Connect with us

प्रदेश

मौसम साफ होते ही अगले 4 दिनों तक कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार, मध्यप्रदेश में सर्दी का सितम जारी

Published

on

मौसम साफ होते ही प्रदेश में हवा की दिशा बदली है। जिसके बाद आज कई इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहीं कहीं-कहीं कोहरे से जनजीवन प्रभावित हुआ है। इधर मध्यप्रदेश में सर्दी का सितम जारी है। इंदौर में सीवियर कोल्ड डे बना हुआ है।मौसम विभाग की माने तो छत्तीसगढ़ में अगले चार दिनों तक कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार है।
मौसम साफ होते ही हवा की दिशा में बदलाव होने से कई इलाके शीतलहर के हालात बने
दरअसल बारिश के बाद मौसम साफ होते ही हवा की दिशा में बदलाव होने से कई इलाके शीतलहर के हालात बने हुए हैं।बलरामपुर के सामरी पाठ सहित मैदानी इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है।सरगुज़ा सभाग के सभी जिलों में ठंड से जनजीवन प्रभावित हुआ है। इधर बलौदाबाजार समेत अन्य जिलों में कोहरे के चलते यातायात प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार बारिश के बाद पश्चिमी विक्षोभ का असर कमजोर पड़ने के बाद तापमान में कमी आई है।
तापमान 4 से 5 डिग्री तक घटने की उम्मीद
वहीं आने वाले दिनों में रात का तापमान 4 से 5 डिग्री तक घटने की उम्मीद है। 28 जनवरी के बाद ठंड का प्रभाव कम होने के आसार है।26 जनवरी तक रहेगा सर्द मौसममध्यप्रदेश के अधिकांश जिलों में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कोहरे और ठंड से लोगों को परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। इंदौर में पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होते ही ठंड लौटी है। आज भी तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई। वहीं कल तक ठंड से राहत मिलने के आसार है।

प्रदेश

Weather Update : पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ समेत कई राज्यों में भारी बारिश की संभावना, अलर्ट जारी !  देखिये

Published

on

By

 

राष्‍ट्रीय राजधानी में बुधवार से भारी बारिश शुरू होने का अनुमान है। इसके मद्देनजर चेतावनी जारी कर दी गई है। आईएमडी ने इसके आसार जताए हैं। रविवार को दिल्‍ली में झमाझम बारिश हुई थी। हालांकि, सोमवार को लोगों को उमस का सामना करना पड़ा। दिल्‍ली के अलावा पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और उत्‍तर प्रदेश में भी जोरदार बारिश की संभावना है।कुछ दिन पहले तक जिस बारिश के लिए लोग तरस रहे थे, अब वह कई राज्यों में आफत बन रही है। मुंबई में आज दूसरी बार बारिश की ऐसी झड़ी लगी है। कई इलाके पानी में डूब रहे हैं। मौसम विभाग के मुताबिक मुंबई में आज दिनभर बारिश होगी।

समुद्र में भी हाई टाइड आएगा और 5 फीट तक की लहरें उठेंगी। दूसरी तरफ दिल्‍लीवाले अभी उमस से परेशान हैं। लेकिन बुधवार से भारी बारिश शुरू होने की पूरी उम्मीद है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने यह अनुमान जाहिर किया है। इसे लेकर ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया गया है।

जानिए दिल्ली और मुंबई में इस पूरे हफ्ते मौसम का पूरा हालआईएमडी ने दिल्ली में मंगलवार को भी मध्यम बारिश के आसार जताए हैं। राष्ट्रीय राजधानी में लोगों को सोमवार को भारी उमस का सामना करना पड़ा। कुछ इलाकों में बूंदाबादी देखने को मिली। महानगर में रविवार को झमाझम बारिश हुई थी।

इसने पर्यावरण के ज्‍यादातर पल्‍यूटेंट (प्रदूषकों) को साफ कर दिया था। इससे एयर क्‍वालिटी (AQI) संतोषजनक रही। सिर्फ दिल्ली ही नहीं, आईएमडी ने 5 से 8 जुलाई के बीच पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग जगह बारिश होने की संभावना जताई है।

महानगर में सोमवार को अधिकतम तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह रविवार के अधिकतम तापमान 35.7 डिग्री सेल्सियस से 1.1 डिग्री ज्‍यादा था। न्‍यूनतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी के अधिकारियों के अनुसार, मंगलवार को दिल्‍ली में हल्‍की से औसत बारिश हो सकती है। बुधवार से भारी बारिश होने की संभावना है। पहले ही ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके तहत मध्यम से भारी बारिश या गरज के साथ बौछारें पड़ने की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग ने मंगलवार को आसमान में बादल छाए रहने या हल्की से मध्यम बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ने की आशंका जताई है।

आईएमडी के अनुसार, अधिकतम और न्यूनतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस और 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। दिल्ली के कुछ हिस्सों में रविवार को हल्की बारिश हुई थी। वहीं, शहर में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 35.7 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। रविवार को दिल्ली के कुछ स्थानों जैसे पीतमपुरा, दिल्ली विश्वविद्यालय और उत्तरी दिल्ली में 20 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई थी। आगे यह भी बताया गया कि वर्तमान में पराली जलाने और धूल से प्रदूषण बढ़ सकता है। पिछले साल दिल्‍ली में जुलाई के दौरान 507.1 मिमी बारिश हुई थी। यह सामान्‍य के मुकाबले 2.5 गुना थी।

एमपी में जोरदार बारिश की संभावना
मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी दो दिनों तक मध्यम से भारी बारिश जारी रहने की संभावना है। भोपाल मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि 24 घंटों में 15 जिलों में भारी बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने सोमवार दोपहर को ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। इसमें राज्य और जिला प्रशासन को भारी से बहुत भारी बारिश के लिए तैयार रहने की सलाह दी गई। पिछले 24 घंटों में कई इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश जारी है। आईएमडी ने दो येलो अलर्ट भी जारी किए हैं।

राजस्थान में भारी बारिश का अनुमान
राजस्थान के कई इलाकों में मानसूनी बारिश का दौर इस सप्ताहांत तक जारी रहने का अनुमान है। इस दौरान कुछ जगहों पर भारी और बेहद भारी बारिश हो सकती है। मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार, फिलहाल उत्तरी ओडिशा और झारखंड के ऊपर एक कम दबाव वाला क्षेत्र बना हुआ है। इसके असर से अगले कुछ दिनों तक राज्य के दक्षिणी हिस्सों में कहीं-कहीं भारी बारिश और एक-दो जगहों पर बेहद भारी बारिश होने के आसार हैं।

मौसम केंद्र ने पांच जुलाई को राजस्थान के भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, झालावाड़, प्रतापगढ़, राजसमंद, उदयपुर और सिरोही जिले में कुछ जगहों पर भारी बारिश की आशंका जताई है। इसके मद्देनजर यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, छह जुलाई को कई जिलों में भारी बारिश के अनुमान को देखते हुए यलो अलर्ट जारी किया है। राजसमंद, नागौर और पाली में कहीं-कहीं भारी से अति भारी बारिश होने की आशंका के मद्देनजर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

Continue Reading

प्रदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : कुल्लू बस हादसे में जान गंवाने वाले परिजनों को दो-दो लाख रुपये मुआवजे की घोषणा…

Published

on

By

प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश में दुखद बस दुर्घटना के कारण अपनी जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि को मंजूरी दी है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुल्लू बस हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए दो-दो लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। पीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बस दुर्घटना हृदय विदारक है। इस दुखद घड़ी में उनकी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। कहा कि स्थानीय प्रशासन प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश में बस दुर्घटना के कारण अपनी जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि को मंजूरी दी है।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। हादसे के घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे। कुल्लू के उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि जिले के जांगला गांव के पास सुबह करीब साढ़े आठ बजे सैंज जाने वाली बस खाई में गिर गई। उन्होंने बताया कि जिला अधिकारी और बचाव दल मौके पर हैं और घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाया जा रहा है।

Continue Reading

प्रदेश

today weather update: असम-मेघालय में भारी बारिश से 43 लोगो की हुई मौत, दिल्ली में तेज बारिश की सम्भावना…

Published

on

By

 

देश में बारिश के अलग-अलग रंग देखने को मिल रहे हैं। कहीं बाढ़ है, कहीं हल्की बारिश है तो कई राज्य अभी भी बारिश के इंतजार में हैं। असम और मेघालय में बाढ़ से अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, राजस्थान में प्री-मानसून की बारिश से नदियां-नाले उफान पर हैं। दिल्ली की बात करें तो आज मौसम विभाग ने तेज बारिश की संभावना जताई है। आइए जानते हैं अलग-अलग राज्यों में बारिश की स्थिति…

असम-मेघालय में भारी बारिश से हालात खराब
असम और मेघालय में भारी बारिश से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। बाढ़ और लैंडस्लाइड से असम में अब तक 62 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, मेघालय में 19 लोगों की मौत हो गई है। दोनों राज्यों में कम से कम 40 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। असम के 28 जिलों में स्थिति बेहद ही खराब है। हालांकि, सेना राहत और बचाव अभियान चला रही है।

4 करीब हजार गांव बाढ़ से प्रभावित
असम में 32 जिलों में 31 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि लगभग 1.56 लाख लोग 514 राहत शिविरों में हैं। बाढ़ के कारण कई हजार हेक्टेयर खेत बर्बाद हो गए हैं। कई सड़कें टूट गई हैं। ब्रह्मपुत्र, गौरांग, कोपिली, मानस और पगलाड़िया नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर है।

पड़ोसी राज्यों में भी बाढ़ का खतरा
राज्य सरकार ने बाढ़ और भूस्खलन में फंसे लोगों के लिए गुवाहाटी और सिलचर के बीच उड़ानों की भी व्यवस्था की है। दक्षिण असम त्रिपुरा और मिजोरम को जोड़ने वाली सड़क का एक हिस्सा लैंडस्लाइड से बह गया। इसलिए सड़क का एक किनारा परिवहन के लिए बंद कर दिया गया है। उधर, पड़ोसी अरुणाचल प्रदेश में सुबनसिरी नदी के पानी ने एक बांध को जलमग्न कर दिया है। मणिपुर के कई जिलों में भी बाढ़ जैसे हालात हैं, यहां अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली में रविवार को तेज बारिश का अनुमान
दिल्ली में बीते दिनों हुई झमाझम बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली है। मौसम विभाग के अनुसार, राजधानी में 21 जून तक बादल छाए रहने और तेज बारिश होगी। इसके अलावा दिल्ली में मानसून के 27 जून या एक-दो दिन पहले पहुंचने की उम्मीद है।

MP में भी बारिश ने जोर पकड़ा
मध्यप्रदेश में मानसून ने रफ्तार पकड़ ली है। भोपाल, जबलपुर, सागर संभागों के अधिकांश इलाकों में बीते 3 दिन से बारिश हो रही है। अब अगले 48 घंटों में इन इलाकों में मानसून की भी बारिश शुरू हो जाएगी। भोपाल में तो रविवार सुबह भी रुक-रुककर बौछारें पड़ने लगी। इंदौर के भी अधिकांश इलाकों में बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार, पूरे राज्य में 28 जून तक मानसून की रंगत दिखने लगेगी। पढ़ें पूरी खबर…

बिहार में आज इन जिलों में अलर्ट
बिहार के कई जिलों में आज मौसम विभाग ने तेज बारिश की संभावना जताई है। इसमें बक्सर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, गया, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, बेगूसराय, लखीसराय, जहानाबाद, भागलपुर, बांका, जमुई, मुंगेर और खगड़िया शामिल है।

यूपी में देरी से आएगा मानसून
यूपी में मानसून इस साल एक हफ्ते की देरी से आएगा। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि 21 से 22 जून तक मानसून आएगा। हालांकि, बीते दिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में बारिश भी हुई। इससे लोगों को गर्मी से कुछ राहत भी मिली। मौसम विभाग ने आज मेरठ, सहारनपुर सहित कई इलाकों में बारिश की संभावना जताई है। पढ़ें पूरी खबर…

छत्तीसगढ़ में अब तक दुर्ग में ही अटका मानसून
छत्तीसगढ़ पहुंचा दक्षिण-पश्चिम मानसून दुर्ग में ही अटका पड़ा है। वहीं घने काले बादलों ने पूरे प्रदेश में डेरा जमा लिया है। चांपा, जांजगीर और मरवाही में शनिवार को भारी बरसात दर्ज हुई। वहीं, बस्तर से लेकर दुर्ग तक के इलाके करीब-करीब सूखे ही रहे। मौसम विभाग के अनुसार आज कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है। पढ़ें पूरी खबर…

इस बार सामान्य रहेगा मानसून
मौसम विभाग और वैज्ञानिकों का मानना है कि इस बार मानसून सामान्य रहेगा। बारिश के बीच अगर बड़ा अंतर नहीं आता है तो जुलाई-अगस्त में अच्छी बरसात होगी। देश में पूर्वी महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ ऐसे प्रदेश हैं जहां बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों मानसून सक्रिय होते हैं।

21 साल में 14 बार सामान्य रहा मानसून
2001 से अब तक 21 सालों में मानसून 14 बार सामान्य रहा है। वहीं 2 बार 2002 और 2009 में सामान्य से कम रहा। 2002 में राजस्थान में महज 233 MM और 2009 में 378 MM बरसात हुई थी। वहीं पांच बार सामान्य से ज्यादा मानसून रहा। इनमें 2006 में 670 MM, 2011 में 736 MM, 2013 में 691 MM, 2016 में 678 और 2019 में 747 MM बरसात हुई है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़2 months ago

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री दाई-दीदी क्लीनिक योजना चलाई जा रही,महिलाओं और बच्चियों को मिल रहा है आसानी से इलाज

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री दाई-दीदी क्लीनिक योजना का लाभ प्रदेश की गरीब महिलाओं और बच्चियों को मिल रहा है. अब तक...

छत्तीसगढ़2 months ago

District Hospital : शाॅर्ट सर्किट के कारण बिजली चली गई जिससे नवजात बच्चे की मौत,लापरवाही से यह घटना सामने आई

कोरबा। जिला अस्पताल में एक बड़ी घटना घटी गई है.जहां शाॅर्ट सर्किट के कारण अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड की बिजली...

छत्तीसगढ़2 months ago

यात्रियों को बड़ा झटका : 20 ट्रेनों को किया रद्द,देखें लिस्ट

बिलासपुर : ट्रेनों के कैंसिल होने से रेल यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी बीच SECR...

क्राइम न्यूज़2 months ago

CG Crime News : नाबालिग का अपहरण कर किया सामूहिक , दुष्कर्म

Manendragarh : कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ में एक नाबालिग का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म करने की सनसनीखेज घटना सामने आयी...

छत्तीसगढ़2 months ago

CG News: खेलते-खेलते 6 साल का मासूम हुआ गायब, परिजन ने दर्ज कराई गुमशुदगी की रिपोर्ट

  भिलाई में 6 साल का बच्चा तीन दिनों से लापता है। अब तक पुलिस को उसका कोई सुराग नहीं...

#Exclusive खबरे

Advertisement

Calendar

September 2022
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
Advertisement
Advertisement

Trending