Connect with us

छत्तीसगढ़

157 विचाराधीन बंदियों की स्क्रीनिंग में मिले 6 टीबी, एक-एक एचआईवी व शुगर से ग्रसित

Published

on

157 विचाराधीन बंदियों की स्क्रीनिंग में मिले 6 टीबी, एक-एक एचआईवी व शुगर से ग्रसित

बेमेतरा, 14 जनवरी 2021। जिले में राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत टीबी की उच्च जोखिम समूहों में सघन खोज अभियान के तहत “टीबी हारेगा देश जीतेगा” स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। उच्च जोखिम समूहों में कल जिला उपजेल परिसर में 157 विचाराधीन बंदियों का टीबी स्क्रीनिंग किया गया जिसमें 6 टीबी के मरीज मिले। आईसीटीसी परामर्शदाता पुराणिक नायक द्वारा 84 बंदियों की एचआईवी काउंसलिंग की गई । वहीं जिला अस्पताल के मेडिकल लेब टेक्नालॉजिस्ट संजय तिवारी ने एचआईवी, शुगर की जांच की गई  जिसमें 1 एचआईवी पॉजिटिव व 1 का शुगर  का  मरीज चिन्हांकित हुआ। शिविर में कोविड-19 जांच दल द्वारा 64 बंदियों का कोरोना एंटीजन जांच की गई जिसमें सभी नेगेटिव आए। इस मौके पर मानसिक रोग परामर्शदाता गोपिका व एनसीडी परामर्शदाता गोविंद द्वारा नशामुक्ति के लिए बंदियों की काउंसलिंग की गई|

सीएमएचओ डॉ. एस के शर्मा के मार्गदर्शन में जेलर एसपी कुर्रे, जिला टीबी उन्नमूलन अधिकारी डॉ. जीएस ठाकुर, डॉ. नितेश चौबे, डीपीसी संपत्ति बंजारे के उपस्थिति में सभी विचाराधीन बंदियों का शिविर में स्वास्थ्य जांच की गई|  इस शिविर में डीपीपीएमसी यशवंत भारद्वाज, एमएलटी पुष्कर अवस्थी, एसटीएस गिरधर देवांगन, टीबी/ एचबी सुनील पात्रे, एसटीएलएस अरुण ठाकुर, फर्मासिस्ट दीक्षा अंगोर के साथ जेल स्टाफ का भी सहयोग प्राप्त  हुआ ।

जिला टीबी उन्नमूलन अधिकारी डॉ. जीएस ठाकुर ने बताया जिले में तीन चरणों में सघन टीबी रोगी खोज अभियान 11 जनवरी  से 15 फरवरी 2021 तक चलाया जा रहा है|  डॉ. ठाकुर के नेतृत्व में टीबी रोगी की खोज के लिए जांच कर शतप्रतिशत नोटिफिकेशन की जाएगी। अभियान के दौरान जांच में टीबी के लक्षण मिलने पर बलगम के साथ-साथ कोरोना की भी जांच कर सावधानियां बरती जा रही है। उन्होंने बताया अभियान के तहत लोगों को सावधानियाँ बताते हुए जागरूक किया जा रहा है|  इस अभियान  में  टीबी के साथ एड्स के रोगियों की भी पहचान की जा रही है। जिले की शहरी मलिन बस्तियों में घर-घर जाकर, खदान, औद्योगिक इकाइयों के श्रमिकों के लिए टीबी खोज अभियान का कार्ययोजना तैयार किया गया है।

टीबी के 6 उच्च जोखिम क्षेत्रों में लगेंगे जांच शिविर

जिला टीबी उन्नमूलन अधिकारी डॉ. ठाकुर ने बताया खोज अभियान के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता, टीबी चैम्पियन, एनजीओ पार्टनर एवं मितानिन को खोजी दल में शामिल किया गया है। शहरी मलीन बस्ती में प्रतिदिन 20 से 25 घरों में सर्वेक्षण कार्य प्रशिक्षत खोजी दलों द्वारा किया जाना है। इस अभियान के तहत शहरी क्षेत्रों में उच्च जोखिम क्षेत्र में  शिविर स्थल  वृद्धाश्रम,  छात्रावास, अनाथ आश्रम में 14 से 15 जनवरी तक,  शिविर स्थल क्षेत्र खदान, क्रेशर, फैक्ट्री के श्रमिक के लिए 18 से 22 जनवरी तक, शिविर स्थल शहरी मलीन बस्ती व घनी आबादी में 25 जनवरी से 5 फरवरी तक, शिविर स्थल स्वास्थ्य कार्यकर्ता ( शासकीय संस्थानों में कार्यरत ) के लिए  6 से 9 फरवरी तक,  और आखरी शिविर स्थल एचआईवी के उच्च जोखिम समूहों में एवं रैन बसेरा 10 से 15 फरवरी 2021 तक टीबी के लक्षण की खोज की जाएगी। टीबी खोजी टीम लोगों से अपील कर रहा है कि इस रोग को छिपाएं नहीं उसका इलाज कराएं। इलाज से टीबी की बीमारी पूरी तरह से ठीक हो सकती है।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

छत्तीसगढ़

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का बलिदान दिवस पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, सभी जिला कांग्रेस मुख्यालयों और ब्लॉक कांग्रेस मुख्यालयों में होंगे आयोजन

Published

on

रायपुर/28 जनवरी 2021। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बलिदान दिवस 30 जनवरी को राजीव भवन रायपुर में प्रातः 11 बजे श्रद्धांजली सभा का आयोजन किया गया है। सूफी गायक मदन चौहान द्वारा श्रद्धांजली अर्पित करते हुये रामधुन (भजन-कीर्तन) की प्रस्तुति दी जायेगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम सहित वरिष्ठ नेतागण उपस्थित रहेंगे।
30 जनवरी को आयोजित श्रद्धांजली सभा में सभी कांग्रेस के साथियो सहित उपस्थित रहने के लिये कहा गया है।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

स्कूल शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डॉ-टेकाम ने ली सरगुजा संभाग के सभी जिलों की धान उपार्जन के संबंध में समीक्षा बैठक

Published

on

आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विकास, स्कूल शिक्षा  तथा सहकारिता विभाग, मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम द्वारा एस.ई.सी.एल. रेस्ट हाउस भटगांव के सभाकक्ष में खरीफ विपणन वर्ष 2020-2021 में सरगुजा संभाग के जिलों में धान उपार्जन के संबंध में समीक्षा बैठक ली।
स्कूल शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बैठक मंे एजेण्डावार खरीफ विपणन वर्ष 2020-2021 में जिले में खरीदी केन्द्रवार धान खरीदी, धान उठाव, धान उठाव के लिए शेष की जानकारी, धान उठाव का प्रतिशत , धान खरीदी नीति के अनुसार निर्धारित तिथि तक समितियों से धान उठाव के लिए कार्य योजना, जिले में कुल धान खरीदी केन्द्रों की संख्या, बफर लिमिट से अधिक धान खरीदी केन्द्रों की संख्या, भण्डारित मात्रा व प्रतिशत की जानकारी व उठाव के लिए कार्ययोजना, धान की भण्डारण एवं सुरक्षा व्यय तथा प्रसांगिक व्यय में प्राप्त राशि के समितियों को भुगतान व उपयोग की समितिवार जानकारी, धान खरीदी के पर्यवेक्षण मद में प्राप्त होने वाली राशि के एवज में बैंक द्वारा किये गये पर्यवेक्षण की समितिवार जानकारी, खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समितियों को प्राप्त कमीशन के समिति खाते में अंतरण, समायोजन  की समितिवार जानकारी, धान खरीदी पश्चात किसानों को किये गये भुगतान राषि की बैंक शाखावार, समितिवार एवं खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में संग्रहण केन्द्रों में भण्डारित धान के निराकरण की जानकारी ली।

मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम सहकारिता विभाग ने सरगुजा सम्भाग के सभी जिला स्तरीय अधिकारियों उप सहायक पंजीयक,सहकारी संस्थाएं, डीएमओ, सीईओ एवं नोडल अधिकारी, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक, सूरपपुर की समीक्षा करते हुए पूरे सम्भाग के जिलों में धान खरीदी की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए हैं । जिसमें उन्होंने संभाग के जिले में सबसे कम धान उठाव की स्थिति को देखते हुए जल्दी संग्रहण केंद्र खोले जाने तथा मिलर्स के माध्यम से शीघ्र धान उठाव करने के निर्देश उपस्थित जिला विपणन अधिकारी को दिए ताकि समितियों में धान उठाव हो तथा सूखत (शॉर्टेज) की स्थिति निर्मित न हो। उन्होंने विशेषकर नए धान खरीदी केंद्रों जहां चबूतरे नहीं बन पाए हैं, वहां से प्राथमिकता के आधार पर धान का उठाव करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी डीएमओ को  बफर लिमिट से अधिक धान भंडारित समितियों से जल्दी धान उठाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिए साथ ही कहा कि धान उठाव में विलंब की स्थिति नहीं आनी चाहिए। शासन के द्वारा नई सहकारी समितियां किसानों को सुविधा देने के उद्देश्य से बनाई गई हैं, इसके शेयर होल्डर किसान ही रहते हैं इसलिए किसी भी स्थिति में धान खरीदी में समितियों को नुकसान नहीं होना चाहिए। उपस्थित बैंक के अधिकारियों को समितियों में पर्यवेक्षण करते हुए धान खरीदी एवं उठाव की व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए तथा उन्होंने अब तक किसानों को धान खरीदी में हुए भुगतान की जानकारी ली तथा किसानों को समय पर धान का भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश बैंक अधिकारियों को दिए। उन्होंने बैंक अधिकारियों को धान खरीदी में बैंक को मिलने वाले पर्यवेक्षण शुल्क की जानकारी लेते हुए बैंक को पर्यवेक्षण कार्य अच्छे से करने के निर्देश दिए। मंत्री डॉ. टेकाम ने धान खरीदी में शासन द्वारा प्राप्त सुरक्षा एवं मंडी लेबर चार्ज की राशि समितियों को समय पर ट्रांसफर करने के निर्देश बैंक को दिए। बैठक के अंत मे उन्होंने कहा कि सभी डीएमओ, सहकारी बैंक अधिकारी छ.ग. सहकारी सोसाइटी अधिनियम के तहत पंजीकृत तथा शासित समितियों के अधिकारी कर्मचारी हैं, इसलिए सहकारिता विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर आपस में समन्वय बनाकर किसानों के हितों के लिए निरंतर अच्छा कार्य करें ताकि सहकारी समितियों को आर्थिक नुकसान न हो।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

राजस्व संबंधी सुविधाएं अब गांवों के नजदीक ही मिलने से लोगों को राहत

Published

on

राजस्व सुविधाएं लोगों को उनके गांव के पास ही मिलें इसके लिए प्रदेश सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। प्रदेश में नई तहसीलों के गठन होने के साथ अब तहसील कार्यालयों का शुभारंभ किया जा रहा है। इसी कड़ी में प्रदेश के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविंद्र चौबे ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर बोरी के तहसील भवन का शुभारंभ किया।
इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री चौबे ने कहा कि बोरी तहसील के निर्माण से बोरी के आसपास के ग्रामीणों को तहसील कार्यालय के लिए दूर तक चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। राजस्व संबंधी सुविधा उन्हें अपने गाँव के नजदीक ही मिलेगी। उन्होंने कहा कि राजस्व संबंधी सुविधाओं के लिए लोगों को मशक्कत नहीं करनी पड़े, यह सरकार की पहली प्राथमिकता है। राजस्व संबंधी सरकार के निर्णयों से आम जनता को काफी राहत मिली है। कृषि मंत्री ने कहा कि राज्य शासन ने आम जनता के हितों को प्राथमिकता देते हुए निर्णय लिये हैं। किसानों की सुविधा के लिए नये धान खरीदी केंद्र खोले गए हैं। इन धान खरीदी केंद्रों के चलते किसानों को लंबी दूरी तय नहीं करनी पड़ रही। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के कृषि संबंधी योजनाओं से लोग खेती की ओर लौटे हैं। धान खरीदी इस बार रिकार्ड हुई है। छत्तीसगढ़ धान का कटोरा है और धान के कटोरे की समृद्धि किसानों के संतोष पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास की योजनाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था बेहतर हुई है और इसका असर शहरी अर्थव्यवस्था पर भी दिखता है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़20 mins ago

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का बलिदान दिवस पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, सभी जिला कांग्रेस मुख्यालयों और ब्लॉक कांग्रेस मुख्यालयों में होंगे आयोजन

रायपुर/28 जनवरी 2021। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बलिदान दिवस 30 जनवरी को राजीव भवन रायपुर में प्रातः 11 बजे श्रद्धांजली सभा का...

छत्तीसगढ़2 hours ago

स्कूल शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डॉ-टेकाम ने ली सरगुजा संभाग के सभी जिलों की धान उपार्जन के संबंध में समीक्षा बैठक

आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विकास, स्कूल शिक्षा  तथा सहकारिता विभाग, मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह...

छत्तीसगढ़2 hours ago

राजस्व संबंधी सुविधाएं अब गांवों के नजदीक ही मिलने से लोगों को राहत

राजस्व सुविधाएं लोगों को उनके गांव के पास ही मिलें इसके लिए प्रदेश सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।...

छत्तीसगढ़2 hours ago

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कांकेर में 342 करोड़ रूपये के विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज कांकेर के गोविंदपुर में आयोजित आमसभा में 342 करोड़ रूपये के विभिन्न विकास कार्यों...

छत्तीसगढ़2 hours ago

महादान के लोक पर्व छेरछेरा पुन्नी पर मुख्यमंत्री निकले दान मांगने

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध लोक पर्व छेरछेरा पुन्नी पर्व परम्परा के अनुरूप आज सवेरे जिला मुख्यालय...

#Exclusive खबरे

Calendar

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  

निधन !!!

Advertisement

Trending