Connect with us

Etoi Exclusive

देखें मोदी की नई सरकार में कौन कौन से चेहरे शामिल हैं ?

Published

on

मोदी का नया मंत्रिमंडल,नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की दूसरी बार शपथ ले ली है। उनके साथ ही कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली है। नरेंद्र मोदी सहित अभी तक कुल 40 लोगों ने शपथ ली है। इनमें 24 कैबिनेट एवं 16 राज्यमंत्री हैं। देखें मोदी की नई सरकार में कौन कौन से चेहरे शामिल हैं?
नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की दूसरी बार शपथ ले ली है। उनके साथ ही कैबिनेट मंत्रियों ने भी शपथ ली है। नरेंद्र मोदी सहित अभी तक कुल 40 लोगों ने शपथ ली है। इनमें 24 कैबिनेट एवं 16 राज्‍यमंत्री हैं “मोदी कैबिनेट में अनुभव भी युवा शक्ति भी”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर इस पद की आज (30 मई) शपथ ली, शपथ ग्रहण समारोह में देश दुनिया की गणमान्‍य हस्तियां हुई हैं। पीएम मोदी के साथ कई कैबिनेट मंत्री भी शपथ ली। राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आयोजित होने वाले इस शपथ ग्रहण समारोह में करीब 8000 मेहमानों के शामिल हुए

पिछली बार की जीत के बाद वर्ष 2014 में मोदी को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दक्षेस देशों के प्रमुखों सहित 3500 से अधिक मेहमानों की मौजूदगी में शपथ दिलाई थी।
लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केबिनेट ने दूसरे कार्यकाल के लिए गुरुवार को शपथ लेने से पहले, अपनी मंत्रिपरिषद को व्यवस्थित रूप देने के लिये भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ अंतिम दौर की वार्ता की,पीएम मोदी के कैबिनेट में इस बार अनुभव के साथ ही युवा शक्ति नजर आई . पीएम मोदी और अमित शाह की बैठक के बाद संभावित मंत्रियों को फोन करके पीएम मोदी से मिलने के लिए बुलाया गया, पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए कैबिनेट में रविशंकर प्रसाद, सदानंद गौड़ा, पीयूष गोयल, प्रकाश जावेड़कर, जी किशन रेड्डी, साध्वी निरंजन ज्योति, पुरुषोत्तम रुपाला, राम विलास पासवान, रमेश पोखरियाल और मुख्तार अब्बास नकवी मंत्री बनें,,

इस बार शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, म्यामांर के राष्ट्रपति यू विन मिंट और भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग ने शामिल हुए। थाईलैंड से उसके विशेष दूत जी बूनराच देश का प्रतिनिधित्व किया। इन नेताओं के साथ-साथ शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष और किर्गिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति जीनबेकोव और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ को भी शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित गया था,,

“जेडीयू ने मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने का फैसला लिया है। नितीश कुमार ने ऐलान कर दिया है कि वो मोदी मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं होंगे। कहा जा रहा है कि जेडीयू मंत्रिमंडल में सिर्फ एक मंत्री पद मिलने की वजह से नाराज था।”
राम विलास पासवान एक बार फिर मोदी कैबिनेट का अहम हिस्सा,2014 की मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख राम विलास पासवान को इस बार भी मंत्रीमंडल में शामिल किया गया है. पासवान मोदी कैबिनेट का अहम हिस्सा हैं और उन पर इस बार जिम्मेदारियां भी ज्यादा हैं. पासवान के पास 2014 में उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय था.
– नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद राजनाथ सिंह ने ली शपथ
छत्तीसगढ़ से सांसद रेणुका सिंह को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। रेणुका सरगुजा से सांसद हैं। वे रमन सरकार में भी मंत्री रह चुकी हैं। आदिवासी नेता के तौर पर पहचान रखती हैं।
– वी मुरलीधरन महाराष्ट्र से बीजेपी राज्यसभा सांसद है। वे केरल बीजेपी के अध्यक्ष रह चुके हैं। उन्हें भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। मुरलीधरन अंग्रेजी में ग्रेजुएट हैं।
– रतन लाल कटारिया हरियाणा की अंबाला सीट से तीसरी बार बीजेपी सांसद चुने गए हैं। पहली बार 1999 में अंबाला से सांसद बने थे। 2014 में अंबाला से जीतकर रिकॉर्ड बनाया था। कटारिया ने कुमारी शैलजा को छह लाख से ज्यादा वोटों से इस बार हराया है।
 
– बिहार से सांसद नित्यानंद राय को भी नई सरकार में जगह मिली है। उजियारपुर से सांसद राय 2000 से हाजीपुर से लगातार चार बार विधायक भी रह चुके हैं। राय अमित शाह के करीबी भी माने जाते हैं।
– सुरेश अंगाड़ी बेलगाम से चौथी बार सांसद चुनकर आए हैं। मोदी के दूसरे कार्यकाल की सरकार में उन्हें भी मंत्री बनाया गया है। अंगाड़ी पेशे से कारोबारी और शिक्षाविद् हैं। 2004 में इन्होंने पहली बार लोकसभा चुनाव जीता था। बीएस येदियुरप्पा के अंगाड़ी करीबी माने जाते हैं।
 
– हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम रह चुके प्रेम कुमार के बेटे अनुराग ठाकुर को भी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। हिमाचल के हमीरपुर से ठाकुर चौथी बार सांसद चुने गए हैं। भाजयुमो के भी वे राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं।
 
– संजय धोत्रे ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वे महाराष्ट्र के अकोला से सांसद हैं। लगातार चौथी बार धोत्रे अकोला से जीते हैं।
 
– पश्चिम बंगाल से भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो को एक बार फिर मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। वे लगातार दूसरी बार आसनसोल से चुनाव जीतें हैं। पिछली बार भारी उद्योग मंंत्रालय के मंत्री रह चुके हैं। वे जाने माने सिंगर रह चुके हैं।
 
– साध्वी निरंजन ज्योति यूपी के फतेहपुर से बीजेपी सांसद हैं। पिछली सरकार में राज्यमंत्री रहे साध्वी ज्योति को इस बार भी जगह मिल गई है। कुंभ 2019 में महामंडलेश्वर थीं। खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की जिम्मेदारी थी पिछली सरकार में।
 
– रामदास अठावले पिछली मोदी सरकार में राज्यमंत्री रहें हैं। इस बार भी उन्हें मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। वे महाराष्ट्र के पंडरपुर से भी सांसद रह चुके हैं। पिछली सरकार में सामाजिक न्याय मंत्री रहे हैं। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष हैं। महाराष्ट्र के दलित कद्दावर नेता हैं अठावले
 
– पुरुषोत्तम रुपाला गुजरात से राज्यसभा सदस्य हैं। उन्हें भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। गुजरात सरकार में भी रुपाला मंत्री रह चुके हैं। मोदी की पहली सरकार में पंचायती राज मंत्री रह चुके हैं। अब तक तीन बार राज्यसभा के लिए चुने जा चुके हैं।
 
– जी कृष्ण रेड्डी को भी मोदी सरकार में जगह मिली है। वे तेलंगाना के सिकंदराबाद से सांसद हैं। वे विधायक दल के नेता भी रह चुके है। 25 साल पीएम मोदी के साथ अमेरिका यात्रा कर चुके हैं। पहली बार लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद राज्यमंत्री का पद मिला।
 
– राजसाहब दांडे ने भी राज्यमंत्री की शपथ ली, वे जालना से सांसद हैं।
 
– कृष्णपाल गुर्जर द्वारा भी राज्यमंत्री पद की शपथ ली गई। उन्होंने इस बार हरियाणा से दूसरी बड़ी जीत हासिल की। 2009 से 2013 तक हरियाणा के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रहे। पिचली मोदी सरकार में भी गुर्जर राज्यमंत्री रह चुके हैं।
 
– पूर्व जनरल वीके सिंह को एक बार फिर मोदी सरकार में जगह मिल गई है। सिंह भारतीय सेना के चीफ रह चुके हैं। सिंह 2014 में बीजेपी में शामिल हुए थे। फिलहाल गाजियाबाद से सांसद हैं। वे पिछली मोदी सरकार में भी राज्यमंत्री रह चुके हैं।
 
– राजस्थान के बीकानेर से सांसद अर्जुन राम मेघवाल को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। 2013 में मेघवाल सर्वश्रेष्ठ सांसद रह चुके हैं। वे रिटायर्ड IAS हैं। पिछली सरकार में संसदीय कार्य राज्यमंत्री रह चुके हैं।
 
– बक्सर से सांसद अश्विनी कुमार चौबे को राज्यमंत्री बनाया गया है। 5 बार बिहार के विधानसभा सदस्य रह चुके हैं। इन्हें पीएम मोदी के जबर्दस्त समर्थकों में माना जाता है।
 
– फग्गन सिंह कुलस्ते को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। मध्यप्रदेश में कुलस्ते बीजेपी के बड़े आदिवासी नेता हैं। पिछली सरकार में स्वास्थ्य राज्यमंत्री भी रह चुके हैं।
 
– मनसुख मांडविया राज्यमंत्री की शपथ ली। वे छह बार सांसद बन चुके हैं। सडक परिवर्तन राजमार्ग में राज्यमंत्री रहे हैं। इस बार भी उन्हें स्वतंत्र प्रभार दिया गया है।
 
– हरदीप सिंह पुरी ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वे अमृतसर से इस बार सिंह चुनाव हार चुके है। यूएन में भारत के प्रतिनिधि भी रह चुके हैं। ब्रिटेन और ब्राजील में भारत के राजदूत भी रह चुके हैं पुरी।
 
– आर के सिंह ने भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह बनाई है। सिंह यूपीए सरकार में केंद्रीय गृह सचिव रह चुके हैं। 1975 बैच के बिहार कैडर के IPS अधिकारी रह चुके हैं।
 
– किरण रिजिजू को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। उन्होनें राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) की शपथ ली। अरुणाचल पश्चिम से वे फिर सांसद बने हैं। वे नार्थ ईस्ट में बीजेपी का चेहरा है। वे 2004 में पहली बार संसद पहुंचे थे।
 
– डॉ. जितेंद्र सिंह को राष्ट्रपति द्वारा राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) की शपथ दिलाई गई। उधरपुर से वे दोबारा सांसद चुने गए। कार्मिक और पूर्वोत्तर विकास के राज्यमंत्री रहे।
 
– श्रीपद नाइक नार्थ गोवा से सांसद हैं। उन्हें भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। वे गोवा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। पिछली सरकार में आयुष मंत्री रहे हैं।
 
– राव इंद्रजीत सिंह ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वे पिछली सरकार में भी राज्यमंत्री रह चुके हैं। वे हरियाणा के पूर्व सीएम राव वीरेंद्र सिंह के बेटे हैं।
 
– संतोष कुमार गंगवार ने भी शपथ ग्रहण की। गंगवार फिलहाल बरेली से सांसद हैं। मोदी के पहले कार्यकाल में वित्त राज्यमंत्री रहे चुके हैं।
 
– भाजपा के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह को भी दोबारा मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल गई है। गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी मंत्री पद की शपथ ली। उन्होंने जोधपुर से सीएम अशोक गेहलोत के बेटे को हराया था।
 
– डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय द्वारा भी शपथ ग्रहण की गई। शिवसेना की तरफ से अरविंद सावंत द्वारा मोदी मंत्रिमंडल में जगह बनाई गई है।
 
– भाजपा में मुस्लिम समुदाय के बड़े नेता मुख्ताब अब्बास नकवी ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली।
 
– पूर्व पेट्रोलियम मंत्री रहे धर्मेंद्र प्रधान को मोदी कैबिनेट में दूसरी बार भी जगह मिल गई है। उनके द्वारा कैबिनेट मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली गई।
 
– राष्ट्रपति द्वारा पीयूष गोयल को भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में पीयूष गोयल के पास कई महत्वपूर्ण विभाग रहे। आखिरी वक्त में वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार मिलने के बाद उनके द्वारा आखिरी बजट भी पेश किया गया।
 
– प्रकाश जावड़ेकर ने भी मोदी कैबिनेट में दूसरी बार मंत्री पद की शपथ ली। पिछली बार उन्हें मानव विकास संसाधन मंत्री बनाया गया था। जावड़ेकर फिलहाल मध्यप्रदेश से राज्यसभा सदस्य हैं।
 
– डॉ. हर्षवर्धन द्वारा भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली गई। हर्षवर्धन दिल्ली से चार बार विधायक रहे हैं। वर्तमान में चांदनी चौक से दूसरी बार सांसद हैं। पिछली बार मोदी कैबिनेट में केंद्रीय विज्ञान एवं पर्यावरण मंत्री रह चुके हैं।
 
– अमेठी से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को हराकर सांसद बनी स्मृति ईरानी को भी मोदी कैबिनेट में जगह मिली है। राष्ट्रपति कोविंद ने उन्हें मंत्री पद की शपथ दिलाई।
 
– अर्जुन मुंडा झारखंड के बड़े आदिवासी नेता हैं। उन्होंने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। झारखंड के मुंडा तीन बार सीएम रह चुके हैं।
 
– मोदी कैबिनेट में रमेश पोखरियाल निशंक भी कैबिनेट मंत्री के तौर पर नजर आएंगे। राष्ट्रपति द्वारा उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। निशंक उत्तराखंड के सीएम भी रह चुके हैं।
 
– पूर्व विदेश सचिव रहे एस जयशंकर ने भी मोदी कैबिनेट में जगह बनाई है। उन्होंने भी पद और गोपनियता की शपथ ली। अमेरिका, चीन सहित कई देशों में भारत के राजदूत रहे हैं।
 
– थावरचंद गेहलोत ने भी मोदी मंत्रिमंडल में दूसरी बार कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। अनुसूचित जाति का बड़ा चेहरा हैं गेहलोत।
 
– सिमरत कौर बादल ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। नरेद्र सिंह तोमर भी मंत्री पद की शपथ ग्रहण कर चुके हैं।
 
– रविशंकर प्रसाद ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। रामविलास पासवान ने भी मंत्री पद की शपथ ली।
 
– निर्मला सीतारमण ने भी कैबिनेट मंत्री पद की और गोपनीयता की शपथ ली।
 
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां ने भी घर पर टीवी के जरिये नरेंद्र मोदी को पीएम पद की शपथ लेते हुए देखा।
 
– मोदी मंत्रिमंडल में सदानंद गौड़ा ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। गौड़ा जनसंघ के जमाने के अनुभवी और बेदाग छवि वाले नेता हैं।
 
-अमित शाह और नितिन गडकरी ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ग्रहण की।
 

– राजनाथ सिंह के बाद अमित शाह ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ग्रहण की।

“पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को 17वीं लोकसभा की प्रो-टेम स्पीकर बनाया जा सकता है. मेनका संसद के निचले सदन में आठवीं बार सांसद चुनकर आई हैं और सबसे सीनियर भी हैं. वो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली पहली राजग सरकार में केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री थीं.”

“मनोहर पर्रिकर की कमी खलेगी,दूसरी सरकार में अपने मंत्रिपद को बरकरार रखते हुए उत्तरी गोवा से पांच बार के सांसद 66 साल के श्रीपद नाइक को अब खुद का राजनीतिक ब्रांड बनाने का मौका “

“बीजेपी के लिए एक कुशल और परिष्कृत प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद की मोदी सरकार में वापसी हुई है. प्रसाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और उनके डिप्टी एल.के. आडवाणी और बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद साथी रहे हैं

“मोदी मंत्रिमंडल में लगातार दूसरी बार शामिल किए गए प्रकाश जावड़ेकर का जन्म एक ब्राह्मण परिवार में 30 जनवरी, 1951 को हुआ था. उन्होंने महाराष्ट्र की सांस्कृतिक, शैक्षणिक और आईटी राजधानी पुणे से पढ़ाई की”

“गुजरात से राज्यसभा सदस्य मंडाविया (45) को 2016 में मंत्रिपरिषद में केंद्रीय राज्यमंत्री के तौर पर शामिल किया गया था. वह 2012 में राज्यसभा के लिए चुने गए थे और फिर 2018 में दोबारा राज्यसभा के लिए चुने गए”

“कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को उनके संसदीय क्षेत्र में हराने वाली स्मृति ईरानी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में वापसी की. एक्ट्रेस से नेता बनी ईरानी मोदी सरकार के ज्यादा दिखने वाले चेहरों में से एक रही हैं और उन्हें अक्सर बीजेपी के दृष्टिकोण को साफगोई से रखने के लिए कहा जाता है.”

“मुंबई में पैदा हुए राज्यसभा सदस्य पीयूष गोयल (55) राजनीतिक परिवार से आते हैं. उनके पिता दिवंगत वेदप्रकाश गोयल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री थे. वह लंबे समय तक बीजेपी के कोषाध्यक्ष रहे.”

जिन्हें फोन का इंतजार रहा

मोदी सरकार में बेहद सक्रिय जेपी नड्डा के पास मंत्री पद को लेकर फोन आने की सूचना नहीं मिली है. वैसे ये नाम हैं जिन्हें अमित शाह के मंत्री बनने पर बीजेपी का अध्यक्ष बनाये जाने की जोरदार चर्चा है
मंत्रियों की संभावित सूची से मेनका गांधी का नाम भी गायब है. नेता चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने नाम तो नहीं लिया था लेकिन बड़बोले नेताओं को चेतावनी देते हुए मेनका गांधी को भी मैसेज देने की कोशिश की थी
कृषि मंत्री रहे राधामोहन सिंह का नाम भी लापता सूची में पहुंचा लगता है. किसानों को लेकर राधामोहन सिंह के विवादित बयान और विभागीय कामों में भी ढीले-ढाले रहने के कारण हो सकता है
कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी में शामिल रीता बहुगुणा जोशी को इलाहाबाद से टिकट दिया गया था और वो चुनाव जीत भी चुकी हैं. योगी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी को लोक सभा का टिकट दिये जाने के बाद उनके मंत्री बनने के कयास लगाये जा रहे थे,
कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी में शामिल रीता बहुगुणा जोशी को इलाहाबाद से टिकट दिया गया था और वो चुनाव जीत भी चुकी हैं. योगी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी को लोक सभा का टिकट दिये जाने के बाद उनके मंत्री बनने के कयास लगाये जा रहे थे,ऐसे भी नाम हैं जो खुद को मंत्री पद का दावेदार मानते रहे होंगे, लेकिन कॉलिंग लिस्ट से उनके नाम गायब हैं. ये नेता हैं – राज्यवर्धन सिंह राठौर, हर्ष वर्धन, राजीव प्रताप रूडी, अनंत हेगड़े, जयंत सिन्हा, सुरेश प्रभु और महेश शर्मा.
ये नहीं हो रहे हैं शामिल-
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
केरल के मुख्यमंत्री पीनारायी विजयन
मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा
पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह,
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी अपने बस्तर प्रवास के कारण शामिल नहीं हुए
मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा अपने आधिकारिक कार्यक्रमों को लेकर अत्यंत व्यस्तता के कारण गुरुवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो पाए केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए 

आइये देखते हैं कि देश नई सरकार से कौन,, सी बड़ी जनअपेक्षाएँ होंगी जिन्हे पूरा करने का बड़ा दबाव सरकार पर आयद होगा ?कुछ मुद्दे उँगलियों पर गिनाये जा सकते हैं जिनमें कृषि,पानी,बेरोजगारी मद्यनिषेध,उद्योगधन्धे,प्रदूषण,कुपोषण,निरक्षरता,महंगाई,आतंकवाद,भ्रष्टाचार,जनसंख्या,फर्जी मुद्रा,ड्रग्स तस्करी,शिक्षा व्यवस्था,लचर स्वास्थ्य व्यवस्था,साइबर  क्राइम,सेना का अपडेशन,सैन्य क्षमता का विकास,देश में विकास के लिए सामाजिक समरसता को बढ़ावा,भविष्य के वर्ग संघर्ष को रोकने के लिए उचित कानून का निर्माण और संशोधन आदि हैं,,

नरेंद्र मोदी ने सरकार बना ली अब इन पांच सालों में मोदी क्या करेंगे ? अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए मोदी क्या कदम उठाएंगे ? क्या वे भाजपा के हिंदुत्ववादी एजेंडे को आगे बढ़ाएंगे ? या मोदी आर्थिक सुधारों की दिशा में आगे बढ़ेंगे ? खराब आर्थिक रिकॉर्ड के बावजूद मोदी को बहुमत मिला है, इसलिए वे पार्टी के एजेंडे से अलग हो पाएंगे ? मोदी की इच्छा एक बड़ी वैश्विक नेता के रूप में उभरने की भी होगी तो क्या मोदी इन पांच सालों में फिर से विदेश यात्राओं में ही व्यस्त हो जायेंगे ? या वे भारत को  वैश्विक शक्ति के रूप में स्थापित करने में बड़ी भूमिका निभाना चाहेंगे ? और भारत एक उन्नत राष्ट्र कैसे बन सकता है,इसके लिए प्रयास करेंगे ? अपने शुरूआती भाषण में उन्होंने अपने पांच साला एजेंडे की हल्की सी झलक जरूर दिखायी है,पर कुछ लोगों का मानना यह भी है वे खुद तो हिन्दुत्व के एजेंडे से अलग रहेंगे,लेकिन इस एजेंडे को आगे बढ़ाने वालों को  रोकेंगे नहीं,कारपोरेट के प्रति उनकी उदारता से लगता है की भूमि अधिग्रहण कानून में बहुत जल्द ही सर्कार पुनः काम करेगी ताकि कंपनियों को अधिक से अधिक भूमि मिल सके, कश्मीर में मोदी अपना नियंत्रण बढ़ाने की कोशिश कर सकते हैं,मोदी चाहेंगे कि आर्थिक और विदेश नीतियों संबंधी पहलों को पहले की ही तरह आगे बढ़ाते रहें और खुद को वैश्विक पटल पर संयमित नेता  के रूप में प्रस्तुत करें,और वे अधिक आध्यात्मिक होने का भी  प्रयास  करेंगे बहरहाल अभी सरकार का गठन ही हुआ है ऐसे में कुछ कहना गैर लाजिमी होगा और मोदी एक जटिल व्यक्तित्व के स्वामी है देखना होगा वे देश को किस राह आगे बढ़ाते हैं”
Disclaimer:

हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है

SHARE THIS

Etoi Exclusive

रोहित-राहुल के शतक की बदौलत भारत की श्रीलंका पर शानदार जीत

Published

on

By


(more…)

SHARE THIS
Continue Reading

Etoi Exclusive

कौन होगा छत्तीसगढ़ का पीसीसी चीफ ?

Published

on

By

आज पुरे प्रदेश के राजनैतिक पंडितों के दिमाग में बहुत से प्रश्न तैर रहें होंगे उनमें से ज्यादा तर प्रश्न आने वाले स्थानीय चुनाव की तैयारियों को लेकर हैं ,बी जे पी ने विक्रम उसेंडी के नाम को आगे बढ़ा क़र चुनाव की तैयारियां शुरू क़र दी मग़र कांग्रेस में अभी दुविधा बनी हुई है ? वैसे बीजेपी लगातार कांग्रेस पर हमलावर है इस लिए कांग्रेस के पास भी पी सी सी के नए सिरे से गठन की जरुरत है ,ऐसे में जब लोक सभा में कांग्रेस का परफॉर्मेंस आशा से कम रहा ,ऐसे में इन्हें ज्यादा आक्रामक और सक्रिय संगठन की आवश्यकता होगी,अब ऐसे में सवाल उठता है कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष कौन होगा? मोहन मरकाम या मनोज मंडावी ? पीसीसी चीफ,छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष क्या बस्तर से होगा ?दो बार के विधायक मोहन मरकाम और  वरिष्ठ आदिवासी विधायक मनोज मंडावी में से कोई एक होगा ?
सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दोनों नेताओं से बात की  इस बातचीत के दौरान प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया भी मौजूद रहे,वैसे मुख्य मंत्री जी का जाना भी तय था मगर माँ के खराब सेहत के कारण उनका जाना टल गया ,भूपेश बघेल के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही अटकलों का दौर जारी था कि छत्तीसगढ़ का नया पीसीसी चीफ कौन होगा?सबसे पहले सरगुजा के कद्दावर आदिवासी नेता अमरजीत भगत का नाम प्रमुखता से सामने आया था। अमरजीत का नाम लगभग तय भी माना जा रहा था।मगर पर बदले समीकरण के बाद अमरजीत के स्थान पर बस्तर के किसी आदिवासी नेता को पीसीसी की कमान देने की हवा चलने लगी।इसके बाद कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम और भानुप्रतापपुर के विधायक मनोज मंडावी का नाम सामने आया। बताया जा रहा है कि दोनों विधायकों से राहुल गांधी ने उनकी पूरी जानकारी ली ,जैसे उनके राजनीतिक करियर, उनके किए गए कार्य, कब से राजनीति में हैं ?छत्तीसगढ़ की राजनीति के बारे में उनकी सोच क्या है ? संगठन के कामकाज, सरकार की कार्यप्रणाली, विधानसभा और लोकसभा के परिणामों पर उनकी राय भी ली ये लगभग दो दिन पहले से यह तय था कि सोमवार को दोनों ही विधायकों की राहुल गांधी से मुलाकात हो सकती है। वे सीएम भूपेश बघेल और  प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया के साथ राहुल गांधी से मिलने वाले थे। सीएम का सोमवार दोपहर को दिल्ली जाना भी तय था लेकिन माँ की तबीयत अचानक खराब होने के कारण उनका दिल्ली जाना टल गया।दोनों विधायकों की राहुल गांधी से मुलाकात हुई है। किसे क्या जिम्मेदारी देना यह राहुल जी ही तय करेंगे ? कहकर पी एल पुनिया ने साफ कर दिया कि राहुल गाँधी के अलावा निर्णय कोई नहीं ले सकता तो इन अटकलों को भी विराम दे दिया की राहुल गाँधी ने सी एम को फ्री हैंड दे दिया है,उड़ती खबर है कि महल की असहमति नें ही अमरजीत भगत से पी सी सी चीफ का ताज  दूर क़र दिया ,इधर जिन दो नामों पर राजा साहेब की भी सहमति हुई, वे मनोज मंडावी और मोहन मरकाम हैं ,मगर अमरजीत भगत को अब मंत्री बनाया जा सकता है ,वैसे भी उनके लगातार बयानों को सुन कर साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता था कि अंदर खानें कुछ घट रहा है ,विक्रम उसेंडी को बी जे पी ने अपना अध्यक्ष चुन क़र काँग्रेस को भी आदिवासी चेहरे को लेने की मज़बूरी पैदा क़र दी थी,
                          इसके अलावा भूपेश बघेल को मुख्य मन्त्री बना देने के बाद पी सी सी अध्यक्ष आदिवासी वर्ग का हो ऐसा लगभग तय है ,मतलब काँग्रेस के पास सिर्फ तीन नेताओं के नाम का ही विकल्प हैं अमरजीत भगत मनोज मंडावी और मोहन मरकाम,राहुल गाँधी से मनोज और मोहन की मुलाकात के बाद अमरजीत के नाम की चर्चा पर विराम लग चुका है अब दो ही नाम बचे हैं,,,वैसे आने वाले दिनों में दीपक बैज का नाम भी उछल सकता है, मगर यह मात्र राजनैतिक शगूफा ही होगा ,आज की राजनीति को समझें तो मनोज मंडावी का नाम  कांग्रेस के लिए बढ़िया नाम हो सकता है,वैसे भी मनोज मंडावी बस्तर का बड़ा नाम है, लम्बा अनुभव है, स्वर्गीय हरिशकर मंडावी के बिरसा हैं, और पुरे प्रदेश में बेहद लोकप्रिय हैं, और कांग्रेस ने इस नाम को पहले ही राष्ट्रीय आदिवासी नेता के रूप में आगे बढ़ाया और विश्वास जाहिर किया है,इस लिहाज से कोई बड़ी बात नहीं कि बहुत जल्द ही मनोज पी सी सी चीफ के रूप में दिखें आगे,वैसे पैलेस से मोहन मरकाम के नाम पर भी सहमति जताई है इधर पी एल पुनिया जी ने भी जो संकेत दिए कि पी सी सी चीफ को ले क़र जो भी घोषणा होगी स्वयं राहुल गाँधी ही इसकी घोषणा भी करेंगे,,,,हालाँकि इसके पहले भी लगभग ज्यादा तर कांग्रेस के नेताओं ने अमरजीत जी को बधाई तक दे डाली थी मगर उनके ग्रहों ने जरुर कोई बाधा पैदा कर दी अब देखना है कि पीसीसी चीफ के रूप में किसकी ताजपोषी होगी ?
Disclaimer:
हमारे वेबसाइट www.etoinews.com पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकतापर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है साथ ही किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणीप्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं है। आपको केवल एक सुविधा के रूप में ये न्यूज या लिंक प्रदान कर रहा है और किसी भी समाचार अथवा लिंक को हमारा वेबसाइट समर्थन नहीं करता है.

SHARE THIS
Continue Reading

Etoi Exclusive

सुर्ख़ियाँ

Published

on

etoinews.com के बीते दो घंटे की सुखियाॅ क्या रहीं विशेष खबरे और क्या था उनको खबरो के पीछे और क्या रहा आज का देश और विदेश में खबरो का सैलाब। सभी कुछ जाने www.etoinews.com में। अभी मतलब सात बजे तक बीते दो घंटे के विशेष खबर

 

 

बिजली कटौती के भाजपा के झूठे प्रचार की पोल आंकड़ों ने खोल कर रख दी : कांग्रेस

शेयर बाजार में गिरावट कारण अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार

ओमान की खाड़ी में तेल से भरे टैंकरों पर फिर हमला

शहीदों के परिवार को 25 लाख रुपये और नौकरी देगी योगी सरकार

Study By Facebook ऐप इंस्टॉल करेंगे तो फेसबुक देगा पैसे ?

आज गुरुवार को सोने चांदी की कीमत

क्या आपका भी Whatsapp अकाउंट हुआ रिमूव- जाने क्यों ?

मोदी का स्पेस विजन चंद्रयान 2

बच्चों के फेवरेट कार्टून कैरेक्टर ‘मोटू-पतलू’ को मैडम तुसाद म्यूजियम में मिली जगह

सौ साल बाद फिर से उड़ने को तैयार Airco DH9

जन्म के साथ जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों को निर्देश

मोदी हैं तो मुमकिन है:पाम्पियो :अमेरिकी विदेश मंत्री

अवैध उत्खनन एवं परिवहन करते हुए 5 वाहन जप्त

रेत माफियाओं के इस मंसूबे पर पानी फेर दिया महासमुंद जिला प्रशासन

अब बिना गूगल खोलेे और भी तेजी से सर्च करें।

प्राकृतिक आपदा के तहत चार लाख रूपये स्वीकृत

‘फेसबुक हॉल ऑफ फेम 2019’- बग का पता लगाने के लिए

राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना : दस्तावेजों के रख-रखाव के लिए कार्यशाला

ममता बनर्जी ने हड़ताली डाक्टरों को चेताया

 

SHARE THIS
Continue Reading

ब्रेकिंग खबरे !!!!

Advertisement

#Exclusive खबरे

Etoi Exclusive1 week ago

रोहित-राहुल के शतक की बदौलत भारत की श्रीलंका पर शानदार जीत

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer Post Views: 290 SHARE THIS

Etoi Exclusive3 weeks ago

कौन होगा छत्तीसगढ़ का पीसीसी चीफ ?

आज पुरे प्रदेश के राजनैतिक पंडितों के दिमाग में बहुत से प्रश्न तैर रहें होंगे उनमें से ज्यादा तर प्रश्न...

Etoi Exclusive1 month ago

सुर्ख़ियाँ

etoinews.com के बीते दो घंटे की सुखियाॅ क्या रहीं विशेष खबरे और क्या था उनको खबरो के पीछे और क्या...

Etoi Exclusive1 month ago

मोदी का स्पेस विजन चंद्रयान 2

सम्पादकीय ,,,,, भारत बनेगा अंतरिक्ष का सुपरपावर  ? क्या बनाएगा अपना स्पेस स्टेशन ?   Click Here To Read Astrological...

Etoi Exclusive1 month ago

मोदी हैं तो मुमकिन है:पाम्पियो :अमेरिकी विदेश मंत्री

सम्पादकीय ,,,,, मोदी हैं तो मुमकिन है                          ...

Advertisement
Advertisement
July 2019
M T W T F S S
« Jun    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  
Advertisement

निधन !!!

निधन1 month ago

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर गिरीश कर्नाड का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer बॉलीवुड के मशहूर एक्टर गिरीश कर्नाड का सोमवार को 81 साल...

Uncategoried4 months ago

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर आज होगा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। पैंक्रियाटिक कैंसर से पिछले एक...

निधन5 months ago

पैसों की तंगी झेल रहे बॉलीवुड के खलनायक की मौत, घर में मिली लाश

शक्ति कपूर बोले- काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, सेट पर भी पीते थे शराब Click Here...

निधन6 months ago

निधन – फत्तेचंद अग्रवाल सक्ती

सक्ति (कन्हैया गोयल) 31/01/2019 शक्ति शहर की प्रतिष्ठित फर्म काशीराम फत्तेचंद के संचालक सजन अग्रवाल, पवन अग्रवाल एवं नवलकिशोर अग्रवाल...

दिल्ली6 months ago

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का 89 साल की उम्र में निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer नई दिल्ली 29 जनवरी 2019 भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज...

निधन6 months ago

श्रीमती कमला सिंह का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 28/01/2029 भैंसदा के प्रतिष्ठित ठाकुर परिवार के स्व. पलटन सिंह की धर्मपत्नी श्रीमती कमला सिंह का 28 जनवरी...

निधन6 months ago

जलसंसाधन विभाग के मुख्य अभियंता विजय श्रीवास्तव पंचतत्व में विलीन

27 जनवरी को आयोजित जेष्ठ पुत्रमयंक का वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित बिलासपुर (अमित मिश्रा) 27/01/2019 हसदेव कछार जल संसाधन विभाग बिलासपुर...

निधन6 months ago

रायपुर : श्रीमती माणक बाई ललवाणी (जैन) का निधन

रायपुर,14/01/2019 रायपुर निवासी श्रीमती माणक बाई ललवाणी  (जैन) 95 वर्ष, घर्मपत्नी स्व.पन्नालाल ललवाणी का स्वर्गवास आज हो गया हैं जिनकी...

निधन6 months ago

रायपुर : श्रीमती बिदामी बाई बुरड़ का निधन

Click Here To Read Astrological Articles & Contact Astrologer रायपुर,14/01/2019 आनन्द नगर विनायक इनक्लेव, रायपुर निवासी श्रीमती बिदामी बाई पत्नी...

निधन6 months ago

छोटेलाल कौशिक का निधन

जांजगीर-चाम्पा (हरीश राठौर) 09/01/2019 ग्राम डोंगाकोहरौद के मालगुजार छोटेलाल कौशिक का गत् 4 जनवरी को हो गया। अचानक वे 3...

Advertisement

Trending

Breaking News