Connect with us

प्रधानमंत्री ने प्रदान किए कृषि कर्मण पुरस्कार

Published

on

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज कर्नाटक के तुमकुर में आयोजित एक जनसभा में राज्यों के प्रगतिशील किसानों को कृषि मंत्री के कृषि कर्मण पुरस्कार और प्रशंसा पुरस्कार वितरित किए। उन्होंने दिसंबर 2019 से मार्च 2020 तक की अवधि के लिए पीएम किसान (प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि) के तहत 2000 रुपये की तीसरी किस्त भी जारी की। इससे लगभग 6 करोड़ लाभार्थियों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कर्नाटक के चुनिंदा किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) भी वितरित किए। प्रधानमंत्री ने 8 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के लाभार्थियों को पीएम किसान के तहत प्रमाण पत्र भी सौंपे। प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु के चुनिंदा किसानों को गहरे समुद्र में मछली पकड़ने वाली नौकाओं और फिशिंग वेसल्स ट्रांसपोंडरों की चाबियां भी सौंपी।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि नए वर्ष पर नए दशक की शुरुआत में अन्नदाता – हमारे किसान भाईयों और बहनों को देखना उनके लिए बड़े सौभाग्य की बात है। उन्होंने 130 करोड़ देशवासियों की ओर से देश के किसानों को धन्यवाद दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक की भूमि ने वह ऐतिहासिक क्षण भी देखा है जब देश के लगभग 6 करोड़ किसानों को उनके निजी खातों में सीधे ही पीएम किसान योजना के तहत पैसा वितरित किया गया। प्रधानमंत्री ने कहा इस योजना की तीसरी किश्त के तहत कुल 12 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए हैं।

उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि जिन राज्यों ने ‘पीएम किसान सम्मान निधि योजना’ लागू नहीं की है, वे भी ऐसा करेंगे और राजनीतिक दल राजनीति से ऊपर उठकर अपने राज्यों के किसानों की मदद करेंगे।

प्रधानमंत्री ने स्मरण किया कि देश में एक दौर ऐसा भी था, जब देश में गरीब के लिए एक रुपया भेजा जाता था तब उनमें से लाभार्थियों तक केवल 15 पैसे ही पहुंचते थे और अब बिचौलियों के हस्तक्षेप के बिना पैसा सीधे गरीबों तक पहुंच रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो सिंचाई परियोजनाएँ कई दशकों से रुकी हुई थी वे अब लागू की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र फसल बीमा, मृदा स्वास्थ्य कार्ड और 100 प्रतिशत नीम लेपित यूरिया जैसी योजनाओं के साथ देश के किसानों के हितों को हमेशा प्राथमिकता देता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार के प्रयासों के कारण, देश में मसालों का उत्पादन और निर्यात दोनों में काफी बढ़ोतरी हुई है। “भारत में मसाला उत्पादन में 2.5 मिलियन टन से अधिक वृद्धि हुई है, इसलिए निर्यात भी लगभग 15 हजार करोड़ रुपये से बढ़कर लगभग 19 हजार करोड़ रुपये का हो गया है।”

उन्होंने कहा कि बागवानी के अलावा, दक्षिण भारत की दालों, तेल और मोटे अनाजों के उत्पादन में भी बड़ी हिस्सेदारी है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “देश में दालों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए बीज केन्द्रों का निर्माण किया गया है, ऐसे 30 से अधिक केंद्र कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, केरल, तमिलनाडु और तेलंगाना में ही स्थित हैं।”

मत्स्य पालन क्षेत्र पर सरकार के प्रयासों का उल्लेख करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस क्षेत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए तीन स्तरों पर काम कर रही है।

पहला – मछुआरों को वित्तीय सहायता के माध्यम से गांवों में मत्स्य पालन को प्रोत्साहित करना।

दूसरा- नीली क्रांति योजना के तहत मछली पकड़ने वाली नौकाओं का आधुनिकीकरण।

और तीसरा – मछली व्यापार और व्यवसाय से संबंधित आधुनिक बुनियादी ढांचे का निर्माण।

प्रधानमंत्री ने कहा, “मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड सुविधा से जोड़ा गया है। मछली पालक किसानों की सुविधा के लिए बड़ी नदियों और समुद्र में नए मछली बंदरगाह बनाए जा रहे हैं। आधुनिक बुनियादी ढांचे के लिए 7.50 हजार करोड़ रुपये के विशेष कोष भी सृजन किया गया है। गहरे समुद्र में मछली पकड़ने के लिए मछुआरों की नावों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है और इसरो की मदद से मछुआरों की सुरक्षा के लिए उनकी नावों में नेविगेशन उपकरण भी लगाए जा रहे हैं।”

देश की पोषण सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, पीएम ने पोषक अनाजों, बागवानी और जैविक खेती के लिए कृषि कर्मण पुरस्कार में एक नई श्रेणी बनाने का भी अनुरोध किया। इससे इन क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाले लोगों और राज्यों को प्रोत्साहन मिलेगा।

इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बताया कि पीएम-किसान योजना के लाभार्थियों के लिए एक टोल-फ्री नंबर 155261 शुरू किया गया है, जिस पर किसान अपनी भुगतान की स्थिति जान सकेंगे। उन्होंने कहा कि यह छोटे और सीमांत किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। दो महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाएं – पीएम-किसान जो आय सहायता उपलब्ध करती हैं और प्रधानमंत्री किसान-योजना (पीएम-केएमवाई) पेंशन सहायता के लिए लागू की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए पीएम किसान पोर्टल सुविधाओं तक पहुंच आसान बनाने के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन भी विकसित की जा रही है।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

देश - दुनिया

युवक जिस लड़की से करता था प्यार उसी के कपड़े पहनाकर उतारा गया मौत के घाट…पूरा मामला जानकर रह जाएंगे दंग

Published

on

By

वाराणसी में 22 वर्षीय प्रेमी को प्रेमिका के कपड़े पहनाकर पेड़ से लटकाकर मौत के घाट उतार दिया गया. इस घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. ये पूरा मामला प्रेम प्रसंग का है.

बड़ागांव थाना क्षेत्र के वाजिदपुर गांव के बाहरी हिस्से में पेड़ पर बृजेश का शव लटका मिला. गांव वालों ने जब शुक्रवार सुबह ये नजारा देखा, तो दंग रह गए. युवक के शरीर पर युवती के कपड़े थे. गांव वालों ने मृतक की शिनाख्त के बाद पुलिस को सूचना दी.

मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया, जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं बृजेश की मौत की सूचना पर पूरा परिवार मौके पर पहुंच गया. बृजेश के पिता प्रेम नारायण ने गांव के ही लोगों पर हत्या का आरोप लगाया.

पुलिस ने बताया कि गांव की ही युवती से उसका प्रेम प्रसंग था, जिसका विरोध लड़की के घरवालों द्वारा किया जा रहा था. इसी मामले में करीब साढ़े तीन माह पहले बृजेश पर जानलेवा हमला भी कराया गया, जिसमें उसे गंभीर चोटें आईं. पुलिस से जब इस मामले में शिकायत की गई, तो कोई सुनवाई नहीं हुई.

मृतक के पिता प्रेम नारायण ने बताया कि सुबह जब परिवार के सदस्य जागे, तो घर का दरवाजा बंद था. किसी तरह घर से बाहर आने के बाद घटना की जानकारी मिल सकी. बृजेश को जिस लड़की के कपड़े पहनाए गए हैं, वे भी उसी लड़की के हैं, जिसे वह प्यार करता था.

वहीं, इस मामले में एसपी ग्रामीण मार्तण्ड प्रताप सिंह ने बताया कि मृतक के हाथ-पैर बंधे मिले. प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा है. परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है.

जब एसपी ग्रामीण से युवक पर पूर्व में हुए हमले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस सवाल से बचते हुए बताया कि 8 जून को लड़का-लड़की भाग गए थे. दोनों को शिवपुर से बरामद  किया गया था, जिसके बाद लड़का पुलिया से कूद गया था. इस मामले में एसीजेएम के यहां लड़के के परिवार वालों ने परिवाद दाखिल किया था, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

Continue Reading

देश - दुनिया

तेजस्वी सूर्या बने भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, जाने इनके बारे में

Published

on

By

बिहार में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने संगठन में बड़े बदलाव किए हैं। पार्टी ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय महामंत्री, राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) और राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री समेत कई बड़े पदों में बदलाव किए हैं। इसी बदलाव के तहत पार्टी ने बेंगलुरु दक्षिण से लोकसभा सांसद तेजस्वी सूर्या को बड़ी जिम्मेदारी दी है। पार्टी ने तेजस्वी सूर्या को बीजेपी युवा मोर्चा का प्रेसीडेंट बनाया है।

सूत्रों के अनुसार, वरिष्ठ नेताओं के साथ मंथन के बाद जे पी नड्डा ने राष्ट्रीय पदाधिकारियों की एक लिस्ट कुछ महीने पहले ही तैयार कर ली थी। लेकिन कोरोना महामारी के कारण पार्टी आलाकमान न तो राष्ट्रीय कार्यकारिणी और परिषद की बैठक बुलाकर नई टीम को हरी झंडी दे सकता था और न ही राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक बुला सकता था। इसलिए नई टीम का ऐलान टाल दिया गया था।

Continue Reading

देश - दुनिया

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की नई टीम का एलान…सरोज पांडे की छुट्टी…रमन सिंह को मिली जगह…ये चेहरे शामिल

Published

on

By

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पदाधिकारियों की नई टीम की घोषणा हो गई है. पार्टी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) ने कुछ समय पहले इसका ऐलान किया है. इस बार बीजेपी की नई टीम में सभी राज्यों से युवाओं और महिलाओं को मौका दिया गया है. जेपी नड्डा के अध्यक्ष बनने के बाद ये पहला बड़ा बदलाव होगा.

नई टीम में कई नए चेहरे को जगह दी गई है तो वहीं कई दिग्गज बाहर हो गए हैं. दिग्गज नेता राम माधव और अनिल जैन को नई टीम में जगह नहीं मिली है. मुरलीधर राव की नाम भी नई लिस्ट से बाहर है. वहीं सीटी रवि और तरुण चुग नए महासचिव बनाए गए हैं.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़5 hours ago

हम किसानों, गरीबों और ग्रामीणों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से गोधन न्याय योजना के तहत प्रदेश के 83 हजार...

छत्तीसगढ़5 hours ago

चिकित्सा अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी : कलेक्टर ने तीन दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के दिए निर्देश

कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने आज आठ विकासखंड चिकित्सा अधिकारी को कारण बताओं नोटिष जारी किया गया है। उन्होंने फरसाबहार,...

छत्तीसगढ़5 hours ago

ऑनलाईन रोजगार मेला एवं प्लेमेंट कैंप का आयोजन 28 से 30 सितम्बर तक

जिला रोजगार कार्यालय कांकेर के माध्यम से नेशनल कैरियर सर्विस पोर्टल पर तीन दिवसीय ऑनलाईन रोजगार मेला का आयोजन 28...

छत्तीसगढ़5 hours ago

जरूरी चीजों को उचित दाम पर ही बेंचें दुकानदार, होगी कड़ी कानूनी कार्रवाई

कोरोना वायरस के फैलाव से बदलते माहौल के बीच जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में चावल-दाल जैसी राशन सामग्रियों...

छत्तीसगढ़5 hours ago

कोरोना संक्रमित मरीजों के लिये ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड पर्याप्त संख्या में उपलब्ध-कलेक्टर

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर कोविड अस्पतालों और निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित...

#Exclusive खबरे

Calendar

September 2020
S M T W T F S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending