Connect with us

अन्य खबरे

यूपी में नहीं चला महागठबंधन का जोर

Published

on

  • उत्तर-प्रदेश से भाजपा को उखाड़ फेंकने के संकल्प के साथ गठित सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन को लोकसभा चुनाव में उम्मीद से कहीं कम सफलता हाथ लगी। प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से कम से कम 60 सीटें जीतने की उम्मीद कर रहे गठबंधन को महज 15 सीटें ही मिली हैं। वोट प्रतिशत के लिहाज से देखें तो सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन का प्रयोग बिल्कुल नाकाम साबित हुआ। एक-दूसरे को अपना वोट अंतरित करने का दावा कर रही सपा और बसपा का वोट प्रतिशत बढ़ने के बजाय घट गया।चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में जहां सपा को 22.35 प्रतिशत वोट मिले थे, वहीं इस बार यह आंकड़ा घटकर 17.96 फीसद ही रह गया। पिछली बार बसपा को 19.77 प्रतिशत मत प्राप्त हुए थे, जो इस बार घटकर 19.26 फीसद रह गये। जहां तक रालोद का सवाल है तो पिछली बार की तरह ही वह इस बार भी एक भी सीट जीतने में सफल नहीं रहा। हालांकि उसका वोट प्रतिशत 0.86 प्रतिशत से बढ़कर 1.67 फीसद हो गया।
  • वैसे यह गठजोड़ वर्ष 2014 में एक भी सीट नहीं जीतने वाली बसपा के लिये संजीवनी साबित हुआ। वोट प्रतिशत में गिरावट के बावजूद उसे इस दफा 10 सीटें मिलीं, जबकि सपा को पिछली बार की ही तरह इस बार भी पांच सीटों से संतोष करना पड़ा।बसपा की झोली में अम्बेडकर नगर, अमरोहा, बिजनौर, गाजीपुर, घोसी, जौनपुर, लालगंज, नगीना, सहारनपुर और श्रावस्ती सीटें आयीं। वहीं, सपा को आजमगढ़, मैनपुरी, मुरादाबाद, रामपुर और सम्भल सीटें ही मिल सकीं। हालांकि यादव कुनबे के लिहाज से देखें तो इस बार का चुनाव उसके लिये करारा झटका साबित हुआ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव और पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव क्रमश: आजमगढ़ और मैनपुरी से चुनाव जीतने में जरूर कामयाब रहे। मगर अखिलेश की पत्नी एवं कन्नौज की मौजूदा सांसद डिम्पल यादव को भाजपा प्रत्याशी सुब्रत पाठक के हाथों 12353 मतों से शिकस्त का सामना करना पड़ा।
  • इसके अलावा फिरोजाबाद सीट से अखिलेश के चचेरे भाई अक्षय यादव और बदायूं सीट से चचेरे भाई धर्मेन्द्र यादव को अपनी-अपनी सीट गंवानी पड़ी।गठबंधन के भविष्य को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने तो सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है, लेकिन सपा की ओर से इस बारे में अभी तक कोई ठोस बात सामने नहीं आयी है। मायावती ने चुनाव नतीजों की घोषणा के बीच संवाददाताओं से कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह ने पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ गठबंधन के सभी उम्मीदवारों को जिताने के लिये जी-जान से प्रयास किया है, उसके लिये वह उनका आभार प्रकट करती हैं।दूसरी ओर, सपा विचार-मंथन की मुद्रा में है। अपने वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव की नाराजगी और उनके अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ने से भी सपा को नुकसान हुआ है। सपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को पार्टी नेताओं के साथ बैठक करके परिणामों की समीक्षा की।

Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है।

SHARE THIS

अन्य खबरे

अब हाई-टेक हुए पंडित-पुरोहित,वेबसाइट पर करनी होगी Booking

Published

on

उत्तर प्रदेश सरकार अब संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए अपने पुरोहितों और कर्मकांड करने वालों को हाईटेक बनाने जा रही है. आने वाले समय में उनका पूरा डेटा बेवसाइट पर दर्ज होगा, जिससे उन्हें वहीं से बुक करके बुलाया जा सकता है. इसके लिए संस्कृत संस्थान रोजगारपरक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने जा रहा है. संस्थान के अध्यक्ष वाचस्पति मिश्रा ने आईएएनएस को बताया, “शीघ्र ही प्रदेश भर के समस्त जिलों में ज्योतिष, कर्मकांड, योग विधा का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा. इसके लिए प्रशिक्षकों के आवेदन मांगे जा रहे हैं, जिन्हें बदले में 500 रुपये रोज दिया जाएगा.”

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

51,000 रूपये के लिए शादी के बाद सेल्फी लेने दूल्हा पहुंच गया टॉयलेट

Published

on

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में एक खबर आई कि अगर टॉयलेट के साथ सेल्फी खींचकर सरकार को भेजा जाएगा, तभी योजना के 51 हजार रुपए मिलेंगे. खबर आई तो सरकार ने इस फैसले से इनकार किया, लेकिन ये साफ नहीं किया कि फिर शौचालय में सेल्फी की ये तस्वीरें क्यों खिंचवाई गईं. एक तस्वीर वायरल हुई, जहां दूल्हा टॉयलेट के अंदर सेल्फी ले रहा है.दूल्हे का नाम मोहम्मद सद्दाम है, ये चाहते हैं कि इनकी पत्नी को मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कन्या विवाह-निकाह योजना के तहत मिलने वाले 51,000 रूपये मिलें. 10 अक्टूबर को हुए भोपाल में हुए इस सामूहिक निकाह में भी अधिकारियों ने शौचालय के साथ सेल्फी जमा कराई थी. राज्य सरकार ने अब सेल्फी लेने वाले इस फैसले से इनकार किया है.

 

 

 

SHARE THIS
Continue Reading

अन्य खबरे

मोदी सरकार की नई योजना, पुरानी गाड़ियों के जरिए आप भी कर सकते हैं कमाई

Published

on

अगर आप बिजनेस करने की सोच रहे है तो यह आपके लिए बेहतर मौका साबित हो सकता है. दरअसल, मोदी सरकार  ने पुरानी गाड़ियों  को ठिकाने लगाने के लिए स्क्रैपिंग सेंटर  लगाने को लेकर नियम जारी कर दी है. सड़क परिवहन मंत्रालय  ने स्क्रैपिंग सेंटर लगाने के नए नियम जारी किए हैं. स्क्रैपिंग सेंटर  खोलने के नियम जारी होने से एक नए बिजनेस की शुरुआत होगी. ऐसे में आप स्क्रैपिंग सेंटर खोलकर कमाई कर सकते हैं. बता दें कि सरकार पुरानी गाड़ियों के लिए एक स्क्रैपेज पॉलिसी  लाने की तैयारी कर रही है.

फिलहाल ज्यादातर असंगठित क्षेत्र की इकाइयां गाड़ियों की स्क्रैपिंग का काम करती हैं और उनसे ज्यादा प्रदूषण फैलता है. इसको संगठित करने के लिए सरकार ने गाड़ियों की स्क्रैपिंग के सेंटर लगाने को लेकर नियम जारी किए हैं.

किन गाड़ियों की स्क्रैपिंग हो सकेगी?

स्क्रैपिंग सेंटर में उन गाड़ियों की स्क्रैपिंग होगी जो अथॉरिटी के द्वारा जब्त की गई हैं. दुर्घटनाग्रस्त या आग से क्षतिग्रस्त हुई गाड़ियों की भी स्क्रैपिंग हो सकेगी. अगर गाड़ी का मालिक खुद गाड़ी स्क्रैप कराना चाहे तो उसकी भी स्क्रैपिंग होगी.

स्क्रैपिंग के लिए जो गाड़ियां आयेंगी वो ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री के व्हीकल डेटाबेस से जुड़ी हों. इन गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन भी स्क्रैपिंग सेंटर पर कैंसल किया जाएगा. इसके लिए लोगों को RTO के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. ये सेंटर गाड़ी मालिकों को स्क्रैपिंग सर्टिफिकेट भी जारी करेंगे.

स्क्रैपिंग सेंटर लगाने वालों के लिए जरूरतें

अगर आप स्क्रैपिंग सेंटर लगाना चाहते हैं तो आपके पास पर्याप्त आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर होना चाहिए. वहीं आपके पास जीएसटी रजिस्ट्रेशन, पैन आदि दस्तावेज होने चाहिए. इसके साथ ही पर्यारवण सहित सभी जरूरी मंजूरी होनी चाहिए. स्क्रैपिंग सेंटर लगाने के लिए 4000 वर्ग मीटर से 8000 वर्ग मीटर जगह होनी चाहिए.

कैसे होगी स्क्रैपिंग?

स्क्रैपिंग कराने वालों को गाड़ी से जरूरी दस्तावेज देने होंगे. एक ऑथराईजेशन पत्र देना होगा. स्क्रैपिंग सेंटर की तरफ से एक स्क्रैपिंग सर्टिफिकेट दिया जाएगा.

स्कैप्ड गाड़ियों पर रोड टैक्स में छूट

स्कैप्ड गाड़ियों पर रोड टैक्स में छूट दी सकती है. 15 साल से पुरानी गाड़ियों को हर 6 महीने में फिटनेस सर्टिफिकेट लेने के लिए कहा जाएगा और ये नियम 1 जुलाई 2020 से लागू हो जाएगा.

15 साल पुरानी गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन के रिनुअल्स में 20 गुना से ज्यादा की बढ़ोतरी की गई है. अभी छोटी प्राइवेट कार का रजिस्ट्रेशन रिनुअल्स पर 600 रुपये लगते हैं, लेकिन स्क्रैपेज पॉलिसी में यह 15,000 रुपये प्रस्तावित है. 7.5 टन से कम छोटी कमर्शियल गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन रिनुअल्स अभी 1,000 रुपये है, जो प्रस्तावित है 20,000 रुपये. मिडियम और हैवी कमर्शियल गाड़ियों के रिनुअल के लिए 1,500 रुपये देने पड़े हैं, प्रस्ताव है 40,000 रुपये.

ट्रांसफरेबल होगा स्क्रैपेज सर्टिफिकेट

खास बात यह है कि स्क्रैपेज सर्टिफिकेट ट्रांसफरेबल होगा. अगर आप अपनी पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करते है और आप नई गाड़ी नहीं खरीदते हैं, तो भी आप इसे किसी को बेच सकते हैं. उसका मॉनिटरी फायदा आप उठा सकते हैं. 15 साल पूरा होने पर अगर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नहीं कराया जाता है तो इसे मोटर व्हीकल नहीं जाएगा. यानी उसके बाद इसका फायदा नहीं उठा पाएंगे. शहरी इलाकों में पुरानी गाड़ियों की एंट्री पर रोक लगाने की बात कही गई है.

10 साल पुरानी गाड़ी बेचने पर 50 हजार की छूट

सूत्रों के अनुसार 10 साल पुरानी गाड़ी पर 50,000 रुपये तक छूट प्रस्तावित है. हालांकि नकद छूट के प्रस्ताव में फेरबदल हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक, 10 साल पुरानी कॉमर्शियल गाड़ियां बेचने पर 50 हजार रुपये तक की छूट मिलेगी. 10 साल पुरानी पैसेंजर कार बेचने पर 20 हजार रुपये तक की छूट देने का प्रस्ताव है. वहीं, 7 साल पुराने 2-व्हीलर्स और 3-व्हीलर्स बेचने पर 5000 रुपये तक की छूट मिल सकती है. लेकिन ये छूट नई गाड़ियां खरीदने पर ही मिलेगी.

SHARE THIS
Continue Reading

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़4 mins ago

निर्वाचन आयोग ने जारी किया आदेश ” मतदान के लिए 11 प्रकार के पहचान पत्रों का उपयोग”

रायपुर(etoi news) 16 अक्टूबर 2019 Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer कार्यालय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रायपुर द्वारा...

छत्तीसगढ़15 mins ago

वन क्षेत्रों में काबिज आदिवासियों को मिलेगा वन भूमि का पट्टा

रायपुर(etoi news) 16 अक्टूबर 2019 Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण...

छत्तीसगढ़24 mins ago

प्रदेश में बारिश थमते ही सड़कों की मरम्मत शुरू

रायपुर(etoi news)) 16 अक्टूबर 2019 Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer   लोक निर्माण विभाग द्वारा सुगम...

छत्तीसगढ़1 hour ago

राजधानी रायपुर के श्रीजी होटल में पुलिस ने आधी रात को छापामार कार्रवाई

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के खमतराई इलाके में स्थित श्रीजी होटल में पुलिस ने आधी रात को छापामार कार्रवाई की।...

देश-दुनिया2 hours ago

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, जाने पूरा मामला

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई है। अदालत ने फैसला सुरक्षित रखा है। 23 दिन बाद आएगा सुप्रीम...

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 06/10/2019

कलई खुलने के डर से भाजपा ने टीवी चैनलों की परिचर्चा का बहिष्कार किया – कांग्रेस Click Here To Read...

Etoi Exclusive2 weeks ago

आखिर क्यों दरक रही है काँग्रेस की दीवारें ?

आखिर क्यों दरक रही है काँग्रेस की दीवारें ? क्या कांग्रेस (Congress) में सत्ता को लेकर सोनिया गांधी और राहुल...

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 05 /10/2019

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 05 /10/2019 पटना में जल जमाव से परेशान हैं लोग JDU...

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04 /10/2019

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 04 /10/2019 जानिए अगर भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध हुआ तो...

Etoi Exclusive2 weeks ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 03/10/2019

जानिए महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर पहली बार बैंक नोट पर कब छपी थी और कहां से इसे लिया गया है....

Advertisement
October 2019
M T W T F S S
« Sep    
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  
Advertisement

निधन !!!

Advertisement

Trending