Connect with us

अस्पताल में भर्ती है ये टीवी की ये मशूहर अभिनेत्री, फैंस जल्द ठीक होने की कर रहे दुआ

Published

on

स्टार प्लस के सीरियल ‘वीरा’ से मशहूर हुईं टीवी अभिनेत्री अरिश्फा खान  अस्तपाल में भर्ती हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर खुद तस्वीरें पोस्ट कर इसकी जानकारी दी। हालांकि अरिश्फा को क्या हुआ है इसका पता नहीं चल पाया है। अरिश्फा ने जो तस्वीर शेयर की है उसमें उनके हाथ में ड्रिप लगी हुई है। इसके साथ ही अरिश्फा ने अपनी एक अन्य तस्वीर शेयर की जिसमें वो अस्पताल के बेड पर लेटी नजर आ रही हैं और कंबल से मुंह ढक रखा है।

अरिश्फा के हाथ पर लगे टेप पर 28 जनवरी की तारीख लिखी है। अमर उजाला से बात करते हुए उनकी मां ने बताया कि अरिश्फा 26 जनवरी को अपने फैन के साथ वीडियो शूट करने गई थीं। उसके बाद से उनकी तबीयत खराब है। अरिश्फा को बार-बार बुखार हो रहा है जिसके बाद 28 तारीख को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। 18 वर्षीय अरिश्फा ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर ये तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा- ‘मेरे लिए दुआ करिए।’ उनके तबीयत खराब होने की खबर जैसे ही उनके फैंस को पता चला फैंस भी परेशान हो गए। अरिश्फा के फैंस लगातार उनके लिए ठीक होने की दुआएं कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- ‘हम सबकी दुआ आपके साथ है। आप जल्दी ठीक हो जाएंगे।

अरिश्फा ने अपने करियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट की थी। नौ साल की उम्र में उन्होंने सीरियल ‘छल’ से डेब्यू किया। इस सीरियल में अरिश्फा ने ‘मुस्कान उप्पल’ का रोल निभाया था। अरिश्फा को सीरियल ‘वीर की अरदास वीरा’ से पहचान मिली। इस सीरियल में अरिश्फा ने गुंजन का किरदार निभाया था। सीरियल के बाद अरिश्फा इसी नाम से पहचानी जाने लगी थीं

अरिश्फा ‘फियर फाइल्स’, ‘उतरन’, ‘ये हैं मोहब्बतें’, ‘गंगा’ और ‘मेरी दुर्गा’ सीरियल में भी कर चुकी हैं। इसके साथ ही ‘पापा बाय चांस’ सीरियल में गुनगुन का भी किरदार निभाया। टीवी सीरियल्स के अलावा अरिश्फा कई विज्ञापन फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।

अरिश्फा मूलत: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की रहने वाली हैं। अरिश्फा का जन्म साधारण परिवार में हुआ था। अरिश्फा को अभिनय के अलावा डांसिंग का भी शौक है। वह अक्सर सोशल मीडिया पर डांसिंग वीडियो पोस्ट करती रहती हैं। इसके साथ ही फैंस के साथ इंस्टाग्राम पर तस्वीरें शेयर करती रहती हैं।

 

 

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

छत्तीसगढ़

भाजपा के किसान, मजदूर विरोधी, गरीब विरोधी चरित्र को कांग्रेस करेगी बेनकाब

Published

on

 2500 रू. पर हमला किया। अब समर्थन मूल्य को नहीं बचाया। किसान कानून को लेकर कांग्रेस लगातार आक्रमक बनी हुयी है। आज विडियो कान्फ्रेसिंग के द्वारा छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने ली प्रवक्ताओं और जिला कांग्रेस अध्यक्षों की बैठक ली। प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष गिरिश देवांगन, संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी विशेष रूप से उपस्थित थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने बैठक का शुरूआत करते हुये कहा कि राजीव भवन से राजभवन तक पैदल मार्च की ऐतिहासिक सफलता छत्तीसगढ़ के कांग्रेसजन बधाई के पात्र है। 


किसान विरोधी काले कानूनों के खिलाफ कांग्रेस के आंदोलन के आगे के चरणों की जानकारी देते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि 10 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ में किसान विरोधी काले कानूनों के खिलाफ किसान सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक प्रदेश में घर-घर जाकर कांग्रेस कार्यकर्ता इन 3 किसान विरोधी काले कानूनों के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलायेंगे। 


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि मोदी सरकार के इन तीनो कानूनों से किसानों के साथ आम आदमी को भी बड़ा नुकसान होगा। कुछ बड़े जमाखोर सारी आवश्यक वस्तुओं के रेट तय करेंगे। अंतर की राशि देकर राशन कार्ड व्यवस्था भी समाप्त करने की तैयारी में मोदी सरकार है।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूरी आक्रामकता से किसान विरोधी वाले कानूनों का निर्देश देते हुये सविस्तार किसान विरोधी काले कानूनों की हकीकत बेनकाब करने के निर्देश सभी प्रवक्ताओं और जिला कांग्रेस अध्यक्षों को दिये। 


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुझाव दिया कि 10 अक्टूबर को सभा राजीव भवन में मंच बनाकर की जाये। सभी 307 ब्लाकों में भी विडियो कान्फ्रेसिंग के द्वारा हर ब्लाक में कम से कम सौ किसानों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को साथ लेकर परस्पर दूरी बनाये रखते हुये वरचुअल सभा आयोजित की जाये। बूथ ईकाई तक हस्ताक्षर अभियान का फार्मेट जाना चाहिये। ताकि हस्ताक्षर अभियान को गति दी जा सके। किसान बिल से होने वाले हर तरह के नुकसान के बारे में शहरी और ग्रामीण मतदाताओं को भी बताने की आवश्यकता है। इन किसान विरोधी कानूनों को लेकर भाजपा नेताओं को में कटघरे में खड़ा करने और भाजपा के किसान विरोधी, गरीब विरोधी चरित्र को उजागर करने का निर्णय लिया गया है।

छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया ने सभी प्रवक्ताओं और जिला कांग्रेस अध्यक्षों को निर्देशित दिया कि अब सबको बताना है कि किसान विरोधी कानूनों में न्यूनतम समर्थन मूल्य का प्रावधान नहीं है। कान्टेक्ट फार्मिंग के द्वारा अब  कंपनिया ही तय करेगी कि किसान खेतो में क्या काम करेंगे। मोदी सरकार इस्ट इंडिया कंपनी की वापसी करने में लगी है। अब मोदी सरकार ने बड़े मुनाफाखोरो को कालाबाजारी जमाखोरी की खुली छूट छै दे दी है। सदन के एक भी सदस्य के मत विभाजन की मांग करने पर तो संसद में मत विभाजन कराना आवश्यक होता है। इन काले कानूनों को पास करने के लिये लोकतंत्र की हत्या कर दी गयी।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मीडिया में भाजपा सरकार के काले कानूनों के खिलाफ आक्रमक प्रहार करने के नेताओं के निर्देशों का पालन करने का विश्वास दिलाये। 

प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन ने हस्ताक्षर अभियान की रणनीति को लेकर सभी जिला अध्यक्षों को सविस्तार निर्देश दिये। 

वरिष्ठ कांग्रेस नेता राजेन्द्र तिवारी ने अपने संबोधन में छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के निर्देशों के अनुरूप मीडिया को रणनीति पर मार्गदर्शन दिया। 


इस महत्वपूर्ण बैठक में केंद्र सरकार की किसान विरोधी कृषि विधेयक बिल सहित किसान एवं खेत गरीब मजदूर विरोधी दमनकारी नीतियों के खिलाफ 24 सितंबर से 14 नवंबर तक की रूपरेखा जिसमें धरना प्रदर्शन हस्ताक्षर अभियान से लेकर वर्चुअल रैली तक के निर्धारित कार्यक्रमों पर विस्तृत चर्चा हुई इस महत्वपूर्ण बैठक में सर्भी संभागों से जिला कांग्रेस अध्यक्षों को बोलने जा मौका दिया गया जिसमें उन्होंने कार्यक्रम की रूपरेखा को लेकर अपनी बात रखी ।’

Continue Reading

ज्योतिष

01/10/2020 का पंचांग एवं राशिफल

Published

on

  • रायपुर (etoi news)  30.09.2020
  • दिनांक 01.10.2020 का पंचाग
  • शुभ संवत 2077 शक 1942 सूर्य दक्षिणायन का प्रथम (अधिक) आश्विन मास शुक्ल पक्ष पूर्णिमा तिथि …रात्रि को 01 बजकर 35 मिनट तक  … दिन … गुरूवार … उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र … रात्रि को 05 बजकर 53 मिनट तक … आज चंद्रमा … मीन राशि में … आज का राहुकाल दोपहर को 01 बजकर 22  मिनट से 02 बजकर 51  मिनट तक होगा …

आज के राशियों का हाल तथा ग्रहों की चाल-

मेष –

     आज आप लोगो के बीच संतुलन बनाए रखने में असफल रहेंगे…

     आज स्वास्थ्य के नजरीये से भी दिन ठीक नहीं बितेगा…

     व्यवसायिक क्षेत्र में कार्य नहीं होने से भी तनाव….

 

     शांति हेतु शनि मंत्र जाप करें ….

     तिल दान तथा व्रत करें….

    

वृषभ –

     आज आप कार्य में व्यस्त रहेंगे …

     व्यवसाय के क्षेत्र में खतरा न उठाकर सुरक्षित रूप से कार्य करें…

     भविष्य में नई चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहें…

     चंद्रमा के मंत्रों का जाप…

     सफेद चीजों का दान…

     शिव मन्त्र जाप करें …

 

मिथुन –

     आज आपका गुस्सा बढा हो सकता है…

     दिनभर कार्य का बोझ भी तनाव देगा…

     तनाव से बचने हेतु

     उपाय –

     राहु के मंत्रों का जाप कर दिन की शुरूआत करें…

     सूक्ष्म जीवों की सेवा करें…

 

कर्क –

     ऋण मुक्ति के प्रयासों में सफलता…

प्रतियोगिता परीक्षा या साक्षात्कार में मनचाही सफलता…

बौद्धिक कुषलता से सम्मान की प्राप्ति…

विवाद से धन हानि….

शनि के उपाय –

  1. ‘‘ऊॅ शं शनैश्चराय नमः’’ की एक माला जाप कर दिन की शुरूआत करें..
  2. भगवान आशुतोष का रूद्धाभिषेक करें,
  3. उड़द या तिल दान करें,

सिंह –

     संपत्ति तथा व्यापार में आर्थिक लाभ…

परिवार में प्रसन्नता का माहौल…

आॅख में इंफेक्षन…

मंगल के दोषों की निवृत्ति के लिए –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का एक माला जाप करें..
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें…

 

कन्या –

     आज आप अपने हर एक कार्य व्यवस्थित रूप से करना पसंद करेंगे…

     परिवार या ऑफिस के सदस्य आपसे अधिक अपेक्षा रखेंगे…

नये प्रोजेक्ट में लीडरषीप की प्राप्ति….

संतान के अध्ययन की चिंता…

गुरू के उपाय-

  1. ऊॅ गुं गुरूवे नमः का जाप करें…
  2. मीठे पीले खाद्य पदार्थ का सेवन करें तथा दान करें…
  3. साईजी के दर्षन करें…

 

 

तुला –

     स्थान परिवर्तन के योग…

आलस्य तथा भ्रम से हानि…

नवीन वाहन या वस्त्र की प्राप्ति…

घरेलू सुखों में वृद्धि….

लीवर में कष्ट…

चंद्रमा कृत दोषों की निवृत्ति के लिए –

  1. ऊॅ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः का जाप करें…
  2. दूध, चावल का दान करें…
  3. श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…

    

वृश्चिक –

     कार्यक्षेत्र में अधिकार में वृद्धि….

वाहन सुख की प्राप्ति….

सामाजिक दायरा में बढ़ोतरी…

ब्लडप्रेशर बढ़ सकता है…

सूर्य के उपाय –

  1. प्रातः स्नान के उपरांत सूर्य को जल में लाल पुष्प… शक्कर मिलाकर अध्र्य देते हुए ऊॅ धृणि सूर्याय नमः का पाठ करें… सूर्य नमस्कार करें..
  2. गुड़.. गेहू… दान करें..

धनु –

     शिक्षा से संबंधित यात्रा में लाभ….

जिंदगी में बदलाव की शुरूआत होगी…

यात्रा के दौरान हाथ या कंधे में चोट…

मंगल के उपाय –

  1. ऊॅ अं अंगारकाय नमः का जाप करें…
  2. हनुमानजी की उपासना करें..
  3. मसूर की दाल, गुड दान करें..

 

मकर –

     लगन की कमी से लाभ प्राप्ति में चूक…

छोटे भाईयों से कष्ट….

धन हानि से तनाव….

बृहस्पति के निम्न उपाय आजमायें –

  1. ऊॅ गुरूवे नमः का जाप करें…
  2. पीली वस्तुओं का दान करें…
  3. गुरूजनों का आर्शीवाद लें..

कुंभ –

     मित्रों के साथ मुलाकात…

पारिवारिक उत्सव से प्रसन्नता….

नये व्यापार की योजना…

धन खर्च से तनाव…

अफवाह के कारण मानसिक चिंता….

शुक्र जनित तनाव से निवारण के लिए –

  1. ऊॅ शुं शुक्राय नमः का जाप करें…
  2. माॅ महामाया के दर्शन करें…
  3. चावल, दूध, दही का दान करें…

 

मीन –

     संतान के स्वास्थ्य से कष्ट…

अध्ययन में बाधा से तनाव…

पड़ोसियों से विवाद….

चंद्रमा के उपाय करें-

  1. ऊॅ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः का जाप करें…
  2. दूध, चावल, का दान करें…
  3. श्री सूक्त का पाठ करें धूप तथा दीप जलायें…
  4. रूद्राभिषेक करें…

 

 

Continue Reading

ज्योतिष

अधिक मास पूर्णिमा – दुख करें दूर

Published

on

अधिक मास पूर्णिमा - दुख करें दूर

हिंदू धर्म में मलमास माह को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. इसे अधिकमास और पुरुषोत्तम मास के नाम से भी जाना जाता है. हर तीन सालों में पुरुषोत्तम मास अथवा मलमास होती है मान्यता है कि इस मास का कोई ईष्ट न होने के कारण भगवान विष्णु ने अपना नाम दिया था जिसके कारण इसे पुरुषोत्तम मास का दर्जा प्राप्त हुआ। इस मास में भगवान विष्णु की पूजा की जाती, भगवान की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इससे भगवान विष्णु के साथ-साथ मां लक्ष्मी भी प्रसन्न होती है. हालांकि इस मास में किसी प्रकार के शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं लेकिन सत्यनारायण की कथा से विशेष लाभ होता है। साथ ही अधिक मास में महामृत्युजंय का जाप लाभकारी होता है। इससे न केवल घर के सभी वास्तु दोष दूर होते हैं बल्कि सुख-समृद्धि भी आती है।

इससे ज्यादा अधि​क मास या मलमास की पूर्णिमा का महत्व होता है। इस दिन श्री लक्ष्मी नारायण की पूजा करने, स्नान और दान का विधान है। पूर्णिमा के दिन या एक दिन पूर्व लोग श्रीसत्यनारायण व्रत करते हैं तथा उनकी कथा का श्रवण करते हैं। इस बार आप घर पर ही स्नान, दान आदि करें। फिर भगवान श्री लक्ष्मी नारायण की पूजा विधिपूर्वक करें।

अधिक मास पूर्णिमा मुहूर्त

अधिक मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि का प्रारंभ 30 सितंबर दिन बुधवार को देर रात में 12 बजकर 27 मिनट से हो रहा है, जो अगले दिन 01 अक्टूबर गुरुवार को देर रात 02 बजकर 35 मिनट तक रहेगी। इस तिथि को सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है। राहुकाल दोपहर 01 बजकर 22 मिनट से दोपहर 02 बजकर 51 मिनट तक रहेगा। उस दिन पंचक पूरे दिन रहेगा।

व्रत विधि

प्रातःकाल सुबह जल्दी उठकर स्नान-ध्यान करें। पूजा स्थल की साफ-सफाई करें। पूजा के लिए एक चैकी पर आधा लाल और आधा पीला कपड़े का आसन बिछाएं। इसके बाद लाल कपड़े पर मां लक्ष्मी और पीले कपड़े पर भगवान विष्णु की प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें। अब कुमकुम, हल्दी, अक्षत, रौली, चंदन, अष्टगंध से पूजन करें।

सुगंधित पीले और लाल पुष्पों से बनी माला पहनाएं। मां लक्ष्मी को कमल का पुष्प अर्पित करें। सुहाग की समस्त सामग्री भेंट करें। मखाने की खीर और शुद्ध घी से बने मिष्ठान्न का नैवेद्य लगाएं। लक्ष्मीनारायण व्रत की कथा सुनें। इस पूरे दिन व्रत रखें।

अधिकमास की पूर्णिमा का व्रत जीवन में समस्त प्रकार के सुख और सौभाग्य में वृद्धि करता है। यह व्रत यदि धन प्राप्ति की कामना से किया जाए तो यह अवश्य ही पूरा होता है। जबकि अविवाहित कन्या या युवक व्रत करें तो उन्हें योग्य जीवनसाथी प्राप्त होता है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़27 seconds ago

भाजपा के किसान, मजदूर विरोधी, गरीब विरोधी चरित्र को कांग्रेस करेगी बेनकाब

 2500 रू. पर हमला किया। अब समर्थन मूल्य को नहीं बचाया। किसान कानून को लेकर कांग्रेस लगातार आक्रमक बनी हुयी...

छत्तीसगढ़5 hours ago

शासकीय कार्य रूकना नहीं चाहिए : कलेक्टर

कलेक्टर श्री चन्दन कुमार ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित सभा कक्ष मे साप्ताहिक समय सीमा की बैठक ली। बैठक मे उन्होंने विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों से समय सीमा के प्रकरणों के निराकरण के संबंध मे वन-टू-वन जानकारी प्राप्त की। मंगलवार को जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा बैठक में कलेक्टर श्री चन्दन कुमार ने जिले में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की और कार्यों को गति प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होंने सुकमा जिले में प्रगतिरत ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए सभी स्वीकृत निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र सहित अन्य अधोसंरचनाओं के निर्माण से ग्रामीणों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि कोई भी शासकीय कार्य नहीं रूकना चाहिए। बैठक में कलेक्टर श्री चन्दन कुमार ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी के तहत जिले में गौवंशीय पशु धन के संरक्षण एवं संर्वधन के विषय में विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सभी गोठानों में वर्मी कम्पोस्ट खाद निर्माण हेतु वर्मी टांका के निर्माण आदि के संबंध में आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में कलेक्टर ने धान खरीदी के पहले बोये गये खरीफ फसलों का रकबा सत्यापन अर्थात् गिरदावरी के कार्य की समीक्षा की। इसी तारतम्य में उन्होंने लोक सेवा गांरटी अधिनियम के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों की भी समीक्षा की। उन्होंने लोक सेवा गांरटी अधिनियम के तहत प्राप्त आवेदन पत्रों को निर्धारित समयावधि में निराकृत करने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होंने अन्य योजनाओ की भी विस्तारपूर्वक समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। आंगनबाड़ी कार्यक्रर्ता और सहायिकाओं की भर्ती प्रक्रिया जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही संबंधित अधिकारी को कलेक्टर ने स्कूल, आंगनबाड़ी, छात्रावासों की साफ-सफाई दुरूस्त करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नूतन कुमार कंवर, जिला वनमण्डलाधिकारी श्री आर डी तारम, संयुक्त कलेक्टर श्री रवि कुमार साहू, अनुविभागीय अधिकारी कोन्टा श्री हिमांचल साहू, अनुविभागीय अधिकारी सुकमा श्री नभएल ईस्माइल सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़5 hours ago

बच्चो को उनके बहादुरी कार्यो के लिए पुरस्कार हेतु आवेदन आमंत्रित

भारतीय बाल कल्याण परिषद नई दिल्ली द्वारा “जीवन के जोखिम या शारीरिक चोट के खतरे या सामाजिक बुराई, अपराध के खिलाफ साहस और साहसी कार्य के रूप मे सहज निःस्वार्थ सेवा का कार्य” करने वाले बालक-बालिकाओ से बहादुरी के लिए राष्ट्रीय बहादूरी पुरस्कार 2020 हेतु आवेदन आंमत्रित किये है। इस पुरूस्कार हेतु बच्चो की आयु छह से 18 वर्ष निर्धारित है। यह पुरूस्कार प्रतिवर्ष दिया जाता है। विस्तृत जानकारी हेतु www.iccw.co.in भारतीय बाल कल्याण परिषद नई दिल्ली की बेवसाइट पर अवलोकन कर आवेदन किया जा सकता है।

छत्तीसगढ़6 hours ago

सावधान : शैक्षिक एवं गैर शैक्षिक पदों पर भर्ती के संबंध में आ रहे फर्जी फोन कॉल

जिला शिक्षा अधिकारी व उत्कृष्ट विद्यालय अंग्रेजी माध्यम शासकीय हाई स्कूल पावारास सुकमा के सह पदेन सदस्य सचिव श्री जे...

छत्तीसगढ़6 hours ago

एमपीडब्ल्यू भर्ती : अनंतिम मेरिट सूची जारी

कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार कार्यालय के अधीन संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं छत्तीसगढ़ द्वारा ग्रामीण...

#Exclusive खबरे

Calendar

September 2020
S M T W T F S
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930  

निधन !!!

Advertisement

Trending