Connect with us

बटुक भैरव मंत्र दूर करें सभी विपत्ति 

Published

on

सभी प्रकार की नकारात्मक शक्तियों से मुक्ति पाने के लिए व स्वयं को और अपने परिवार को ऊपरी बाधाओं से सुरक्षित रखने में भैरव आराधना चमत्कारिक परिणाम देने वाली है।

रूद शिव के त्रिनेत्र की ज्वाला से जन्मे हैं भैरव। इनका जन्म अहंकार और असत्य के नाश के लिए हुआ है। रुद को उग्र देवता के रूप में पूजा जाता है पर इनका एक बहुत ही प्यारा और सौम्य रूप है बटुक भैरव का। भैरव के वैसे तो आठ रूप है जिसमे बटुक रूप एक चैदह-पन्द्रह साल के बालक का है। भैरव की प्रसन्नता के लिए श्री बटुक भैरव मूल मंत्र का पाठ करना शुभ होता है ।

शनि के प्रकोप का शमन भैरव की आराधना से होता है। भैरवनाथ के व्रत एवं दर्शन-पूजन से शनि की पीडा का निवारण होता है। अनुकम्पा की कामना रखने वाले उनके भक्त तथा शनि की साढेसाती, ढैय्या अथवा शनि की अशुभ दशा से पीडित व्यक्ति कालभैरव भैरवनाथ की उपासना करे तो उन्हें सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।

भैरवजी कलियुग के जाग्रत देवता हैं। भक्ति-भाव से इनका स्मरण करने मात्र से समस्याएं दूर होती हैं। इनका आश्रय ले लेने पर भक्त निर्भय हो जाता है। भैरवनाथ अपने शरणागत की सदैव रक्षा करते हैं

यदि ये प्रयोग 41 दिन तक कर लिया जाये तो व्यक्ति का असम्भव लगने वाला कठिन से कठिन कार्य भी श्री बटुक भैरव की कृपा से अति शीघ्र सिद्ध हो जाता है।

श्री वटुक भैरव अष्टोत्तर शतनाम का विशेष महत्व है। इसके 21 पाठ मन्त्र विधि सहित कोई नित्य करें तो ये सिद्ध हो जाता है और फिर जाग्रत रूप से कार्य करता है। रोग दोष आधी व्याधि का नाश करता है। इससे अभिमन्त्रित भस्म जल किसी रोगी पर छिड़कने से रोग दूर हो जाता है किसी पर कोई ऊपरी बाधा हो तो वो दूर हो जाती है। बहुत ही अच्छा और कृपा

करने वाला है। कलियुग में अन्य देवता तो समय आने पर फल देते है पर भगवान वटुक भैरव जिस दिन से इन्हें पूजो उसी दिन से अपना प्रभाव दिखाने लगते है।

मंत्र जप विधि –

पूजा स्थल पर भैरव यंत्र की स्थापना करें। मंत्र का जप नियमित रूप से व समय के अनुसार ही करें। तिल के तेल का दीपक व धुप आदि लगाये। अब भगवान श्री गणेश का ध्यान करें। उपरांत भैरव बाबा का ध्यान करते हुए मंत्र जप आरम्भ करें। मंत्र जप की संख्या अपने सामथ्र्य अनुसार निश्चित करें। प्रतिदिन समान मात्रा में जप करें।

 

काल भैरव मंत्र साधना विधि

भैरव तांत्रिक यंत्र

घर से हर प्रकार की नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में भैरव बाबा की आराधना करना आपके लिए सर्वोत्तम विकल्प है। तंत्र शास्त्र में भी भैरव बाबा को विशिष्ट स्थान प्राप्त है। बुरी शक्तियों से छुटकारा पाने में, नजर दोष दूर करने में, शत्रुओं का नाश करने में व घर में सुख-शांति बनाये रखने में भैरव उपासना को विशेष महत्व दिया जाता है।

आपत्ति से उबरने के लिए बटुक भैरव के मंत्र

बटुक भैरव मन्त्र

âha oa बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरु कुरु बटुकाय oa âha

विधि- आटे की लोई का दिया बनाकर तिल के तेल का दीपक जलाएं उक्त मन्त्र का १०८ बार जाप करके दिया बाहर रखे और एक दोने में 4 मुट्ठी आटा और एक मुट्ठी शक्कर लेकर पेड़ के तन्ने में रख दे | बटुक भैरव मन्त्र का जाप करने से विपत्ति टल जाती है.

शत्रु नाश् उपाय

-यदि आप भी अपने शत्रुओं से परेशान हैं तो शाम से उपाए करें और अपने शत्रुओं से मुक्ति पायें।

एक सफेद कागज पर भैरव मंत्र जपते हुए काजल से शत्रु या शत्रुओं के नाम लिखें और उनसे मुक्त करने की प्रार्थना करते हुए एक छोटी सी शहद की शीशी में ये कागज मोड़ के डुबो दें व ढक्कन बंद कर किसी भी भैरव मंदिर या शनि मंदिर में अर्पित कर दें। यदि संभव न हो तो किसी पीपल के नीचे गाड़ सकते हैं। कुछ दिनों में शत्रु स्वयं कष्ट में होगा और आपको छोड़ देगा।

मंत्र –

ॐ क्षौं क्षौं भैरवाय स्वाहा।

शत्रुओं से छुटकारा पाने हेतु एक लघु प्रयोग –

इस प्रयोग से एक बार से ही शत्रु शांत हो जाता है और परेशान करना छोड़ देता है पर यदि जल्दी न सुधरे तो पांच बार तक प्रयोग कर सकते हैं। ये प्रयोग शनि, राहु एवं केतु ग्रह पीड़ित लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

इसके लिए किसी भी मंगलवार या शनिवार को भैरवजी के मंदिर जाएँ और उनके सामने एक आटे का चैमुखा दीपक जलाएं। दीपक की बत्तियों को रोली से लाल रंग लें। फिर शत्रु या शत्रुओं को याद करते हुए एक चुटकी पीली सरसों दीपक में डाल दें। फिर निम्न श्लोक से उनका ध्यान कर 21 बार निम्न मन्त्र का जप करते हुए एक चुटकी काले उड़द के दाने दिए में डाले। फिर एक चुटकी लाल सिंदूर दिए के तेल के ऊपर इस तरह डालें जैसे शत्रु के मुंह पर डाल रहे हों। फिर 5 लौंग ले प्रत्येक पर 21 21 जप करते हुए शत्रुओं का नाम याद कर एक एक कर दिए में ऐसे डालें जैसे तेल में नहीं किसी ठोस चीज में गाड़ रहे हों। इसमें लौंग के फूल वाला हिस्सा ऊपर रहेगा। फिर इनसे छुटकारा दिलाने की प्रार्थना करते हुए प्रणाम कर घर लौट आएं।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

जॉब

कर्मचारी राज्य बीमा निगम भर्ती 2021 : 6552 अपर डिवीजन क्लर्क और स्टेनोग्राफर के लिए अधिसूचना जारी

Published

on

ईएसआईसी भर्ती 2021 उर्फ ​​कर्मचारी राज्य बीमा निगम में भर्ती 2021 (ESIC) ने सीनियर रेजिडेंट के लिए आवेदन आमंत्रित किया है। आप इस ESIC भर्ती 2021 के इच्छुक हैं तो आप आवेदन कर सकते हैं। ESIC भर्ती योग्यता / पात्रता की शर्तें, आवेदन कैसे करें और अन्य नियम नीचे दिए गए हैं।

इस ESIC जॉब से जुड़ी जानकारी इस प्रकार है।

ईएसआईसी भर्ती 2021

कर्मचारी राज्य बीमा निगम में भर्ती 2021

पोस्ट नाम: अपर डिवीजन क्लर्क या अपर डिवीजन क्लर्क कैशियर
रिक्तियों की संख्या: 6306 पद
Upper Division Clerk Salary : Rs. 25,500 – 81,100/- Level 04

पोस्ट नाम: स्टेनोग्राफर (Group C)
रिक्तियों की संख्या: 246 पद
वेतनमान: Rs. 67,700/-+ Other allowances

शैक्षिक योग्यता :
  • UDC : मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में बैचलर डिग्री।
  • स्टेनोग्राफर : 10 + 2 भारत में किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड में इंटरमीडिएट परीक्षा, Dictation : 10 मिनट @ 80 शब्द प्रति मिनट, Transcription : 50 मिनट (अंग्रेजी), 65 मिनट (हिंदी) (केवल कंप्यूटर पर)

आयु सीमा: 18 से 27 वर्ष

कार्य स्थान: All India

ESIC UDC चयन प्रक्रिया: चयन ऑनलाइन टेस्ट / लिखित परीक्षा पर आधारित होगा।

आवेदन शुल्क: जनरल / ओबीसी 500 / -& SC / ST / PH / महिला के लिए 250 / – रु के लिए क्रेडिट कार्ड / डेबिट कार्ड / नेट बैंकिंग के माध्यम से परीक्षा शुल्क का भुगतान करें।

ESIC कैसे आवेदन करें: इच्छुक और योग्य उम्मीदवार आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार या उससे पहले आधिकारिक वेबसाइट https://www.esic.nic.in/ के माध्यम से इस सरकरी नौकारी को ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण तिथियाँ:

ऑनलाइन आवेदन जमा करने की तिथि जल्द ही घोषित की जाएगी
ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि जल्द ही घोषित की जाएगी

महत्वपूर्ण लिंक:

विज्ञापन लिंक- https://www.esic.nic.in/afc83944227.pdf
ईएसआईसी भर्ती आधिकारिक वेबसाइट- https://www.esic.nic.in

Continue Reading

देश - दुनिया

12वीं मंजिल से गिरी दो साल की मासूम, डिलीवरी बॉय ने बचाई जान

Published

on

एक डिलीवरी बॉय ने 12वीं मंजिल की बालकनी से गिरने वाली दो साल की बच्ची को बचा लिया। सोशल मीडिया पर न्गुयेन नागॉस नामक इस डिलीवरी बॉय की बहादुरी और सूझबूझ से भरा एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

बता दें 31 वर्षीय न्गुयेन नागॉस रविवार की शाम पांच बजे अपनी कार में सामान की डिलीवरी करने के लिए ग्राहक का इंतजार कर रहे थे कि तभी उन्होंने एक बच्ची की रोती हुई आवाज सुनी।न्गुयेन ने अनुसार, उन्होंने देखा कि एक छोटी सी बच्ची बालकनी पर रोते हुए लटक गई वह एकदम गिरने ही वाली थी। उन्होंने आगे बताया कि यह देखते ही वह अपनी कार से तुंरत बाहर कूद गए और पास की एक इमारत पर चढ़ गए ताकि लड़की को लपकने के लिए उचित स्थान खोज सकें।

इस बीच जैसे ही बच्ची का हाथ 164 फीट की ऊंचाई से फिसल गया और वह गिरने लगी तभी पूरी सूझबूझ के साथ न्गुयेन ने उसे कैच कर लिया। उनके अनुसार, उन्होंने पूरी कोशिश की कि बच्ची सीधे जमीन पर ना गिरे।

न्गुयेन ने कहा, ‘सौभाग्य से बच्ची मेरी गोद में आ गिरी और मैंने जल्दी से उसे गले लगा लिया, फिर जब उसके मुंह से खून रिसता देखा, तो मैं बहुत डर गया था।’ इसके तुंरत बाद बच्ची को नेशनल चिल्ड्रेन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने बताया कि उसके कूल्हे में चोट आई है, लेकिन वह ठीक हो जाएगी।

न्गुयेन ने कहा कि बारहवीं मंजिल से गिरी इस बच्ची की जान बच जाने से वह बेहद खुश हैं। उनका कहना है कि सब कुछ बहुत जल्दी हो गया, लेकिन उन्होंने बच्ची से नजर नहीं हटाई और आखिरकार वह बच गई।

न्गुयेन के इस कारनामे से उनकी खूब तारीफ हो रही है। लोग उन्हें वह अब एक सुपरहीरो कह रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी उनके इस इस प्रयास को खूब सराहा जा रहा है।

Continue Reading

देश - दुनिया

मात्र 83 रुपए में घर बेच रहा प्रशासन, घर लेने वालों की लगी होड़

Published

on

अपने घर का सपना हर किसी का होता है, लोगों को तिनका तिनका जोड़कर घर बनाते देखा जा सकता है, इससे ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि घर बनाना कितना महंगा है, लेकिन आपको बता दें कि एक देश ऐसा भी है जहां महज 83 रुपये में घर मिल रहा है, शायद आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा। लेकिन इटली में सिर्फ 83 रुपये देकर हजारों विदेशियों ने वहां घर खरीद लिया है।हालाकि स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं, उनका आरोप है कि स्थानीय प्रशासन उनका घर बेच रहा है। ये घर इटली के सिसली आइलैंड पर बिक रहे हैं, 14 वीं शताब्दी में बसा ये गांव अब अर्बन जंगल में बदल चुका है जहां के ज्यादातर घर जर्जर स्थिति में हैं, इसी वजह से यहां के लोग गांव छोड़कर शहरों में बस गए और यहां के मकान खाली रह गए, अब स्थानीय प्रशासन इसे बेच रहा है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़3 hours ago

हाथियों के कुचलने से धान संग्रहण केन्द्र के चौकीदार की मौत

गरियाबंद। जिले में एक बार फिर हाथियों के कुचकने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी है। घटना कुंडेलभाटा धान...

छत्तीसगढ़5 hours ago

ट्रेजरी के ज्वाइंट डायरेक्टर मंत्रालय से लापता

राजधानी रायपुर में ट्रेजरी के ज्वाइंट डायरेक्टर अचानक रहस्मय ढंग से नवा रायपुर स्थित मंत्रालय से लापता हो गए हैं।...

Breaking21 hours ago

देश दुनिया की पढ़ें ख़ास ख़बरें,,,, सुबह की सुर्खियाँ 03/03/2021

छ.ग़. आरक्षक भर्ती, 15 किन्नरों का हुआ चयन , प्रदेश के पुलिस में पहली बार सेवा देंगे थर्ड जेंडर 1894...

छत्तीसगढ़21 hours ago

इसरो ने पवित्र गीता के साथ अन्य धर्मों के पवित्र ग्रंथो को क्यों नहीं भेजा? : रिजवी

रायपुर। दिनांक 02/03/2021। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख, मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व उपमहापौर तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल...

छत्तीसगढ़21 hours ago

भाजपा प्रवक्ता एवं पूर्व मंत्री राजेश मूणत के बयान पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया

रायपुर/ 02 मार्च 2021। भाजपा प्रवक्ता एवं पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत के बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया व्यक्त की प्रदेश...

#Exclusive खबरे

Calendar

March 2021
S M T W T F S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031  

निधन !!!

Advertisement

Trending