Connect with us

देश

आसमान छू रहे सब्जियों के दाम: टमाटर के बढ़ते दामों ने बिगाड़ दिया गृहणियों का बजट

Published

on

उत्तराखंड में टमाटर के दाम 80 रुपये पहुंच गए हैं। बढ़ रहे टमाटर के दामों ने गृहणियों का बजट बिगाड़ दिया है। वहीं मध्यम वर्ग की थाली से टमाटर गायब हो गया है। यहां टमाटर यूपी और दिल्ली की मंडियों से टमाटर आता है। पहले आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से टमाटर मंडियों में पहुंच रहा था। लेकिन भारी बारिश ने टमाटर की फसल को खराब कर दिया है। अब मध्य प्रदेश, राजस्थान और बेंगलुरु से टमाटर की आपूर्ति हो रही है। इसके चलते टमाटर के दाम आसमान छू रहे हैं।

सब्जियों के दाम रुपए (प्रति किलो)
देहरादून- टमाटर 80, प्याज- 50, लौकी- 30 से 40, शिमला मिर्च- 60 से 70, मटर- 120, मीठा करेला और फूलगोभी- 40, भिंडी- 80, बैंगन- 30 से 40, बंद गोभी- 30 रुपये

ऋषिकेश – टमाटर – 80, प्याज – 40, आलू – 30, फूल गोभी – 40, बैंगन – 30, लौकी – 30, भिंडी – 70, बंद गोभी – 30, मटर- 80 से 100 रुपये
नई टिहरी – टमाटर – 80, प्याज – 40, आलू – 30 , शिमला मिर्च – 80 किलो, मटर – 120 , फूलगोभी  – 40 , बंद गोभी – 30 किलो, भिंडी – 80 रुपये
चमोली- टमाटर- 80, प्याज-50, लौंकी- 40, शिमला मिर्च-80, पत्ता गोभी-30, फूल गोभी-60, बैंगन-40, भिंडी-60, आलू-30, मीठा करेला- 30 रुपये
श्रीनगर – टमाटर – 80 , आलू – 30, प्याज – 40, फ्रेंचबीन – 80 , सेम – 60, फूल गोभी – 40, बैगन- 40,  मीठा करेला  – 60, भिंडी -80, शिमला मिर्च- 80, लौकी-60, पत्ता गोभी -40 रुपये
कोटद्वार – टमाटर – 60, लौकी – 40, फूल गोभी – 30, बंद गोभी  30, बैंगन – 30 रुपये
पुरोला –  टमाटर – 80 ,करेला- 80, भिंडी- 80, लौकी- 80, गाजर – 60, गोभी – 50, पत्ता गोभी – 30, बीन – 120, मटर – 120, शिमला मिर्च – 120 रुपये
उत्तरकाशी- टमाटर – 80, भिंडी-80, प्याज-50, लौकी- 60, शिमला मिर्च- 60, फूलगोभी- 60, बैंगन-60, खीरा-60, आलू- 25 से 30, बींस-120, पत्ता गोभी-40 रुपये
बडकोट- टमाटर – 80, मटर – 160, शिमला मिर्च – 120, करेला और भिडीं – 80 रुपये
हरिद्वार- टमाटर – 60, प्याज- 40, मूली- 20, गोभी- 30, मटर -120, पालक- 35, करेला- 40, शिमला मिर्च- 60, लौकी -20, पत्ता गोभी -30, आलू -30, बैगन -30 रुपये
क्या कहते हैं सब्जी विक्रेता
छोटी सब्जी मंडी विक्रेता राजू ने बताया कि पहले वे टमाटर पांच से छह सौ रुपये कैरेट खरीदते थे। लेकिन जैसे ही टमाटर के दामों में उछाल आया है, उन्होंने टमाटर बेचना ही छोड़ दिया है।

टमाटर के दाम इन दिनों आसमान छू रहे हैं। जो सब्जी पहले दो सौ रुपये में आती थी आज वही सब्जी चार सौ रुपये में आ रही है। ये टमाटर के बढ़े हुए दाम से हो रहा है। बिना टमाटर के खाने का स्वाद गायब हो जाता है, लेकिन जिस तरह से टमाटर के दाम बढ़ रहे हैं। अब लग रहा है कि थाली से टमाटर को ही गायब करना पड़ेगा।बीते दो महीनों में ही टमाटर के दाम में उछाल आया है। टमाटर के दाम बढ़ने से घर का पूरा बजट बिगड़ गया है।

कुछ समझ नहीं आ रहा है कि बढ़ती हुई महगाईं अब गृहणियों का कितना बजट बिगाड़ती है। पहले सब्जी में दो से तीन टमाटर का इस्तेमाल करती थी, लेकिन जैसे ही टमाटर के दाम बढ़े हैं सब्जी में भी टमाटरों की संख्या कम कर दी है। यदि इसका दाम कम नहीं हुआ तो वो दिन दूर नहीं जब यह थाली से गायब हो जाएगा।

देश

आईटीआर फाइल करने के लिए 31 दिसंबर है लास्ट डेट, जानिए अब तक कितने लोगों ने भरा इनकम टैक्स रिटर्न

Published

on

By

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक तीन करोड़ से अधिक लोगों ने रिटर्न दाखिल किया है। साथ ही करदाताओं को सलाद ही है। जिन्होंने अभी तक अपना आरटीआर दाखिल नहीं किया है। बता दें इनकम टैक्स रिटर्न करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2021 है।

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि टैक्स भुगतान और टीडीएस को सत्यापित करने और लाभ उठाने के लिए ई-फालिंग पोर्टल से दाखिल करें।टैक्सपेयर्स के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे एआईएस स्टेटमेंट में अपने बैंक पासबुक, ब्याज प्रमाण पत्र, फॉर्म 16 और इक्विटी/म्यूचुअल फंड आदि की खरीद और बिक्री के मामले में ब्रोकरेज से पूंजीगत लाभ विवरण के साथ डेटा को क्रॉस चेक करें।

मंत्रालय ने कहा कि आईटीआर दाखिल करना 2021-22 के लिए 3.03 करोड़ तक बढ़ गया है। इनमें से 1.78 करोड़ (आईटीआर-1), 24.42 लाख (आईटीआर-2), 26.58 लाख (आईटीआर-3), 70.07 लाख (आईटीआर-4), 2.14 लाख (आईटीआर-5), 0.91 लाख (आईटीआर-6) और 0.15 लाख है।

इनमें से 52 प्रतिशत से अधिक आईटीआर पोर्टल पर ऑनलाइन फॉर्म का उपयोग करके और शेष राशि दर्ज की जाती है। ऑफलाइन सॉफ्टवेयर यूटिलिटीज से बनाए गए आईटीआर का उपयोग करके अपलोड किए जाते हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा कि आयकर विभाग के लिए आईटीआर की प्रक्रिया शुरू करने और रिफंड जारी करने के लिए आधार, ओटीपी और अन्य तरीकों के माध्यम से ई-सत्यापन की प्रक्रिया महत्वपूर्ण है।

Continue Reading

देश

1 दिन और 17 केस; भारत में ओमिक्रॉन की स्पीड से बढ़ी टेंशन, हर जगह डर का माहौल; जानें खतरा कितना बड़ा

Published

on

By

दुनियाभर में कोरोना के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट से दहशत का माहौल है. भारत में भी ओमिक्रॉन की दस्तक हो गई है. सबसे पहला मामला कर्नाटक से सामने आने के बाद अब राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में भी ओमिक्रॉन की एंट्री हो गई है. भारत में फिलहाल कोरोना के इस नए वेरिएंट के 21 मामले हैं. सबसे ताजा मामला राजस्थान के जयपुर से सामने आया है

जहां, एक ही परिवार के 9 लोग ओमिक्रॉन संक्रमित पाए गए हैं. एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि इनमें चार लोग दक्षिण अफ्रीका से लौटे हैं और पांच उनके संपर्क में आए उनके रिश्तेदार हैं. इससे पहले महाराष्ट्र में 7 लोग संक्रमित पाए गए. इनमें 6 केस पिंपरी और एक मामला पुणे में दर्ज किया गया है.

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. केंद्र सरकार ने कोरोना के नए वेरिएंट को खतरे को देखते हुए नई ट्रैवल गाइडलाइंस भी जारी की है. केंद्र के अनुसार, ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग और इजराइल को ‘जोखिम वाले देशों’ की सूची में रखा गया है. इन सबके बीच एक बार फिर अब यह सवाल उठने लगे हैं क्या एक फिर देश लॉकडाउन जैसी पाबंदियों की ओर बढ़ रहा है?

तेजी से बढ़ रहे ओमिक्रॉन के मामले

  •  भारत में रविवार को कोविड-19 के ओमिक्रॉन वेरिएंट के 17 और मामले सामने आए, जिनमें 9 राजस्थान की राजधानी जयपुर में, 7 महाराष्ट्र के पुणे जिले में और एक मामला दिल्ली का है. इसके साथ ही देश में ओमिक्रॉन के मामलों की कुल संख्या 21 हो गई है.
  • जो लोग संक्रमित पाए गए हैं उनमें से अधिकतर हाल में अफ्रीकी देशों से आए हैं या इस तरह के लोगों के संपर्क में थे. इसके साथ ही चार राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी में ज्यादा संक्रामक स्वरूप के मामले सामने आए हैं.
  • अभी के लिए भारत में एक ट्रैवल एडवाइजरी पहले ही जारी कर दी गई है. एयरपोर्ट पर भी स्क्रीनिंग और टेस्टिंग बढ़ा दी गई है. दूसरे राज्यों ने भी एट रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों को क्वारंटीन में रखने का फैसला किया है. अगर लापरवाही बरती गई और केसेज बढ़े तो भारत में लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा.
  • नए नियमों के अनुसार, ‘जोखिम वाले देशों’ से आने वाले यात्रियों के लिये RT-PCR जांच कराना अनिवार्य है और उन्हें परिणाम आने के बाद ही हवाई अड्डे से जाने की अनुमति होगी. इसके अलावा अन्य देशों से आने वाले दो प्रतिशत यात्रियों की जांच की जाएगी और इस जांच के लिए किसी भी यात्री के नमूने लिए जा सकते हैं.
  • भारत में ‘ओमिक्रॉन’ के पहले दो मामले गुरुवार को कर्नाटक से सामने आए थे. इसके अलावा तीन अन्य मामलों का पता गुजरात, महाराष्ट्र और दिल्ली से लगाया गया था.
  • 25 नवंबर को पहली बार दक्षिण अफ्रीका में पाए गए ओमिक्रोन को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ‘चिंता का एक प्रकार’ के रूप में वर्णित किया गया है.शोधकर्ता अभी भी जांच कर रहे हैं कि क्या ओमिक्रॉन अधिक घातक है? और क्या वर्तमान टीके से कोरोना का यह नया वेरिंट सुरक्षा प्रदान करता है.
  • टाटा इंस्टीट्यूट फॉर जेनेटिक्स एंड सोसाइटी के निदेशक और काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च-सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी के पूर्व प्रमुख, डॉ राकेश मिश्रा ने हाइब्रिड इम्युनिटी की प्रभावशीलता के बारे में बात करते हुए कहा, ‘स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार, भारत में प्रशासित COVID-19 टीके ओमिक्रॉन वायरस के नए संस्करण के खिलाफ देश की लड़ाई में प्रभावी होंगे और देश के टीकाकरण वाले नागरिकों को एक ढाल प्रदान करेंगे.
  • वहीं, ICMR एक्सपर्ट समीरन पांडा ने कहा कि अभी हमारे देश में ओमिक्रॉन ज्यादा नहीं फैला है. हमारे यहां डेल्टा ने ज्यादा नुकसान किया था, लेकिन ऐसा नहीं है कि हर वैरिएंट खतरनाक ही होता है. पहले जो भी कोरोना के वैरिएंट आए हैं, उससे लोगों में इम्यूनिटी डेवलप हुई है. इसके अलावा वैक्सीन की वजह से भी लोगों में इम्यूनिटी बनी है. नए वैरिएंट के फैलने का तरीका भी कोई नया नहीं है, लेकिन अब हमें सावधानी बरतनी होगी और भीड़ में जाने से बचना होगा.
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर में कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर और डिप्टी डायरेक्टर मनिंदर अग्रवाल ने यह दावा किया है कि जनवरी 2022 के अंतिम सप्ताह और फरवरी की शुरुआत में इस वैरिएंट से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या पीक पर होगी.
  • प्रो. मनिंदर अग्रवाल के मुताबिक, ओमिक्रॉन वैरिएंट के तेजी फैलने के लक्षण तो हैं, लेकिन ज्यादा घातक नहीं दिख रहे. इस वैरिएंट के हर्ड इम्यूनिटी को बाईपास करने की संभावना कम है. हालांकि, इसके फैलने के लक्षण ज्यादा हैं और अभी तक साउथ अफ्रीका से लेकर दुनिया भर में जहां भी यह फैला है, इसके लक्षण गंभीर नहीं बल्कि हल्के देखे गए हैं.

Continue Reading

देश

शिमोगा जिले के प्राइवेट : नर्सिंग स्कूल में कोरोना विस्फोट , 29 छात्र निकले संक्रमित

Published

on

By

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के शुरुआती दो मामलों को रिपोर्ट करने वाले कर्नाटक के एक नर्सिंग स्कूल में कोरोना विस्फोट हुआ है. राज्य के शिमोगा जिले के प्राइवेट नर्सिंग स्कूल में 29 छात्रों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. शिमोगा के डिप्टी कमिश्नर केबी शिवकुमार ने बताया कि इन मामलों में से ज्यादातर वो हैं, जिनमें लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं।

शिवकुमार ने कहा, हम कई जगहों पर रैंडम सैंपलिंग कर रहे हैं. इस दौरान पता चला कि एक निजी नर्सिंग स्कूल में अलग-अलग राज्यों से आए कुछ छात्रों में कोरोना संक्रमण मिला है. हमने हॉस्टल को सील कर दिया है. क्षेत्र में संक्रमण फैलने की किसी भी संभावना को नियंत्रित करने के लिए डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोरोना जांच की जा रही है. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने घोषणा की है कि तीन या उससे ज्यादा कोरोना मामलों वाले किसी भी क्षेत्र को क्लस्टर के रूप में बांटा जाएगा।

इस बीच कर्नाटक ने शनिवार को 397 नए कोरोना के मामले दर्ज किए गए. वहीं इस दौरान 277 मरीज रिकवर हुए हैं और चार मरीजों की मौत हुई है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में कुल 7,012 एक्टिव केस हैं. इस सप्ताह की शुरुआत में कर्नाटक में भारत के नए COVID-19 वेरिएंट Omicron के पहले दो मामलों का पता चला था. भारत में अब तक ओमिक्रोन वेरिएंट के पांच मामले सामने आ चुके हैं.

कर्नाटक में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के दो मामले सामने आने के बाद तनाव का माहौल बना हुआ है. कर्नाटक सरकार ने इन मामलों को देखते हुए अब सुरक्षा उपायों की घोषणा की जिनमें मॉल, सिनेमाघरों में जाने वाले लोगों के लिए टीके की दोनों डोज अनिवार्य होंगी. साथ ही स्कूल-कॉलेज जाने वाले छात्रों के अभिभावकों के लिए ये नियम लागू होगा।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़2 days ago

बड़ी उपलब्धि: कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना में जिला अस्पताल को 89.1% अंक हासिल कर छत्तीसगढ़ में मिला पहला स्थान, डॉ राजीव तिवारी ने स्वास्थ्य कर्मियों का जताया आभार

जिला अस्पताल में पदस्थ अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ राजीव तिवारी ने कहा कि हमारे बलरामपुर जिला अस्पताल  के सभी स्वास्थ्य...

छत्तीसगढ़2 days ago

छत्तीगढ़ के बेटे का हुआ इसरो में चयन : बचपन का सपना हुआ साकार,मां ने बताई अपने बेटे की इमोशनल जर्नी.

बिलासपुर : कहते हैं, जिंदगी में कुछ करने के लिए लगन और मेहनत की आवश्यकता होती है। सफलता जरूर मिलेगी।...

छत्तीसगढ़5 days ago

उत्तर भारत में कोहरे और चक्रवात का असर, आधा दर्जन से अधिक ट्रेनों को चक्रवात के कारण रद

उत्तर भारत में घने कोहरे के कारण जहां कई ट्रेनों का संचालन रद करने के साथ मार्ग परिवर्तित किया गया...

छत्तीसगढ़5 days ago

छत्तीसगढ़ में खराब मौसम का अलर्ट जारी, जवाद चक्रवात के कारण ये 7 ट्रेनें रद्द

अंडमान सागर और उसके आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि यह...

छत्तीसगढ़6 days ago

धान बेचने में मदद के लिए किसान सहयोग समिति का गठन,छत्‍तीसगढ़ में धान खरीदी शुरू, दतरेंगा में अभी तक 16 किसानों ने 384 क्विंटल धान बेचा

छत्‍तीसगढ़ में एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो गई है। बुधवार को दतरेंगा धान खरीदी केंद्र में सुबह से खरीदी...

#Exclusive खबरे

Calendar

December 2021
S M T W T F S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  

निधन !!!

Advertisement

Trending