Connect with us

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने, ताजमहल का दीदार कराने वाले गाइड नितिन से पूछे 11 सावल,

Published

on

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप को नितिन सिंह उर्फ रिंकू ने ताजमहल का दीदार कराया। इस दौरान नितिन करीब एक घंटे प्रेसिडेंट ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया के साथ रहा। नितिन ने इस दौरान ट्रंप ने कई बार मेरा नाम लिया। दुनिया की सबसे बड़ी शख्सियत द्वारा मेरा नाम लेना मेरे लिए बड़ी बात थी। उन्होंने मुझसे मेरा विजिटिंग कार्ड भी लिया।

गाइड नितिन ने बताया कि अमेरिकी दूतावास से राष्ट्रपति ट्रंप को ताजमहल भ्रमण कराने के लिए कहा गया। समय निर्धारित कर होटल अमर विलास के गेट पर मौजूद रहने को कहा गया। मेरी सुबह बदल चुकी थी। विश्व के शक्तिशाली लोकतंत्र के प्रमुख को गाइड करने की सूचना से शरीर में अलग ही जोश और उत्साह का संचार हो रहा था। मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था। मानो मेरे पंख लग गए थे। हालांकि मैं पहले कई राष्ट्राध्यक्षों को ताजमहल का भ्रमण करा चुका हूं। लेकिन ये क्षण मेरे लिए अविस्मरणीय बन पड़े।

नितिन ने बताया कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से निर्धारित वक्त पर मैं होटल के गेट पर मिला। ‘ताज के शहर’ में आपका स्वागत है’, कह गुड ईवनिंग किया। मैं उन्हीं के साथ गोल्फ कार्ट में बैठ गया। पू्र्वी गेट से होते हुए काफिला फोरकोर्ट पहुंचा। यहां उन्हें गेट के बारे में जानकारी दी। इसके बाद ट्रंप परिवार को रॉयल गेट लेकर पहुंचे। वहां से दाईं ओर बनी सीढ़ियों से उतरकर सेंट्रल टैंक गए।

नितिन ने बताया ट्रंप और मिलेनिया ने पूछे ये सवाल

1- ट्रंप ने पूछा कि ये सीट किस बात के लिए रखी है? उन्हें बताया गया कि इस सीट से फोटोग्राफी कराने पर मुख्य गुंबद के साथ चारों मीनारें आ जाती हैं। उन्होंने ताज की स्थापत्यकला, वास्तु और इसके इतिहास की भी जानकारी ली।
2- मीनारों और मुख्य गुंबद की एकरूपता के बारे में पूछा और साथ चलते-चलते लगा कि मोहब्बत की इस खूबसूरत इबारत से उनको भी लगाव हो गया है।
3- प्रेसिडेंट ट्रंप ने सवाल किया कि ताजमहल बनाने में कितना समय लगा।
4- इसके लिए पत्थर कहां से लाए गए।
5- क्या शाहजहां खुद देखने के लिए आया करते थे।
6- इसका मॉडल किसने तैयार किया था।
7- ताजमहल क्यों बनवाया गया। उस समय क्या परिस्थितियां थीं। ट्रंप के सवाल उनकी ऐताहासिक इमारतों के बारे में उत्सुकता को बता रहे थे।
8- उनकी पत्नी मेलानिया ने सबसे ज्यादा पच्चीकारी के बारे में रुचि दिखाते हुए सवाल किए।
9- मेलानिया ने पूछा कि पच्चीकारी के कलाकार कहां रहते हैं। क्या ये यहीं बनाई जाती है। इस पर उन्हें बताया कि सभी कलाकार इसी शहर में रहते हैं। कई जगह वर्कशाप भी हैं। उन्होंने कहा कि अगली बार जब अकेले आऊंगी तब पच्चीकारी के कलाकारों से मिलूंगी।
10- शाहजहां के बारे में भी पूछा कि क्या उनके बेटे ने उन्हें कैद कर लिया था। इस पर बताया गया कि इतिहास के मुताबिक यही था।
11- ट्रंप ने गोल्फ कार्ट के बारे में भी पूछा। उन्हें बताया गया कि ये ईको फ्रेंडली है। इसकी शुरुआत प्रदूषण बचाने के लिए हुई है।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

जॉब

Amazon में करें काम, 4 घंटे की शिफ्ट और कमाई 70000 रु./महीना

Published

on

By

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी  के लिए नौकरी करने का सपना तो आपका भी होगा. लेकिन, काम अगर डिलिवरी ब्वॉय का हो तो शायद कुछ लोग संकोच करेंगे. लेकिन, हकीकत में यह कोई मामूली काम नहीं है. दूसरे काम की तरह यहां भी मेहनत है और अच्छी खासी कमाई भी होती है. बेरोजगारों के लिए यह काफी अच्छा ऑप्शन है. खास बात यह है कि नौकरी में किसी तरह की बंदिशें नहीं हैं. फुल टाइम, पार्ट टाइम जैसा चाहें वैसे जुड़ सकते हैं. अमेजॉन ने हाल ही में ऐलान किया था कि वह अपने साथ 20 हजार लोगों को जोड़ेगी.

कौन होते हैं डिलीवरी ब्वॉय?

डिलीवरी ब्वॉय या डिलीवरी गर्ल उन लड़के-लड़कियों को कहा जाता है जो ऑनलाइन या रिटेल कंपनियों के प्रोडक्ट्स या पैकेज ग्राहकों तक पहुंचते हैं. डिलिवरी ब्वॉय अमेजॉन के वेयरहाउस से पैकेज लेकर ग्राहकों तक पहुंचाता है. देशभर में डिलीवरी ब्वॉय रोजाना लाखों पैकेज डिलीवर करते हैं. एक डिलीवरी ब्वॉय को 100 से डेढ़ सौ पैकेज एक दिन में डिलीवर करने होते हैं.

10-15 किलोमीटर की रेंज में होती है डिलिवरी
अमेजॉन के दिल्ली में लगभग 18 सेंटर हैं. ऐसे ही ज्यादातर शहरों में अमेजॉन के सेंटर हैं. सभी पैकेज को ग्राहक के पते पर पहुंचाया जाता है. अमेजॉन सेंटर से लगभग 10-15 किलोमीटर के एरिया में  पैकेज डिलीवर किया जाता है.

कितने घंटे की होती है शिफ्ट?
डिलीवरी बॉय को पूरा दिन काम नहीं करना होता. डिलिवरी ब्वॉय के हिस्से में वो ही पैकेज आते हैं जो उसके एरिया के होते हैं. हालांकि, अमेजॉन सुबह 7 बजे से शाम 8 बजे तक डिलीवर करती है. दिल्ली के डिलीवरी ब्वॉयज का कहना है कि वे एक दिन में लगभग 4 घंटे में 100-150 पैकेज डिलीवर कर देते हैं.

क्या है जरूरी?

डिलीवरी ब्वॉय बनने के लिए आपके पास डिग्री होनी चाहिए. अगर स्कूल या कॉलेज पास हैं तो पासिंग सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है. डिलीवरी करने के लिए आपके पास अपनी बाइक या स्कूटर होना चाहिए. बाइक या स्कूटर का इंश्योरेंस, आरसी वैध होने चाहिए. साथ ही आवेदन करने वाले के पास ड्राइविंग लइसेंस होना चाहिए.

कैसे करें अप्लाई?

डिलिवरी ब्वॉय की नौकरी के लिए आप सीधे अमेजॉन की साइट https://logistics.amazon.in/applynow पर आवेदन कर सकते हैं. इसके अलावा अमेजॉन के किसी भी सेंटर पर जाकर नौकरी के लिए आवेदन किया जा सकता है. ज्यादातर सेंटर्स में डिलिवरी ब्वॉय की जगह हमेशा खाली होती है. लेकिन, अगर जगह नहीं भी है तो भी भविष्य के लिए आपका नाम रजिस्टर हो सकता है. जगह बनने पर आपको जगह मिल सकेगी.

अमेजॉन डिलीवरी ब्वॉय की कितनी है सैलरी?

अमेजॉन डिलीवरी ब्वॉय को हर महीने नियमित सैलरी मिलती है. अमेजॉन में डिलीवरी ब्वॉयज को 12 से 15 हजार रुपए की फिक्स्ड सैलरी मिलती है. पेट्रोल का खर्च आपका होता है. लेकिन, एक प्रोडक्ट या पैकेज को डिलीवर करने पर 15 से 20 रुपए मिलते हैं. डिलीवरी सर्विस देने वाली कंपनी के मुताबिक, अगर कोई महीने भर काम करता है और रोज 100 पैकेज डिलीवर करता है तो आराम से 60000-70000 रुपए महीना कमा सकता है.

ऑनलाइन कराएं खुद को रजिस्टर

अमेजॉन में डिलिवरी ब्वॉय की नौकरी करने के लिए अपनी ईमेल आईडी के जरिए रजिस्टर करवा सकते हैं. इसके लिए पूरा फॉर्म ठीक से भरें, कोई जानकारी छोड़ें नहीं. टर्म्स ऑफ सर्विस को भी ध्यान पढ़ लें. बैकग्राउंड चेक के लिए कंपनी आपसे पूछती है, इसके लिए इनकार नहीं करें.

कंपनी आपको वाहन देगी?

अगर आपके पास अपना स्कूटर और बाइक है तो आपको चुनिंदा प्रोडक्ट्स की डिलिवरी के लिए खुद के वाहन का ही इस्तेमाल करना होगा. अगर बड़े प्रोडक्ट्स डिलिवर करने हैं तो कंपनी कुछ शर्तों पर आपको बडे़ वाहन भी मुहैया कराती है.

अपनी पंसद की चीज कर सकते हैं डिलिवर

डिलिवरी ब्वॉय को ऑफिस और घर दोनों जगह डिलिवरी करनी होती है. हालांकि, यह तय डिलिवरी ब्वॉय ही करता है कि उसे कौन से प्रोडक्ट की डिलिवरी करनी है. छोटे सामान से लेकर आप फ्रिज, टीवी, AC की भी डिलिवरी कर सकते हैं. इसके लिए बड़े वाहन की जरूरत होती है, अमेजॉन बड़े वाहन मुहैया कराती है.

काम भी सिखाएगी कंपनी
नौकरी पर रखने के बाद कंपनी आपको इसकी जानकारी भी देगी कि प्रोडक्ट को कैसे डिलिवर करना है. किन प्रोडक्ट्स को टाइमिंग के हिसाब से डिलिवर करना है. मतलब डिलिवरी से जुड़ी पूरी ट्रेनिंग अमेजॉन की तरफ से दी जाती है.

नौकरी परमानेंट होती है या कॉन्ट्रैक्ट?
अमेजॉन में डिलीवरी ब्वॉय की नौकरी न परमानेंट होती है और न कॉन्ट्रैक्ट पर. आप जब चाहें नौकरी छोड़ सकते हैं. वहीं, कंपनी भी आपकी परफॉर्मेंस को देखते हुए निकाल सकती है.

 

Continue Reading

Tech & Auto

PUBG मोबाइल इंडिया री-लॉन्च: ये 3 फीचर्स जो केवल भारतीय गेमर्स के लिए होंगे Exclusive

Published

on

By

भारत में पब्जी बैन होने के बाद से ही काफी इंडियन गेमर्स निराश भी है. साथ ही भारत में दोबारा पब्जी के वापसी का इंतजार देख रहे है. हालही में पब्जी कोरपोरेशन ने भारत में नया ने इंडियन पब्जी वर्जन PUBG मोबाइल इंडिया के लॉन्च की घोषणा की थी. तब से ही पब्जी लवर्स इसके लॉन्च होने की ताक में बैठे है. लेकीन, इसके लॉन्च की तारीख को लेकर सब जगह से अलग-अलग अवफाह सामने आ रहीं है. कंपनी ने अभी इसके बारे में कोई ऑफिशियल जानकारी शेयर नहीं की है.

इसी के साथ एक ताजा रिपोर्टों के अनुसार, अपकमिंग इंडियन वर्जन में कुछ ऐसे फीचर्स भी जोड़े गए हैं जो भारतीय PUBG गेमर्स के लिए एक्सक्लूसिव होंगे

भारतीय संस्करण में, कैरेक्टर कोई भी प्रोटेक्टिव Attire नहीं पहनेंगे.

खेल के भारतीय संस्करण के लिए, हिट इफेक्ट को ग्लोबल या कोरियाई वर्जन के अलग, हरे रंग में लॉक कर दिया जाएगा.

PUBG मोबाइल इंडिया में कथित रूप से प्लेटाइम को सीमित करने की सुविधा होगी जिससे युवाओं में हेल्दी गेमिंग की हैबिट बढ़ेंगी

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार PUBG मोबाइल इंडिया आधिकारिक तौर पर दिसंबर के पहले सप्ताह में जारी किया जाएगा. हालाँकि, PUBG के भारतीय संस्करण को भारत सरकार के अनुमोदन के बाद ही जारी किया जाएगा. रिपोर्टों के अनुसार, केंद्र ने भारत में मोबाइल गेम के आधिकारिक पंजीकरण को पहले ही मंजूरी दे दी है. इसका मतलब है कि PUBG मोबाइल इंडिया अब एक पंजीकृत कंपनी है, जो कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय द्वारा निर्धारित नियमों और विनियमों के अनुसार है. नई कंपनी को मंत्रालय की वेबसाइट पर एक वैध कॉर्पोरेट पहचान संख्या के साथ सूचीबद्ध किया गया है और पंजीकृत कार्यालय बेंगलुरु में है.

सरकार ने 2 सितंबर को मल्टीप्लेयर एक्शन गेम PUBG पर बैन लगाया था और भारत सरकार के निर्देश के बाद इसे भारत में Google Play Store और Apple App Store दोनों से हया दिया गया था.

हालांकि PUBG कॉर्प ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि की थी कि यह भारतीय सहायक कंपनी और एक नए गेम के निर्माण के साथ भारत के बाजार में फिर से प्रवेश कर रहा है. लेकिन, कंपनी ने कोई तारीख निर्दिष्ट नहीं की थी. ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर बहुत सारी अफवाहों की बाढ़ आ गई थी कि इस महीने या दिसंबर के पहले हफ्ते में ये गेम लॉन्च किया जा सकता है. हालाँकि, नए गेम के लॉन्च की तारीख की अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

दिलचस्प बात यह है कि PUBG मोबाइल इंडिया का एपीके वर्जन पिछले शुक्रवार को कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर कुछ घंटों के लिए जारी किया गया था. एपीके संस्करण डाउनलोड के लिए उपलब्ध था लेकिन गेमर्स को इसे डाउनलोड करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. कुछ Android यूजर्स के लिए एक एपीके संस्करण भी पिछले शुक्रवार को जारी किया गया था.

Continue Reading

छत्तीसगढ़

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के भर्ती हेतु आवेदन आमंत्रित

Published

on

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के भर्ती हेतु आवेदन आमंत्रित

जिले के परियोजना कांकेर के अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्र पोटगांव अस्तरापारा, सिंगारभाट डूमरपारा, नांदनमारा-2 और बरदेभाटा स्कूलपारा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता और सहायिका के रिक्त पदों पर भर्ती हेतु आवेदन आमंत्रित किया गया है।

पोटगांव मिनी आंगनबाड़ी 5 अस्तरापारा और सिंगारभाट 4 मिनी डूमरपारा के लिए आगबनाड़ी कार्यकर्ता हेतु 07 दिसम्बर तथा नांदनमारा-2 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और बरदेभाटा स्कूलपारा में सहायिका पद के लिए 10 दिसम्बर तक आवेदन आमंत्रित किया गया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मिनी कार्यकर्ता के लिए योग्यता 12वीं एवं 11वीं बोर्ड उत्तीर्ण तथा सहायिका पद के लिए 8वीं उत्तीर्ण अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए परियोजना अधिकारी एकीकृत बाल विकास परियोजना कांकेर से संपर्क किया जा सकता है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़31 mins ago

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के भर्ती हेतु आवेदन आमंत्रित

जिले के परियोजना कांकेर के अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्र पोटगांव अस्तरापारा, सिंगारभाट डूमरपारा, नांदनमारा-2 और बरदेभाटा स्कूलपारा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मिनी कार्यकर्ता और सहायिका के...

छत्तीसगढ़2 hours ago

गर्लफ्रेंड के लिए कार, आईफोन और महंगे गिफ्ट्स खरीदने के लिए किया 26 लाख का गबन

दुर्ग। शराब दुकान से 26 लाख गबन करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम गोकुल प्रसाद...

छत्तीसगढ़2 hours ago

पत्नी की सड़क पर पिटाई कर रहा था पति.. पड़ोसी कांस्टेबल बचाने पहुंचा, तो फोड़ दिया उसका सिर…

बिलासपुर– पत्नी को पीट रहे पति को छुड़ाना पुलिसकर्मी को भारी पड़ गया। आरोपी ने पुलिसकर्मी को पत्थर से मारकर...

छत्तीसगढ़2 hours ago

Covid अस्पताल में हंगामा, नर्स ने एक्सपायरी ग्लूकोस बॉटल चढ़ाया, एक मरीज ने वीडियो बनाकर कर दिया वायरल, फिर …

Covid 19 मरीजों के लिए सरकार चाहे जितने इंतजाम कर ले लेकिन स्वास्थ विभाग के काम करने का अपना तरीका...

छत्तीसगढ़16 hours ago

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने लिया धान खरीदी केन्द्र का जायजा, कहा- धान खरीदी केन्द्र पर कोई तैयारी नहीं

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक शुक्रवार को मंदिरहसौद के धान खरीदी...

#Exclusive खबरे

Calendar

November 2020
S M T W T F S
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930  

निधन !!!

Advertisement

Trending