Connect with us

लाइफस्टाइल

चेयर वर्क में तनाव कम करने के लिए जरुरी फिजिकल एक्टिविटी

Published

on

अक्सर आपने सुना या पढ़ा होगा कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए फिजिकली एक्टिव बने रहना आवश्यक है। वहीं समय-समय पर फिट रहने के लिए विशेषज्ञ व्यायाम को रूटीन का महत्वपूर्ण हिस्सा बनाने की बात भी करते रहते हैं।एक स्टडी के परिणामों से पता चलता है कि दफ्तर में फिजिकल एक्टिविटी बढ़ाकर आप अपने तनाव को काफी कम कर सकते हैं। अमेरिका के एरिजोना यूनिवर्सिटी ने ऑफिस में काम करने वाले लोगों पर यह अध्ययन किया है। इस अध्ययन में पाया गया है कि दफ्तर में अधिक शारीरिक गतिविधि करने वाले एंप्लॉई दूसरों की तुलना में कम तनाव झेलते हैं…अमेरिका के एरिजोना यूनिवर्सिटी के अध्ययन में फेडरल ऑफिस की बिल्डिंग में बैठे 231 एंप्लॉईज पर जांच की गई। स्टडी में पता लगा कि ओपन बेंच वाली व्यवस्था में काम कर रहे एंप्लॉई प्राइवेट ऑफिस में काम करने वाले दूसरे लोगों की तुलना में 32 फीसद ज्यादा एक्टिव थे। जो लोग शारीरिक रूप से ज्यादा एक्टिव थे, उनमें काम खत्म होने के बाद तनाव का स्तर दूसरे एंप्लॉई की तुलना में 14 फीसद तक कम था।दफ्तर में शारीरिक गतिविधियां कम होने की वजह से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इससे पहले आई एक स्टडी में भी कहा गया था कि कुर्सी पर लंबा वक्त बिताना कई बीमारियों को दावत दे सकता है और एंप्लॉई के जीवन अवधि को कम कर सकता है। तो फिर ऐसे में क्या करना चाहिए।

  1. कुर्सी से मत चिपकें: दफ्तर से आकर कुर्सी पर बैठ जाना और फिर लगातार बैठे रहना आपकी कमर को ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। अत: काम के समय में कुछ इंटरवल्स निकालें और अपने कमरे में टहलें या फिर अपने डिपार्टमेंट के हॉल में थोड़ी देर के लिए टहलें।
  2. अन्य कर्मचारियों से इंटरैक्शन करें: कई बातें आप अपने सबऑर्डिनेट्स को मेल पर लिख कर बताते हैं। उन्हें मेल पर निर्देश देते हैं। आप यह कर सकते हैं कि जो बात आप दूसरे कर्मचारी से कहना चाहते हैं, मेल लिखने से पहले उठकर उसके पास जाएं, उसके बारे में उसे मौखिक बताएं या उस पर डिस्कस करें। तब वापस अपनी सीट पर लौटकर मेल करें।
  3. सीट पर चाय न मंगाएं: यदि चाय या पानी आपके टेबल पर ही पहुंच जाती है, तो इसे बंद कर दें। चाय पीने बाकायदा कैंटीन में जाएं। पानी स्वयं अपने हाथ से लेकर पिएं। इस तरह आपकी शारीरिक गतिविधियां बनी रहेंगी।
  4. मिलने वालों से गेस्ट रूम में मिलें: यदि आपसे मिलने क्लाइंट या गेस्ट आता है, तो उसे अपने कमरे में आमंत्रित न करें। उसे गेस्ट रूम में बुलाएं और वहां जाकर बात करें। वहां सोफे पर बैठेंगे, तो आप रिलेक्स फील करेंगे।

Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

लाइफस्टाइल

कौन की वह फिल्म है जो टैलेंट दबाते सिस्टम को आंख दिखा पाने में सफल हो पायेगी ?

Published

on

सिनेमाघरों में आज यानी शुक्रवार को एक और फिल्म दस्तक दे चुकी है जिसका नाम है सुपर 30। रितिक रोशन और मृणाल ठाकुर स्टारर इस फिल्म को लेकर लंबे समय से चर्चा रही है। लगभग ढाई साल के बाद फिर रितिक बड़े पर्दे पर दस्तक देने जा रही हैं। इसने समय के बाद रितिक रोशन के फैंस के सामने वे फिल्म के जरिए आ रहे हैं तो इसका प्रभाव सिनेमाघरों पर दिख रहा है।

रितिक की 2017 के शुरुआत में फिल्म काबिल आई थी। इसके बाद अब वे सुपर 30 के जरिए अपने फैंस के सामने आ रहे हैं। सुपर 30 पटना के कोचिंग संचालक आनंद कुमार की बायोपिक फिल्म है। इस फिल्म के लिए रितिक ने खुद को काफी बदला है और यह फिल्म को पोस्टर्स को ट्रेलर में साफ तौर पर देखा जा सकता है। फिल्म का निर्देशन विकास बहल ने किया है। फिल्म में टैलेंट खाते सिस्टम पर प्रहार किया गया है। फिल्म जातिवाद पर भी प्रहार करती है। गरीबी और अमीरी के फर्क को दर्शाया है और साथ ही गांव की छोटी-छोटी बातों को शामिल किया है जिसका असर बड़ा होता है। फिल्म में रितिक का लुक शानदार है। उन्होंने आनंद कुमार का किरदार करते हुए अपने लुक से दर्शकों को प्रभावित किया है। फिल्म को लेकर रितिक के फैंस में एक्साइटमेंट है। वे रितिक की बेहतरीन एक्टिंग को एक बार फिर देखना चाहते हैं। 

फिल्म जगत ने हमेशा से फिल्मी नायकों और अनोखी कहानियों से दर्शकों को उम्मीद और प्रेरणा दी है। इसमें कोई दो राय नहीं कि सिनेमा ने आम जनमानस को बहुत ज्यादा प्रभावित किया है, मगर जब ठीक इसका उल्टा होता है, तो नजारा कुछ और सुखद हो जाता है। असली जीवन के नायकों की कहानियां फिल्मों के जरिए लोगों तक पहुंचती है और दर्शक हैरान रह जाते है कि इन अनसंग हीरोज ने समाज को किस तरह से बदला है। ऐसी ही कहानी है ‘सुपर 30’ की, जो जाने-माने गणितज्ञ आनंद कुमार की जिंदगी पर आधारित है।

आनंद कुमार पटना के गणित के वैसे टीचर हैं, जिन्होंने निचले तबके के अति अभावग्रस्त कुशाग्र बच्चों को फ्री कोचिंग देकर आईएआईटी में उनके दाखिले का मार्ग प्रशस्त किया। जिस वक्त शिक्षा मंत्री श्रीराम सिंह (पंकज त्रिपाठी) आनंद कुमार (रितिक रोशन) को गणित की प्रतियोगिता के लिए रामानुजन मेडल दे रहे होते हैं, उस वक्त भी आनंद कुमार की निगाहें बगल में खड़े लड़के के हाथ की किताब पर होती है। आनंद कुमार को अपनी बुद्धिमता और कड़ी मेहनत के बल पर कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए बुलावा आता है, मगर गरीबी उसका रास्ता रोक लेती है। बेटे को कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी न भेज पाने का गम आनंद कुमार के डाकिया पिता (वीरेन्द्र सक्सेना) को खा जाता है और उसके पेट की आग बुझाने के लिए उसे पापड़ तक बेचने पड़ते हैं। उसकी प्रेमिका रितु (मृणाल ठाकुर) भी उससे मुंह मोड़ लेती है। फिर एक दिन आनंद कुमार को लल्लन जी (आदित्य श्रीवास्तव) अपनी कोचिंग क्लासेज का स्टार टीचर बना कर पेश करते हैं और तब आनंद कुमार के गरीबी के दिन अमीरी की ऐश में बदल जाते हैं, मगर एक दिन उसे अहसास होता है कि वह सिर्फ राजा के बच्चों को राजा बनाने में लगा हुआ है। अर्जुन सरीखे साधन-सम्पन्न बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए उसे एकलव्य बनाकर उसका अंगूठा काटा जा रहा है। बस उसके बाद आनंद कुमार की सोच बदल जाती है। वह ‘सुपर 30’ की शुरुआत करता है, जिसके जरिए वह 30 ऐसे बच्चों को आईआईटी की तैयारी कराने का दुष्कर फैसला करता है, जिनके पास शिक्षा पाने की लगन तो है लेकिन साधन नहीं हैं। उसके इस फैसले में उसका भाई प्रणव कुमार (नंदीश सिंह) उसका पूरा साथ देता है, मगर उसका यह फैसला बहुत ही कांटों भरा साबित होता है। आनंद कुमार से जुड़े विवादों को अपनी कहानी से दूर ही रखा है, अतः उनसे जुड़े आरोपों का फिल्म में कोई जवाब नहीं मिलता, मगर इसमें कोई शक नहीं कि आनंद कुमार के जीवन के संघर्षों, परिवार के साथ उनके जज्बाती रिश्तों और गरीब बच्चों को रास्ते से उठाकर आईआईटियंस बनाने के जज्बे को वे अपने निर्देशन के जरिए बखूबी निभा ले गए हैं।

‘सुपर 30’ बच्चों की भूख, बेबसी और उनके अविष्कारों को विकास ने कहानी में इमोशनल ढंग से पिरोया है। ‘राजा का बेटा राजा नहीं रहेगा’, ‘आपत्ति से अविष्कार का जन्म होता है’ जैसे संवाद तालियां पीटने पर मजबूर कर देते हैं। क्लाइमैक्स और असरकारक हो सकता था।

रितिक रोशन आनंद कुमार के किरदार के सत्व को समझकर उसमें पूरी तरह से घुलमिल गए हैं। हालांकि, शुरुआत के कुछ मिनट जब हम इस इस ग्रीक गॉड कहलाने वाले सुपर स्टार को टैन और डी-ग्लैम अवतार में देसी भाषा बोलते देखते हैं, तो थोड़ा अलग लगता है, मगर फिर रितिक अपने समर्थ अभिनय के बल पर किरदार और कहानी के साथ तारतम्यता साध लेते हैं। वे हमें एक ऐसे सफर पर ले जाते हैं, जो आंसुओं के साथ उम्मीद भी देती है।

Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS
Continue Reading

लाइफस्टाइल

साउथ सिनेमा के जाने-माने एक्टर अमित पुरोहित का निधन

Published

on

साउथ सिनेमा के जाने-माने एक्टर अमित पुरोहित का निधन हो गया है। अमित की आकस्मिक मृत्यु से इंडस्ट्री मे शोक की लहर छा गयी है। कई साथी कलाकारों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अमित के निधन की असली वजह तो सामने नहीं आई है। मगर बताया जा रहा है कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हुआ। तेलुगु सिनेमा के मशहूर एक्टर सुधीर बाबू ने सोशल मीडिया में पोस्ट लिखकर अमित को श्रद्धांजलि दी है। अमित ने सुधीर के सम्मोहनम में काम किया था। हिंदी सिनेमा के दर्शक सुधीर बाबू को बाग़ी फ़िल्म के विलेन के रूप में जानते हैं। सुधीर ने लिखा- अमित पुरोहित के निधन से दुखी हूं। सम्मोहनम में उन्होंने समीरा के एक्स बॉयफ्रेंड अमित मल्होत्रा का रोल निभाया था। बहुत मिलनसार शख़्स, जो हर शॉट के सिए सौ फ़ीसदी देता था। एक और कमउम्र और अच्छे अभिनेता ने हमसे विदा ले ली। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।

हिंदी और दक्षिण भारतीय सिनेमा की एक्ट्रेस अदिति राव हैदरी ने लिखा कि ईश्वर अमित की आत्मा को शांति प्रदान करे। परिवार के लिए प्रार्थना और परिवार को दुख सहने की शक्ति मिले। एक विनम्र, मेहनती और बेहतरीन इंसान इतनी जल्दी चला गया। सम्मोहनम में आपकी अहम मौजूदगी के लिए शुक्रिया। सम्मोहनम के निर्देशक मोहन इंद्रगंती को अमित के असमय जाने से गहरा सदमा पहुंचा है। उन्होंन शोक जताते हुए लिखा- मुझे यक़ीन नहीं हो रहा है। अमित पुरोहित, सबसे सज्जन, अच्छे बर्ताव वाले और प्रतिभाशाली अभिनेताओं में शामिल। मैंने उनके साथ काम किया। कितना सरल इंसान था। अमित, तुम्हारी बहुत याद आएगी। मैं तो तुम्हारे साथ फिर काम करना चाहता था। मेरे भाई, ईश्वर तुम्हारी आत्मा को शांति दे।

Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

 

SHARE THIS
Continue Reading

देश-दुनिया

क्यो है सीओपीडी दुनिया भर में मौत का तीसरा प्रमुख कारण ?

Published

on

वायु प्रदूषण के खतरों के प्रति आगाह करते हुए एक अध्ययन में यह बताया गया है कि घर और दफ्तरों से बाहर प्रदूषित हवा (आउटडोर पल्यूशन) के संपर्क में आने से फेफड़ों की कार्यक्षमता में तो कमी आती ही है। साथ ही क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी) विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है। सीओपीडी फेफड़ों के कार्य से जुड़ी एक बीमारी है, जिसका असर लंबी अवधि के बाद भी जारी रहता है। इसके कारण फेफड़ों में सूजन और वायुमार्ग के सिकुड़ जाता है, जिससे सांस लेना मुश्किल हो जाता है। यह दावा शोधकर्ताओं ने तीन लाख लोगों के फेफड़ों की जांच कर किया है।

ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज (जीबीडी) प्रोजेक्ट के अनुसार, सीओपीडी दुनिया भर में मौत का तीसरा प्रमुख कारण है, और अंदेशा है कि अगले दस वर्षो में सीओपीडी से होने वाली मौतों की संख्या वैश्विक रूप से बढ़ सकती है। उम्र बढ़ने के साथ सामान्यत: फेफड़े संबंधी विकार भी पनपते हैं, लेकिन स्वास्थ्य पत्रिका ‘यूरोपियन रेस्पिरेट्री’ में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया है कि वायु प्रदूषण के कारण ये विकार कम उम्र में भी जकड़ लेते हैं और व्यक्ति बीमारियों से घिर जाता है। ब्रिटेन की लीस्टर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर एना हैंसेल ने कहा कि अब तक केवल कुछ ही अध्ययन प्रकाशित हुए हैं जो यह बताते हैं कि वायु प्रदूषण फेफड़ों के स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करता है। इस अध्यन के लिए शोधकर्ताओं ने प्रदूषण के स्तर का अनुमान लगाने के लिए एक विशेष वायु प्रदूषण मॉडल का उपयोग किया।
इसके जरिए ब्रिटेन में लोगों को उनके घरों में प्रदूषण के कारण होने वाले स्वास्थ्य समस्याओं का पता भी लगाया गया था। बाद में इसे बायोबैंक के अध्ययन में भी शामिल किया गया था। इस दौरान शोधकर्ताओं ने हवा में घुले पार्टिकुलेट मैटर (पीएम10), फाइन पार्टिकुलेट मैटर (पीएम2.5) और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड (एनओ 2) की जांच की। ये प्रदूषक पेट्रोल वाहनों के साथ-साथ बिजली संयंत्रों और औद्योगिक उत्सर्जन से उत्पन्न होते हैं। शोधकर्ताओं ने इसके बाद परीक्षण कर यह पता लगाया कि वायुमंडल में प्रदूषकों के उच्च स्तर होने पर वह प्रतिभागियों के फेफड़ों के काम को कैसे प्रभावित करता है।
इस दौरान उन्होंने प्रतिभागियों की उम्र, लिंग, बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई), घरेलू आय, शिक्षा का स्तर, धूम्रपान की स्थिति आदि का विश्लेषण किया गया। इस दौरान शोधकर्ताऔं ने पाया कि सीओपीडी के जोखिमों के लिए यह देखना जरूरी है कि लोग क्या काम करते हैं।
Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS
Continue Reading

ब्रेकिंग खबरे !!!!

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive1 week ago

रोहित-राहुल के शतक की बदौलत भारत की श्रीलंका पर शानदार जीत

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer Post Views: 35 SHARE THIS

Etoi Exclusive3 weeks ago

कौन होगा छत्तीसगढ़ का पीसीसी चीफ ?

आज पुरे प्रदेश के राजनैतिक पंडितों के दिमाग में बहुत से प्रश्न तैर रहें होंगे उनमें से ज्यादा तर प्रश्न...

Etoi Exclusive1 month ago

सुर्ख़ियाँ

etoinews.com के बीते दो घंटे की सुखियाॅ क्या रहीं विशेष खबरे और क्या था उनको खबरो के पीछे और क्या...

Etoi Exclusive1 month ago

मोदी का स्पेस विजन चंद्रयान 2

सम्पादकीय ,,,,, भारत बनेगा अंतरिक्ष का सुपरपावर  ? क्या बनाएगा अपना स्पेस स्टेशन ?   Click Here To Read Astrological...

Etoi Exclusive1 month ago

मोदी हैं तो मुमकिन है:पाम्पियो :अमेरिकी विदेश मंत्री

सम्पादकीय ,,,,, मोदी हैं तो मुमकिन है                          ...

Advertisement
Advertisement
July 2019
M T W T F S S
« Jun    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
Advertisement

निधन !!!

निधन1 month ago

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर गिरीश कर्नाड का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer बॉलीवुड के मशहूर एक्टर गिरीश कर्नाड का सोमवार को 81 साल...

Uncategoried4 months ago

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर आज होगा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। पैंक्रियाटिक कैंसर से पिछले एक...

निधन5 months ago

पैसों की तंगी झेल रहे बॉलीवुड के खलनायक की मौत, घर में मिली लाश

शक्ति कपूर बोले- काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, सेट पर भी पीते थे शराब Click Here...

निधन6 months ago

निधन – फत्तेचंद अग्रवाल सक्ती

सक्ति (कन्हैया गोयल) 31/01/2019 शक्ति शहर की प्रतिष्ठित फर्म काशीराम फत्तेचंद के संचालक सजन अग्रवाल, पवन अग्रवाल एवं नवलकिशोर अग्रवाल...

दिल्ली6 months ago

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का 89 साल की उम्र में निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नई दिल्ली 29 जनवरी 2019 भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज...

निधन6 months ago

श्रीमती कमला सिंह का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 28/01/2029 भैंसदा के प्रतिष्ठित ठाकुर परिवार के स्व. पलटन सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती कमला सिंह का 28 जनवरी...

निधन6 months ago

जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता विजय श्रीवास्तव पंचतत्व में विलीन

27 जनवरी को आयोजित जेष्ठ पुत्रमयंक का वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित बिलासपुर (अमित मिश्रा) 27/01/2019 हसदेव कछार जल संसाधन विभाग बिलासपुर...

निधन6 months ago

रायपुर : श्रीमती माणक बाई ललवाणी (जैन) का निधन

रायपुर,14/01/2019 रायपुर निवासी श्रीमती माणक बाई ललवाणी  (जैन) 95 वर्ष, घर्मपत्नी स्व.पन्नालाल ललवाणी का स्वर्गवास आज हो गया हैं जिनकी...

निधन6 months ago

रायपुर : श्रीमती बिदामी बाई बुरड़ का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर,14/01/2019 आनन्द नगर विनायक इनक्लेव, रायपुर निवासी श्रीमती बिदामी बाई पत्नी...

निधन6 months ago

छोटेलाल कौशिक का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 09/01/2019 ग्राम डोंगाकोहरौद के मालगुजार छोटेलाल कौशिक का गत् 4 जनवरी को हो गया। अचानक वे 3...

Advertisement

Trending

Breaking News