Connect with us

शेल्टर होम में रखी गई 7 लड़कियां प्रेग्नेंट, 57 कोरोना पॉजिटिव

Published

on

कानपुर संवासिनी गृह में सात नाबालिग लड़कियों के प्रेग्नेंट होने और यहां 57 लड़कियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से हड़कंप मचा हआ है। प्रेग्नेंट किशोरियों को  हैलट के जच्चा-बच्चा अस्पताल भर्ती किया गया है। जहां जांच में एक एचआईवी संक्रमित मिली तो दूसरी को हेपेटाइटिस सी का संक्रमण है। इसके चलते उन्हें विशेष निगरानी में रखा गया है। वहीं, डीएम ने ट्वीट कर हकीकत के बारे में जानकारी दिया है।

एक संवासनी के कोरोना पॉजिटिव होने से बालिका संरक्षण गृह की सभी लड़कियों का कोरोना टेस्ट हुआ। इस दौरान 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई, जिसमें 7 लड़कियां प्रेग्‍नेंट पाई गई हैं। इनमें में से 5 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

प्रेग्‍नेंट लड़कियों में से एक किशोरी को 8 माह और दूसरी को साढ़े आठ माह का गर्भ है। अब दोनों को हैलट के जच्चा-बच्चा अस्पताल रेफर कर दिया गया है। जहां जांच में एक एचआईवी संक्रमित मिली तो दूसरी को हेपेटाइटिस सी का संक्रमण है। इसके चलते उन्हें विशेष निगरानी में रखा गया है।

डीएम ने ट्वीट किया कि कुछ लोगों द्वारा कानपुर संवासिनी गृह को लेकर गलत उद्देश्य से पूर्णतया असत्य सूचना फैलाई गई हैं। आपदाकाल में ऐसा कृत्य संवेदनहीनता का उदाहरण है। कृपया किसी भी भ्रामक सूचना को जांचे बिना पोस्ट न करें। ज़िला प्रशासन इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए लगातार तथ्य एकत्र कर रहा है।

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा है कि सभी बालिकाएं संरक्षण गृह में लाए जाने के वक्त ही गर्भवती थीं। पांच संक्रमित संवासिनी आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर के बाल कल्याण समिति से संदर्भित करने के बाद यहां रह रही थीं.

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा है कि पॉक्सो एक्ट के तहत एक किशोरी कन्नौज और दूसरी किशोरी आगरा से कानपुर आई है। रेस्क्यू के समय ही दोनों गर्भवती थीं और दिसंबर 2019 में संरक्षण गृह में भेजी गई थीं। दोनों 6 महीने पहले बालिका गृह में आई हैं, जबकि गर्भ 8 महीने का है. संरक्षण के समय से दोनों के गर्भवती होने का रिकॉर्ड है।

Advertisement
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Lifestyle

मोटापाग्रस्त लोगो को विभिन्न रोग एवं मृत्यु की अधिक सम्भावना…

Published

on

By

 

भारत में कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों में लगातार उतार-चढ़ाव जारी है। पिछले 24 घंटे में एक बार फिर से संक्रमण के मामले 17 हजार से अधिक रिकॉर्ड किए गए, इस दौरान 17,070 लोगों को संक्रमित पाया गया। विशेषज्ञों का कहना है कि देश में जिस प्रकार से ओमिक्रॉन और इसके सब-वैरिएंट्स के कारण संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं ऐसे में सभी लोगों को निरंतर इससे बचाव के उपाय करते रहने की आवश्यकता है। बचाव को लेकर की गई कोई भी लापरवाही आपको संक्रमित कर सकती है।

महामारी की शुरुआत से ही कोमोरबिडिटी और मोटापा से ग्रस्त लोगों में संक्रमण के गंभीर जोखिमों को लेकर अलर्ट किया जाता रहा है। आंकड़े बताते हैं कि जिन लोगों में अधिक वजन की समस्या रही है, उनमें अन्य लोगों की तुलना में गंभीर संक्रमण और आईसीयू में भर्ती होने का खतरा अधिक पाया गया है।

मोटापा और कोविड-19 के जोखिमों को लेकर शोध कर रही विशेषज्ञों की टीम ने अपने हालिया अध्ययन में बड़ा दावा किया है। शोधकर्ताओं ने बताया है कि वैक्सीनेशन, मोटापा ग्रस्त लोगों में संक्रमण और इसके कारण होने वाले मृत्यु के खतरे को कम करने में विशेष भूमिका निभा सकती है। आइए इस बारे में आगे विस्तार से जानते हैं।

टीकाकरण की प्रभाविकता को लेकर अध्ययन

द लैंसेट डायबिटीज एंड एंडोक्रिनोलॉजी जर्नल में प्रकाशित अध्ययन में विशेषज्ञों ने बताया कि कोविड के टीके, सभी प्रकार के बॉडी वेट वाले लोगों को अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु के जोखिम से बचाते हैं। कोरोना की शुरुआत से ही अधिक वजन वाले लोगों को गंभीर विकास के प्रति अति संवेदनशील बताया जाता रहा है, लेकिन इस शोध से पता चलता है कि वैक्सीनेशन करा के ऐसे लोग भी संक्रमण की गंभीरता के जोखिम कम कर सकते हैं।

अध्ययन में क्या पता चला?

इंग्लैंड में नौ मिलियन से अधिक वयस्कों पर यह अध्ययन किया गया। 8 दिसंबर, 2020 (यूके में दिए गए पहले टीके की तारीख) से 17 नवंबर, 2021 तक किए गए इस शोध में इनमें से 566,461 लोगों का टेस्ट पॉजिटिव रहा था। 32,808 अस्पताल में भर्ती थे और 14,389 की मृत्यु हो गई।

शोधकर्ताओं ने पाया कि हाई बीएमआई के बावजूद जिन लोगों को वैक्सीनेशन हुआ था, उनमें बिना टीकाकरण वाले लोगों की तुलना में गंभीर रोग विकसित होने का जोखिम कम पाया गया। विशेषज्ञों का कहना है कि यह अध्ययन एक बार फिर से वैक्सीनेशन की आवश्यकताओं और इसकी प्रभाविकता को साबित करता है।

सभी बॉडी वेट वालों पर असरदार है वैक्सीन

यूके ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में नफिल्ड विभाग के प्रमुख और अध्ययन के लेखक डॉ कारमेन पियरनास कहते हैं, अध्ययन के निष्कर्ष इस बात का सबूत देते हैं कि कोविड-19 टीके सभी तरह की बॉडी वेट वाले लोगों की जान बचाने में कारगर हो सकते हैं। मोटापा, कोरोना संक्रमण की गंभीरता के प्रमुख कारणों में से एक मानी जाती रही है, हालांकि अध्ययन से पता चलत है कि टीकाकरण ऐसे लोगों को गंभीर बीमारी से सुरक्षित रखने में काफी सहायक हो सकती है।

अध्ययन का निष्कर्ष

अध्ययन के निष्कर्ष में शोधकर्ताओं ने पाया कि टीकाकरण सभी बॉडी वेट वाले लोगों को कोविड संक्रमण से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हालांकि अंडर वेट वाले लोगों में इसका प्रभाव थोड़ा कम देखा गया। शोधकर्ताओं ने कहना कि स्वस्थ और हाई बीएमआई समूहों में जिन लोगों को वैक्सीनेशन हो चुका है उनके अस्पताल में भर्ती होने की संभावना लगभग 70 प्रतिशत कम पाई गई है। दूसरी खुराक के दो सप्ताह कोरोना से मृत्यु का जोखिम भी लगभग दो-तिहाई कम देखा गया है।

 

Continue Reading

देश - दुनिया

weather update:अजमेर में लगातार तेज बारिश, सीकर में रेल पटरियां डूबी…

Published

on

By


गर्मी की मार झेल रहे लोगों का बारिश का इंतजार खत्म हो गया है। प्रदेश के लगभग पूरे हिस्से में मानसून एक्टिव होने से बीते 24 घंटे से रुक-रुककर बारिश का दौर जारी है। पूर्वी राजस्थान से एंट्री करने वाले मानसून से बीते 24 घंटे में चार इंच से ज्यादा बारिश हुई है। राजधानी सहित पांच जिलों में सबसे अधिक बरसात हुई है।

वहीं, सीकर में रेलवे ट्रैक डूबने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। हालांकि, अब तक रेल यातायात सामान्य है। जयपुर में लगातार हो रही बारिश के कारण शहर के कई हिस्सों में पानी जमा हो गया है। मौसम केन्द्र जयपुर का कहना है कि लगातार बारिश का यह सिलसिला अगले तीन दिन तक जारी रह सकता है।

राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां बीती शाम से शुक्रवार दोपहर तक कई हिस्सों में रूक-रूक कर बारिश हुई। जयपुर कलेक्ट्रेट पर पिछले 12 घंटे के दौरान 52MM बारिश के बाद शहर सीकर रोड, एमआई रोड समेत कई जगह शहर में पानी भर गया। जयपुर जिले में सबसे ज्यादा 89MM बरसात दिल्ली रोड पर पावटा में हुई। जयपुर शहर में तेज बारिश के बाद माधोराजपुरा, चौंमू, शाहपुरा, बस्सी, नरैना में भी 2 इंच बारिश हुई।

इधर, चूरू, हनुमानगढ़ एरिया में बीती रात हुई तेज हुई। चूरू के राजगढ़ में सबसे ज्यादा 117MM से ज्यादा बारिश हुई। वहीं हनुमानगढ़ के संगरिया में 82MM बारिश हुई। बारिश के संगरिया एरिया में खेत पानी से भरे नजर आए। आज सुबह भी हनुमानगढ़, चूरू, गंगानगर, बीकानेर में अच्छी बारिश हुई। मौसम केन्द्र जयपुर से मिली रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान सीकर, झुंझुनूं, खेतड़ी, जयपुर के माधोराजपुरा, पावटा, हनुमानगढ़ के संगरिया, दौसा के रामगढ़ पचवाड़ा, चूरू के राजगढ़, बीकानेर के डूंगरगढ़, बारां और अलवर के कोटकासिम में 75MM (3 इंच) या उससे ज्यादा बरसात हुई।

सीकर में रेल पटरियां डूबी, नवलगढ़ रोड पर भरा पानी
सीकर जिले में भी आज जबरदस्त बारिश हुई। सीकर शहर में पिछले 24 घंटे के दौरान 85MM बारिश होने से सीकर जंक्शन पर रेल पटरियां पानी में डूब गई। नवलगढ़ रोड पर घुटनों तक पानी भरने के कारण पैदल, टू व्हीलर व छोटे फोर व्हीलर चालकों को आने-आने में परेशानी हुई। सीकर शहर के अलावा फतेहपुर में 46, श्रीमाधोपुर में 43, नीमकाथाना में 41 और दांतारामगढ़ में 34MM बारिश हुई।

अब आगे क्या?
जयपुर मौसम केन्द्र ने आज टोंक, कोटा, बूंदी, अजमेर, भीलवाड़ा, राजसमंद, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, धौलपुर, चित्तौड़गढ़, दौसा, सवाई माधोपुर, उदयपुर, सिरोही, प्रतापगढ़ जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। 2 और 3 जुलाई को अजमेर, भरतपुर, सीकर, धौलपुर, करौली, कोटा, बूंदी, बारां, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, सवाई माधोपुर समेत कई जिलों में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। 4 जुलाई से राज्य में बारिश का दौर धीमा पड़ सकता है।

इन एरिया में हुई 2 इंच से ज्यादा बरसात

जगह बारिश (MM)
कोटकासिम (अलवर) 83
दानपुर (बांसवाड़ा) 56
बारां 70
डूंगरगढ़ (बीकानेर) 74
लूनकरणसर 52
रावतभाटा (चित्तौड़गढ़) 69
भैसोड़गढ़ (चित्तौड़गढ़) 54
राजगढ़ (चूरू) 117
चूरू शहर 53
रामगढ़ पचवाड़ा (दौसा) 72
लवाना (दौसा) 70
सूरतगढ़ (गंगानगर) 62
संगरिया (हनुमानगढ़) 82
टिब्बी 65
पावटा (जयपुर) 89
माधोराजपुरा (जयपुर) 77
चौंमू 69
शाहपुरा 68
बस्सी 57
नरैना 50
जयपुर शहर 52
मनोहरथाना (झालावाड़) 59
डग 47
खेतड़ी (झुंझुनूं) 96
झुंझुनूं शहर 85
मंडावा 62
मलसीसर 59
सूरजगढ़ (झुंझुनूं) 55
डींगोद (कोटा) 67
कानावास 64
संगोद 59
दलोट (प्रतापगढ़) 54
सीकर

85

.

Continue Reading

ज्योतिष

VASTU TIPS: वास्तु के अनुसार घर में पौधा लगाते समय इस बात का रखे खास ख्याल…

Published

on

 

पेड़-पौधे जहां होते हैं वहां हमेशा सकारात्मकता बनी रहती है। घर में लगाने के लिए पौधों का सही चयन करना आवश्यक है। अगर घर में पौधे लगाना चाह रहे हैं तो वास्तु में बताई गईं इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। आइए जानते हैं घर में सकारात्मकता बढ़ाने के लिए किन पौधों को लगा सकते हैं।

वास्तु के अनुसार घर में मनी प्लांट लगाने से आर्थिक तंगी दूर होती है। घर में तुलसी का पौधा बहुत ही शुभ है। इसमें मां लक्ष्मी का वास माना जाता है। जहां तुलसी की पूजा होती है, वहां श्री हरि विष्णु की कृपा बनी रहती है। तुलसी को घर के दक्षिणी भाग में नहीं लगाना चाहिए। केले के पेड़ को भी घर में लगाना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि अगर इसके पास तुलसी का पौधा लगा हो तो यह अत्याधिक शुभकारी होता है। इससे भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी दोनों की कृपा बनी रहती है। अगर घर बड़ा है तो नीम का पौधा भी लगा सकते हैं। मान्यता के अनुसार जो व्यक्ति नीम के सात पेड़ लगाता है, उसे शिवलोक की प्राप्ति होती है। यह सकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत माना जाता है। गुड़हल का पौधा भी घर में कहीं भी लगाया जा सकता है। हनुमान जी और मां दुर्गा को नित्य गुड़हल का पुष्प अर्पित करने से संकट दूर हो जाते हैं। घर में बेल के वृक्ष को लगाने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और सारे संकट दूर होते हैं। घर में अशोक का पौधा लगाना शुभकारी माना जाता है। कई पौधे ऐसे भी हैं, जिन्हें घर से दूर रखना चाहिए। घर में कभी भी दूध निकलने वाले पौधे न लगाएं। कांटेदार पौधों को घर में लगाने से बचना चाहिए। यह नकारात्मकता लाते हैं और प्रगति में बाधा उत्पन्न करते हैं। गुलाब का पौधा घर के अंदर नहीं, घर की छत पर लगाना चाहिए। काला गुलाब घर में नहीं लगाना चाहिए। कहा जाता है कि काला गुलाब लगाने से चिंता बढ़ती है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

#Chhattisgarh खबरे !!!!

छत्तीसगढ़20 hours ago

1 जुलाई से सस्ते होंगे कॉमर्शियल LPG सिलेंडर के दाम, 198 रुपए की कमी आई…

1 जुलाई यानी आज से दिल्ली में कॉमर्शियल LPG सिलेंडर (19 किलो) की कीमतों में 198 रुपए की कमी आई...

छत्तीसगढ़21 hours ago

1 जुलाई से होंगे बड़े बदलाव, बढ़ जायेगा आपकी जेब का खर्चा, जाने कौन से है वो बदलाव..

एक जुलाई यानी आज से देशभर में कई बदलाव हुए हैं। इनका सीधा असर आपकी जेब और जिंदगी पर पड़ेगा।...

छत्तीसगढ़3 days ago

PM Kisan Yojana के तहत किसानो के फसे पैसे आ सकते है वापस इन तरीको से…

  PM Kisan Yojana: देश में जितनी भी लाभकारी और कल्याणकारी योजनाएं चल रही हैं, उनमें से कुछ को राज्य तो...

छत्तीसगढ़5 days ago

Health Tips: बदलते मौसम के साथ रखे, अपनी सेहत का इस प्रकार ध्यान….

जून के अंत तक प्राय: देश के ज्यादातर हिस्सों में मानसून आ जाता है। हालांकि मानसून के शुरुआती दिनों में...

छत्तीसगढ़1 week ago

CG NEWS: छत्तीसगढ़-ओडिशा सीमा पर जवानो और नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 3 जवान शहीद…

  छत्तीसगढ़-ओडिशा की सीमा पर मंगलवार को सुरक्षाबलों की नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में CRPF के 3 जवान शहीद...

#Exclusive खबरे

Calendar

July 2022
M T W T F S S
  1 2 3
4 5 6 7 8 9 10
11 12 13 14 15 16 17
18 19 20 21 22 23 24
25 26 27 28 29 30 31

निधन !!!

Advertisement

Trending

  • व्यापर7 days ago

    PM KISAN YOJANA : किसानो के लिए किस्त के बाद आया सबसे बड़ी खुशखबरी…जानिए

  • देश7 days ago

    केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी : 1 जुलाई से बढ़ने वाला है DA में 6 फीसदी बढ़ोतरी,पढ़िये पूरी खबर

  • Tech & Auto7 days ago

    OnePlus Nord 2T का स्मार्टफ़ोन लांच,मिल रहा 12GB रैम के साथ दमदार फीचर्स

  • Tech & Auto7 days ago

    INVERTER AC TIPS : इन्वर्टर या नॉन इन्वर्टर एसी में जाने कौन सी AC होती है खास, इसकी खूबियां जान आप भी हो जायेगे हैरान…

  • देश6 days ago

    केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी : 1 जुलाई से बढ़ने जा रहा है DA में 6 फीसदी बढ़ोतरी,पढ़िये पूरी खबर

  • Tech & Auto6 days ago

    MINI PORTABLE WASHING MACHINE: मार्केट में आते ही धूम मचा रही है ये पोर्टेबल मिनी वाशिंग मशीन कीमत जान आप भी हो जायेंगे हैरान…

  • Tech & Auto5 days ago

    MINI PORTABLE WASHING MACHINE: मार्केट में आते ही धूम मचा रही है ये पोर्टेबल मिनी वाशिंग मशीन कीमत जान आप भी हो जायेंगे हैरान…

  • जॉब7 days ago

    HPSSSB में निकली 1500 पदों पर भर्ती,30 जून तक करें अप्लाई…

  • व्यापर6 days ago

    PM KISAN YOJANA: किसानो के लिए बड़ी खुशखबरी…मिलेगा बड़ा तोहफा,जानिए कैसे

  • Tech & Auto7 days ago

    लॉन्च किया गया, Portronics Dash 12 स्पीकर, जाने कीमत व अन्य फीचर्स…