Connect with us

दिल्ली

प्रियंका गांधी वाड्रा ने पंजाबी भाषा में लोगों को संबोधित किया”मेरा घरवाला पंजाबी है”

Published

on

नईदिल्ली 15 मई 2019

  • पंजाब के बठिंडा में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पंजाबी भाषा में लोगों को संबोधित किया. उन्होंने कहा, ‘मेरा घरवाला पंजाबी है, हर मुसीबत दा सामना ओहनां ने मुस्करांदे होए कीता. मैं पंजाबियां दी धरती ते पंजाबी कौम नू सलाम करदी हां. पंजाबी कौम हर मुश्किल दा सामना डटके करदी है अते सदा खुश रहंदे हुए चढ़दी कला विच्च रहंदी है.’ (मैं यहां बहुत खुश हूं, मेरे पति पंजाबी हैं. वे खुशी के साथ कठिनाइयों का सामना करते हैं, मैं पंजाब के लोगों और उनकी धरती को सलाम करती हूं. पंजाबी लोग हर मुश्किल का डटकर सामना करते हैं और हमेशा खुश रहते हैं.)
  • प्रियंका ने पीएम पर जमकर हमला बोला, कहा कि पीएम मोदी केवल प्रचार-दुष्प्रचार में लगे रहते हैं, बड़े-बड़े वादे करते हैं और दिखाते हैं कि पिछले 70 साल में कोई विकास ही नहीं हुआ. पीएम मोदी ने दो करोड़ नई नौकरियां देने का अपना वादा नहीं निभाया. पिछले पांच साल में 12,000 किसानों ने खुदकुशी कर ली, लेकिन पीएम मोदी किसानों की अनदेखी करते हैं.
  • प्रियंका ने कहा, मौजूदा लोकसभा चुनाव लोकतंत्र और देश बचाने का चुनाव है. साल 2015 में सिखों के धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी के मामले को लेकर प्रियंका ने पंजाब की पिछली शिरोमणि अकाली दल-भाजपा सरकार पर हमला बोला और दावा किया कि यह राजनीतिक लाभ के लिए कराया गया था. प्रियंका कांग्रेस उम्मीदवार अमरिंदर सिंह राजा वॉरिंग के समर्थन में रैली करने के लिए यहां आईं थीं. पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर सातवें और आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होना है.

Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

दिल्ली

पीएम मोदी से मतभेद के कारण बीजेपी को ही अलविदा कहने वाला नेता आज पीएम के सबसे खास

Published

on

  • नईदिल्ली 27 मई 2019
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बनारस से चुनाव जीतने के लिए यूं तो उनका चेहरा ही काफी था. फिर भी आक्रामक इलेक्शन कैंपेनिंग को जमीन पर उतारने के लिए उन्होंने गुजरात के उस नेता पर भरोसा जताया, जो एक बार उनसे मतभेद के कारण बीजेपी को ही अलविदा कह गया था. बात 2007 की है, जब गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले थे. इस बीच भावनगर से दो बार के विधायक सुनील ओझा ने अचानक पार्टी छोड़कर सबको चौंका दिया. इसके पीछे तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी से मतभेद की बातें उभरकर सामने आईं.
  • उन्होने पहले निर्दलीय चुनाव लड़ा और हार गए. फिर 2011 में उनकी बीजेपी में घर वापसी हुई. कल के बागी ओझा, आज पीएम मोदी के सबसे खास और भरोसेमंद नेताओं में से एक हैं. यही वजह है कि घर वापसी करने वाले सुनील ओझा को नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने उत्तर प्रदेश का प्रदेश सह प्रभारी बनाया. इस हैसियत से सुनील ओझा 2014 से लेकर 2019 के लोकभा चुनाव में मोदी की जीत के सूत्रधार रहे हैं. हालांकि ओझा इस बात से इनकार करते हैं कि पीएम मोदी की जीत में उनका किसी तरह का योगदान हैं या फिर सूत्रधार हैं. वह कहते हैं कि मोदी के नाम पर ही तो जनता वोट देती है, वह तो बस एक सामान्य कार्यकर्ता भर हैं.
  • 90 के दशक में अयोध्या मूवमेंट से जुड़ाव रखने वाले सुनील ओझा मूलतः विश्व हिंदू परिषद काडर से आते हैं. गुजरात में हिंदुत्ववादी राजनीति के प्रतीक चेहरों में उनकी गिनती होती है. 2007 में मतभेद भले उभरकर सामने आए हों, मगर संगठन क्षमता के कारण पीएम मोदी उनकी कीमत पहचानते रहे. यही वजह है कि 2011 में वापसी के बाद फिर मोदी ने उत्तर-प्रदेश जैसे बड़े सूबे में उन्हें सह प्रभारी बनाकर भेज

कैसे किया चुनाव संचालन

  • सुनील ओझा के नेतृत्व में गुजरात की एक पूरी टीम बनारस में इलेक्शन कैंपेनिंग करने में जुटी रही. इसमें गुजरात के ही परिंदु भगत ऊर्फ काकू भाई सहित इलेक्शन कैंपेनिंग के माहिर अन्य कई खिलाड़ी शामिल रहे. बेशक मोदी को चुनाव जीतने के लिए उनका चेहरा ही काफी रहा हो, मगर पीएम के संसदीय क्षेत्र में सरकार की नीतियों को जनता तक ले जाने और इलेक्शन एजेंडा को सेट करने के पूरे प्लान को जमीन पर उतारने में सुनील ओझा का खासा योगदान रहा.

परदे के पीछे लगे रहे ये भी नेता

  • बनारस में चुनाव संचालन समिति गठित थी. इसमें संगठन मंत्री रत्नाकर, प्रदेश सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन, पीएम मोदी के इलेक्शन एजेंट विद्यासागर राय प्रमुख तौर पर शामिल रहे. जीत के बाद जिला मजिस्ट्रेट से पीएम मोदी के प्रतिनिधि विद्यासगर राय ने ही सर्टिफिकेट भी हासिल किया था. बाद में यह सर्टिफिकेट नई दिल्ली में पीएम मोदी को कई नेताओं के साथ राय ने भेंट किया था. इसके अलावा पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र की कैंपेनिंग में एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी का भी योगदान रहा.

केंद्रीय मंत्री डाले रहे डेरा

  • लोकसभा चुनाव के दौरान खुद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जहां चार दिनों तक ठहरे रहे, वहीं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, जेपी नड्डा सहित केंद्र और प्रदेश के एक दर्जन से अधिक मंत्री यहां डेरा डाले रहे. पीयूष गोयल उन केंद्रीय मंत्रियों में शामिल हैं, जो पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस की हर गतिविधि पर नजर रखते हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान भी पीयूष गोयल ने बनारस में कैंप किया था.

Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS
Continue Reading

दिल्ली

लोकसभा चुनाव 2019 में शर्मनाक हार के बाद कांग्रेस पार्टी में इस्तीफों की झड़ी

Published

on

  • नईदिल्ली 27 मई 2019
  • लोकसभा चुनाव 2019 में शर्मनाक हार के बाद कांग्रेस पार्टी में इस्तीफों की झड़ी सी लग गई है. अशोक चव्हाण, राज बब्बर, कमलनाथ के बाद अब दो और इस्तीफों की पेशकश आई है. निराशाजनक प्रदर्शन के बाद झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार, असम कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफाभेज दिया है. आपको बता दें कि राहुल गांधी खुद भी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं.

अब किसका आया इस्तीफा?

  • 2014 की तरह की 2019 में कांग्रेस डबल डिजिट में सिमट गई, पहले 44 और 52. जिसके बाद से ही पार्टी में हड़कंप मचा है, असम की कुल 14 लोकसभा सीट में कांग्रेस के खाते में सिर्फ 3 सीट आई जबकि बीजेपी यहां 9 सीटों पर जीत गई. वहीं बात अगर झारखंड की करें तो यहां की 14 सीटों में से कांग्रेस सिर्फ 1 पर ही जीत दर्ज कर पाई और बीजेपी 11 पर जीत गई.
  • यही कारण है कि इन दोनों राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों ने अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेजा है. दोनों ने ही लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए ये इस्तीफा सौंपा है. सिर्फ प्रदेश अध्यक्ष ही नहीं, बल्कि राहुल गांधी खुद कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं. लेकिन पार्टी की ओर से उनके इस्तीफे को खारिज कर दिया गया.

इनसे पहले कौन?

  • बता दें कि खराब प्रदर्शन के बाद महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चव्हाण, मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ, उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश कर चुके हैं. इन सभी राज्यों में कांग्रेस को सिर्फ 1-1 सीटें ही मिली हैं. यूपी में 80 में से 1, महाराष्ट्र में 48 में से 1 और मध्य प्रदेश में 29 में से सिर्फ एक सीट.

मीडिया से दूरी बनाने की सलाह!

  • मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता देवाशीष जरारिया ने राहुल गांधी को खत लिख अपील की है कि उनकी पार्टी को मीडिया से दूरी बनानी चाहिए. उन्होंने अपील की है कि टीवी डिबेट्स में बैठने के बजाय कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को गांव-गांव तक जाकर अपनी विचारधारा को पहुंचाना चाहिए. इससे पहले समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव भी अपनी प्रवक्ताओं की टीम को बर्खास्त कर चुके हैं.

Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS
Continue Reading

दिल्ली

मुस्लिम युवक की पिटाई पर नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर भड़के

Published

on

  • नईदिल्ली 27 मई 2019
  • दिल्ली से सटे गुरुग्राम में रविवार को एक मुस्लिम युवक की पिटाई पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर भड़क गए. उन्होंने आरोपियों के खिलाफ जरूरी कदम उठाने का आग्रह किया और लोगों को परस्पर भाईचारे की भी याद दिलाई. गुरुग्राम में शनिवार को एक मुस्लिम युवक को मस्जिद से लौटते वक्त कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. पीड़ित शख्स के मुताबिक आरोपियों ने उससे पारंपरिक टोपी उतारने को कहा. इसके बाद जय श्रीराम का नारा लगाने को लेकर उन लोगों ने युवक की पिटाई कर दी.
  • इस वाकये पर भड़के पूर्व क्रिकेटर और अब पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर ने ट्वीट में लिखा, ‘गुरुग्राम में मुस्लिम युवक को टोपी उतारने और जय श्रीराम बोलने के लिए कहा गया. ये काफी खेदजनक बात है. गुरुग्राम पुलिस को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए. हमलोग सेकुलर देश हैं जहां जावेद अख्तर ‘ओ पालन हारे निर्गुण और न्यारे’ और राकेश मेहरा दिल्ली-6 में ‘अर्जियां’ जैसे गाने लिखते हैं.’
  • गौतम गंभीर हाल में बीते लोकसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से जीत कर संसद पहुंचे हैं. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार अरविंदर लवली को 3 लाख से अधिक वोटों से हराया. तीसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार आतिशी रहीं. गौतम गंभीर शुरू से सेकुलर छवि के हिमायती रहे हैं और उन्होंने अपने चुनाव प्रचार में भी विकास पर फोकस किया और इसी मुद्दे पर आगे बढ़ने की बात की.
  • गौरतलब है कि मोहम्मद बरकत आलम (25) ने गुरुग्राम पुलिस में दाखिल एक शिकायत में आरोप लगाया है कि चार लड़े सदर बाजार लेन में उससे मिले और उन्होंने उससे टोपी हटाने के लिए कहा. आलम बिहार का रहने वाला है और गुरुग्राम के जैकबपुरा इलाके में रहता है. आलम ने शिकायत में कहा है, “आरोपियों ने मुझे धमकी दी और कहा कि इलाके में टोपी पहनने की अनुमति नहीं है. उन्होंने टोपी उतार ली और मुझे थप्पड़ मारा.
  • पीड़ित ने कहा, ”उन्होंने भारत माता की जय का नारा लगाने के लिए कहा. उनके कहने पर मैंने नारा लगाया. उसके बाद उन्होंने मुझे जय श्रीराम बोलने के लिए भी मजबूर किया, जिसे मैंने इनकार कर दिया. उसके बाद आरोपियों ने एक लाठी लेकर बुरी तरह से मेरे पैर और पीठ पर पीटा.”
  • आलम सदर बाजार इलाके में एक मस्जिद में नमाज पढ़ कर आ रहा था और उसने मदद के लिए गुहार लगाई और कई सारे मुसलमान वहां उसकी मदद के लिए पहुंच गए. हमलावरों ने जब उन्हें आते देखा तो वे वहां से फरार हो गए.

Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS
Continue Reading

ब्रेकिंग खबरे !!!!

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive5 days ago

लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा फेक न्यूज – सोशल मीडिया पर हो सर्तक निगाहें

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नहीं, 2000 रुपये के नए नोटों में कोई जीपीएस चिप नहीं...

Etoi Exclusive1 week ago

गोडसे को देशभक्त बताने पर भड़के पीएम मोदी , कहा- मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

आखिरी चरण के चुनाव से पहले नाथूराम गोडसे और महात्मा गांधी पर राजनीति तेज हो गई है।महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को...

Etoi Exclusive1 week ago

BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह

गोडसे पर BJP नेताओं के बयानों पर भड़के अमित शाह, कहा- पार्टी का लेना-देना नहीं अमित शाह ने एक अन्य...

Etoi Exclusive1 week ago

बाल-बाल बचे RSS प्रमुख मोहन भागवत,गाय को बचाने के चक्कर में पलट गई कार

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में गुरुवार 16 मई को आरएसएस चीफ...

Etoi Exclusive2 weeks ago

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर

जिंदल स्टील को मिला 89042 टन रेल आपूर्ति करने का आर्डर जे.एस.पी.एल. को रेलवे को दिए गए पहले रेलवे के...

Calendar

May 2019
M T W T F S S
« Apr    
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
Advertisement

निधन !!!

Uncategoried2 months ago

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर आज होगा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। पैंक्रियाटिक कैंसर से पिछले एक...

निधन4 months ago

पैसों की तंगी झेल रहे बॉलीवुड के खलनायक की मौत, घर में मिली लाश

शक्ति कपूर बोले- काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, सेट पर भी पीते थे शराब Click Here...

निधन4 months ago

निधन – फत्तेचंद अग्रवाल सक्ती

सक्ति (कन्हैया गोयल) 31/01/2019 शक्ति शहर की प्रतिष्ठित फर्म काशीराम फत्तेचंद के संचालक सजन अग्रवाल, पवन अग्रवाल एवं नवलकिशोर अग्रवाल...

दिल्ली4 months ago

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का 89 साल की उम्र में निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नई दिल्ली 29 जनवरी 2019 भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज...

निधन4 months ago

श्रीमती कमला सिंह का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 28/01/2029 भैंसदा के प्रतिष्ठित ठाकुर परिवार के स्व. पलटन सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती कमला सिंह का 28 जनवरी...

निधन4 months ago

जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता विजय श्रीवास्तव पंचतत्व में विलीन

27 जनवरी को आयोजित जेष्ठ पुत्रमयंक का वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित बिलासपुर (अमित मिश्रा) 27/01/2019 हसदेव कछार जल संसाधन विभाग बिलासपुर...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती माणक बाई ललवाणी (जैन) का निधन

रायपुर,14/01/2019 रायपुर निवासी श्रीमती माणक बाई ललवाणी  (जैन) 95 वर्ष, घर्मपत्नी स्व.पन्नालाल ललवाणी का स्वर्गवास आज हो गया हैं जिनकी...

निधन4 months ago

रायपुर : श्रीमती बिदामी बाई बुरड़ का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर,14/01/2019 आनन्द नगर विनायक इनक्लेव, रायपुर निवासी श्रीमती बिदामी बाई पत्नी...

निधन5 months ago

छोटेलाल कौशिक का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 09/01/2019 ग्राम डोंगाकोहरौद के मालगुजार छोटेलाल कौशिक का गत् 4 जनवरी को हो गया। अचानक वे 3...

छत्तीसगढ़5 months ago

लक्ष्मण प्रसाद साहू नगरदा का निधन : दशकर्म एवं चंदनपान 8 जनवरी को

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer सक्ती (कन्हैया गोयल) 05/01/2019 शक्ति विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक,भाजपा नेता...

Trending

Breaking News