Connect with us

देश-दुनिया

सोने-चांदी की कीमतों में आज हुआ ये बड़ा बदलाव, यहां चेक करें नए रेट्स

Published

on

Gold Silver Price 13 Feb 2020: दो दिन की गिरावट के बाद आज यानी गुरुवार 13 फरवरी 2020 को एक बार फिर सोने-चांदी के रेट बढ़ गए। दिल्ली सर्राफा बाजार गुरुवार 13 फरवरी को सोना स्टैंडर्ड 335 रुपये चमककर 42,115 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। यह 3 फरवरी के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। सोना बिटुर भी इतनी ही तेजी के साथ 41,945 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव बिका। आठ ग्राम वाली गिन्नी 31,000 रुपये पर स्थिर रही।

धातु रेट
सोना स्टैंडर्ड प्रति 10 ग्राम 42,115 रुपये
सोना बिटुर प्रति 10 ग्राम 41,945 रुपये
चाँदी हाजिर प्रति किलोग्राम 47,375 रुपये
चांदी वायदा प्रति किलोग्राम 45,836 रुपये
सिक्का लिवाली प्रति इकाई 970 रुपये
सिक्का बिकवाली प्रति इकाई 980 रुपये
गिन्नी प्रति आठ ग्राम 31,000 रुपये

चांदी हाजिर 365 रुपये की बढ़त में 47,375 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। चांदी वायदा 257 रुपये चढ़कर 45,836 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। सिक्का लिवाली और बिकवाली गत दिवस के क्रमश: 970 रुपये और 980 रुपये प्रति इकाई पर अपरिवर्तित रहे।

बुलियन मार्केट का हाल

बुलियन मार्केट में सोने के रेट में गुरुवार 13 फरवरी तेजी दिख रही है। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट (ibjarates.com) के मुताबिक बुलियन मार्केट में गुरुवार को 999 शुद्धता वाले 10 ग्राम सोना 247 रुपये की तेजी के साथ खुला।

इस तेजी के साथ ही अब 10 ग्राम सोना 40830 रुपये पर पहुंच गया है। बुधवार को यह 41 रुपये की गिरावट के बाद 40583 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट पर बंद हुआ था। वहीं चांदी की चमक 250 रुपये प्रति किलो ग्राम बढ़ी है। अब एक किलो चांदी 45925 रुपये में मिल रही है। बुधवार को चांदी के रेट में 350 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट देखी गई थी।

13 फरवरी 2020 को इस भाव पर बिक रहा सोना

धातु शुद्धता 12 फरवरी का रेट (रुपये/10 ग्राम) 13 फरवरी का रेट (रुपये/10 ग्राम) रेट में बदलाव (रुपये/10 ग्राम)
Gold 999 40583 40830 247
Gold 995 40421 40667 246
Gold 916 37174 37400 226
Gold 750 30437 30623 186
Gold 585 23741 23886 145
Silver 999 45675 45925 250

वैश्विक रुख से वायदा कारोबार में सोना मजबूत

विदेशों से सकारात्मक संकेतों के बीच सटोरियों के दाव ऊंचा करनेसे बृहस्पतिवार को वायदा कारोबार में सोना 192 रुपये बढ़कर 40,676 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया।  मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में सोना अप्रैल डिलीवरी 192 रुपये (0.47 प्रतिशत) बढ़कर 40,676 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इसमें 2,018 लॉट का कारोबार हुआ।

इसी प्रकार, सोना जून 173 रुपये (0.43 प्रतिशत) चढ़कर 40,839 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। इसमें 94 लॉट का कारोबार हुआ। विश्लेषकों ने कहा कि वैश्विक बाजार में तेजी के रुझान को देखते हुए स्थनीय कारोबारियों ने अपने दाव ऊंचे कर दिए थे। इससे वायदा कारोबार में सोना चमक गया। न्यूयॉर्क में सोना 0.36 प्रतिशत बढ़कर 1,577.20 डॉलर प्रति औंस पर चल रहा था।

वायदा कारोबार में भी चांदी की चमक बढ़ी

गुरुवार को वायदा कारोबार में चांदी 378 रुपये बढ़कर 45,878 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में चांदी मार्च डिलीवरी 378 रुपये (0.83 प्रतिशत) बढ़कर 45,878 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। इसमें 3,673 लॉट का कारोबार हुआ।

इसी प्रकार, चांदी जून 403 रुपये (0.88 प्रतिशत) चढ़कर 46,439 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। इसमें 65 लॉट का कारोबार हुआ। विश्लेषकों ने कहा कि वैश्विक बाजार में तेजी के रुझान को देखते हुए स्थनीय कारोबारियों ने अपने दाव ऊंचे कर दिए थे। इससे वायदा कारोबार में चांदी के भाव में तेजी आई। न्यूयॉर्क में चांदी 0.67 प्रतिशत बढ़कर 17.61 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी।

क्या है बुलियन मार्केट

सोने-चांदी जैसी कीमती धातुओं का व्यापार बुलियन मार्केट के जरिए ही होता है। सोने की खरीद दो तरह से की जाती है। आम लोग सर्राफा बाजार से सोने की खरीददारी करते हैं। वहीं कारोबारी लोग वायदा बाजार के जरिए सोने की खरीददारी करते हैं। बुलियन मार्केट वह जगह होती है जहां सोने-चांदी का व्यापार फ्यूचर मार्केट के जरिए होता है।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

देश-दुनिया

नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के लिए 4496 करोड़ रुपये, नई योजना का ऐलान किया

Published

on

 

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के लिए नई योजना का ऐलान किया है. बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में 10 हजार कृषि उत्पादक संगठनों को बढ़ावा देने की योजना पर मुहर लग गई है. इसके लिए 4496 करोड़ रुपये का फंड दिया जाएगा. FPO छोटे और सीमांत किसानों का एक समूह होता है. सरकार 4496 करोड़ रुपये के इस फंड के जरिए बाजार में किसानों की भागीदारी बढ़ाकर उनकी आमदनी बढ़ाएगी.

इससे क्या होगा- आम बजट 2019-20 में सरकार ने 10,000 नए एफपीओ बनाने की घोषणा की थी. इनको अब कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. इनका मुख्य काम किसानों की आय बढ़ाना के लिए कदम उठाना है. साथ ही, ये किसानों को आसान कर्ज और बेहतर मार्केटिंग के साथ नई टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराने में मदद करेंगे.

एफपीओ योजना को जानिए

(1) पांच साल की अवधि (2019-2022 से 2023-24) के लिए 4496.00 करोड़ रुपये के कुल बजटीय प्रावधान के साथ 10,000 नए एफपीओ का गठन होगा. शुरुआत में इन्हें एजेंसी स्मॉल फार्मर्स एग्री-बिजनेस कन्सोर्टियम (एसएफएसी), नेशनल कोऑपरेटिव डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एनसीडीसी) और नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (एनएबीएआरडी) मदद करेंगी. राज्य भी अगर इच्छुक हों तो डीएसीएंडएफडब्ल्यू के साथ विचार-विमर्श के माध्यम से एजेंसी को कार्यान्वित करने के लिए आगे बढ़ा सकते है.

(2) डीएसीएंडएफडब्ल्यू एजेंसी समूह/राज्यों का आबंटन करेगी, जो इसी क्रम में राज्‍यों में समूह आधारित व्‍यापारिक संगठन का गठन करेंगे.

कैसे काम करेगा एफपीओ (What is FPO) – इन FPO को एक बिजनेस यूनिट चलाएगी. इन बि​जनेस यूनिट की जो भी कमाई होगी, उसे किसानों के बीच बांटा जाएगा. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि मार्केट में जैसे किसी कंपनी के पास अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए कार्यक्रम होते हैं, वैसे ही इन एफपीओ के पास भी कार्यक्रम होगा. एक अन्य अधिकारी के हवाले से लिखा गया है कि राज्य सरकारों, नाबार्ड, स्मॉल फार्मर्स एग्री बिजनेस कंसोर्टियम (SFAC) के साथ मिलकर काम करेंगे. मौजूदा समय में कुल 822 ऐसे एफपीओ हैं, जिन्हें SFAC ने प्रमोट किया है, ज​बकि 2,154 FPO को नाबार्ड ने प्रमोट किया है.

(1) एफपीओ यानी किसान संगठन बताएंगे कब और कौन से समय खेती करने पर ज्यादा उत्पादन होगा. इसके लिए ये फसल को बेचने के लिए मार्केट की जानकारी भी देंगे. साथ ही, टेक्नोलॉजी के बेहतर इस्तेमाल में भी ये संगठन मदद करेंगे.

(2) इसके लिए एक पोर्टल यानी वेबसाइट शुरू की जाएगी. ये एकीकृत पोर्टल और सूचना प्रबंधन एवं निगरानी के माध्‍यम से समग्र परियोजना दिशा-निर्देश, डाटा-संग्रहण और रखरखाव जैसी सुविधा प्रदान करने के लिए एसएफएसी के स्‍तर पर एक राष्‍ट्रीय परियोजना प्रबंधन एजेंसी (एनपीएमए) होगी.

(3) शुरुआत में मैदानी क्षेत्र में एफपीओ में सदस्‍यों की न्‍यूनतम संख्‍या 300 और पूर्वोत्‍तर एवं पहाड़ी क्षेत्रों में 100 होगी. हालांकि डीएसीएंडएफडब्‍ल्‍यू केन्‍द्रीय कृषि मंत्री की स्‍वीकृति के साथ आवश्‍यकता और अनुभव के आधार पर न्‍यूनतम सदस्‍यों की संख्‍या में संशोधन कर सकता है.

4) एफपीओ द्वारा विशेष और बेहतर प्रसंस्‍करण, मार्केटिंग, ब्रांडिंग और एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए ‘एक जिला एक उत्‍पाद’ समूह के अंतर्गत एफपीओ को प्रोत्‍सा‍हन दिया जाएगा. एफपीओ के इक्विटी आधार को मजबूत करने के लिए इसमें इक्विटी अनुदान का भी एक प्रावधान होगा.

(5) डीएसीएंडएफडब्‍ल्‍यू और नाबार्ड के द्वारा समान योगदान के साथ नाबार्ड में 1,000 करोड़ रुपये तक का कर्ज गारंटी फंड और डीएसीएंडएफडब्‍ल्‍यू और एनसीडीसी के द्वारा समान योगदान के साथ एनसीडीसी में 500 करोड़ रुपये का ऋण गारंटी फंड होगा, ताकि एफपीओ को ऋण प्रदान करने के मामले में वित्‍तीय संस्‍थानों के जोखिम को न्‍यूनतम करते हुए एफपीओ को संस्‍थागत ऋण के निरंतर प्रवाह हेतु उपयुक्‍त ऋण गारंटी प्रदान की जा सके.

Continue Reading

अन्य खबरे

10वीं बोर्ड की परीक्षा पेपर हुआ लीक, मचा हड़कंम 

Published

on

ओडिशा में माध्यमिक शिक्षा परिषद (BSE Odisha) की मैट्रिक परीक्षाएं (10वीं बोर्ड) बुधवार से शुरू हो गई। राज्यभर में कुल 2888 परीक्षा केन्द्रों पर ये परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं। इनमें 5 लाख 60 हजार 905 परीक्षार्थी सम्मिलित हो रहे हैं। उधर इन परीक्षाओं के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक एवं केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने द्वीट कर परीक्षार्थियों को शुभकामनाएं दी। उधर प्रदेश के कालाहांडी में पहले ही दिन का पेपर लीक होने की खबरें मिल रही हैं। बोर्ड ने इसे संज्ञान में लिया है।

बता दें कि बुधवार को छात्र-छात्राएं मातृभाषा विषय का पेपर दे रहे हैं। पहला पेपर होने के कारण परीक्षा केंद्र में सुबह 9 बजे से बच्चों को प्रवेश दे दिया गया। हालांकि बाद के पेपरों में बच्चों को सवा 9 बजे प्रवेश दिया जाएगा।फिलहाल किसी भी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए हर परीक्षा केन्द्र पर स्थानीय शिक्षा बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय पुलिस-प्रशासन के अधिकारी उपस्थित दिखे। परीक्षाओं का परिचालन सही तरीके से हो रहा है और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं मिली है।

बहरहाल बुधवार को मैट्रिक परीक्षा (10वीं बोर्ड) में पहले दिन मातृभाषा ओडिया की परीक्षा हुई। इन परीक्षाओं के मद्देनजर प्रशासन और बोर्ड ने काफी तैयारियां की थी। प्रश्नपत्र रखने के लिए प्रदेश में 307 नोडल सेंटर बनाए गए। साथ ही करीब एक हजार संवेदनशील परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं ताकि हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।

कालाहांडी में वायरल हुआ प्रश्नपत्र

बोर्ड ने मैट्रिक परीक्षा (10वीं बोर्ड) के लिए कड़ी सुरक्षा का दावा किया था लेकिन बुधवार को पहले दिन राज्य के कालाहांडी जिले में मातृभाषा ओड़िया का प्रश्नपत्र लीक हो गया। बताया जा रहा है कि ओड़िया भाषा का प्रश्न पत्र सोशल मीडिया पर वायरल होने की खबरें हैं। परीक्षा शुरू होने के पहले घंटे में कालाहांडी जिले के धर्मगड़ क्षेत्र में मातृभाषा ओड़िया का प्रश्नपत्र लीक हो गया। बताया जा रहा है कि वायरल हुए प्रश्नपत्र में एक नंबर वाले 25 प्रश्न शामिल हैं। इसे लेकर प्रदेश के शिक्षा मंत्री समीर दास ने कहा कि फिलहाल उनके पास ऐसी कोई खबर नहीं है। पेपर लीक हुआ है तो इसकी जांच की जाएगी।

सीएम और केंद्रीय मंत्री ने दी शुभकामनाएं

इधर इन परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर बच्चों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने लिखा- मैं 10वीं बोर्ड परीक्षा देने वाले सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देता हूं। मैं बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के साथ उनकी सफलता की कामना करता हूं। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने भी ट्वीट कर प्रदेशभर के सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए उनकी सफलता की कामना की।

Continue Reading

अन्य खबरे

शोध : नींद कम लेने से बढ़ सकता है इस बीमारी का खतरा 

Published

on

जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में प्रकाशित शोध में महिलाओं के आहार और उनकी नींद की गुणवत्ता के बीच संबंधों की जांच की गई है.

कई बार काम के तनाव, किसी से अनबन या फिर बहुत ज्यादा थकान की वजह से नींद आने में परेशानी होती है. लेकिन अगर कम नींद आना रोज का रूटीन बन जाए तो यह आपकी सेहत के लिए खतरे की घंटी है. नींद न आना यानी कि अनिद्रा एक बीमारी है. यह एक ऐसी बीमारी है जो न केवल तनाव, सिरदर्द और थकान को बढ़ाती है बल्कि कई दूसरे रोगों को भी न्योता देती है. नींद न आने की वजह से दिल की बीमारियां और स्ट्रोक के साथ ही कॉरनेरी धमनी रोग का भी खतरा पैदा हो सकता है.

खराब नींद से बढ़ेगा मोटापा और हृदय रोग का खतरा:

जिन महिलाओं की नींद पूरी नहीं होती वे ज्यादा कैलोरी और कम गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थों का सेवन ज्यादा करती हैं. एक हालिया शोध के अनुसार महिलाओं में खराब नींद की वजह से हृदयरोगों और मोटापे का खतरा बढ़ सकता है. पूर्व के शोधों में दर्शाया गया है कि जो लोग कम सोते हैं उनमें मोटापे, टाइप-2 मधुमेह और हृदयरोग पनपने का खतरा ज्यादा होता है.

शोध में सामने आया सच:

जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में प्रकाशित शोध में महिलाओं के आहार और उनकी नींद की गुणवत्ता के बीच संबंधों की जांच की गई है. कोलंबिया यूनिवर्सिटी वागेलोस के शोधकर्ता ब्रूक अग्रवाल ने कहा, महिलाएं जीवनभर खराब नींद से जूझती हैं क्योंकि उन्हें ज्यादातर बच्चों की और परिवार की देखभाल करने की जिम्मेदारी उठानी पड़ती है. इसके अलावा रजोनिवृत्ति के दौरान बनने वाले हार्मोन के कारण भी नींद की गुणवत्ता खराब होती है.

खानपान से भी पड़ता है नींद पर असर:

इस शोध में 20 से 76 वर्ष के उम्र की 495 महिलाओं पर अध्ययन किया गया. इस शोध में नींद की गुणवत्ता, सोने के दौरान लगने वाले समय और नींद की कमी का विश्लेषण किया गया. शोध में पाया गया कि जिन लोगों की नींद की गुणवत्ता खराब थी उन्होंने ज्यादा मात्रा में चीनीयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन किया जिससे मोटापे और मधुमेह में बढ़ोतरी हुई.

 

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

क्राइम12 mins ago

युवती पर नाबालिग किशोरी का अपहरण कर अप्राकृतिक कृत्य करने का आरोप, कोर्ट ने दी 10 साल की सजा

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कोर्ट ने एक युवती को रेप के आरोप में 10 साल कैद की सजा सुनाई...

देश-दुनिया29 mins ago

नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के लिए 4496 करोड़ रुपये, नई योजना का ऐलान किया

  केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के लिए नई योजना का ऐलान किया है. बुधवार को हुई कैबिनेट...

देश-दुनिया2 hours ago

आइये जाने क्या होता है? अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर

शोहरतमंद लोगों की खुराक हमेशा कौतुहल लिए होती है कि वो क्या खाते-पीते हैं. पिछले कुछ समय से अमेरिकी राष्ट्रपति...

देश-दुनिया3 hours ago

पीएम मोदी पहुंचे हुनर हाट, चखा लिट्टी चोखा का स्वाद और कुल्हड़ में पी चाय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार दोपहर को राजपथ के पास लगे हुनर हाट में पहुंचे। यहां वे अलग-अलग स्टॉल पर घूमे...

देश-दुनिया3 hours ago

मोदी सरकार ने दिया किसानों को तोहफा, किसान क्रेडिट कार्ड पर आसानी से मिलेंगे 3 लाख रूपये

सरकार ने बुधवार को ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ में बड़े बदलावों को मंजूरी दी है. योजना की खामियों को दुरुस्त...

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive17 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 20 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive2 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 19 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive3 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 18 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive4 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 17 /02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Etoi Exclusive5 days ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 16/02/2020

सुधि पाठकों की ,,,,आपको जो हेड लाइन पसंद आये,उसे एक बार क्लिक करें और पसंद ना आये उसे छोड़ आगे...

Calendar

February 2020
M T W T F S S
« Jan    
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
242526272829  

निधन !!!

Advertisement

Trending