रचा इतिहास
  42. फिल्म इंडस्ट्री और अमिताभ बच्चन को लेकर गोविंदा का खुलासा
  43. 1 लाख से अधिक की फीस देकर 192 बार ड्राइविंग टेस्ट दे चूका है ये शख्स
  44. जब मंच से हो रही थी पुरस्कारों की घोषणा…न्यूड हुई ये एक्ट्रेस…
  45. रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर…. मिलेगा बेरोजगारी भत्ता
  46. सड़क किनारे चलने वाले लोगों को मिलेगी प्रदूषण से राहत…जानिए कैसे
  47. 31 मार्च तक पूरे कर लें आधार-पैनकार्ड से जुड़े ये चार काम, नही तो लगेगा इतने हजार रुपए का जुर्माना
  48. 1 लाख युवाओं को नौकरी देंगे सोनू सूद
  49. भाजपा सांसद के घर हाईवोल्टेज ड्रामा…बहू ने काटी हाथ की नस…बेटे पर लगाए ये गंभीर आरोप
  50. चीनी फैक्ट्री में आग के बाद फायरिंग, 70 मरे
  51. सिलेंडर फटने से लगी भीषण आग, 5 लोग जिंदा जले…
  52. छत्तीसगढ़: यात्रियों से भरी बस पलटी…ड्राइवर और कंडक्टर की मौत, 10 घायल

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Breaking

CAIT ने पीयूष गोयल से CCI को अमेजन और फ्लिपकार्ट के खिलाफ तत्काल जांच शुरू करने और एक नया प्रेस नोट जारी करने का आग्रह किय

Published

on

By

रायपुर,12 जून 2021। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमेन मगेलाल मालू, अमर गिदवानी, प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वाशु माखीजा, महामंत्री सुरिन्द्रर सिंह, कार्यकारी महामंत्री भरत जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीड़िया प्रभारी संजय चैबें बताया कि अमेजन और फ्लिपकार्ट की याचिका को खारिज करते हुए कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले के तुरंत बाद कनफेडेरशन आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आज केंद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल को एक पत्र भेजा है जिसमें उनसे भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई ) को ये निर्देश देने का आग्रह किया है कि वो अविलम्ब अमेजॅन और फ्लिपकार्ट के खिलाफ तुरंत जांच की कार्यवाही शुरू करे।

कैट ने श्री पीयूष गोयल से यह भी आग्रह किया है कि एफडीआई नीति के प्रेस नोट 2 की जगह बहुप्रतीक्षित एक नया प्रेस नोट जारी क्या जाएँ वहीं सरकार के कानून, नियम एवं नीति को सही तरीके से लागू करने के लिए एक मॉनिटरिंग तंत्र भी बनाया जाए जिससे कोई भी किसी भी नीति का उल्लंघन करने की हिम्मत न करे। कैट ने श्री गोयल से यह भी आग्रह किया है की ई-कॉमर्स व्यापार में अधिक पारदर्शिता लाने के लिए हर उस प्रकार के ई कॉमर्स व्यापार जो किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से होता है, उसको वाणिज्य मंत्रालय के डीपीआइआइटी विभाग से अनिवार्य रूप से अपना पंजीकरण कराना आवश्यक है।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री अमर पारवानी और प्रदेश अध्यक्ष श्री जितेन्द्र दोशी ने बताया कि देश भर के व्यापारी आगामी सप्ताह 14 जून से 21 जून तक ष्ई-कॉमर्स शुद्धिकरण सप्ताहष् के रूप में मनाएंगे, जिसके तहत देश के हजारों व्यापारी संगठन आगामी 16 जून को अपने-अपने जिला कलेक्टरों को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नाम से एक ज्ञापन सौंपेंगे जिसमें केंद्र सरकार से अमेजन, फ्लिपकार्ट और अन्य विदेशी फंड प्राप्त अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा नीति और नियमों के निरंतर उल्लंघन को रोकने के लिए तत्काल कदम उठायें जाएँ। इसी सप्ताह के दौरान व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल अपने-अपने राज्य के मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री से मिल कर उनसे मांग करेगा कि छोटे व्यापारियों को ई-कॉमर्स कंपनियों की किसी भी दमनकारी नीति का सामना न करना पड़े। किसी भी विरोध का सामना न करना पड़े। ई-कॉमर्स कंपनियों के हमले से कारोबारी समुदाय को बचाने के लिए देश भर के व्यापारी संगठन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल को ई मेल के द्वारा ज्ञापन भेजेंगे।

श्री पारवानी और श्री दोशी ने खेद व्यक्त किया कि इन ई-कॉमर्स कंपनियों ने श्री पीयूष गोयल द्वारा बार-बार दिए गए निर्देशो को सुन कर भी अनसुना किया है और एफडीआई नीति के अनिवार्य प्रावधानों की धज्जियां उड़ाकर अनैतिक और अवैध गतिविधियों में ये कंपनियां निरंतर लिप्त रही हैं। दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा इस तथ्य की पुष्टि जनवरी 2021 को अमजोन विरुद्ध फ्यूचर रिटेल के मामले में की गई तथा कल जब कर्नाटक उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा कि ष्यह अपेक्षित है कि जांच का निर्देश देने वाला आदेश तर्कसंगत हो, जिसे आयोग ने पूरा किया हैष्। कोर्ट की इस टिप्पणी ने इस तथ्य की पुष्टि की है कि सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है और इसलिए जांच जारी रहनी चाहिए। दोनों व्यापारी नेताओं ने इस मामले पर से सीसीआई द्वारा अपना पक्ष मजबूत रखने की सराहना की है।

श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियों की गलतफहमी कि भारत का कानून कमजोर हैं और सुविधा के अनुसार किसी भी तरह से उसमे हेरफेर कि जा सकता है, को तत्काल विश्वसनीय कार्रवाई के साथ दूर किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश भर के व्यापारियों को इन कंपनियों ने धोखा दिया है और धीरे-धीरे प्रशासनिक व्यवस्था में विश्वास खो रहे हैं और इस तरह के विश्वास को फिर से हासिल करने के लिए, यह सुनिश्चित करने के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है कि कोई भी, चाहे वह छोटा हो या बड़ा, कानून या नीति का उल्लंघन करने के बारे में न सोचें। दिनदहाड़े खुलेआम इन उल्लंघनों के बावजूद अब तक संबंधित अधिकारियों और विभागों ने इन ई-कॉमर्स कंपनियों की कुप्रथाओं को रोकने के लिए कोई महत्वपूर्ण कदम नहीं उठाया है। कैट ने यह आग्रह किया है की संबंधित अधिकारियों को एक समान स्तर का व्यापारिक प्रतिस्पर्धा का वातावरण बनाए रखने के लिए तत्काल कदम उठाने के लिए सख्त निर्देश जारी किए जाएं।
श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि इन तथाकथित बाजारों द्वारा पूंजी डंपिंग के खेल ने देश की उद्यमशीलता कौशल और मानव पूंजी को खत्म कर दिया है जो एक संज्ञेय अपराध है। किसी भी देश की मानव पूंजी को बेकार कर देना, उन्हें उनके व्यवसायों से विस्थापित करना और इन पूंजीपतियों द्वारा उनकी आजीविका का अतिक्रमण करना निश्चित रूप से ये वो ष्भारतष् नही है जिसका सपना प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देखा है। यह नीति भारत के लोगों की ष्आत्मनिर्भर भारतष् भावना को मार रही है। श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि ये कंपनियां न केवल ई-कॉमर्स बल्कि खुदरा व्यापार के पूरे परिदृश्य को नियंत्रित और हावी करने के लिए अपनी आकांक्षाओं और गुप्त उद्देश्यों को पूरा करने के लिए ईस्ट इंडिया कंपनी के दूसरे संस्करण के रूप में खुद को स्थापित करने की कोशिश कर रही हैं। भारत के खुदरा व्यापार में 8 करोड़ व्यापारी लगभग 40 करोड़ लोगों को रोजगार प्रदान कर वर्ष भर में लगभग 115 लाख करोड़ रुपये का वार्षिक कारोबार कर रहे हैं जिसको इन कंपनियों ने बर्बादी के कगार पर ला खड़ा किया है।
श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि अमेजॅन और फ्लिपकार्ट दोनों ने समय-समय पर दावा किया है कि वे सबसे अधिक कानून का पालन करने वाली कंपनियां हैं और यदि ऐसा है तो वे अपने व्यवसाय मॉडल और व्यवसाय प्रथाओं की किसी भी जांच से क्यों डरते हैं और क्यों निरंतर सीसीआई द्वारा आदेशित जांच को रोकने के लिए अपने स्तर पर प्रयास कर रहे है। क्यों न सीसीआई द्वारा गहन जांच की जाए जिनमे ये कंपनियां जो सही होने का दावा करती है , वो कुंदन बन कर निकलें । इन कंपनियों के व्यापार मॉडल की सीसीआई जांच वास्तव में उनके लिए भारत के व्यापार और उद्योग के लिए खुद को एक आदर्श और विश्वसनीय कंपनी बनाने का अवसर है। इन कंपनियों द्वारा लगातार यह प्रदर्शित किया जा रहा है की वो भारत में छोटे व्यापारियों के हिमायती हैं और उनके उद्धारकर्ता है।

अमेजॅन और फ्लिपकार्ट का दावा है कि वे भारत में ई-कॉमर्स गतिविधियों के लिए बाजार और सुविधाएँ उपलब्ध करा कर छोटे व्यापारियों को अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद करते हैं और व्यापारियों के व्यापार को अपने मार्केटप्लेस मॉडल के तहत बड़ी संख्या में छोटे व्यापारी प्रगति कर आगे बढ़ रहे हैं। श्री पारवानी एवं श्री दोशी ने कहा की ये कंपनियां अपने आपको धर्मार्थ संगठन की तरह प्रदर्शित कर ऐसा दिखा रही हैं की वो छोटे व्यवसायों की कमजोर परिस्थितियों पर दया करके अपने उदार और बड़ी छत्रछाया में व्यापारियों को उनका व्यवसाय विकसित करने के बड़े अवसर प्रदान करते हैं।

श्री पारवानी एवं श्री दोशी ने कहा की उनके यह दावे पूरी तरह से निराधार हैं और वास्विकता ये है कि इसमें कोई दम नहीं है। यदि वे अपने दावे पर खरे उतरते है तो उन्हें पिछले 5 वर्षों में अपने पोर्टल पर मौजूद केवल शीर्ष 10 विक्रेताओं की एक सूची प्रदान करनी चाहिए जिसके जरिये ये साबित हो जायेगा कि उनके पोर्टल पर वो कौन से लोग हैं हैं जो ज्यादा से ज्यादा सामान बेच रहे हैं। ये वो कंपनियां हैं जो इन पोर्टल की सम्बन्धी कम्पनी है । इन विदेशी ई-कॉमर्स संस्थाओं को हमारे पारंपरिक किराना और छोटे व्यापारियों के बहुत घनिष्ट ताने-बाने को बेरहमी से नष्ट करते हुए छोटे और मध्यम खुदरा विक्रेताओं की मदद करने और उनकी सहायता करने के बारे में बड़े-बड़े दावे करने की आदत है जबकि ये इसके ठीक विपरीत कार्य करते है।
श्री पारवानी और श्री दोशी ने दृढ़ता से कहा कि भारत का व्यापारिक समुदाय आत्मनिर्भर है और उसे किसी विदेशी संस्था की दया की आवश्यकता नहीं है। हम बिल्कुल अनाथ नहीं हैं जैसा कि इन कंपनियों द्वारा हमे समझा जाता है और सरकार द्वारा भारत के घरेलू व्यापार के लिए परिभाषित नीतियों के मानकों के भीतर हमारे विकास को सुनिश्चित करने के लिए काफी सक्षम हैं और भारत में व्यापारियों द्वारा की जा रही सीएसआर गतिविधियों का स्तर अमेजॅन, फ्लिपकार्ट सहित किसी भी कॉर्पोरेट घराने की तुलना में बहुत बड़ा है।

श्री पारवानी और श्री दोशी ने कहा कि श्री अमित अग्रवाल, कंट्री हेड, एमेजॉन इंडिया द्वारा हाल ही में की गई एक टिप्पणी से देश भर के व्यापारी बेहद आहत हैं जिसमे उन्होंने कहा कि भारत को निवेश के लिए एक वैश्विक गंतव्य बनने के लिए, अनुबंधों और कानूनी समझौतों की वैधता पर जोर देना चाहिए। हमें किसी उद्योग प्रमुख द्वारा इससे अधिक विरोधाभासी बयान कभी सुनने नहीं मिला क्योंकि अगर कोई एक व्यवसाय समूह जिसे देश के कानून का सम्मान करने और उसका पालन करने की आवश्यकता है, तो वह है अमेजन इंडिया। श्री अग्रवाल के लिए यह बेहतर होगा कि वे भारतीय कानून प्रणाली का मजाक न उड़ाएं, और फेमा/एफडीआई नीति, लॉकडाउन दिशानिर्देशों और अन्य कानूनों का निरंतर उल्लंघन करने की बाजए सरकार की एफडीआई नीति में वर्णित नीति और कानून का पालन करने पर ध्यान दें।

Continue Reading

Breaking

भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ की वर्चुअल बैठक संपन्न 16-17 जून को व्यापार प्रकोष्ठ मुख्यमंत्री बघेल से करेगा सवाल

Published

on

By

HHATTISGARH रायपुर,11 जून 2021। भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश पदाधिकारियों एवं जिला संयोजकों की वर्चुअल बैठक सम्पन्न हुई जिसमे मुख्यमंत्री से घोषणा पत्र एवं वादे पूरे नहीं करने पर सवाल पूछने का निर्णय लिया गया, प्रदेश सह प्रचार प्रसार मंत्री राजकुमार राठी के अनुसार  बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश संयोजक लाभचंद बाफना ने कहा कि सरकार ढाई साल के कार्यकाल में हर मोर्चे पर विफल रही है और सरकार को जनता को इसका जवाब देना होगा।

 

बैठक में प्रमुख वक्ता के रूप में प्रदेश महामंत्री किरण देव ने कहा कि गंगाजल की सौगंध खाकर सरकार बनाने वाली कांग्रेस ने किसी भी वादे को पूरा नहीं किया, अब भाजपा उनके द्वारा किये गए वादों को पूरा करवाने के लिए बाध्य करेगी। कार्यक्रम को पूर्व प्रदेश संयोजक केदार गुप्ता एवं रायपुर जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सर्वश्री दिलीप सिंह होरा, सुभाष अग्रवाल, मुकेश शर्मा, नारायण भूषणीया, बलदेव सिंह हूँगल,विनय बजाज, संजय खटवानी,भगतराम वाधवा,अजेश अग्रवाल, सुषमा कोठारी, संतोष जैन, राजेश गुप्ता, विष्णु अग्रवाल, बृजमोहन तिवारी,कांतिलाल बोथरा,राजेंद्र जैन, प्रमोद अग्रवाल, पुरषोत्तम टावरी, सागर जैन, अभिषेक गुप्ता, ओम टावरी, नितेश दुबे, राजकिशोर राठी, छोटू चावला, गुंजन अग्रवाल, संदीप दुआ, जानेश्वर मिश्रा,मुरारीलाल गुप्ता, राजकुमार तेजवानी, राम ख़ूबवानी, कैलाश मिश्रा,भागचंद जैन, भोजराज जैन,अतुल सिंघानिया, दिलीप गंगवानी, डॉ.निर्मल पांडेय, मनोज टावरी, मुकेश गर्ग, प्रवीण अग्रवाल, परमजीत सिंह, महावीर चोपड़ा, अमित अग्रवाल, अभिषेक गुप्ता, विकास अग्रवाल, सुरेंद्र मोटवानी,तपेश जैन, रामकृष्ण रेड्डी,उत्तम गिड़िया, देशांत लड्ढा, मन्नू शुक्ला शामिल थे। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश प्रचार प्रसार मंत्री संतोष जैन एवं आभार प्रदर्शन प्रदेश सह-संयोजक मुकेश शर्मा ने किया।

Continue Reading

Breaking

बेंगलुरु के मासूम की हत्या के आरोपी रायपुर से गिरफ्तार

Published

on

By

बेंगलुरु में 9 साल के बच्चे के अपहरण और हत्या के मामले में रायपुर और बेंगलुरु पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दरअसल शुक्रवार को बेंगलुरु के हेब्बागोडी थाना इलाके में एक कारोबारी के 9 साल के बच्चे को किडनैप कर लिया गया था। इस केस में रायपुर के मोतीनगर इलाके से रिजवान, सिराज और नौशाद नाम के युवकों को पकड़ा गया है। ये अपहरणकर्ताओं के सहयोगी थे।

क्रिकेट खेलने गया था बच्चा

आसिफ नाम के जिस बच्चे का अपहरण किया गया था। उसके पिता हेब्बागोडी इलाके के कांट्रेक्टर हैं। बताया जा रहा है कि 3 जून को आसिफ क्रिकेट खेलने गया था। उसी दौरान उसका अपहरण कर लिया गया। इस घटना को कुछ बच्चों ने देखा था और उन्होंने उसी समय परिजनों को बताया था, लेकिन तब तक अपहरणकर्ता दूर निकल चुके थे। स्थानीय स्तर पर नाकाबंदी भी की गई थी, पर कोई सफलता नहीं मिली।

बच्चे की हत्या हो गई
इधर, पुलिस की कार्रवाई हुई तो ये खबर भी आई कि किडनैपर्स ने शर्त रखी थी कि अगर परिजन पुलिस के पास गए तो वह बच्चे की हत्या कर सकते हैं। बच्चे के मां बाप की पुलिस से शिकायत करने की जानकारी किडनैपर्स को लग गई और उन्होंने उसे मार दिया। बच्चे का शव पुलिस को मिल गया है।

ऐसे जुड़े रायपुर से तार
रिजवान, सिराज और नौशाद रायपुर के मठपुरैना, मोती नगर इलाके में रहते हैं। यह तीनों फेरी लगाकर सामान बेचने का काम करते हैं। इनका लिंक बेंगलुरु के अपहरण गैंग से भी था। मूलत: बिहार के रहने वाले ये तीनों बदमाश दरअसल इस पूरे अपहरण कांड की टीम बी की तरह काम कर रहे थे। इन्होंने ही रायपुर से बच्चे के मां-बाप को 25 लाख रुपए की फिरौती के लिए फोन किया था।

फोन लोकेशंस की जानकारी हासिल होते ही बेंगलुरु पुलिस की टीम शनिवार को रायपुर आई थी और एसएसपी अजय यादव से मुलाकात कर सहयोग मांगा। इसके बाद रायपुर पुलिस की खुफिया टीम ने इन युवकों को हिरासत में लिया है अब उन्हें कोर्ट में पेश कर बेंगलुरु ले जाने की तैयारी की जा रही है।

मुख्य आरोपी पुणे का रहने वाला है

रायपुर से गिरफ्तार किए गए युवकों से पूछताछ करने पर पता चला कि मुख्य आरोपी पुणे का रहने वाला है। वह नौशाद की खाला (बुआ) का लड़का है। पुलिस को उसके एड्रेस के बारे में भी जानकारी मिल गई है। पुलिस अब यह भी छानबीन कर रही है कि क्या यहां से गिरफ्तार किए गए युवक किसी और अपहरण, हत्या जैसी वारदात में शामिल रहे हैं।

अपहरण के बाद अमूमन दूसरे प्रदेश से आता है फोन

इस मामले की जांच कर रहे साइबर सेल के अधिकारी कहते हैं कि बड़े गैंग के ऑपरेट करने का तरीका एक सा रहता है। अमूमन देखा गया है कि अपहरण के बाद फिरौती के लिए फोन दूसरे प्रदेश से ही आते हैं। रायपुर के एक बड़े कारोबारी का जब करीब दो साल पहले अपहरण हुआ था तो दूसरे प्रदेशों से ही फिरौती के लिए फोन आए थे। ऐसा पुलिस को गुमराह करने के लिए किया जाता है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़20 hours ago

छत्तीसगढ़ में बाबा रामदेव के खिलाफ एफआईआर, जाने क्या है मामला

कोरोना महामारी के बीच योगगुरु बाबा रामदेव की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है. बाबा रामदेव के खिलाफ इस...

छत्तीसगढ़20 hours ago

सीएम भूपेश बघेल ने 18 जिलों को दी 5 हजार 220 करोड़ की सौगात

कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार धीमी पड़ने के साथ ही छत्तीसगढ़ में विकास-कार्यों में तेजी आ गई है। मुख्यमंत्री...

छत्तीसगढ़1 day ago

रायपुर : सिविल लाइंस थाने में बाबा रामदेव के खिलाफ मामला दर्ज

एलोपैथी मेडिसिन, डॉक्टरों और कोरोना वैक्सीन के बारे में पिछले दिनों लगातार बयान दे रहे बाबा रामदेव के खिलाफ रायपुर...

छत्तीसगढ़1 day ago

छत्तीसगढ़ : शाम होते ही ग्रामीण को करना पड़ रहा है जेल में बंद, जानिए क्या है वजह

कांकेर: छत्तीसगढ़ के वनांचल क्षेत्र में हाथियों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन हाथी ग्रामीणों...

छत्तीसगढ़1 day ago

जानें क्‍या है वजह, जो बच्‍चा बूढ़ा, या जवान,जेल में कर द‍िया जाता है बंद

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर से एक अनोखी तस्वीर निकलकर सामने आई है. यहां हाथियों से जान बचाने के...

#Exclusive खबरे

Calendar

June 2021
S M T W T F S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending