Connect with us

बटुक भैरव मंत्र दूर करें सभी विपत्ति 

Published

on

सभी प्रकार की नकारात्मक शक्तियों से मुक्ति पाने के लिए व स्वयं को और अपने परिवार को ऊपरी बाधाओं से सुरक्षित रखने में भैरव आराधना चमत्कारिक परिणाम देने वाली है।

रूद शिव के त्रिनेत्र की ज्वाला से जन्मे हैं भैरव। इनका जन्म अहंकार और असत्य के नाश के लिए हुआ है। रुद को उग्र देवता के रूप में पूजा जाता है पर इनका एक बहुत ही प्यारा और सौम्य रूप है बटुक भैरव का। भैरव के वैसे तो आठ रूप है जिसमे बटुक रूप एक चैदह-पन्द्रह साल के बालक का है। भैरव की प्रसन्नता के लिए श्री बटुक भैरव मूल मंत्र का पाठ करना शुभ होता है ।

शनि के प्रकोप का शमन भैरव की आराधना से होता है। भैरवनाथ के व्रत एवं दर्शन-पूजन से शनि की पीडा का निवारण होता है। अनुकम्पा की कामना रखने वाले उनके भक्त तथा शनि की साढेसाती, ढैय्या अथवा शनि की अशुभ दशा से पीडित व्यक्ति कालभैरव भैरवनाथ की उपासना करे तो उन्हें सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।

भैरवजी कलियुग के जाग्रत देवता हैं। भक्ति-भाव से इनका स्मरण करने मात्र से समस्याएं दूर होती हैं। इनका आश्रय ले लेने पर भक्त निर्भय हो जाता है। भैरवनाथ अपने शरणागत की सदैव रक्षा करते हैं

यदि ये प्रयोग 41 दिन तक कर लिया जाये तो व्यक्ति का असम्भव लगने वाला कठिन से कठिन कार्य भी श्री बटुक भैरव की कृपा से अति शीघ्र सिद्ध हो जाता है।

श्री वटुक भैरव अष्टोत्तर शतनाम का विशेष महत्व है। इसके 21 पाठ मन्त्र विधि सहित कोई नित्य करें तो ये सिद्ध हो जाता है और फिर जाग्रत रूप से कार्य करता है। रोग दोष आधी व्याधि का नाश करता है। इससे अभिमन्त्रित भस्म जल किसी रोगी पर छिड़कने से रोग दूर हो जाता है किसी पर कोई ऊपरी बाधा हो तो वो दूर हो जाती है। बहुत ही अच्छा और कृपा

करने वाला है। कलियुग में अन्य देवता तो समय आने पर फल देते है पर भगवान वटुक भैरव जिस दिन से इन्हें पूजो उसी दिन से अपना प्रभाव दिखाने लगते है।

मंत्र जप विधि –

पूजा स्थल पर भैरव यंत्र की स्थापना करें। मंत्र का जप नियमित रूप से व समय के अनुसार ही करें। तिल के तेल का दीपक व धुप आदि लगाये। अब भगवान श्री गणेश का ध्यान करें। उपरांत भैरव बाबा का ध्यान करते हुए मंत्र जप आरम्भ करें। मंत्र जप की संख्या अपने सामथ्र्य अनुसार निश्चित करें। प्रतिदिन समान मात्रा में जप करें।

 

काल भैरव मंत्र साधना विधि

भैरव तांत्रिक यंत्र

घर से हर प्रकार की नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में भैरव बाबा की आराधना करना आपके लिए सर्वोत्तम विकल्प है। तंत्र शास्त्र में भी भैरव बाबा को विशिष्ट स्थान प्राप्त है। बुरी शक्तियों से छुटकारा पाने में, नजर दोष दूर करने में, शत्रुओं का नाश करने में व घर में सुख-शांति बनाये रखने में भैरव उपासना को विशेष महत्व दिया जाता है।

आपत्ति से उबरने के लिए बटुक भैरव के मंत्र

बटुक भैरव मन्त्र

âha oa बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरु कुरु बटुकाय oa âha

विधि- आटे की लोई का दिया बनाकर तिल के तेल का दीपक जलाएं उक्त मन्त्र का १०८ बार जाप करके दिया बाहर रखे और एक दोने में 4 मुट्ठी आटा और एक मुट्ठी शक्कर लेकर पेड़ के तन्ने में रख दे | बटुक भैरव मन्त्र का जाप करने से विपत्ति टल जाती है.

शत्रु नाश् उपाय

-यदि आप भी अपने शत्रुओं से परेशान हैं तो शाम से उपाए करें और अपने शत्रुओं से मुक्ति पायें।

एक सफेद कागज पर भैरव मंत्र जपते हुए काजल से शत्रु या शत्रुओं के नाम लिखें और उनसे मुक्त करने की प्रार्थना करते हुए एक छोटी सी शहद की शीशी में ये कागज मोड़ के डुबो दें व ढक्कन बंद कर किसी भी भैरव मंदिर या शनि मंदिर में अर्पित कर दें। यदि संभव न हो तो किसी पीपल के नीचे गाड़ सकते हैं। कुछ दिनों में शत्रु स्वयं कष्ट में होगा और आपको छोड़ देगा।

मंत्र –

ॐ क्षौं क्षौं भैरवाय स्वाहा।

शत्रुओं से छुटकारा पाने हेतु एक लघु प्रयोग –

इस प्रयोग से एक बार से ही शत्रु शांत हो जाता है और परेशान करना छोड़ देता है पर यदि जल्दी न सुधरे तो पांच बार तक प्रयोग कर सकते हैं। ये प्रयोग शनि, राहु एवं केतु ग्रह पीड़ित लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

इसके लिए किसी भी मंगलवार या शनिवार को भैरवजी के मंदिर जाएँ और उनके सामने एक आटे का चैमुखा दीपक जलाएं। दीपक की बत्तियों को रोली से लाल रंग लें। फिर शत्रु या शत्रुओं को याद करते हुए एक चुटकी पीली सरसों दीपक में डाल दें। फिर निम्न श्लोक से उनका ध्यान कर 21 बार निम्न मन्त्र का जप करते हुए एक चुटकी काले उड़द के दाने दिए में डाले। फिर एक चुटकी लाल सिंदूर दिए के तेल के ऊपर इस तरह डालें जैसे शत्रु के मुंह पर डाल रहे हों। फिर 5 लौंग ले प्रत्येक पर 21 21 जप करते हुए शत्रुओं का नाम याद कर एक एक कर दिए में ऐसे डालें जैसे तेल में नहीं किसी ठोस चीज में गाड़ रहे हों। इसमें लौंग के फूल वाला हिस्सा ऊपर रहेगा। फिर इनसे छुटकारा दिलाने की प्रार्थना करते हुए प्रणाम कर घर लौट आएं।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

देश - दुनिया

कल से खुलेंगे स्कूल, छात्रों के आने-जाने के लिए अलग गेट, जानें और क्या-क्या हैं नियम

Published

on

प्रदेश भर में 26 जुलाई यानी सोमवार से स्कूल खुलने से पहले कक्षाओं में सुरक्षा को लेकर तैयारियां कर ली गई है. क्लास में बच्चों की सुरक्षा के लिए सिर्फ 15 स्टूडेंट्स के बैठाने की व्यवस्था की गई है. स्कूल प्रबंधन ने बच्चों के प्रवेश के लिए एंट्री और जाने के लिए अलग से एग्जिट गेट की व्यवस्था की है. कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ छात्र-छात्राओं को बैठाने की तैयारी की गई है एक क्लास में सिर्फ 15 स्टूडेंट्स को उठाने की अनुमति होगी.

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के निर्देश दिए गए हैं. इसके लिए क्लासेस में डेस्क पर क्रॉस और टिक का निशान लगाया गया है. क्लास रूम में ही सैनेटाइजर की व्यवस्था होगी. स्कूल आने वाले छात्र-छात्राओं के लिए मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा. छात्र-छात्राओं को संक्रमण के खतरे से सुरक्षित रखने के लिए आने और जाने के लिए एंट्री और एग्जिट गेट की भी अलग से व्यवस्था की गई है.

माता-पिता की लिखित अनुमति के बाद मिलेगा प्रवेश

स्कूल में आने और कक्षाओं में बैठने से पहले माता-पिता की लिखित अनुमति अनिवार्य होगी. 26 जुलाई को जब स्टूडेंट्स क्लासेस में पहुंचेंगे तो माता-पिता की लिखित अनुमति के साथ ही उन्हें प्रवेश दिया जाएगा. स्कूल प्रबंधन की तरफ से छात्र-छात्राओं को आई कार्ड भी दिए गए हैं, जिसे दिखाने के बाद ही स्कूल में बच्चों को प्रवेश दिया जाएगा.

टॉयलेट की विशेष सफाई के निर्देश

स्कूल शिक्षा विभाग ने टॉयलेट की विशेष सफाई के निर्देश दिए हैं. स्कूलों में हर एक घंटे में टॉयलेट को साफ किया जाएगा. छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के लिए हर एक घंटे में स्कूल के सभी टॉयलेट की साफ-सफाई की जाएगी. छात्र-छात्राओं की क्लासेस लगने से पहले और क्लासेस के बाद कक्षाओं को सैनेटाइज किया जाएगा.

Continue Reading

देश - दुनिया

सोने की कीमत 2000 रुपये से ज्‍यादा घटी, चांदी हुई 5739 रुपये सस्‍ती

Published

on

दुनियाभर में गोल्‍ड को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्‍प के तौर पर माना जाता है. लिहाजा, कोरोना संकट के बीच भी निवेशकों ने सोने में जमकर खरीदारी की. इससे कीमती पीली धातु के दामों को समर्थन मिला और इसने अगस्‍त 2020 में अपना ऑल-टाइम हाई छुआ. हालांकि, जैसे-जैसे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को धार मिलती गई, वैसे-वैसे सोने के दाम में उठापटक तेज हो गई. इसके बाद कोरोना की दूसरी लहर के दौरान सोने के दाम में एकबार फिर अस्‍थायी तेजी देखने को मिली. फिर वैक्‍सीनेशन में आई तेजी के चलते इसमें गिरावट का रुख देखने को मिला. नतीजतन, गोल्‍ड की कीमतें 1 जून 2021 के मुकाबले इस समय 2000 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी 5,739 रुपये प्रति किग्रा सस्‍ती चल रही है.

गोल्‍ड की कीमत दिल्‍ली सर्राफा बाजार में 1 जून 2021 को 48,892 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुई थी. वहीं, चांदी 71,850 रुपये प्रति किग्रा पर पहुंचकर बंद हुई थी. इसके मुकाबले 23 जुलाई 2021 यानी बीते शुक्रवार को दिल्‍ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमत 46,698 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी के दाम 66,111 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुए. इस आधार पर देखें तो सोने के दाम बीते 2 महीने से भी कम वक्‍त में 2,194 रुपये प्रति 10 ग्राम लुढ़क गए हैं. वहीं, चांदी के दाम में 5,739 रुपये की गिरावट दर्ज की गई है. अब जानते हैं कि मौजूदा दाम पर निवेश करें तो इस साल के अंत तक आपको कितना मुनाफामिल सकता है.

लंबी अवधि में कितना मिल सकता है मुनाफा

बुलियन मार्केट के एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि महंगाई के कारण अगले कुछ सप्‍ताह सोने के दाम में उठापटक जारी रहेगी. हालांकि, इसमें बहुत बड़ा उठाल तो नहीं आएगा. फिर भी अगस्‍त 2021 में इस कीमती धातु की कीमतों में तेजी का रुख देखने को मिल सकता है और ये 48,500 रुपये पर पहुंच सकती है. वहीं, लंबी अवधि के लिए निवेश की बात करें तो विशेषज्ञ पहले ही कह चुके हैं कि इस साल के आखिर तक सोने के दाम अपने पिछले सभी रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 60,000 रुपये प्रति 10 ग्राम का स्‍तर छू सकते हैं. ऐसे में छोटी, मध्‍यम और लंबी तीनों अवधि में मौजूदा कीमतों पर सोने में किया गया निवेश बड़ा फायदा दिला सकता है.

गोल्‍ड हर साल दे रहा है शानदार रिटर्न

सोने ने साल 2020 के दौरान निवेशकों को 28 फीसदी रिटर्न दिया है. वहीं, 2019 में भी गोल्‍ड का रिटर्न करीब 25 फीसदी रहा था. अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए निवेश कर रहे हैं तो सोना अभी भी निवेश के लिए बेहद सुरक्षित और अच्छा विकल्प है. आने वाले दिनों में सोने की कीमत में तेजी आ सकती है. ऐसे में अभी निवेश कर आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. वहीं, चांदी में निवेश भी फायदे का सौदा साबित हो सकता है.

Continue Reading

देश - दुनिया

घूमने आए टूरिस्ट की गाड़ी पर गिरी चट्टानें, हादसे में 8 की मौत; 4 घायल

Published

on

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में रविवार शाम लैंडस्लाइट की चपेट में आने से 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार गंभीर रूप से घायल हैं. ये हादसा बटसेरी के गुंसा के पास चट्टानें गिरने से हुआ, जिसने छितकुल से सांगला की ओर आ रही पर्यटकों की एक गाड़ी को अपनी चपेट में ले लिया. बताया जा रहा है कि टैंपो ट्रैवलर में सवार सभी यात्री देश के अलग-अलग हिस्सों से हिमाचल घूमने आए थे.

चट्टानों की चपेट में आकर बटसेरी पुल टूटा

घटना की सूचना मिलते ही पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गए हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. वहीं सभी घायलों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. किन्नौर पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में चट्टानों की चपेट में आने से बटसेरी पुल भी टूट गया है. वहीं आस पास बने कुछ मकान भी क्षति हुए हैं. इसके अलावा कुछ स्थानीय लोगों ने उनके सेब के बाग में भी नुकसान होने का जिक्र किया है.

गाड़ी में सवार थे 11 लोग, 8 की हुई मौत

पुलिस के अनुसार, एक टैंपो ट्रैवलर नंबर (HR 55 AC 9003) छितकुल से सांगला की ओर रहा था. इसी दौरान लैंडस्लाइट हो गई और बड़ी-बड़ी चट्टानें गाड़ी पर आ गिरीं. इस हादसे में ट्रैवलर के चालक समेत 11 लोग सवार थे. जिसमें से 8 की मौत हो गई. जबकि 3 लोग जख्मी हो गए. इसके अलावा सड़क पर चल रहा एक शख्स भी हादसे में घायल हुआ है. उसे भी गंभीर चोटें आई हैं. पुलिस होमगार्ड और आइटीबीपी के जवान मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रहे हैं और सांगला पुलिस की क्यूआरटी की टीम शवों को निकालने में जुटी है.

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़8 hours ago

राजधानी में फिर से‘ नशा पार्टी’, पुलिस ने दबिश देकर किया खुलासा

लॉकडाउन खुलते ही राजधानी में फिर से नशे की पार्टी हो रही है। शहर के दो कैफे में दबिश देकर...

छत्तीसगढ़1 day ago

छत्तीसगढ़ : नग्न हालत में मिली युवती की मृत लाश

बलरामपुर। जिले के वाड्रफनगर में हत्या की एक ऐसी वारदात हुई है जिससे पूरा इलाका दहल उठा है । आरोपी ने...

छत्तीसगढ़2 days ago

2 एसआई, 1 एएसआई सहित 13 पुलिसकर्मियों का तबादला

एक बार फिर थोक में पुलिसकर्मियों का तबादला किया गया है। 2 उपनिरीक्षक, 1 सहायक उपनिरीक्षक और 13 पुलिसकर्मियों का...

छत्तीसगढ़2 days ago

पुलिस ने कबाड़ियों के ठिकानों पर मारा छापा, 30 लाख से अधिक का कबाड़ जब्त

जिला पुलिस ने 20 काबाड़ियों के ठिकाने पर छापा मारा है। पुलिस ने दबिश देकर 30 लाख से अधिक का...

छत्तीसगढ़2 days ago

ट्रक ने 4 युवकों को कुचला, चारों की मौके पर ही मौत

कांकेर भानुप्रतापपुर मार्ग के देवरी गांव में अज्ञात ट्रक ने चार युवकों को कुचल दिया. हादसे में गंभीर रूप से...

#Exclusive खबरे

Calendar

July 2021
S M T W T F S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031

निधन !!!

Advertisement

Trending