Connect with us

छत्तीसगढ़

दुर्ग यूनिवर्सिटी की नयी कुलपति डॉ अरूणा

Published

on

रायपुर(etoi news) 12 सितंबर 2019। डॉ अरूणा पल्टा दुर्ग के हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की नयी कुलपति होंगी। राज्यपाल व कुलाधिपति अनुसुईया उईके की सहमति के बाद राज्यपाल के सचिव सुरेंद्र कुमार जायसवाल ने ये आदेश जारी कर दिया है। कुछ दिनों से दुर्ग के हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के कुलपति का पद खाली था। डॉ अरुणा पल्टा अभी शासकीय राधाबाई नवीन कन्या महाविद्यालय में प्रिसिपल हैं। इससे पहले दुर्ग विश्वविद्यालय के कुलपति के लिए कुल 9 प्रोफेसरों ने इंटरव्यू दिया था। इसी महीने 1 सितंबर को इंटरव्यू हुए थे, जिसमें सभी को उनका कार्य अनुभव, विवि का शैक्षणिक स्तर पर नाम कैसे आगे बढ़ेगा? इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए उनके पास क्या योजनाएं हैं?…जैसे बिंदुओं पर परखा गया था।

9 प्रोफेसरों ने इंटरव्यू दिया था

कुलपति पद के उम्मीदवारों में रविवि के तीन प्राध्यापक डॉ. एचके पाठक, डॉ. जकिया खान, डॉ. एसके जाधव थे। गर्ल्स कॉलेज रायपुर की प्राचार्य डॉ. अरुणा पल्टा, केंद्रीय विवि बिलासपुर के प्राध्यापक डॉ. पीके वाजपेयी, बीचएयू के डॉ. साही, एक उम्मीदवार कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के और दो दावेदार छत्तीसगढ़ के बाहर के विश्वविद्यालयों के प्राध्यापकों के नाम बताए जा रहे हैं।

 

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

छत्तीसगढ़

आज शाम 4 बजे से रायपुर जिले में बन सकते हैं कर्फ्यू जैसे हालात

Published

on

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन कर दिया गया है। इसी बीच खबर आ रही है कि रायपुर जिले में आगामी 48 घंटे तक कर्फ्यू जैसे हालात बन सकते हैं। बताया गया​ कि केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला द्वारा लॉक डाउन का कड़ाई से पालन किए जाने के निर्देश के बाद कलेक्टर, एसएसपी पूरे दलबल के साथ घनी आबादी वाले क्षेत्रों फ्लैग मार्च कर रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बीते दिनों सभी राज्यों को केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने पत्र लिखकर लॉक डाउन का कड़ाई से पालन किए जाने के बाद कलेक्टर, एसएसपी की बैठक बुलाई गई थी। बैठक में घनी बस्ती वाले इलाकों में फ़्लैग मार्च का फैसला लिया गया है। वहीं, बताया जा रहा है कि आज शाम 4 बजे से प्रायोगिक तौर पर रायपुर जिले में कर्फ्यु जैसे हालात बन सकते हैं। साथ ही 4 बजे के बाद फालतू घूमने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सकती है।

Continue Reading

देश-दुनिया

5 अप्रैल रात 9 बजे दीया-मोमबत्ती जलाने की अपील के पीछे क्या है विज्ञान?

Published

on

दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए कई देशों में लॉकडाउन घोषित किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी भारत में 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन की घोषणा की, जिसके बाद उनकी इस अपील पर पूरा देश इसका पालन कर रहा है। लोग अपने-अपने घरों में हैं और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने वाले कोरोना संक्रमण की इस चेन को तोड़ने में अपनी सहभागिता कर रहे हैं। तीन अप्रैल शुक्रवार की सुबह पीएम मोदी एक वीडियो संदेश के माध्यम से देशवासियों से मुखातिब हुए तो उन्होंने एक देशवासियों से एक और अपील की।

उन्होंने देशवासियों से इस रविवार यानी पांच अप्रैल की रात नौ बजे नौ मिनट के लिए घर की लाइटें बंद करने और दीया, मोमबत्ती या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की। इसके जरिए उन्होंने इस संकट की घड़ी में लोगों से एकजुटता दिखाने की अपील की है। पीएम मोदी के इस वीडियो संदेश के बाद से चर्चा होती रही कि ऐसा करने के पीछे आखिर क्या कारण है! क्या ताली-थाली अपील की ही तरह इसके पीछे भी कोई मेडिकल साइंस या वैज्ञानिक कारण हैं?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दीया-मोमबत्ती अपील के पीछे वैज्ञानिक कारण हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इस अपील का सीधा संबंध योग वशिष्ठ के छठे अध्याय से संबंधित है। पद्मश्री अवार्डी और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. केके अग्रवाल का कहना है कि इस पुस्तक का छठा अध्याय सामूहिक चेतना के सिद्धांत के बारे में बताता है। 95 फीसदी लोग वही करते हैं, जो पांच फीसदी लोग सोचते और करते हैं।

हमारे शरीर और सामूहिक चेतना के सिद्धांत के बारे में बात करते हुए वह कहते हैं कि जिस सिद्धांत को पुस्तक में रेखांकित किया गया है, उसमें शरीर के एसीई-2 रिसेप्टर्स को दुरुस्त करने की शक्ति है।अब सवाल है कि यह एसीई-2 रिसेप्टर क्या है!

एसीई-2 रिसेप्टर्स एक तरह का एंजाइम है, जो मानव शरीर के हृदय, फेफड़े, धमनियों, गुर्दे और आंत में कोशिका की सतह से जुड़ा होता है। यह रिसेप्टर गंभीर सांस संबंधी सिंड्रोम का कारण बनने वाले कोरोना वायरस के लिए कार्यात्मक और प्रभावी होता है।

एसीई-2 रिसेप्टर्स को निंयत्रित और दुरुस्त करने वाला हमारी सामूहिक चेतना का विज्ञान क्वांटम फिजिक्स की अवधारणाओं पर आधारित है। अगर हम सभी सामूहिक रूप से शरीर में कोरोना वायरस को नहीं रहने देने का निर्णय लेते हैं तो हमारी सामूहिक चेतना ऐसा सुनिश्चित करने में मदद करेगी।

कनाडा स्थित ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के मुताबिक कोशिका की झिल्ली पर मौजूद प्रोटीन एसीई-2 इस महामारी के केंद्र में है, क्योंकि यह कोरोना वायरस (सार्स-कोव-2) के ग्लाइकोप्रोटीन बढ़ाने के लिए प्रमुख रिसेप्टर यानी अभिग्राहक है। इससे पहले भी टोरंटो विश्वविद्यालय और ऑस्ट्रिया स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ मॉल्युकूलर बायोलॉजी के शोधार्थियों ने भी यह पाया था कि मानव शरीर में एसीई-2 सार्स संक्रमण के मुख्य अभिग्राहक है। मालूम हो कि सार्स वायरस, सांस की बीमारी का कारण होता है और साल 2003 में इससे बड़ी संख्या में लोग प्रभावित हुए थे। वैज्ञानिक अपने शोध में एसीई-2 रिसेप्टर को लक्षित कर कोरोना का इलाज ढूंढने के लिए रिसर्च कर रहे हैं।

क्या कहता है ज्योतिषशास्त्र

प्रधानमंत्री की इस अपील का संबंध ज्योतिषशास्त्र से भी बताया जाता है। ज्योतिषी डॉ. जय मादन के मुताबिक ऐसा करने के लिए 9 बजे और 9 मिनट चुनने का कारण मंगल का दोहरा प्रभाव है। मंगल साहस, पराक्रम, एकजुटता और एकाग्रता का प्रतीक होता है। यह हमारी उच्च इच्छा शक्ति और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, जिससे हम बड़ी समस्याओं को मात दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि पांच अप्रैल को चंद्रमा सिंह राशि में रहेगा। सिंह, सूर्य का प्रतीक है, जिसका सीधा संबंध प्रकाश और शक्ति से है।

दीया और मंत्र प्रकाश और ध्वनि ऊर्जा का अद्भुत संयोजन हैं। उन्होंने कहा कि मेरा भी यही सुझाव है कि उस समय बिजली के उपकरण जलाकर इलेक्ट्रॉनिक ऊर्जा न पैदा की जाए, क्योंकि यह राहु का कारण बनेगा, इससे बचना चाहिए। पीएम मोदी ने भी अपनी अपील में दीया, मोमबत्ती जलाने के दौरान घर की लाइटें बंद करने की अपील की है।

अंक ज्योतिष से भी है संबंध

प्रधानमंत्री मोदी की इस अपील के पीछे अंक ज्योतिष का भी एक तर्क दिया जा रहा है। अंकशास्त्री नितिन गुप्ता के मुताबिक ऐसा माना जा रहा है कि इस वायरस का संक्रमण राहु के कारण हुआ। यह अभी बुध राशि में यात्रा कर रहा है। राहु का अंक चार है और बुध का अंक पांच है। पांच अप्रैल यानी चौथे महीने की पांचवीं तारीख, जो बुध और राहु के अंक का संयोजन है। यदि वर्ष (2020) की संख्या भी जोड़ें तो भी यह चार हो जाता है। इस हिसाब से यह बहुत ही शुभ संयोजन है।

विष्णु दमनोत्सव और मदन द्वादशी

धर्म-आध्यात्म और ज्योतिषशास्त्र के जानकार पंडित दयानंद पांडेय ने अमर उजाला से बातचीत में बताया कि पांच अप्रैल इसलिए भी खास है कि इस दिन विष्णु दमनोत्सव और मदन द्वादशी है। पुत्रशोक से बचाने के लिए इसका खास महत्व है। प्रधानमंत्री को अगर एक अभिभावक के तौर पर माना जाए तो करोड़ों देशवासी उनके पुत्र समान हुए, जिन्हें बचाने के लिए वह देशवासियों को एकजुट कर कोरोना को हराने का संकल्प ले चुके हैं।

इससे पहले 22 मार्च को पीएम मोदी की अपील पर देशवासियों ने डॉक्टरों, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों जैसे कोरोना वीरों के सम्मान में ताली, थाली और शंख बजाया था। कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित देश इटली में भी लोगों ने डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों के सम्मान में ताली बजाई थी, जिसकी सोशल मीडिया पर खूब सराहना हुई थी। वहीं, इसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग से पैदा हो रहे अलगाव की भावना को हराने के लिए इटलीवासियों ने अपने घरों में खिड़कियों और बालकोनी में मोमबत्तियां और मोबाइल की फ्लैशलाइट भी जलाई और राष्ट्रगान भी गाया। लॉकडाउन के बीच ऐसी गतिविधियों से देशवासियों की एकजुटता दिखती है। पांच अप्रैल को रात नौ बजे भारतवासी भी इसी तरह एकजुटता की मिसाल पेश करेंगे।

Continue Reading

देश-दुनिया

पीएम के अपील को अधीर रंजन चौधरी ने मानने से किया इनकार कहा- भले ही मुझे राष्ट्र विरोधी कहा जाए

Published

on

कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूरा देश एकजुट होकर लड़ रहा है। पूरे देश में बचाव के लिए लॉक डाउन का पालन किया जा रहा है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के नाम संदेश देते हुए देशवासियों से अपील की है कि 5 अप्रैल को रात 9 बजे रात नौ बजे 9 मिनट तक घर के दरवाजें पर या बालकनी में खड़े होकर पूरी लाइटें बंद करके मोमबत्ती, दिया, मोबाइल की फ्लैश लाइटें जलाएं। पीएम मोदी की इस अपील पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस सांसद अधी रंजन चौधरी ने कहा है कि मैं मोमबत्ती नहीं जलाऊंगा तो मुझे राष्ट्र-विरोधी कहा जाएगा। लेकिन मैं तैयार हूं।

अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि कोरोना के खिलाफ का रोशनी और मोमबत्ती जलाने से कोई संबंध नहीं है। ऐसा मेरा मानना है, इसलिए मैं मोमबत्ती या लाइट नहीं जलाउंगा। या लाइट बंद नहीं करूंगा। लेकिन कोरोना के खिलाफ लड़ते रहूंगा। अगर मैं मोमबत्ती नहीं जलाऊंगा तो मुझे राष्ट्र-विरोधी कहा जाएगा, लेकिन मैं तैयार हूं।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश देते हुए कहा कि जिस प्रकार से जनता ने सरकार का सहयोग और समर्थन दिया वह बहुत ही सराहनीय रहा, आज नौवां दिन है लोगों ने जिस धैर्य का परिचय दिया वह अभूतपूर्व है। उन्होने कहा कि हमारा यह कदम आज दुनिया के लिए मिशाल बन गया, कई देश हमारे कदमों का अनुकरण कर रहे हैं।
उन्होने कहा किसी को यह लग सकता है कि हम अकेले क्या कर सकते हैं , लेकिन हम अकेले होकर भी सामूहिक हैं, हर किसी को धैर्य रखना है, हमारी सामूहिक शक्ति ही हमें इतना बड़ा काम करने के लिए प्रेरित करता है।

कोरोना महामारी के बीच फैले अंधकार के बीच प्रकाश लाना है, इस संकट को पराजित करना है, प्रकाश के तेज को चारों दिशाओं में फैलाना है, 5 अप्रैल को हम सब को मिलकर कोरोना को चुनौती देना है, इस दिन हमें देश की महाशक्ति का जागरण करना है, 130 करोड़ लोगों को ​रात नौ बजे 9 मिनट तक घर के दरवाजें पर या बालकनी में खड़े होकर पूरी लाइटें बंद करके मोमबत्ती, दिया, मोबाइल की फ्लैश लाइटें जलाएं।

इस उजालें में हम महाशक्ति का उदय होगा हमें अहसास होगा कि हम अकेले नहीं हैं कोई भी अकेला नही हैं, हमारे साथ 130 करोड़ देशवासी एक ही संकल्प के साथ खड़ें है, हम एक ही संकल्प के लिए कृत संकल्प हैं। उन्होने कहा कि मेरी प्रार्थना है कि इस आयोजन के समय किसी को भी कहीं पर एकत्रित होना नही हैं, अपने घर के दरवाजे बालकनी से ही इसे करना है, सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा को लांघना नही है। कोरोना की चैन तोड़ना है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़14 mins ago

आज शाम 4 बजे से रायपुर जिले में बन सकते हैं कर्फ्यू जैसे हालात

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन कर दिया गया है। इसी बीच खबर आ रही है कि...

देश-दुनिया32 mins ago

5 अप्रैल रात 9 बजे दीया-मोमबत्ती जलाने की अपील के पीछे क्या है विज्ञान?

दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए कई देशों में लॉकडाउन घोषित किया गया है। प्रधानमंत्री...

देश-दुनिया6 hours ago

पीएम के अपील को अधीर रंजन चौधरी ने मानने से किया इनकार कहा- भले ही मुझे राष्ट्र विरोधी कहा जाए

कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूरा देश एकजुट होकर लड़ रहा है। पूरे देश में बचाव के लिए लॉक...

देश-दुनिया8 hours ago

कोरोना से जुड़ी हर जानकारी देने के लिए, दिल्ली सरकार ने जारी किया व्हाट्सएप्प नंबर

कोरोना बीमारी संबंधित जानकारी के अलावा सरकार की ओर से उठाएं गए राहत कार्यों की जानकारी अब आपको वाट्सऐप पर...

Etoi Exclusive19 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04/04/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive2 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 03/04/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive3 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 02/04/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 01/04/2020

  सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़...

Etoi Exclusive5 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 31/03/2020

  सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़...

Etoi Exclusive6 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 30/03/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Calendar

April 2020
M T W T F S S
« Mar    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending