Connect with us

छत्तीसगढ़

जीभ में स्वाद नहीं आने और गले में खराश होने से परेशान, माँ और बेटी ने खाया जहर, एक की मौत

Published

on

बिलासपुर : सोनगंगा कॉलोनी में शनिवार को मां-बेटी ने जहर खा लिया और अपने कुत्ते को भी चूहामार दे दिया। इससे मां की मौत हो गई। बेटी को सिम्स में भर्ती कराया गया है। खुदकुशी करने से पहले बेटी ने दो चिट्‌ठियां लिखी। एक में खुदकुशी के कारण है। दूसरी चिट्‌ठी मकान मालिक के नाम पर है जिसमें किराए के मकान का हिसाब किताब है।

चिटि्ठयां हूबहू- पत्र-1 जीभ में किसी तरह का स्वाद महसूस न होना,गले में खराश बने रहना तथा अत्यधिक मात्रा में चक्कर आना,स्वास्थ्य संबंधी अपनी इन्हीं समस्याओं से हम जिंदगी से पूरी तरह निराश और हताश हो चुके हैं। अत: हम कीटनाशक का सेवन कर अपनी जीवनलीला को समाप्त कर रहे हैं, सके लिए हम स्वयं जिम्मेदार हैं। इसके लिए किसी को भी दोषी न ठहराया जाए। यदि हम इस कीटनाशक दवा के सेवन से नहीं मरते हैं तब भी हमें बचाने का प्रयास न किया जाए, क्योंकि हमारी जीने की इच्छा शक्ति खत्म हो चुकी है।

हम अपने डॉगी को भी जहर देकर उसकी जीवन लीला समाप्त कर रहे हैं, क्योंकि वह भी कई महीनों से स्वास्थ्य खराबी से जूझ रहा है। अत: हमारे बाद उसकी देखभाल करने वाला भी कोई नहीं होगा। हमारे मकान मालिक संजय चक्रवर्ती हैं, जिनके साथ हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं किन्तु हमारे इस तरह से उठाए हुए कदम से उन्हें कुछ परेशानी हो सकती है, क्योंकि उन्हें अपना मकान जल्दी से जल्दी तैयार करवाना है। अत: हमारा विनम्र निवेदन हैं कि उन्हें किसी तरह से परेशान न किया जाए।

वे पूरी तरह से निर्दोष हैं। हमारे घर के सामान को लावारिस सामान समझ लिया जाए। हमारे शव के लिए किसी भी रिश्तेदार या दावेदार को मत खोजियेगा बल्कि हमारे शव को लावारिस समझ के जो भी कार्रवाई होती होगी,करवा दीजिएगा। निवेदन है कि हमारे मकान मालिक संजय चक्रवर्ती को किसी तरह से परेशान न किया जाए। वे पूरी तरह से निर्दोष हैं।

पत्र-2 मकान मालिक के नाम: आपके मकान में अपनों की तरह रहें, आप जैसे मकान मालिक सभी को दें, संजय चक्रवर्ती साहब, आपके मकान में शिफ्ट करने से पहले हमने आपको 04/02/2014 को 8,000/-रुपए एडवांश दिए थे, आप अभी दिसंबर 2020 का मकान का किराया 6,000/-उसी में से काट लीजिएगा। दिसंबर 2020+जनवरी2021 के बिजली पानी के बिल का भुगतान, हमने कर दिया है एवं बिल भी आपको सौंप दिया है।

बचे हुए 2,000/-रुपए को आप जनवरी 2021 के 10 दिनों का किराया समझ लीजिएगा। आपके मकान में अपनों की तरह रहे और आपने जो अपनापन दिया, उसका बहुत-बहुत धन्यवाद। जाने अनजाने में यदि हमसे कोई गलती हुई हो या हमने आपका दिल दुखाया हो, उसके लिए हम बारंबार क्षमा प्रार्थी हैं। ईश्वर आप जैसे सभ्य, सहनशील, समझदार एवं सुलझे-विचारों के मकान मालिक सभी को दें। -श्वेता वर्मा

काफी देर से भौंक रहा था कुत्ता, संदेह हुआ

सरकंडा क्षेत्र के सोनगंगा कॉलोनी, बी-15 संजय चक्रवर्ती का मकान है। 2015 से इसमें सकुन वर्मा पति स्व हरीशचंद्र वर्मा 60वर्ष अपनी बेटी श्वेता 45वर्ष व बेटे सचिन के साथ रहती थीं। पति एसईसीएल के रिटायर्ड कर्मचारी थे। डेढ़ साल पहले उनकी मौत हो चुकी है। सचिन बाहर रहता है। पति के पेंशन से घर का खर्च का खर्च चलता था। मकान के ऊपरी हिस्से का मरम्मत चल रहा है। शनिवार की सुबह 10.30 से सकुन का पालतू कुत्ता बाहर काफी समय से भौंक रहा था पर भीतर से कोई बाहर नहीं निकल रहा था।

मजदूरों को संदेह हुआ तो ठेकेदार को बताया। ठेकेदार दरवाजे पर आकर आवाज दिया पर कोई जवाब नहीं मिला। अंदर भी हलचल नहीं थी। उसने मकान मालिक को फोन किया। मकान मालिक ने सकुन के मोबाइल पर कॉल किया पर रिसीव नहीं हुआ। उन्हें किसी गड़बड़ी का अंदेशा हुआ और 108 को बुलाया। एंबुलेंस पहुंची तो मजदूरों ने मिलकर दरवाजा खोला।

भीतर कमरे में सकुन और श्वेता चित पड़ थे। सकुन के शरीर पर हलचल नहीं था। श्वेता की सांसे चल रही थी। दोनों को तत्काल सिम्स लाया गया। यहां डॉक्टरों ने सकुन को मृत घोषित कर दिया। श्वेता की हालत गंभीर होने के कारण भर्ती कर लिया गया।

घटना की सूचना मिलते ही सरकंडा पुलिस एफएसएल टीम के साथ मौके पर पहुंची। जांच में सकुन व श्वेता के कमरे के भीतर से चूहा मारने वाला रोटेल नाम का पेस्ट का रेपर मिला। कमरे में स्टील का कप था। इसमें चूहामार घुला था। पास दो अलग-अलग पन्नों में सुसाइट नोट लिखे पड़े थे। दोनों को ही श्वेता ने लिखा था।

बेटी की हालत गंभीर होने से मृत्यपूर्व बयान नहीं हो पाया : महिला की बेटी श्वेता की हालत बहुत गंभीर है। उसे सिम्स के आईसीयू में रखा गया है। पुलिस उसका मृत्युपूर्व बयान कराना चाहती थी पर डॉक्टरों ने अनुमति नहीं दी। कहा- वह बातचीत करने की स्थिति में नहीं है।

 

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Breaking

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 25/01/2021

Published

on

  1. भारतीय रिजर्व बैंक जॉब : 241 सिक्योरिटी गार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करें
  2. शख्स ने अपने कुत्ते को दूल्हा बनाकर दिया उसकी शादी का विज्ञापन
  3. बर्फ के ऊपर दिखी ऐसी आकृति, नासा के वैज्ञानिक जुटे रिसर्च में
  4. कम बजट में भारत मे लांच हुई 3 नई Smart TV, जानिए फीचर
  5. SBI की नई स्कीम : करें 5000 रुपए से शुरुआत, मिलेगी एफडी से डबल मुनाफा
  6. “जय श्री राम” के नारे से क्यों नाराज हुई ममता?
  7. ये सरकारी बैंक सेविंग अकाउंट पर दे रहे हैं बेहतरीन ब्याज दर
  8. कोरोना काल में इस फिल्म से होगी 3डी प्रदर्शन की शुरुआत
  9. सिडनी टेस्ट : टूटे अंगूठे से भी बल्लेबाजी करने को तैयार थे जडेजा
  10. शिक्षक बना हैवान… बहाने से बुलाकर लूटी अस्मत…
  11. बर्ड फ्लू : एफएसएसएआई ने अंडे और चिकन खाने के सही तरीके के लिए 10-पॉइंट गाइड जारी किया
  12. फिल्म नायक की तर्ज पर उत्तराखंड की एक दिन की मुख्यमंत्री
  13. सिक्योरिटी गार्ड के 241 रेगुलर पदों में भर्ती
  14. 2 मादा मछलियों ने बिना किसी नर के बच्चों को दिया जन्म, वैज्ञानिक रह गए हैरान
  15. सस्ता हुआ सैमसंग का 64 मेगापिक्सल कैमरे वाला ये स्मार्टफोन, 7000mAh की है बड़ी बैटरी
  16. इन राज्यों के पॉल्ट्री फार्म में एवियन इंफ्लूएंजा की हुई पुष्टि
  17. लोकसभा सचिवालय भर्ती : 35,000 से लेकर 90,000 रुपये का वेतन, कैसे करें आवेदन?
  18. पत्नी ने मुंह और नाक में डाला फेवीक्विक… तड़प-तड़प कर मरा पति
  19. अब ट्रेनों में भी मिलेगा शराब
  20. सिरफिरे युवक ने राजधानी में मचाया जमकर उत्पात… एक साथ सात गाड़ियों में लगा दी आग… CCTV में कैद वारदात
  21. छत्तीसगढ़: देह व्यापार मामले में 3 महिला गिरफ्तार…
  22. कोरोना अपडेट : 14,849 नए मामले… 155 मौते
  23. एक हफ्ते में चौथी बार महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल
  24. ठंड और बारिश से बेहाल किसान, 5000 रुपये तक किराये पर लिए मकान
  25. इन लॉर्ज और स्मॉल कैप शेयरों पर है Foreign brokerages की नजर, क्या इनमें से है कोई आपके पास
  26. नई फोटो के साथ अक्षय कुमार ने दी बच्चन पांडे के रिलीज डेट
  27. “भारत में बना कोरोना वैक्सीन सुरक्षित, अफवाहों पर ना दें ध्यान” : सायना नेहवाल
  28. दुनिया में भारत का डंका : ब्राजील के राष्ट्रपति बोले ‘संजीवनी बूटी’ के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद
  29. वुहान में लॉकडाउन की सालगिरह
  30. एक बार फिर हैवानियत का मामला आया सामने : हाथी पर फेंका जलता हुआ टायर, हुई मौत
  31. बैंक लॉकर में रखे लाखो की नोट, दीमक लगने से हुए नष्ट…
  32. 10 महिलाओं से शादी के बाद भी पति नही बन सका बाप, करोड़ो की संपत्ति के लालच में भाभी ने किया ऐसा
  33. सड़क पर लड़की की हो रही थी पिटाई, एसीपी ने नजारा देखकर लिया संज्ञान, और फिर
  34. मुनाफे की गारंटी! खुद बने मालिक, शुरू करे ये बिजनेस हर महीने होगा लाखों का फायदा
  35. अब किसी भी अस्पताल में इलाज के लिए कोरोना की जांच रिपोर्ट जरूरी नहीं
  36. रायपुर रेल मंडल ने रचा इतिहास, देश की सबसे लंबी ट्रेन “वासुकी” को किया रवाना
  37. सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती
  38. मुफ्त में पाएं LPG गैस सिलेंडर, ऐसे बुक कर उठाएं ऑफर का लाभ
  39. छत्तीसगढ़: बाप ने की बेटे को जिंदा जलाने की कोशिश
  40. 31 जनवरी तक लागू हुई धारा 144, इन पर लगी रोक
  41. कोरोना वायरस के नए लक्षण का खुलासा
  42. कोरोना वैक्सीन लगवाने वाली पुष्पा से मोदी का सवाल, पहले डर था…अब क्या
  43. कोरोना अपडेट : 14,256 नए मामले… 152 मौते
  44. इंडियन एयर फ़ोर्स भर्ती 2021 : 12वीं पास युवाओं के लिए मौका
  45. HCRAJ भर्ती 2021 : LLB पास 85 जिला जज वैकेंसी के लिए आवेदन आमंत्रित
  46. हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला : “मृतक के स्पर्म पर पिता या उसकी विधवा पत्नी का अधिकार?”
  47. नए कांग्रेस अध्यक्ष के लिए मई में होंगे चुनाव
  48. पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतें आप की जेब पर पडेंगी भारी

Continue Reading

छत्तीसगढ़

कक्षा 10वीं एवं 12वीं के मुख्य परीक्षा हेतु समय-सारणी जारी

Published

on

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कक्षा 10वीं तथा 12वीं की मुख्य परीक्षा 2021 के लिए समय सारणी घोषित कर दी गई है जिला शिक्षा अधिकारी श्री बी.एक्का ने जानकारी देते हुए बताया कि कक्षा दसवीं की मुख्य परीक्षा 15 अप्रैल 2021 से 1 मई 2021 तक तथा कक्षा 12वीं की मुख्य परीक्षा 3 मई 2021 से प्रारंभ होकर 24 मई 2021 को समाप्त होगी। मुख्य परीक्षा का माध्यम ऑफलाइन होगा तथा इस वर्ष छात्रों को उन्हीं के अध्ययनरत स्कूल में परीक्षा केंद्र बनाकर परीक्षा देने की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष प्रयोजना कार्य तथा प्रायोगिक परीक्षाएं 10 फरवरी 2021 से प्रारंभ होगी तथा इन परीक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए एक विषय की प्रायोगिक परीक्षा एक ही दिन में दो पालियों में आयोजित की जाएगी। यदि छात्रों की संख्या अधिक होगी तो प्रायोगिक परीक्षा एक से अधिक दिनों में भी ली जा सकती है। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर प्रायोगिक परीक्षा में बाह्य परीक्षक की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है। इन परीक्षाओं के अतिरिक्त कक्षा 9वी और 11वीं की परीक्षाएं स्थानीय स्तर पर पूर्ववत आयोजित होंगी तथा छात्र अध्ययनरत स्कूल में ही परीक्षा देंगे। संबंधित स्कूल परीक्षा का प्रश्न पत्र तैयार करेगा तथा समय सारणी तैयार कर मूल्यांकन उपरांत परीक्षा परिणाम घोषित की जायेगी। कक्षा 10वीं एवं 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए हाई स्कूल तथा हायर सेकेंडरी स्कूल की मुख्य परीक्षा की समय सारणी छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की वेबसाइट में उपलब्ध है।

Continue Reading

छत्तीसगढ़

लघु वनोपज खरीदी में छत्तीसगढ़ देश में अव्वल

Published

on

छत्तीसगढ़ राज्य में लघु वनोपज की बहुलता और राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर इसकी खरीदी की बेहतर व्यवस्था के जरिए वनवासियों के दिन बहुरने लगे हैं। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बीते दो सालों में वनवासियों एवं लघु वनोपज संग्राहकों के जीवन में तब्दीली लाने के क्रांतिकारी फैसलों ने औने-पौने दाम में बिकने वाले लघु वनोपज को अब मूल्यवान बना दिया है। जिसका सीधा लाभ यहां के वनोपज संग्राहकों को मिलने लगा है। यही कारण है कि छत्तीसगढ़ राज्य आज लघु वनोपज के संग्रहण के मामले में देश का अव्वल राज्य बन गया है। देश का 73 प्रतिशत वनोपज क्रय कर छत्तीसगढ़ राज्य में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। छत्तीसगढ़ देश का एकमात्र राज्य है, जहां 52 प्रकार के लघु वनोपज को समर्थन मूल्य पर क्रय किया जा रहा है। इससे वनवासियों एवं वनोपज संग्राहकों को सीधा लाभ मिल रहा है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने लघु वनोपजों की खरीदी की व्यवस्था के साथ-साथ अब इनके वैल्यू एडीशन की दिशा में तेजी से पहल शुरू कर दी है। राज्य में वनांचल परियोजना शुरू की गई है। जिसका उद्देश्य वनांचल क्षेत्रों में लघु वनोपज आधारित उद्योगों की स्थापना कर वनवासियों द्वारा संग्रहित किए गए लघु वनोपज का मूल्य संवर्धन कर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने लघु वनोपज आधारित उद्योगों के प्रोत्साहन के लिए राज्य की नई उद्योग नीति में कई तरह के छूट एवं आकर्षक पैकेज देने का प्रावधान किया है। जिसके चलते उद्यमी अब वनांचल क्षेत्रों में वनोपज आधारित उद्योग लगाने के लिए आकर्षित होने लगे हैं। अब तक 15 उद्यमियों ने वनांचल क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के वनोपज आधारित उद्योग लगाने के लिए राज्य सरकार को 75 करोड़ रूपए के पूंजी निवेश के प्रस्ताव सहित आवेदन दिया है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर वनोपज संग्राहकों को उनकी मेहनत का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए लघु वनोपजों के क्रय मूल्य में बढ़ोतरी के साथ-साथ तेंदूपत्ता संग्रहण की दर को 2500 रूपए प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर सीधे 4000 रूपए प्रति मानक बोरा किया गया। जिसकी वजह से राज्य के लगभग 12 लाख तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों को प्रति वर्ष 225 करोड़ रूपए की अतिरिक्त मजदूरी के साथ ही 232 करोड़ रूपए का अतिरिक्त प्रोत्साहन पारिश्रमिक बोनस भी मिला है।

महुआ के समर्थन मूल्य को 17 रूपए से बढ़ाकर 30 रूपए प्रति किलोग्राम, इमली 25 रूपए के बजाय अब 36 रूपए प्रति किलो, चिरौंजी गुठली 93 रूपए से बढ़ाकर 126 रूपए प्रति किलो की दर से समर्थन मूल्य पर क्रय की जाने लगी है। इसी तरह रंगीनी लाख 130 रूपए प्रति किलो ग्राम से बढ़ाकर रूपये 220 प्रति किलोग्राम, कुसमी लाख 200 प्रति किलोग्राम से बढ़ाकर अब 300 रूपए प्रति किलोग्राम, शहद 195 रूपए से बढ़ाकर रूपये 225 प्रति किलोग्राम में खरीदा जा रहा है। इसका सीधा लाभ 5 लाख ग्रामीण परिवारों को प्राप्त हुआ। अन्य वनोपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने और खरीदी की व्यवस्था करने से ग्रामीणों को लगभग 300 करोड़ रूपए की अतिरिक्त लाभ होने लगा है।

वर्तमान में राज्य में संग्रहित वनोपज ही केवल पांच फीसद हिस्से का ही प्रसंस्करण राज्य में होता है। इस स्थिति को बदलने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने वनांचल परियोजना प्रारंभ की गई है, बस्तर जैसे क्षेत्र में वनोपज आधारित उद्योग को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से आकर्षक सब्सिडी का प्रावधान किया गया है। इस योजना से उत्साहित होकर बस्तर क्षेत्र में 15 उद्यमियों ने लघु वनोपज आधारित उद्योग स्थापित करने हेतु अपनी सहमति दी है। इनके साथ एम.ओ.यू प्रक्रियाधीन है। वनोपज आधारित उद्योगों में इमली, महुआ, टोरा, हर्रा, बहेड़ा, ला, एसेन्सियल आईल, मुनगा, कोदो कुटकी, रागी आग गुठली, काजू, भिलवा आदि के उद्योग लगाये जायेंगे। इन उद्योगों की बस्तर में लगने से यहाँ के ग्रामीणों को न केवल अतिरिक्त रोजगार प्राप्त होगा, बल्कि वनोपज की लगातार मांग बनी रहेगी। वनांचल से प्राप्त होने वाले वनोपज के अलावा इन उद्योगों के स्थापित होने से बस्तर अंचल के कृषक मुनगा, लेमन ग्रास, सतवर, पचौली, वेटीवर, सफेद मूसली, पिपली, अश्वगंधा जैसे जड़ी बूटियों की खेती भी कर सकेंगे। इससे उन्हें अन्य फसलों की तुलना में दुगनी आय प्राप्त होगी। इन फसलों से एसेन्सियल आईल, एरोमेटिक आईल एवं औषधि उत्पाद तैयार होंगे, जिसका देश के बाहर निर्यात की बड़ी संभावनाएं है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

Breaking16 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 25/01/2021

भारतीय रिजर्व बैंक जॉब : 241 सिक्योरिटी गार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करें शख्स ने अपने कुत्ते को दूल्हा बनाकर...

छत्तीसगढ़16 hours ago

कक्षा 10वीं एवं 12वीं के मुख्य परीक्षा हेतु समय-सारणी जारी

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कक्षा 10वीं तथा 12वीं की मुख्य परीक्षा 2021 के लिए समय सारणी घोषित कर दी...

छत्तीसगढ़16 hours ago

लघु वनोपज खरीदी में छत्तीसगढ़ देश में अव्वल

छत्तीसगढ़ राज्य में लघु वनोपज की बहुलता और राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर इसकी खरीदी की बेहतर व्यवस्था के...

छत्तीसगढ़16 hours ago

भगवान से कम नहीं किसान इसलिए किसानों का करें सम्मानः मंत्री डॉ डहरिया

नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आरंग विधानसभा क्षेत्र के ग्राम रसनी में साहू समाज के कार्यक्रम में शामिल...

छत्तीसगढ़22 hours ago

शिक्षक बना हैवान… बहाने से बुलाकर लूटी अस्मत…

राजनांदगांव। जिले के घुमका ब्लाक के चंवरढाल में एक स्कूली छात्रा को शिक्षक ने अपनी हवस का शिकार बनाया है।...

#Exclusive खबरे

Calendar

January 2021
S M T W T F S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  

निधन !!!

Advertisement

Trending